बिजनेस के लिए लोन कैसे प्राप्त करें

हमारे देश में ऐसे बहुत से लोग है, जो अपना स्वयं का बिजनेस करना चाहते है परन्तु पर्याप्त धन न होनें के कारण वह व्यवसाय शुरू करनें में असमर्थ हो जाते है | दरअसल किसी भी तरह के व्यवसाय को शुरू करनें या पहले चल रहे बिजनेस के विस्तार के लिए सबसे अहम् पूँजी होती है | हालाँकि लोगो को अपना व्यवसाय शुरू करनें के उद्देश्य से सरकार द्वारा योजनाओं के माध्यम से वित्तीय सहायता प्रदान की जा रही है | यहाँ तक कि पहले की अपेक्षा अब बैंकों द्वारा बिजनेस लोन देने की प्रक्रिया काफी आसान कर दिया है | 

ऐसे में यदि आप अपना बिजनेस शुरू करना चाहते है, परन्तु आपके पास पर्याप्त धन नही है, तो आप इसके लिए बिजनेस अर्थात व्यवसायिक ऋण ले सकते है | बिजनेस के लिए लोन कैसे प्राप्त करें, इसके बारें में आपको यहाँ विस्तार से पूरी जानकारी दी जा रही है | इसके साथ ही लोन लेने के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट, इंटरेस्ट रेट व अप्लाई करनें के बारें में बताया जा रहा है |

सिबिल स्कोर क्या होता है

बिजनेस लोन क्या होता है (What is Business Loan)

बिजनेस लोन का सीधा मतलब व्यवसाय से सम्बंधित ऋण से है | बिजनेस लोन मुख्य रूप से व्यावसायिक उद्देश्यों को पूरा करने के लिए लिया जाता है | जैसे कि किस प्रकार की शॉप, डिस्ट्रिब्युटरशिप या अन्य किसी प्रकार का व्यवसाय शुरू करना चाहते है या आपका पहले से कोई बिजनेस चल रहा है और आप अपनें व्यवसाय को बढ़ाकर बड़े पैमानें पर करना चाहते है परन्तु आपके पास पैसो की कमी है | तो आप इस पैसे की इस जरुरत को लोन लेकर पूरा कर सकते है |  

व्यवसाय के लिए बैंक या किसी अन्य वित्तीय संस्थान से ऋण के रूप में ली गयी धनराशि को बिजनेस लोन या व्यवसायिक ऋण कहते है | चूँकि यह राशि एक प्रकार से आप उधार के रूप में प्राप्त करते है, जिसे आपको मूलधन के साथ एक निर्धारित समय में ब्याज के साथ वापस करना पड़ता है | 

बिजनेस लोन से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी (Important information related to business loan)

हम सभी जानते है, कि कोई भी बैंक या वित्तीय संस्था आसानी से लोन उपलब्ध नहीं कराते हैं। लोन देने से पहले वह वित्तीय संस्थान इस बात कि पुष्टि करता है, कि आप ऋण की राशि वापस करने के लिए सक्षम या अथवा नहीं | इसलिए लोन से पहले आपको उपयुक्त बैंक का चयन करना चाहिए और अपनी योग्यता के मुताबिक ऋण के लिए अप्लाई करना चाहिए ताकि आपको ऋण प्राप्त करनें में अधिक भाग-दौड़ न करना पड़े |         

बिजनेस के लिए लोन कैसे प्राप्त करें (How to get loan for business)

रोजगार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सरकार द्वारा अनेक प्रकार की योजनाये चलायी जा रही है, इन स्कीमों के माद्यम से आप लोन प्रपात कर सकते है | इसके अलावा सरकारी और गैर सरकारी बैंकों द्वारा व्यवसायिक ऋण उपलब्ध कराया जाता है | हालाँकि बिजनेस लोन सदैव व्यवसाय की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए लेना चाहिए | व्यवसायिक या बिजनेस लोन को 3 फैक्टर्स के आधार पर विभाजित किया जाता है, जो इस प्रकार है-

  • सरकारी योजनाओं के अंतर्गत व्यवसायिक ऋण |
  • सरकारी या गैर सरकारी बैंकों से लोन अर्थात बैंक लोन |
  • महिला उद्यमियों के लिए व्यवसायिक ऋण योजना |

बैंक से Personal Loan कैसे ले

1. सरकारी योजनाओं के अंतर्गत व्यवसायिक ऋण (Business Loans under Government Schemes)

पिछले कुछ वर्षो से सरकार लोगो को अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू करनें के लिए विभिन्न प्रकार की सरकारी योजनाओं के माध्यम से धन उपलब्ध कराया जा रहा है | जिसमें एमएसएमई (MSME) अर्थात माइक्रो, लघु और मध्यम एंटरप्राइजेज के माध्यम से लोगो को व्यवसाय के लिए धन दिया जा रहा है | इसके द्वारा खासतौर से छोटे व्यवसाय और नये स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गयी योजनायें इस प्रकार है-

  • मुद्रा ऋण योजना (MUDRA Loan Scheme)
  • स्टैंड अप इंडिया योजना (Stand Up India Scheme)
  • कॉयर उद्यमी योजना (Coir Udyami Yojana)
  • बैंक क्रेडिट सुविधा योजना (Bank Credit Facilitation Scheme)
  • नाबार्ड (National Bank for Agriculture and Rural Development)

2. सरकारी या गैर सरकारी बैंकों द्वारा लोन (Loans From Government or Non-GovernmentBanks)

वर्तमान समय में सरकारी और गैर सरकारी बैंकों द्वारा बिजनेस लोन दिया जा रहा है जो इस प्रकार है –

  • टर्म या मियादी लोन (Term Loan)
  • वर्किंग कैपिटल लोन (Working Capital Loan)
  • स्टार्ट-अप लोन (Start-up Loan)
  • चालान वित्तपोषण (Invoice Financing)
  • उपकरण वित्तपोषण (Equipment Financing)
  • ओवरड्राफ्ट (Overdraft)

3. महिला उद्यमियों के लिए व्यवसायिक ऋण योजना (Business Loan Scheme for Women Entrepreneurs)

सरकार और बैंकों द्वारा महिला उद्यमियों के लिए भी बिजनेस लोन दिया जाता है | बैंक द्वारा सक्सेसफुल व्यवसाय संचालित करनें वाली महिलाओं को स्मॉल बिज़नेस लोन ऑफर करते हैं | बैंक्स और NBFCs जैसे फाईनेनशियल इंस्टीट्यूशन महिला व्यवसायी के लिए अनेक प्रकार की स्कीम लांच की है, जो इस प्रकार है-

  • सेंट कल्याणीं स्कीम (St. Kalyani Scheme)
  • स्त्री शक्ति पैकेज फॉर वोमेन इंटरप्रेन्योर्स (Stree Shakti Package for Women Entrepreneurs)
  • देना शक्ति स्कीम (Dena Shakti Scheme)
  • उद्योगिनी स्कीम (Udyogini Scheme)
  • महिला उद्यम निधि स्कीम (Women Enterprise Fund Scheme)

बिजनेस लोन हेतु पात्रता (Eligibility for Business Loan)

व्यवसायिक ऋण आप बैंक और सरकारी योजनाओं के माध्यम से प्राप्त कर सकते है | हालाँकि दोनों माध्यम से ऋण लेने के लिए नियमानुसार कुछ पात्रता निर्धारित की गयी है, जो इस प्रकार है-

  • आवेदक को भारत का नागरिक होना आवशयक है।
  • व्यवसाय शुरू करने से सम्बंधित कार्य योजना होनी चाहिए।
  • आवेदक की आयु 18 वर्ष से 65 वर्ष के मध्य होना आवश्यक है |
  • यदि आपका किसी प्रकार का बिजनेस पहले से चल रहा है, तो आपका व्यवसाय लगभग 3 वर्ष पुराना होना चाहिए |
  • किसी भी बैंक या वित्तीय संस्थान द्वारा आपको डिफाल्टर न घोषित किया गया हो |

बिजनेस लोन हेतु आवश्यक दस्तावेज

पहचान का प्रमाण – मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट

निवास का प्रमाण- राशन कार्ड, आधार कार्ड, पासपोर्ट, बिजली का बिल, टेलीफोन बिल

आय का प्रमाण – पिछले 2 वर्षों का बैंक खाते का विवरण

फाईनेनशियल डॉक्यूमेंट- इनकम टैक्स रिटर्न (पिछले 2 सालो का), पिछले 2 वर्षों का लाभ-हानि का विवरण या बैलेंस शीट |

बिज़नेस ओनरशिप- यदि आपका व्यवसाय पार्टनरशिप में संचालित है, तो बिज़नेस लोन के लिए पार्टनरशिप डीड |

बिजनेस लोन की लिमिट (Business Loan Limit)

यदि आप बैंक द्वारा बिजेस लोन लेना चाहते है, तो यह राशि व्यवसाय के अनुसार कम या अधिक हो सकती है | हालाँकि बैंक से आप 5 हजार रुपये से लेकर 2 करोड़ रुपये तक लोन ले सकते है | वैसे रेन की राशि आवेदक की क्रेडिट प्रोफाइल पर निर्भर होती है, इसके अलावा लोन उपलब्ध कराने वाली संस्थाएं जैसे NBFC जैसी वित्तीय संस्थाएं आपकी आय के अनुसार ही लोन अप्रूव करती है |

बिजनेस लोन की ब्याज दर (Business Loan Interest Rate)

यदि आप किसी गवर्नमेंट स्कीम के अंर्गत लोन लेते है, तो ब्याज दर बहुत ही कम होती है और यह ब्याज दर सभी योजनाओं के अनुसार अलग-अलग होती है | इसके अलावा यदि आप बैंक द्वारा लोंन लेते है, तो सरकारी बैंक की अपेक्षा और निजी बैंकों की ब्याज दर कुछ अधिक होती है |

सबसे खास बात यह है, व्यवसायिक ऋण लेने से पूर्व ही धनराशि के मुताबिक ब्याज दर के हिसाब से किश्ते निर्धारित कर दी जाती है अर्थात आपको यह ब्याज दर बता दी जाती है और लोन चुकाने तक ब्याज दर समान रहती है | आमतौर पर बिजनेस लोन के लिए ब्याज दर 13 प्रतिशत से शरू होकर 48 प्रतिशत तक बढ़ाई जा सकती हैं।

बैंक द्वारा बिजनेस लोन लेने की प्रक्रिया (Process to Get Business Loan by Bank)

  • बिजनेस लोन के लिए आपको अपने समीप किसी प्राइवेट या पब्लिक सेक्टर के बैंक में जानें के पश्चात कर्मचारियों से लोन लेने से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करे |
  • इसके पश्चात आपको बैंक मैनेजर से संपर्क कर अपनें व्यवसाय से सम्बंधित लोन के बारें में जानकारी देनी होगी |
  • इसके पश्चात आपको एक लोन एप्लीकेशन फॉर्म को भरनें के बाद सभी आवश्यक दस्तावेजों को अटैच कर बैंक में जमा करना होगा |  
  • बैंक द्वारा आपके सभी डाक्यूमेंट्स को वेरीफाई करने के बाद यह लोन पास कर दिया जाएगा।
  • उसके बाद में निश्चित समयावधि में आपके बैंक अकाउंट में ऋण की राशि भेज दी जाएगी।

होम लोन स्कीम (Home Loan Scheme) क्या है

Leave a Comment