प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है

कोरोना वायरस भारत समेत पूरे विश्व में विकराल रूप ले चुका है | कोरोना वायरस से दुनिया के लगभग 190 देश इससे प्रभावित हो चुके है | वैश्विक स्तर पर अर्थव्यवस्था पर प्रभाव भी पड़ रहा है | सभी देशों में आर्थिक मंदी जैसी समस्या आती जा रही है | इन सबके बीच भारत के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी जी ने आपदा को अवसर में बदलने के लिए 12 मई 2020 को राष्ट्र को संबोधित करते हुए बहुत बड़े राहत पैकेज का ऐलान करते है, आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना का आरम्भ किया है | इस योजना के द्वारा कोविड-19 महामारी जैसे बड़े संकट से लड़ने में आत्मनिर्भर भारत अभियान (AatmaNirbhar Bharat Abhiyaan)  का महत्वपूर्ण भूमिका होने का अनुमान लगाया जा रहा है, इससे एक नए आधुनिक भारत की पहचान बनने में अग्रसर होगा | पीएम नरेन्द्र मोदी जी ने इस राहत पैकेज 20 लाख करोड़ रुपए जो देश की GDP का लगभग 10% भाग है इस पैकेज की घोषणा के बाद, देश में महामारी के संकट में यह एक अच्छी खबर है | यदि आप भी प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है, AatmaNirbhar Bharat Abhiyaan इसके बारे में जानना चाहते है तो पूरी जानकारी विस्तार से दी जा रही है |

Aatmanirbhar Bharat Rojgar Yojana (ABRY)

कोरोना वायरस यानि कि COVID 19 महामारी की वजह से पूरे देश में लॉक डाउन चल रहा है तथा प्रधानमन्त्री जी ने सम्बोधन में चौथा (4th Lockdown) लागू करने की घोषणा कर चुके है | अब इन लॉक डाउन का सबसे ज्यादा असर देश के सुक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योगों , श्रमिकों ,मजदूरों और किसानो देखने को मिल रहा है | केंद्र सरकार ने इस तबके नागरिको को लाभ पहुंचाने के लिए एक नए पैकेज का एलान कर चुकी है|  देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने देश के सुक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योगों, श्रमिकों,मजदूरों और किसानो को आत्मनिर्भर बनाने हेतु 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का ऐलान कर चुकी है | इस योजना के तहत सरकार द्वारा चुने गए इन लाभार्थियों को सहायता राशि आर्थिक पैकेज के रूप दिया जायेगा | केंद्र सरकार की इस सहायता से भारत देश एक नई ऊचाई की तरफ जायेगा |

कोरोना वैक्सीन रजिस्ट्रेशन कैसे करें ?

एमएसएमई (MSME) के तहत की जाने वाली घोषणाएं

कोरोना महामारी की समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने सूक्ष्म लघु मध्यम वर्गीय गृह उद्योग (MSMEs) के लिए कई घोषणाएं की है, जिनकी जानकारी कुछ इस प्रकार है :-

  • Rupee 3 lakh Crore Collateral free automatic loan for business including MSMEs
  • MSMEs सहित व्यापार हेतु 3 लाख करोड़ रुपये संपार्श्विक नि: शुल्क स्वचालित ऋण प्रदान करेगी |
  • MSMEs हेतु 20000 करोड़ अधीनस्थ ऋण की व्यवस्था की गई है |
  • MSMEs के फंड के द्वारा 50000 करोड़ रुपए इक्विटी इन्फ्यूशन के लिए व्यवस्था की जाएगी |
  • MSMEs की नई परिभाषा कुछ इस प्रकार दी गई है फोटो में देखें |
  • ग्लोबल टेंडर 200 करोड़ रुपये तक का रखा गया है
  • एसएमई के लिए अन्य हस्तक्षेप कुछ इस तरह से होंगे |
  • 3 और महीनों के लिए व्यापार और श्रमिकों को सहायता प्रदान करने के लिए 2500 करोड़ रुपये का ईपीएफ समर्थन दिया जायेगा |
  • ईपीएफ अंशदान 3 माह के लिए व्यापार और श्रमिकों हेतु कम किया गया
  • एनबीएफसीएस (NBFCS)/ एचसी (HC) / एमएफआई (MFI) के लिए 30000 करोड़ रुपये की तरलता सुविधा हेतु पैकेज की घोषणा की गई है |
  • एनबीएफसी (NBFC) के लिए 45000 करोड़ रुपये की आंशिक क्रेडिट गारंटी योजना को तैयार किया गया है |
  • DISCOM के लिए 90000 करोड़ रुपये की तरलता इंजेक्शन हेतु सहायता देने के लिए पैकेज की घोषणा की गई |
  • केंद्र सरकार के इस राहत पैकेज से ठेकेदारों को छूट प्रदान की गई है |
  • RERA के अंतर्गत रियल एस्टेट परियोजनाओं के रजिस्ट्रेशन और पूर्णता तिथि के विस्तार हेतु छूट दी गई है |
  • टीडीएस (TDS)/ टीसीएस (TCS) कटौती के द्वारा 50000 करोड़ रुपये की सहायता देने का निर्णय लिया गया है |
  • अन्य कर उपाय के लिए कुछ इस प्रकार से योजना बनाई गई है |

बिजनेस के लिए लोन कैसे प्राप्त करें ?

आत्मनिर्भर (AATMNIRBHAR) भारत अभियान के लाभार्थी

  • देश का गरीब नागरिक
  • श्रमिक
  • प्रवासी मजदूर
  • पशुपालक
  • मछुआरे
  • किसान
  • संगठित क्षेत्र व असंगठित क्षेत्र के व्यक्ति
  • काश्तकार
  • कुटीर उद्योग
  • लघु उद्योग
  • मध्यमवर्गीय उद्योग

यहाँ आपको प्रधानमंत्री आत्म निर्भर (AATMNIRBHAR) भारत अभियान के विषय में जानकारी प्रदान की गई | यदि आप इस जानकारी से संतुष्ट है, या फिर इससे समबन्धित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट करे और अपना सुझाव दे सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का जल्द ही निवारण किया जायेगा | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे|