क्लर्क (Clerk) कैसे बने?

सरकारी या प्राइवेट नौकरी में पेपर वर्क के लिए क्लर्क की नियुक्ति की जाती है, एक ऑफिस में एक या एक से अधिक क्लर्क हो सकते है, यह संख्या ऑफिस में वर्क लोड के ऊपर निर्धारित किया जाता है | क्लर्क के रूप में सभी प्रकार की रिपोर्ट को तैयार किया जाता है | रिपोर्ट तैयार होने के बाद आपको अपनी रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को देना होता है, ऑफिस के अनुसार कार्य का रूप अलग- अलग हो सकता है |

ये भी पढ़ें: सरकारी बैंक में क्लर्क कैसे बने?

क्लर्क क्या है (What is Clerk)?

किसी भी संस्थान में लिखित कार्य के साथ संस्थान द्वारा उपलब्ध कराई जा रही सेवाओं को देने का कार्य करने वाले व्यक्ति को क्लर्क कहा जाता है | एक क्लर्क के रूप अपने कार्य से सम्बंधित सभी प्रकार की रिपोर्ट को बनाकर अपने उच्च अधिकारी को सौंपा जाता है, इस रिपोर्ट के आधार पर उच्च अधिकारी अपना निर्णय लेते है |

ये भी पढ़ें: एलआईसी एएओ (LIC AAO) कैसे बने?

क्लर्क कैसे बने (How To Become Clerk)?

  • क्लर्क बनने के लिए संस्थानों द्वारा परीक्षा का आयोजन किया जाता है, जिसमें सफल होने के बाद आप उस संस्थान में क्लर्क के पद पर कार्य कर सकते है | यदि आप सरकारी विभाग से जुड़ना चाहते है, तो क्लर्क के पदों के लिए समय- समय पर विज्ञापन जारी किया जाता है | आप इस विज्ञापन के अनुरूप आवेदन करके सरकारी विभाग से जुड़ सकते है | क्लर्क का पद लगभग सभी विभागों में उपलब्ध रहता है |
  • केंद्र सरकार के विभागों में चयन के लिए परीक्षा का आयोजन कर्मचारी चयन आयोग के द्वारा किया जाता है | राज्य सरकार के विभागों में क्लर्क पदों की परीक्षा का आयोजन राज्य लोक सेवा आयोग के द्वारा किया जाता है | कुछ विभाग अपने यहाँ स्वयं क्लर्क की परीक्षा आयोजित करके पदों को भरते है |
  • बैंक में क्लर्क बनने के आईबीपीएस और एसबीआई के द्वारा परीक्षा का आयोजन किया जाता है | इनके द्वारा आयोजित परीक्षा में भाग लेकर आप बैंक में क्लर्क बन सकते है |
  • भारतीय रेलवे में भी समय- समय पर क्लर्क के पदों के लिए विज्ञापन जारी किया जाता है, आप निर्धारित तिथि में आवेदन करके परीक्षा में सफल होने के बाद रेलवे से जुड़ सकते है |

ये भी पढ़ें: आरबीआई ग्रेड बी परीक्षा क्या है?

योग्यता (Qualification)

कर्मचारी चयन आयोग के द्वारा इंटरमीडियट और स्नातक स्तर की परीक्षा का आयोजन किया जाता है आप योग्यता के अनुसार परीक्षा में भाग ले सकते है | बैंक में क्लर्क पद के लिए स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य है | रेलवे में क्लर्क बनने की योग्यता इंटरमीडियट है लेकिन यह योग्यता पद के अनुरूप स्नातक भी हो सकती है | यदि आप अच्छे पद पर जॉब पाने के इच्छुक है, तो आपको स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण होनी अनिवार्य है |

ये भी पढ़ें: एसएससी MTS की तैयारी कैसे करे?

अन्य योग्यता (Other Qualifications)

क्लर्क बनने के लिए कम्यूटर ज्ञान का होना अनिवार्य है, आप नीलेट संस्थान से ओ लेवल या सीसीसी का कोर्स कर सकते है | इसके साथ ही आपकी टाइपिंग स्पीड भी अच्छी होनी चाहिए आपको हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में टाइपिंग करने का ज्ञान होना चाहिए | टाइपिंग की स्पीड विभाग द्वारा या परीक्षा नियामक के द्वारा तय की जाती है |

सैलरी (Salary)

सरकारी विभाग में लोअर डिवीज़न क्लर्क (LDC) का पे बैंड 5200-20200 तथा ग्रास सैलरी 22,392 – 26,026 है | प्राइवेट संस्थान में यह वेतन संस्थान के ऊपर निर्भर करता है, क्लर्क पद के लिए यह वेतन लगभग 15000 रुपये से लेकर 25000 रुपये तक प्रति माह है |

ये भी पढ़ें: रेलवे टिकट रिफंड के नियम

तैयारी कैसे करे ?

आप इस प्रकार से क्लर्क की तैयारी कर सकते है-

सही निर्णय और पाठ्यक्रम

क्लर्क की तैयारी करने से पहले आपको यह निर्णय लेना होगा की आप किस क्षेत्र में जाना चाहते है, क्योंकि की सभी परीक्षाओं का स्तर और पाठ्यक्रम अलग- अलग होता है | यदि आप बैंक में क्लर्क बनना चाहते है, तो आपको तैयारी उसके अनुसार करनी होगी | अगर आप कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से क्लर्क बनना चाहते है, तो आपको उसके पाठ्यक्रम के अनुसार अपनी तैयारी करनी होगी |

ये भी पढ़ें: एसएससी क्या है

कमजोर पॉइंट को समझे

परीक्षा का चयन करने के बाद आप परीक्षा के पाठ्यक्रम को सही ढंग से पढ़ना और समझना होगा | इसके बाद आपको अपने कमजोर पॉइंट को नोट करना होगा | कमजोर पॉइंट की जानकारी होने के बाद आपको प्रति दिन ऐसी दिन चर्या बनानी चाहिए जिससे आपका वह कमजोर पॉइंट सही हो सके, जैसे आप गणित, रीजनिंग या अंग्रेजी में कमजोर है, तो आपको इन विषयों पर अतिरिक्त समय देना होगा और इसके लिए आप सेल्फ स्टडी या कोचिंग संस्थान को जॉइंट कर सकते है |

ऑनलाइन कोचिंग

आप ऑनलाइन कोचिंग में भी भाग ले सकते है | यूट्यूब पर बहुत से चैनल फ्री में तैयारी करवाते है, आप अपनी तैयारी यहाँ से बेहतर ढंग से कर पाएंगे | ऑनलाइन कोचिंग का सबसे बड़ा लाभ यह है, कि आप कोचिंग संस्थान में आने- जाने में लगने वाले समय की बचत कर सकते है, इसके अतिरिक्त धन का खर्च भी कम होगा और समय की पाबंदी नहीं होगी |

ये भी पढ़ें: पीओके (POK) का क्या मतलब है

कंप्यूटर ज्ञान और टाइपिंग

क्लर्क बनने के लिए कंप्यूटर ज्ञान और टाइपिंग बहुत ही अनिवार्य है, आपको इसके लिए किसी संस्थान से जुड़ना होगा | आप ओ लेवल और सीसीसी का कोर्स घर बैठे भी कर सकते है, इसके लिए आपको नियलेट की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना होगा और परीक्षा देनी होगी | टाइपिंग के लिए आपको प्रति दिन कम से कम दो घंटे टाइपिंग करनी होगी, जिसके बाद ही आपकी अच्छी स्पीड होती है | आयोग द्वारा कराये गए टाइपिंग टेस्ट में बैक करने का ऑप्शन नहीं दिया जाता है, जिससे गलती होने पर आप किसी प्रकार का सुधार नहीं कर पाएंगे | इसलिए बहुत ही अच्छे ढंग से टाइपिंग सीखनी होगी |

यदि आप इस प्रकार से क्लर्क की तैयारी करते है, तो आप सरकारी विभाग में क्लर्क के पद पर चयनित हो सकते है |

ये भी पढ़ें: संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) क्या है?

ये भी पढ़ें: सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया क्या होता है

ये भी पढ़ें: UPPCF (यूपीपीसीएफ) क्या है?

ये भी पढ़ें: लेखपाल (LEKHPAL) कैसे बने