12वीं के बाद इंजीनियर कैसे बनें

दुनिया में बहुत से ऐसे अभ्यर्थी होते हैं, जिनका इंजीनियर बनने का सपना होता है | इंजीनियर उस व्यक्ति को कहा जाता है, जो अपने प्रोफाइल सम्बन्धित आविष्कार करता है, उसका डिजाइन  या मशीन टेस्ट करता है अलग-अलग प्रयोग करके कुछ नया बनाने का काम करता है | जिस अभ्यर्थी का सपना होता हैं, वह एक सफल इंजीनियर बने, तो उसे कठिन परिश्रम करते हुए  इंजीनियरिंग की पढ़ाई  के लिए अलग से तैयारी करनी होती है | इंजीनियरिंग का कोर्स करने के लिए अभ्यर्थियों को  कम से कम 3 साल का कोर्स करना होता है, जिसमें अभ्यर्थी को कड़ी मेहनत करनी होती है, वहीं बहुत से अभ्यर्थी ऐसे होते हैं, जो 10th के बाद से  इंजीनियरिंग की तैयारी करनी शुरू कर देते हैं, तो कुछ अभ्यर्थी 12वीं के बाद से इंजीनियर बनना चाहते है |  यदि आप भी 12वीं के बाद इंजीनियर बनना चाहते है, तो यहाँ पर आपको 12वीं के बाद इंजीनियर कैसे बनें,  कोर्स, तैयारी कैसे करे, कालेज की पूरी जानकारी  दी जा रही है |

ये भी पढ़े: रेलवे में स्टेशन मास्टर कैसे बने?

12वीं के बाद इंजीनियर कैसे बनें 

12वीं के बाद इंजीनियर बनने वाले अभ्यर्थियों को 4 साल  की  बीटेक की डिग्री या फिर  अभ्यर्थियों के लिए पॉलिटेक्निक  का कोर्स करना बेहद अच्छा होता है | यह देश में राज्य स्तर पर सरकारी, निजी और महिला पॉलिटेक्निक इंस्टीट्यूट मौजूद हैं, जिसमें प्रवेश लेने के बाद अभ्यर्थी इंजीनियरिंग  की तैयारी कर  सकते है | अभ्यर्थी    पॉलिटेक्निक  से जुड़ें सभी टेक्निकल कोर्स ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) से कर सकते है क्योंकि, एआईसीटीई द्वारा इससे जुड़े  सारे  कोर्स का आयोजन किया जाता हैं |इसके अलावा आप आईटीआई में भी प्रवेश ले सकते है |

12वीं मैथ से करने के पश्चात आप तुरंत ही जेईई एडवांस्ड की परीक्षा में भाग ले सकते है यदि आपका उसमे नाम आ जाता है तो इसके बाद आप आईआईटी में प्रवेश पा सकेंगे, जो इंजीनियरिंग का सबसे बड़ा प्लेटफार्म माना जाता है | यहां से भी आप इंजीनियरिंग में करियर बना सकते है |

ये भी पढ़े: वैज्ञानिक (SCIENTIST) कैसे बनें

12वीं के बाद इंजीनियरिंग कोर्स 

12वीं के बाद इंजीनियर बनने के लिए मैकेनिकल इंजीनियरिंग, सिविल इंजीनियरिंग, ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग, पैकेजिंग टेक्नोलॉजी, इलेक्ट्रिकल ऐंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग, अप्लाइड इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड इंस्ट्रूमेंटेशन, कम्प्यूटर इंजीनियरिंग, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी,माइनिंग इंजीनियरिंग, मेटलॉर्जिकल इंजीनियरिंग, टेक्सटाइल टेक्नोलॉजी, केमिकल इंजीनियरिंग, केमिकल इंजीनियरिंग इन प्लास्टिक ऐंड पॉलिमर्स, पेट्रोकेमिकल्स इंजीनियरिंग, एयरक्राफ्ट मेंटिनेंस इंजीनियरिंग, ऑफिस मैनेजमेंट ऐंड कम्प्यूटर ऐप्लिकेशन, कम्प्यूटर साइंस जैसे कोर्से  करने   होते हैं,  पॉलिटेक्निक इंस्टीट्यूट सर्टिफिकेट कोर्स भी ऑफर करते हैं | पॉलिटेक्निक इंस्टीट्यूट्स से आप फैशन डिजाइन, टेक्सटाइल डिजाइन, इंजीनियरिंग, मास्क कम्यूनिकेशन, इंटीरियर डिजाइन आदि कोर्स कर सकते हैं |

इसके अलावा यदि अभ्यर्थी दिल्ली पॉलिटेक्निक में  प्रवेश लेना चाहते है, तो इसके लिए अभ्यर्थियों को सेंट्रल एडमिशन टेस्ट (CET)  में सफलता प्राप्त करनी होती  है | इस टेस्ट का आयोजन  बोर्ड ऑफ टेक्निकल एजुकेशन द्वारा किया जाता है  |

ये भी पढ़े: एसएससी CHSL परीक्षा तैयारी कैसे करे?

ये भी पढ़े: संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) क्या है?

इंजीनियर बनने के लिए कैसे करें तैयारी 

महत्वपूर्ण कक्षाओं में विशेष ध्यान दें 

इंजीनियरिंग की तैयारी करने के लिए  अभ्यर्थी को 12वीं कक्षा में  भौतिकी, रसायन विज्ञान  और गणित जैसे महत्वपूर्ण विषयों के साथ पढ़ाई करनी होती हैं।  इन विषयों को आप हमेशा ध्यान से पढ़ें और इन विषयों के मूल सिद्धांतों को  बहुत ही ध्यान पूर्वक समझें ताकि, आप इसमें बहुत ही अच्छे अंक प्राप्त कर सके |

 कुछ उपकरणों को अपनाये 

आप पढ़ाई करने के साथ-साथ  इंजीनियरिंग से संबंधित कुछ उपकरणों को भी करके देखें जैसे- आप  खराब और पुराने कंप्यूटर  को खोलकर उसकी कमी ढूढ़े | किसी मशीन  को खोलकर देखे कि, वह मशीन कैसे बन सकती है, उसे बनने की कोशिश करें | इस तरह के किये गए उपकरणों से आपको  इंजीनियरिंग से  सम्बंधित बहुत अधिक जानकारी प्राप्त होगी |

ये भी पढ़े: सरकारी बैंक और प्राइवेट बैंक की सूची

अपनी पसंदीदा इंजीनियरिंग शाखा को चुने 

यदि अभ्यर्थी को इंजीनियरिंग की तैयारी करनी है, तो उसके लिए अभ्यर्थी को  अपनी पसंदीदा इंजीनियरिंग शाखा को चुने, जिसमें वो रूचि रखते हों क्योंकि, यदि आप किसी काम जबरदस्ती सीख  रहे होते है, तो आप उस काम को कभी भी नहीं सीख पाएंगे क्योंकि, आपको उस काम के प्रति बिलकुल भी रूचि नहीं है, यदि आप अपने पसंद का काम चुनते है और उस काम को मन लगाकर करते है, तो आप उसमें जल्दी ही सफलता प्राप्त कर लेते हैं | इसलिए हमेशा उसी शाखा को चुनना चाहिए, जिसमें आप सफलता प्राप्त कर सके |

जैसे:  किसी अभ्यर्थी को कंप्यूटर पर वेबसाइट बनाना अच्छा लगता है तो  वो अभ्यर्थी  कंप्यूटर साइंस शाखा चुन सकते हैं। इसी प्रकार यदि आपको खराब पड़े कंप्यूटर में सुधार करना पसंद है तो आप इलेक्ट्रॉनिक्स शाखा का चुनाव कर सकते हैं।  और मशीनरी ज्ञान लेना चाहते है तो उससे सम्बन्धित विषयों का चयन करे |

ये भी पढ़े: पीसीएस (PCS) परीक्षा की तैयारी कैसे करे?

ये भी पढ़े: आर्थिक मंदी (ECONOMIC RECESSION) क्या है

इंजीनियरिंग’ कैटेगरी के ये हैं बेस्ट कॉलेज

इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के लिए अभ्यर्थी इन कॉलजों में प्रवेश लेकर और अच्छी रैंक प्राप्त करने के बाद एक सफल इंजीनियर बन सकते है | जो इस प्रकार से है-

  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मद्रास
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, बॉम्बे
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, दिल्ली
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, खड़गपुर
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, कानपुर
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, रुड़की
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, गुवाहाटी
  • अन्ना यूनिवर्सिटी – इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, हैदराबाद
  • इंडियन ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी, मुंबई

इन कॉलेजों में एडमिशन लेने के लिए अभ्यर्थियों को 12वीं और इंजीनियरिंग के लिए अलग  किये गए कोर्सो में अच्छे  नंबरों से सफलता प्राप्त करनी होती है, जिसके बाद ही अभ्यर्थी इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए इन कॉलेजों में प्रवेश ले सकते हैं |

ये भी पढ़े: सीए (CHARTERED ACCOUNTANT) कैसे बने

यहाँ पर हमने आपको 12वीं के बाद इंजीनियर बनने के विषय में सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि  आपको इससे  सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करनी है तो आप  अपने विचार या सुझाव कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूंछ सकते है | इसके साथ ही आप अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो www.hindiraj.com पर विजिट करे |

ये भी पढ़े: मैकेनिकल इंजीनियर (MECHANICAL ENGINEER) कैसे बनें

ये भी पढ़े: प्रॉपर्टी डीलर (PROPERTY DEALER) कैसे बने

ये भी पढ़े:  करोड़पति (CROREPATI) कैसे बने