बैंक पीओ (Bank PO) कैसे बने?

बैंक, भारत की वित्तीय संस्थाएं है, जोकि नागरिकों को वित्तीय सेवाएं प्रदान करती है | इन बैंकों का निर्देशन भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा किया जाता है | समय- समय पर आरबीआई नियमों में परिवर्तन करता रहता है, जिससे जनता के बीच धन का प्रवाह बराबर बना रहे है, आरबीआई धन के प्रवाह को नियंत्रित करती है, जिसमें बैंक पूरा सहयोग करती है | आरबीआई ने कई संस्थाओं को बैंकिंग का लाइसेंस जारी किया है, जिसमें की प्राइवेट और सरकारी बैंक शामिल है | यह सभी बैंक अपनी- अपनी ब्रांच को थोड़ी- थोड़ी दूर पर स्थापित करते है, जिससे आस-पास की जनता को लाभ दिया जा सके | प्रत्येक ब्रांच को सही ढंग से चलाने के लिए बैंक ब्रांच मैनेजर की नियुक्त करती है, जिसे पीओ (Probationary Officer) कहा जाता है |

बैंक पीओ क्या है (What is Bank PO) ?

बैंक पीओ को बैंक प्रोबेशनरी ऑफिसर या Probationary Officer कहते है | यह एक प्रबंधक स्तर का पद है जिसकी नियुक्ति प्राइवेट व सरकारी बैंक द्वारा अपने यहाँ प्रबंध करने के लिए की जाती है | एक बैंक PO को बैंक से सम्बंधित कई प्रकार के प्रबंध देखने होते है जिसमे : –

  • बैंक के क्लर्क स्टाफ के साथ साथ ब्रांच की देख रेख रखना |
  • बैंक में आने वाले कस्टमर की प्रॉब्लम का निवारण करना, उनकी शिकायते सुनना, पब्लिक रिलेशन मैनेज करना आदि |
  • बैंक में सही प्रकार से नगदी, लोन व खातो को मैनेज करना |
  • लोन से सम्बंधित कागजों की देख रेख रखना |

बैंक कैशियर (Bank Cashier) कैसे बने ?

बैंक पीओ (Bank PO) का चयन कौन करता है ?

बैंक में सभी प्रकार की नियुक्ति करने के लिए प्रतियोगी परीक्षा कराने का अधिकार आईबीपीएस और स्टेट बैंक के पास है, स्टेट बैंक को छोड़ कर आईबीपीएस सभी सार्वजनिक बैंकों के लिए परीक्षा का आयोजन करती है | स्टेट बैंक अपने यहाँ की नियुक्ति स्वयं परीक्षा के द्वारा करता है |

बैंक पीओ की सैलरी कितनी होती है ?

Bank PO एक मैनेजरियल लेवल की पोस्ट है तो इसके साथ ही बैंक पीओ को एक अच्छा वेतन व अन्य सुविधा भी प्रदान की जाती है | बैंक पीओ का वेतन 23700 रुपये से 42020 रुपये निर्धारित किया गया है | सटीक जानकारी के लिए आप बैंकिंग सेक्टर में ट्रेंड के अनुसार अपना वेतन की गणना कर सकते है |

बैंक मित्र कैसे बनें ?

How to Become Bank PO?

यदि बैंकिंग क्षेत्र में एक शानदार करियर बनाना चाहते है तो आपको बैंक PO परीक्षा को क्वालीफाई करना होगा | यदि आप दिए गए मानको के आधार पर अपनी पात्रता साबित कर सकते है तो आप बैंक पीओ परीक्षा दे सकते है : –

योग्यता (Qualification)

बैंक पीओ बनने के लिए अभ्यर्थी को किसी भी संकाय में स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य है |

आयु (Age)

बैंक पीओ के लिए अभ्यर्थी की आयु 21 वर्ष से 30 वर्ष के बीच में होनी अनिवार्य है | आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को नियमानुसार छूट प्रदान की जाती है | आईबीपीएस भर्ती परीक्षा के नोटिफिकेशन के माध्यम से सटीक जानकारी प्राप्त कर सकते है |

सरकारी बैंक में क्लर्क कैसे बने ?

परीक्षा के चरण

परीक्षा के चरण इस प्रकार है-

  • प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)
  • मुख्य परीक्षा (Main Exam)
  • साक्षात्कार (Interview)

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

प्रारंभिक परीक्षा में रीजनिंग, मात्रात्मक योग्यता, अंग्रेजी भाषा से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है, इसमें कुल सौ प्रश्न पूछे जाते है और गलत उत्तर के लिए नकारात्मक अंकन किया जाता है | इस परीक्षा के लिए 60 मिनट प्रदान किये जाते है |

प्रारंभिक परीक्षा का पैटर्न (Pattern)

विषय प्रश्नों की स० अंक
रीजनिंग 35 35
मात्रात्मक योग्यता 35 35
अंग्रेजी भाषा 30 30
कुल 100 100

मुख्य परीक्षा (Main Exam)

मुख्य परीक्षा में रीजनिंग, कंप्यूटर, सामान्य ज्ञान/ बैंकिंग ज्ञान, अंग्रेजी भाषा, डेटा विश्लेषण और व्याख्या, अंग्रेजी भाषा (पत्र लेखन और निबंध) से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है | इस परीक्षा में गलत उत्तर देने के लिए नकारात्मक अंकन किया जाता है | इस परीक्षा के लिए 180 मिनट प्रदान किये जाते है | पत्र लेखन और निबंध के लिए अलग से 30 मिनट दिए जाते है |

Door Step Banking क्या है ?

मुख्य परीक्षा का पैटर्न (Pattern)

रीजनिंग और कंप्यूटर 45 60
सामान्य ज्ञान/ बैंकिंग ज्ञान 40 40
अंग्रेजी भाषा 35 40
डेटा विश्लेषण और व्याख्या 35 60
अंग्रेजी भाषा (पत्र लेखन और निबंध) 2 25

नोट: अंग्रेजी भाषा (Letter Writing & Essay) के दो प्रश्न पूछे जायेंगे, जिसमें आपको अंग्रेजी में पत्र और निबंध लिखना होगा |

साक्षात्कार (Interview)

मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण होने वाले अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए आमंत्रित किया जाता है | इस साक्षात्कार के लिए विशेषज्ञों के एक बोर्ड का गठन किया जाता है | यह बोर्ड अभ्यर्थियों की योग्यता की जाँच करता है और योग्यता के अनुसार अंक प्रदान करता है |

चयन का आधार

पीओ पद के लिए अंतिम चयन मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार में प्राप्त अंकों की मेरिट के आधार पर किया जाता है | जो अभ्यर्थी अच्छा प्रदर्शन करते है, वह अच्छे अंक पाकर चयनित होते है |

बैंक पीओ के परीक्षा की तैयारी कैसे करे ?

पीओ पद के लिए तैयारी इस प्रकार करे-

समय सारणी (Time Table)

अच्छी तैयारी करने के लिए आपको एक समय सारणी बनानी होगी | इस समय सारणी में आपको सभी विषयों के लिए पर्याप्त समय देना होगा | आप जिस विषय में कमजोर हो आप उसमे अधिक समय दे सकते है |

पाठ्यक्रम (Syllabus)

आपको अपनी तैयारी पाठ्यक्रम के अनुसार करनी चाहिए | पाठ्यक्रम में दिए गए टॉपिकों को सही से समझे और प्रत्येक टॉपिक पर पर्याप्त समय दे अन्यथा आप परीक्षा में सही उत्तर देने में कन्फ्यूज हो सकते है |

स्पीड टेस्ट (Speed Test)

बैंक में चयन के लिए स्पीड बहुत ही महत्व रखती है, आप को समय के अनुसार अपनी स्पीड बढ़ानी होगी | इसके लिए आपको स्पीड टेस्ट में भाग लेना होगा | इंटरनेट पर कई वेबसाइट है, जो स्पीड टेस्ट का आयोजन करती है | आप उनकी सहायता से अपनी स्पीड बड़ा सकते है |

शार्ट ट्रिक (Short Trick)

कम समय में अधिक अंक प्राप्त करने के लिए आपको शार्ट ट्रिक का प्रयोग करना होगा | इसके लिए आप पहले से बनी हुई शार्ट ट्रिक का उपयोग करे और अपनी जरुरत के अनुसार नयी शार्ट ट्रिक को बना कर प्रयोग करे |

पुराने प्रश्न पत्र (Old Paper)

पूर्व में आयोजित हो चुकी परीक्षा के प्रश्न पत्र को हल करे इससे आप को परीक्षा में आने वाले प्रश्नों के विषय में अच्छी जानकारी हो जाएगी, इससे परीक्षा का स्तर समझ में आ जायेगा |

बैंक में खाता कैसे खोले ?

बैंकिंग में प्रोबेशनरी अधिकारी एक महत्वपूर्ण पद है और यदि आप अपनी कड़ी मेहनत से इसे प्राप्त कर लेते है तो निश्चित आपके जीवन के अधिकांश वित्त मुद्दे स्वत: समाप्त हो जायेगे | यदि आप बैंक पीओ से सम्बंधित कुछ और पूछना चाहते है तो कृपया कमेंट बॉक्स के माध्यम से अपना प्रश्न पूछ सकते है |