बीएससी (B.Sc) क्या है ?

अच्छा कैरियर बनाने के लिए हर विद्यार्थी प्रयासरत होता है क्योंकि उसे यह पता होता है कि जिंदगी में अच्छा कैरियर होने पर उसकी लाइफ स्टाइल अच्छी होगी, साथ ही उसकी सामाजिक मान – सम्मान में वृद्धि होगी।

 इसी वजह से हर विद्यार्थी 12वीं क्लास को पास करने के बाद इस बात को लेकर के कंफ्यूज हो जाता है कि आगे वह ऐसा कौन सा कोर्स करें, जिसमें आगे चलकर के उसका अच्छा कैरियर बन सके, तो बता दें कि बैचलर ऑफ साइंस (B.Sc) का कोर्स एक ऐसा कोर्स है, जो आपके लिए एक बेहतर कैरियर के बहुत सारे दरवाजे खोल सकता है।

एमएससी (M.Sc) क्या होता है ?

बीएससी (B.Sc) क्या है?

Table of Contents

12वीं के बाद किया जाने वाला बीएससी एक लोकप्रिय अंडर ग्रेजुएशन डिग्री प्रोग्राम है। विद्यार्थियों को बता दें कि बीएससी के कोर्स को करने के लिए उन्हें 3 साल का समय देना पड़ता है। इन तीन वर्षों की अवधि के दौरान उन्हें कुल 6 सेमेस्टर की पढ़ाई करनी पड़ती है। बीएससी के कोर्स में एडमिशन पाने के लिए 12वीं की कक्षा में साइंस की स्ट्रीम लेनी आवश्यक होती है, क्योंकि बीएससी का कोर्स साइंस से संबंधित कोर्स ही है।

कोई भी विद्यार्थी 12वीं कक्षा पास करने के बाद इस कोर्स में एडमिशन पाने का प्रयास कर सकता है। बीएससी के कोर्स में एडमिशन देने के लिए आपको कभी कबार कुछ यूनिवर्सिटी या फिर कॉलेज में एंट्रेंस एग्जाम भी देनी पड़ सकती है और कुछ कॉलेज या फिर यूनिवर्सिटी में आपको सीधा एडमिशन प्राप्त हो सकता है। इस कोर्स को सफलतापूर्वक 3 साल में पूरा करने के बाद आप चाहे तो अधिक अनुभव हासिल करने के लिए Internship भी कर सकते हैं।

बीएससी (B.Sc) का फुल फॉर्म क्या है?

बीएससी (B.sc) का पूर्ण नाम “Bachelor of Science” है। वहीं हिंदी में इसका अर्थ विज्ञान से स्नातक होता है। यह 12वीं के बाद किया जाने वाला पॉपुलर अंडर ग्रैजुएट डिग्री प्रोग्राम है।

बीएससी (B.sc) हेतु शैक्षणिक योग्यता क्या है?

बैचलर ऑफ साइंस (B.sc) के कोर्स में एडमिशन पाने के लिए आपको दसवीं कक्षा को पास करने के बाद ग्यारहवीं कक्षा में साइंस का सब्जेक्ट लेना है और कम से कम 55 परसेंट अंकों के साथ 12वीं क्लास को भी पास करना है। 12वीं क्लास को पास करने के बाद आप बीएससी के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

बीएससी (B.sc) कोर्स की फीस क्या है?

बैचलर ऑफ साइंस कोर्स की फीस प्राइवेट कॉलेज और गवर्नमेंट कॉलेज में अलग-अलग होती है। यही वजह है कि हर विद्यार्थी यह चाहता है कि उसे इस कोर्स में एडमिशन गवर्नमेंट कॉलेज में ही प्राप्त हो। प्राइवेट कॉलेज में इस कोर्स की फीस के बारे में बात करें तो इसकी सालाना फीस ₹20,000 से लेकर के ₹80,000 के आसपास तक हो सकती है और देश के कुछ प्रसिद्ध कॉलेज में यह फीस ज्यादा भी हो सकती है।

वही गवर्नमेंट कॉलेज की बात करें तो गवर्नमेंट कॉलेज में आपको बीएससी के कोर्स को करने के लिए 1 साल में तकरीबन ₹20,000 से लेकर के ₹35,000 तक की फीस भरनी पड़ सकती है परंतु आपको बता दें कि आपको फीस की निश्चित जानकारी एडमिशन लेने के पहले ही प्राप्त होगी।

बीएससी (B.sc) के सब्जेक्ट क्या है?

बैचलर ऑफ साइंस के कोर्स में एडमिशन प्राप्त करने के बाद आपको नीचे दिए हुए सब्जेक्ट की पढ़ाई करनी होती है।

बीएससी (B.sc) कोर्स की शाखाएं

बीएससी (B.sc) के कोर्स को जब आप करने के लिए जाते हैं, तब आपको अलग-अलग प्रकार के कैरियर ऑप्शन प्राप्त होते हैं, जिसमें से आप अपने मनपसंद कोर्स का सिलेक्शन कर सकते हैं। नीचे हमने आपको कुछ पॉपुलर बैचलर ऑफ साइंस के कोर्स की श्रेणी दी है।

  • बीएससी आईटी |
  • बीएससी स्टेटिस्टिक्स |
  • बीएससी कम्प्यूटर साइंस |
  • बीएससी केमिस्ट्री |
  • बीएससी मैथमेटिक्स |
  • बीएससी फिजिक्स |
  • बीएससी इकोनॉमिक्स |
  • बीएससी इलेक्ट्रॉनिक |
  • बीएससी जियोग्राफी |
  • बीएससी एग्रीकल्चर |
  • बीएससी नर्सिंग |
  • बीएससी कॉलेज इन इंडिया |

बीएससी (B.sc) कोर्स हेतु इंडिया के बेस्ट कॉलेज कौन से हैं?

बीएससी (B.sc) का कोर्स वैसे तो आप अपने घर के आस-पास स्थित कॉलेज से भी कर सकते हैं परंतु आप अगर इंडिया के टॉप इंस्टिट्यूट से इस कोर्स की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो टॉप इंस्टिट्यूट के नीचे नाम हमने आपको दिए हैं।

  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ दिल्ली, दिल्ली |
  • क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, बंगलोर |
  • मद्रास क्रिस्चियन कॉलेज, चेन्नई |
  • NIMS यूनिवर्सिटी, जयपुर |
  • हंसराज कॉलेज, न्यू दिल्ली |
  • निज़ाम कॉलेज, हैदराबाद |
  • यूनिवर्सिटी ऑफ़ लखनऊ, लखनऊ |
  • बिहार नेशनल कॉलेज, पटना |
  • इंटीग्रल यूनिवर्सिटी, लखनऊ |
  • पटना यूनिवर्सिटी, पटना |

बीएससी (B.sc) कोर्स कैसे करे?

बीएससी (B.sc) का कोर्स करने के लिए आपको सबसे पहले 10वीं, 11वीं और 12वीं की एग्जाम पास करनी पड़ती है, उसके बाद एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है और फिर कोर्स में एडमिशन लेना पड़ता है। नीचे हम आपको इन सभी प्रक्रियाओं के बारे में डिटेल में जानकारी दे रहे हैं।

10वीं पास करें

वैसे तो बीएससी के कोर्स में आपको 12वीं के बाद एडमिशन मिलता है परंतु आपका सफर दसवीं क्लास से ही चालू हो जाता है। दसवीं क्लास में आपको साइंस के सब्जेक्ट की अच्छे से स्टडी करनी होती है और पूरा ध्यान लगा कर के और मेहनत करके आपको कम से कम 50% अंकों के साथ दसवीं की एग्जाम को पास करना पड़ता है।

12वीं पास करें

10वीं की क्लास पास करने के बाद आपको  आपको तकरीबन 50 या फिर 55% अंकों के साथ 12वीं की कक्षा पास करना पड़ता है।

बीएससी (B.sc) कोर्स में एडमिशन लें!

12वीं क्लास को पास करने के बाद आप दो प्रकार से बैचलर ऑफ साइंस के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। पहला एंट्रेंस एग्जाम को पास करके, दूसरा डायरेक्ट एडमिशन देने वाले इंस्टिट्यूट में अप्लाई करके। आपको JET, NPAT, BHU, UET, SUAT, CUCET एंट्रेंस एग्जाम देनी पड़ सकती है।

पढ़ाई पूरी करें

बैचलर ऑफ साइंस के कोर्स में एडमिशन प्राप्त हो जाने के बाद आपको 3 सालों तक मेहनत करके बीएससी के कोर्स की पढ़ाई करनी पड़ती है और आखरी में बीएससी की एग्जाम को दे करके आपको बीएससी की डिग्री हासिल कर लेनी होती है।

बीकॉम (B.Com) क्या होता है ?

बीएससी (B.sc) के बाद क्या करे?

बीएससी (B.sc) के कोर्स को सफलतापूर्वक पूरा करने के बाद आपके सामने कैरियर के लिए बहुत सारे ऑप्शन आ जाते हैं, साथ ही पढ़ाई के भी बहुत सारे ऑप्शन आ जाते हैं। इस कोर्स को पूरा करने के बाद अगर आप आगे की स्टडी करना चाहते हैं, तो आप एमएससी या फिर बी टेक जैसे कोर्स में एडमिशन लेने का प्रयास कर सकते हैं।

इसके अलावा कोर्स को पूरा करने के बाद अगर आप आगे पढ़ाई नहीं करना चाहते हैं, तो आप कहीं प्राइवेट नौकरी भी प्राप्त कर सकते हैं और अगर आपके अंदर एग्जाम पास करने का हुनर है तो आप गवर्नमेंट की विभिन्न नौकरियों के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं।

क्योंकि कोर्स को पूरा करने के बाद आपको ग्रेजुएशन की डिग्री मिल जाती है और इंडिया में ऐसी कई गवर्नमेंट और प्राइवेट नौकरी है, जिसमें ग्रैजुएट लोगों को आमंत्रित किया जाता है। आप चाहे तो किसी प्राइवेट स्कूल में पढ़ाने के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं या फिर खुद का ऑनलाइन यूट्यूब चैनल भी चालू कर सकते हैं और उस पर विद्यार्थियों को बीएससी के कोर्स की इंफॉर्मेशन दे सकते हैं।

बीएससी (B.sc) एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कैसे करें?

अधिकतर यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन इस कोर्स में एडमिशन देने के लिए करती है। इसीलिए आपको एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी अवश्य करनी चाहिए। नीचे कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे में हमने चर्चा की है जो एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी के लिए आवश्यक है।

  • एंट्रेंस एग्जाम को पास करने के लिए बीएससी की एंट्रेंस एग्जाम के जो पहले के क्वेश्चन पेपर है, उन्हें प्राप्त करें और उन्हें सॉल्व करने का प्रयास करें, साथ ही बीएससी के सिलेबस पर भी विशेष तौर पर ध्यान दें।
  • एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी टाइम टेबल बना करके ही करें ताकि सभी विषय पर पर्याप्त फोकस दिया जा सके।
  • सेंटेंस को लंबा पढ़ने की जगह पर पॉइंट बनाकर के याद करें। ऐसा करने पर आपको आसानी से याद होगा और आप एग्जाम में सेंटेंस बना सकेंगे।
  • पढ़ते समय ध्यान भटकाने वाली सभी चीजों को अपने से दूर रख दें।
  • सुबह का समय पढ़ाई करने के लिए अच्छा माना जाता है। इसलिए सुबह के समय ही पढ़ाई करें।
  • पढ़ाई करने के साथ ही साथ खेलकूद पर भी ध्यान दें और अच्छी नींद लें।
  • एंट्रेंस एग्जाम की बेहतर तैयारी के लिए कोचिंग इंस्टीट्यूट भी ज्वाइन करना एक अच्छा विकल्प हो सकता है।
  • कोचिंग इंस्टिट्यूट अगर जाने के लिए आपके पास समय नहीं है तो आप ऑनलाइन यूट्यूब के जरिए भी एंट्रेंस एग्जाम की प्रिपरेशन कर सकते हैं।

बीएससी (B.sc) के प्रकार क्या है?

बीएससी इंडिया में एक हाई डिमांडिंग कोर्स है। यही वजह है कि स्टूडेंट के लिए विभिन्न प्रकार के सिलेबस भी तैयार किए जाते हैं। मुख्य तौर पर बीएससी का कोर्स 3 प्रकार से किया जा सकता है, जो नीचे बताया गया है।

फुल टाइम बीएससी

इस प्रकार के बीएससी (B.sc) कोर्स में विद्यार्थियों को रेगुलर कॉलेज/ यूनिवर्सिटी जाना पड़ता है, जहां पर विद्यार्थियों को जरूरी जानकारी और कौशल दिए जाते हैं।

पार्ट टाइम बीएससी

इस प्रकार के बीएससी (B.sc) के कोर्स को करने के लिए रेगुलर कॉलेज जाने की आवश्यकता नहीं होती है। इंडिया में बहुत सारे ऐसे कॉलेज हैं, जो पार्ट टाइम बीएससी को ऑफर करते हैं।

डिस्टेंस बीएससी

कोर्स का यह प्रकार घर पर ही रह कर किया जा सकता है। इंडिया में अन्नामलाई यूनिवर्सिटी, ओसमानिया यूनिवर्सिटी, मुंबई यूनिवर्सिटी इस प्रकार के कोर्स को ऑफर करने वाले फेमस कॉलेज है।

बीएससी (B.sc) के बाद नौकरी कहां मिलेगी?

बैचलर ऑफ साइंस की डिग्री हासिल करने के बाद आप निम्न फील्ड में नौकरी पाने का प्रयास कर सकते हैं।

  • मेडिकल इंडस्ट्री |
  • एग्रीकल्चर |
  • एजुकेशन इंडस्ट्री |
  • रिसर्च लैब्स |
  • फार्मास्यूटिकल कम्पनीज |
  • रिसर्च एंड डेवलपमेंट |
  • एकेडेमिक एंड एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स |
  • ब्राडकास्टिंग |
  • एंटरटेनमेंट |
  • रिसर्च एंड डेवलपमेंट |
  • डाटा कम्युनिकेशन |
  • प्राइवेट सेक्टर इलेक्ट्रॉनिक्स मैनुफैक्चरर्स |
  • बैंकिंग इंडस्ट्री |
  • फाइनेंसियल सर्विसेज |
  • ब्रोकिंग इंडस्ट्रीज |
  • एकाउंटिंग एंड फाइनेंस |
  • एकेडेमिक एंड एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स |

बीएससी (B.sc) के बाद कौन से पद पर नौकरी मिलेगी?

बीएससी के बाद आपको अलग-अलग पदों पर नौकरी मिल सकती है। नीचे हमने कुछ महत्वपूर्ण पदों की जानकारी दी है।

  • रिसर्च साइंटिस्ट |
  • लैबोरेट्री टेक्निशियन |
  • रिसर्च असिस्टेंट |
  • बायोकेमिस्ट्री |
  • कंप्यूटर प्रोग्रामर |
  • फूड साइंटिस्ट |
  • सॉफ्टवेयर डेवलपर |
  • फॉरेंसिक पैथोलॉजिस्ट |
  • इकोलॉजिस्ट |
  • असिस्टेंट मैनेजर |

बीएससी (B.sc) के बाद सैलरी क्या है?

बीएससी के कोर्स को पूरा करने के बाद जो भी पद विद्यार्थियों को मिलते हैं, उनकी सभी की सैलरी अलग-अलग होती है। इसीलिए किसी भी सैलरी के बारे में निश्चित तौर पर नहीं कहा जा सकता है। हां पर यह तो तय है कि कोर्स को पूरा करने के बाद किसी भी पद पर अगर आपको नौकरी मिलती है, तो आरम्भ में आपकी महीने की सैलरी कम से कम ₹15,000 के आसपास तो अवश्य होगी।

अगर आपको बड़ा पद प्राप्त होता है, साथ ही आप बड़ी कंपनी में नौकरी प्राप्त करने में सफल हो जाते हैं तो आप की महीने की सैलरी स्टार्टिंग में ही ₹60,000 से लेकर के ₹70,000 के आसपास तक भी हो सकती है।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर (Software Engineer) कैसे बने ?

Leave a Comment