कक्षा 10, 12 में टॉप कैसे करें

किसी भी उच्च विद्यालय या कॉलेज में दाखिला प्राप्त करने के लिए अच्छे अंकों का होना बेहद जरूरी है। इसलिए कुछ छात्रों का प्रयास रहता है की वह कक्षा में अव्वल दर्जा प्राप्त करें, और इसके लिए वह भरपूर कोशिश भी करते है।

जो विद्यार्थी सबसे अच्छे अंक प्राप्त करते हैं, उन्हें टॉपर(Topper)  कहा जाता है और इस प्रकार से अगर आप भी 10वीं या 12वीं कक्षा का टॉपर बनना चाहते हैं तो इस लेख में हम आपको कक्षा 10, 12 में टॉप कैसे करें | 10th/12 Me Topper Kaise Bane in Hindi की जानकारी दे रहे हैं।

10वी के बाद क्या करे ?

Class 10, 12 Me Topper Kaise Bane

Table of Contents

कक्षा 10, 12 में टॉपर बनने के लिए यह आवश्यक है कि जब आप पढ़ाई करने के लिए तैयार हो, तब आप पूरे मन के साथ पढ़ाई करने के लिए बैठे ताकि आपको सारी पढ़ी जाने वाली चीजें अच्छी तरह से समझ आ जाए और आपको पढ़ा हुआ लंबे समय तक याद भी रहे।

अगर आप बेमन से पढ़ाई करने के लिए बैठते हैं तो आप ना तो एग्जाम में टॉपर बन सकेंगे ना ही सभी सब्जेक्ट में अच्छे अंक हासिल कर सकेंगे। इस प्रकार तो आप सिर्फ एक सामान्य विद्यार्थी ही रह जाएंगे। हालांकि दसवीं और बारहवीं की एग्जाम में टॉप करने के लिए सिर्फ यही बातें महत्वपूर्ण नहीं होती है बल्कि अन्य कई बातें भी है जिनका ध्यान आपको रखना पड़ता है।

कक्षा 10 – 12 में टॉप कैसे करे (तरीका)

दैनिक तौर पर अभ्यास करें

एक चतुर विद्यार्थी 10वीं और 12वीं क्लास की एग्जाम को टॉप करने के लिए दैनिक तौर पर अभ्यास करता है, वही एक अनुशासन हीन और आलसी विद्यार्थी कुछ दिन तो रोजाना पढ़ाई करता है परंतु उसके बाद अपने आलसपन की वजह से वह रोजाना पढ़ाई करना छोड़ देता है।

वहीं दूसरी तरफ जो विद्यार्थी रोजाना ईमानदारी से अपनी पढ़ाई करता है वह निश्चित घंटे तक सभी जरूरी सब्जेक्ट पर फोकस करता है। और इसी वजह से उस विद्यार्थी को सभी विषयों की अच्छी समझ हो जाती है। अतः दैनिक तौर पर अभ्यास करें। इससे आपकी तैयारी बेहतर ढंग से होगी।

रिवीजन जरूर करें (Revision Kaise Kare)

दसवीं या बारहवीं में टॉपर बनने के लिए रिवीजन करना भी बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। आप जो कुछ भी स्कूल में पढ़ते हैं या फिर कोचिंग इंस्टिट्यूट में पढ़ते हैं, आपको 24 घंटे के भीतर उसका रिवीजन अवश्य करना चाहिए क्योंकि जब आप पढ़ाई गई चीजों का रिवीजन करते हैं तो वह आपको याद हो जाती है।

इसके पश्चात जब 1 सप्ताह बीत जाए तो उसके बाद आपको फिर से अपने द्वारा पढ़ी गई चीजों का रिवीजन करना है। उसके बाद आपको 1 महीने के बाद और उसके बाद 6 महीने के बाद रिवीजन करना है।

अगर इस प्रक्रिया को आप सही प्रकार से एग्जाम तक कर ले जाते हैं तो निश्चित है कि एग्जाम में आप अच्छे अंक प्राप्त करेंगे और 10वीं की एग्जाम में अथवा बारहवीं की एग्जाम में टॉपर भी बनेंगे।

जो विद्यार्थी इस प्रक्रिया को नहीं कर पाते हैं उन्हें पढ़ाई गई चीजों को याद रखने के लिए और अधिक मेहनत करने की आवश्यकता होती है।

एग्जाम में कठिन सवालों पर कम ध्यान दें

एक टॉपर बनने की इच्छा रखने वाला विद्यार्थी इस बात को अच्छी तरह से जानता है कि उसे एग्जाम में उन सवालों को सबसे पहले हल करना है जिसके जवाब उसे पता है ना कि उसे परीक्षा के अंदर ऐसे सवालों के पीछे अपना समय खराब करना है। जिसका जवाब उसे पता नहीं है या फिर जिसके जवाब को लेकर के उसके मन में कंफ्यूजन है।

इस प्रकार से टॉपर बनने के लिए आपको एग्जाम के कठिन सवालों पर ज्यादा समय व्यतीत नहीं करना है, उसकी जगह पर आपको ऐसे सवालों के जवाब देने हैं जिनका जवाब आपको शत प्रतिशत आता है।

मन में आने वाले सवाल अवश्य पूछें!

अगर कोचिंग इंस्टिट्यूट में पढ़ाई के दरमियान या फिर स्कूल में पढ़ाई के दरमियान किसी सवाल का जवाब आपको नहीं पता है या फिर आपको किसी सवाल को लेकर कंफ्यूजन है। तो आपको बिना संकोच किए हुए अपने ट्यूशन टीचर से अपने सवाल को अवश्य पूछना चाहिए क्योंकि जब आप ऐसा करेंगे तो टीचर निश्चित ही आपके सवाल का जवाब देंगे।

ऐसा करके आप ऐसे सवालों के जवाब जान सकते हैं जिनका जवाब आपको पता ही नहीं है और इस प्रकार से आप अपनी बेहतर तैयारी कर सकेंगे।

मॉडल क्वेश्चन पेपर को हल करें।

10 वीं या फिर 12वीं की एग्जाम में टॉपर बनने के लिए आपको उसी बोर्ड के पिछले 10वीं और 12वीं की बोर्ड के एग्जाम के पेपर को हासिल करना है जिस बोर्ड से आप पढ़ाई कर रहे हैं अथवा जिस बोर्ड की एग्जाम आप देने वाले हैं।

पुराने क्वेश्चन पेपर को हासिल करने के बाद आपको शांति से बैठ के क्वेश्चन पेपर का विश्लेषण करना है। ऐसा अगर आप करते हैं तो आपको यह पता चल जाएगा कि दसवीं या फिर 12वीं की बोर्ड की एग्जाम में किस प्रकार के सवाल पूछे जाते हैं और कौन से सेक्शन में कितने अंकों के सवाल होते हैं।

इसके अलावा आपको यह भी पता चल जाएगा कि सवाल सरल आते हैं या कठिन। आपको पुराने प्रश्न पत्र को हल करने का प्रयास भी करना है। ऐसा करने से आप वास्तविक एग्जाम में निश्चित समय के भीतर सवालों के जवाब देने के आदी हो जाएंगे और आपके लिखने की स्पीड भी अच्छी हो जाएगी।

हार्ड नहीं स्मार्ट स्टडी करें (Smart Study Kaise Kare)

10वीं और 12वीं क्लास की एग्जाम को टॉप करने के लिए आपको हार्ड स्टडी की जगह पर स्मार्ट स्टडी पर फोकस करना चाहिए। स्मार्ट स्टडी के अंतर्गत एक विद्यार्थी अपने टाइम का मैनेजमेंट करता है और वह समय से सभी काम को समाप्त करता है फिर चाहे वह कोई अन्य काम हो या फिर पढ़ाई का काम हो।

प्रतियोगी एग्जाम के टॉपर और एक सफल विद्यार्थी के बीच समर्पण का अंतर होता है। क्योंकि जो व्यक्ति पढ़ाई के प्रति पूरी तरह से समर्पित हो जाता है वह निश्चित ही कामयाबी हासिल करता है।

12वीं के बाद क्या करे ?

नोट्स जरूर बनाएं !

टॉपर बनने के लिए यह भी आवश्यक है कि विद्यार्थी स्कूल या फिर कोचिंग इंस्टिट्यूट में पढ़ाई जाने वाली चीजों को नोट्स में अलग से लिख कर के रखे।

और जब वह अपने घर पर आए तो खाली समय में नोट में लिखी गई चीजों का अध्ययन करें। यह प्रक्रिया भी एक विद्यार्थी को टॉपर बनाने में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है।

सब्जेक्ट के कांसेप्ट को समझें

हमने ऐसे कई विद्यार्थी देखे हैं जो टॉपर बनने के लिए बस दिन भर किताब में लिखी गई बातों का रट्टा ही मारते रहते हैं परंतु उन्हें यह नहीं पता होता है कि रट्टा मारना टॉपर व्यक्ति अथवा विद्यार्थी की पहचान नहीं होती है।

क्योंकि टॉपर बनने के लिए यह आवश्यक होता है कि आपको जो चीजें पढ़ाई जा रही हैं आप उसके कांसेप्ट को समझें।

अगर आप उस चीज के कांसेप्ट को समझेंगे तो आपकी इंफॉर्मेशन में बढ़ोतरी होगी साथ ही साथ आपको अलग-अलग प्रकार के क्वेश्चन का सामना करना पड़ेगा जिसकी वजह से आपकी सोच भी डिवेलप होगी और आप आगे चलकर के किसी भी प्रकार के हार्ड क्वेश्चन से घबराएंगे नहीं।

अपने स्वास्थ्य पर भी ध्यान दें

10वीं अथवा 12वीं क्लास की बोर्ड की एग्जाम पास आने के साथ ही विद्यार्थियों के मन में टेंशन भी पैदा होने लगती है और दिन-रात एग्जाम की तैयारी करने की वजह से उनका स्वास्थ्य भी धीरे-धीरे बिगड़ने लगता है और परीक्षा नजदीक आते-आते विद्यार्थी बीमार हो जाते हैं जिसका बुरा प्रभाव उनकी परीक्षा पर पड़ता है।

ऐसे में विद्यार्थियों को अपनी सेहत का पूरा ध्यान अवश्य रखना चाहिए। विद्यार्थी स्वस्थ रहने के लिए रोजाना 6 घंटे की नींद अवश्य लें साथ ही साथ अंकुरित अनाज का सेवन करें और फल तथा दूध भी अपने भोजन में ग्रहण करें। यह सभी चीजें पौष्टिक होती है जो विद्यार्थियों को चिंता मुक्त रखती हैं और उन्हें ताकत देती है।

सभी विषयों पर बराबर ध्यान दें।

10वीं और 12वीं क्लास की परीक्षा को टॉप करने के लिए यह आवश्यक है कि हम अपने सभी सब्जेक्ट पर बराबर ध्यान दें। एक टॉपर विद्यार्थी की यह पहचान होती है कि वह किसी एक ही सब्जेक्ट को ज्यादा समय नहीं देता है।

एक ही सब्जेक्ट को अधिक समय तब दिया जाता है जब विद्यार्थी उस सब्जेक्ट में कमजोर होता है। हालांकि इसका मतलब यह नहीं है कि अन्य सब्जेक्ट की पढ़ाई कम कर दी जाए।

आपको सभी सब्जेक्ट पर बराबर फोकस करना चाहिए क्योंकि टॉप करने के लिए यह आवश्यक होता है कि आप सभी विषयों की एग्जाम में अच्छे से अच्छे अंक हासिल करें  क्योंकि जब परीक्षा का रिजल्ट जारी किया जाता है तो उसमें सभी सब्जेक्ट में प्राप्त अंकों को आधार बनाकर के परसेंटेज बनाए जाते हैं।

और जिसके परसेंटेज सबसे अधिक होते हैं उसे ही टॉपर कहा जाता है। इसलिए यह आवश्यक है कि सभी सब्जेक्ट को आप प्राथमिकता के तौर पर ले और उनका अध्ययन करें।

अपनी पहले की गलतियों पर गौर करें ।

जब बात बोर्ड एग्जाम की आती है तो हमें हर पहलू पर ध्यान देना होता है जिसके अंतर्गत यह बात भी आती है कि आप पहले एग्जाम में जो गलती कर चुके हैं उसे दोबारा से ना करें।

आपको यह ध्यान करना है कि पहले आपने जिस क्लास की एग्जाम को दिया था उसमें आपने ऐसी कौन सी गलतियां की थी, जिसकी वजह से उस कक्षा की एग्जाम को आपने पास तो कर लिया परंतु आपके पासिंग अंक बहुत ही कम थे।

आपको यह देखना है कि आपने कौन सी गलती की और आप कहां पर कमजोर पड़ गए और आपको कौन सी चीजों में सुधार करने की आवश्यकता है।

क्या आपके लिखने की स्पीड कम थी या फिर आप जानकारियों को सही प्रकार से याद नहीं कर पाए। इस प्रकार से आप अपनी सभी गलतियों का विश्लेषण कीजिए और सभी गलतियों को एक-एक करके सुधारने का प्रयास जारी कर दीजिए।

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना – आईएएस पीसीएस की मुफ्त कोचिंग

योगा भी अवश्य करिए।

किताबों की बातों को सही प्रकार से याद रखने के लिए आपको फोकस पर भी ध्यान देना होगा और फोकस की प्राप्ति आप योगा करके कर सकते हैं।

अगर आपके पास फोकस की कमी है तो इसके लिए आपको दैनिक तौर पर अपने बिजी टाइम में से थोड़ा सा समय निकाल कर के योगा का अभ्यास करना चाहिए अथवा मेडिटेशन करना चाहिए।

क्योंकि जब आप मेडिटेशन करना प्रारंभ करते हैं तो आपका दिमाग धीरे-धीरे शांत होने लगता है और आप के दिमाग की जो उलझने होती है वह भी कम होने लगती है।

ऐसे में आप जब स्टडी करते हैं तो आपका दिमाग स्टडी की जा रही सारी बातों को तेजी के साथ कैप्चर करता है और उसे लंबे समय तक याद करके रखता है।

क्लास में आगे बैठे

अगर आप अपनी क्लास में पीछे वाली बेंच में बैठते हैं तो आपको अपने स्थान को चेंज कर देना है और आगे वाली बेंच पर बैठना है। क्योंकि शिक्षक के द्वारा भी क्लास में पीछे वाली बेंच पर बैठे हुए विद्यार्थी पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता है क्योंकि पीछे वाले विद्यार्थियों की छवि बुरे विद्यार्थियों के तौर पर होती है।

इसलिए अगर आपको टीचर के द्वारा पढ़ाई जाने वाली सभी बातों को आसानी से समझना है साथ ही सम्बन्धित मुद्दे पर शिक्षक के साथ सवाल जवाब करना है तो आपको क्लास में आगे की बेंच पर बैठना चाहिए।

ध्यान भटकाने वाली चीजों को एक साइड रखें

जब आप रिवीजन करने बैठे अथवा कुछ याद करने बैठे तो ध्यान भटकाने वाली सभी चीजों से आपको अपना नाता कुछ समय के लिए तोड़ देना है ना तो आपको अपने पास स्मार्टफोन रखना है ना ही आपको अपने पास किसी भी शोर-शराबा करने वाली चीजों को रखना है।

अगर आप घर बैठे ऑनलाइन पढ़ाई करते हैं तो आपके फोन में कुछ देर के लिए सोशल मीडिया एप्लीकेशन की नोटिफिकेशन को भी आप को बंद कर देना है। ताकि आप पढ़ाई के समय पर अपनी किताब के साथ पूरे तौर पर कनेक्ट हो सके और सभी चीजों को बेहतर ढंग से समझ सके।

क्लास में पूरा ध्यान दे (Class Me Focus Kaise Kare)

दसवीं और बारहवीं की एग्जाम में टॉपर बनने के लिए यह आवश्यक है कि आप क्लास के दरमियान टीचर के द्वारा जो भी बातें बताई जा रही है अथवा जो कुछ भी सिखाया जा रहा है उन पर बराबर गौर करें।

क्योंकि अगर आप उन सभी बातों पर बराबर गौर करेंगे तो वह सभी बातें आपके दिमाग में बैठ जाएंगी और इस प्रकार से आप कुछ चीजों को दोबारा से याद करने से बच जाएंगे।

कई विद्यार्थी क्लास में इस तरफ ध्यान नहीं देते हैं और फिर वह कोचिंग इंस्टिट्यूट में जाकर के स्कूल वाली बात ही पूछते हैं परंतु उन्हें सही जवाब नहीं मिल पाता है।

कमजोर सब्जेक्ट पर अधिक ध्यान दें।

12वीं क्लास को टॉप करने के लिए अथवा 10वीं क्लास को टॉप करने के लिए यह भी आवश्यक है कि जिस विषय में आप की तैयारी कमजोर है अर्थात जिस विषय मे आप कमजोर हैं आपको उस सब्जेक्ट पर भी थोड़ा अधिक ध्यान देना है।

आप चाहे तो उस सब्जेक्ट की बेहतर तैयारी के लिए कोचिंग इंस्टिट्यूट भी ज्वाइन कर सकते हैं। जैसे कि अधिकतर विद्यार्थी गणित के सब्जेक्ट में काफी कमजोर होते हैं। इसलिए विद्यार्थियों को गणित के सब्जेक्ट पर ज्यादा ध्यान देना है।

यूट्यूब का सहारा लें (Youtube Se Padhai Kaise Kare)

कभी कभी अगर आपको स्कूल में पढ़ाए जाने वाले सब्जेक्ट या फिर कोचिंग इंस्टिट्यूट में पढ़ाए जाने वाले सब्जेक्ट से संबंधित किसी भी प्रकार का डाउट होता है और आप अपने घर आ चुके होते हैं तो ऐसे में आपको यूट्यूब का सहारा लेना चाहिए।

यूट्यूब पर अब बहुत सारे एजुकेशनल चैनल बन चुके हैं जो आपको 10वीं और 12वीं बोर्ड की एग्जाम की बेहतर तैयारी करवाने में आपके लिए बहुत ही सहायक साबित हो सकते हैं। आप अपने कमजोर विषय से संबंधित ट्यूटोरियल वीडियो को यूट्यूब पर देखें और सीखने का प्रयास करें।

कक्षा 10 और 12 में टॉप करने से संबंधित टिप्स | Topper Banne Ke Liye Kya Karen

  • आपको दैनिक तौर पर सभी सब्जेक्ट की समय-समय पर स्टडी करनी चाहिए।
  • बेहतर होगा कि आप टाइम टेबल बनाएं और टाइम टेबल के अनुसार पढ़ाई करें।
  • पढ़ाई करने के बैठने से पहले ही आपका ध्यान भटकाने वाली चीजों को अलग रख देना है।
  • पढी हुई चीजों को अगर आप लंबे समय तक याद रखना चाहते हैं तो आपको सुबह के समय में पढ़ाई करनी है।
  • सिर्फ रट्टा मारने पर ही फोकस ना करें बल्कि सब्जेक्ट को गहराई से समझें।
  •  पहले अपने द्वारा की जा चुकी गलतियों से सीखे और उसमें सुधार करें।
  • एग्जाम की अधिक टेंशन ना लें। चिंता मुक्त रहें और पूरे आत्मविश्वास के साथ परीक्षा की तैयारी करें।
  • बेहतरीन तैयारी के लिए कोचिंग इंस्टीट्यूट ज्वाइन करना भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

बिना कोचिंग के सेल्फ स्टडी कैसे करे

Leave a Comment