D Pharma क्या होता है ?

आज लाखों छात्र फार्मा के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं लेकिन सही जानकारी ना होने की वजह से अपने पसंद का कोर्स नहीं कर पाते और वह अपने सपनों को पूरा करने से वंचित रह जाते हैं। जो बच्चे फार्मा के क्षेत्र में प्रवेश करना चाहते हैं उनके लिए सबसे उत्तम डी. फार्मा का कोर्स है।

ऐसे में इस लेख के माध्यम से हम आपको डी फार्मा के कोर्स के बारे में सारी जानकारी देने वाले हैं जिससे आप फार्मा के क्षेत्र में अपना करियर बना सकते हैं और अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। आपको इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ने की जरूरत होगी।

बीएचएमएस (BHMS) कोर्स क्या है ?

D Pharma कोर्स क्या है?

डी फार्मा एक 2 वर्षों का डिप्लोमा कोर्स है जिसका पूरा नाम “डिप्लोमा इन फार्मा (Diploma in Pharmacy)” है। इस कोर्स को 4 सेमेस्टर में विभाजित किया जाता है जिसमे विद्यार्थियों को फार्मा के बारे में जानकारी प्रदान की जाती है। जैसे कि दवाई कैसे बनती है, दवाई की मार्केटिंग कैसे होती है और दवाई का डिस्ट्रीब्यूशन कैसे होता है इत्यादि।

12वीं के बाद आप इस कोर्स को कर सकते हैं और किसी फार्मेसी स्टोर पर जॉब पा सकते हैं। आप चाहें तो अपना खुद का मेडिकल स्टोर भी खोल सकते हैं। फार्मेसी फर्मकीर्त विशेषज्ञ आजकल बहुत ही मांग में हैं इसलिए यह कोर्स आपके करियर के लिए बेहतरीन साबित हो सकता है। कई देश डी फार्मेसी करने के बाद आपके नाम के आगे डॉक्टर लिखने की भी अनुमति देते हैं।

D Pharma कोर्स करने के लाभ        

डी फार्मा कोर्स करने से हमे काफी लाभ प्राप्त होते हैं जिनके बारे में हम निम्न जानकारी दने जा रहे हैं:-

  • डी फार्मा करने के बाद आप रिसर्च के क्षेत्र में अपना करियर बनाने के सक्षम हो जाते हैं।
  • डी फार्मा करने के उपरांत वैज्ञानिक अधिकारी बनने के काबिल हो जाते हैं।
  • भारत के अलावा विदेशों में भी आप नौकरी कर सकते हैं।
  • आप अपना खुद का एक मेडिकल स्टोर भी खोल सकते हैं।
  • सरकारी नौकरी के रास्ते भी आपके लिए डी फार्मा करने के बाद खुल जाते हैं।
  • आप एक शिक्षक के रूप में भी कॉलेज और संस्थानों में नौकरी कर सकते हैं।
  • आपके लिए किसी फार्मासिस्ट कंपनी में नौकरी मिलना आसान हो जाता है।

D Pharma कोर्स के लिए योग्यता

D Pharma कोर्स करने के लिए कुछ योग्यताएं होती हैं जिन्हें अगर आप समय रहते पूरा कर लेते हैं तो इस कोर्स के प्रवेश के लिए आपके सामने कोई समस्या नहीं आएगी। यह योग्यताएं कुछ इस प्रकार हैं:-

  • सबसे पहले आपको 12 कक्षा पास होने की आव्यशकता होगी।
  • 12वीं कक्षा में आपके कम से कम 50 प्रतीषत अंक होने जरूरी हैं।
  • 12 कक्षा आपकी PCB या PCM (दोनों में से किसी एक) के साथ होनी चाहिए।
  • आपकी आयु कम से कम 17 वर्ष होनी चाहिए।

D Pharma कोर्स की फीस

डी फार्मा कोर्स के लिए फीस कॉलेज द्वारा प्रदान की जा रही सहूलियत के हिसाब से अलग अलग होती है। आम तौर पर डी फार्मा कोर्स के लिए फीस 40,000 रूपये से लेकर 1 लाख रूपये सालाना होती है। अगर आप किसी सरकारी कॉलेज में प्रवेश करने जा रहे हैं तो इसकी फीस कम होती है परंतु प्राइवेट कॉलेज में इसकी फीस ज़्यादा होती है।

एडमिशन लेने से पहले आपको अपने सभी नज़दीकी कॉलेजों की फीस के बारे में पता कर लेना चाहिए और अपनी सहूलियत के हिसाब से आप अपने पसंदीदा कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं।

जीएनएम (GNM) कोर्स क्या है

D Pharma कोर्स के लिए प्रवेश परीक्षा

आप अगर किसी प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आपको बिना किसी प्रवेश परीक्षा के एडमिशन मिल जाता है लेकिन सरकारी कॉलेज में डी फार्मा करने के लिए आपको प्रवेश परीक्षा देनी होती हैं जिसमे आपको मिले अंकों के अनुसार आपको एडमीशन मिलती है। इसके लिए अलग अलग राज्यों द्वारा प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन करवाया जाता है जिनमें से कुछ के बारे में हम निम्न जानकारी प्रदान कर रहे हैं:-

State NameEntrance Exam Name
उत्तर प्रदेशUPSEE – Pharmacy
महाराष्ट्रMHT CET
गुजरातGUJCET
राजस्थानRUHS-P
तमिल नाडुAU AIMEE
पश्चिम बंगालWBJEE-Pharmacy
उड़ीसाOJEE-Pharmacy
गोवाGoa CET
कर्नाटकKCET

इसके अलावा राष्ट्रीय स्तर पर भी डी फार्मा के लिए प्रवेश परीक्षा करवाई जाती है जिसे  GPAT कहा जाता है। इसे पास करके आप डी फार्मा में प्रवेश कर सकते हैं।

D Pharma कोर्स कैसे करें

डी फार्मा कोर्स करने से पहले आपको निश्चित कर लेना चाहिए कि हमारे द्वारा ऊपर बताई गई योग्यताएं पूरी करलीं हैं या नहीं। इसके पश्चात अगर आप सरकारी कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं तो आपको प्रवेश परीक्षा से गुज़ारना होगा अन्यथा प्राइवेट कॉलेज में आपको डायरेक्ट एडमिशन मिल सकती है।

अपने लिए एक बढ़िया प्राइवेट कॉलेज चुनने के बाद आप कॉलेज से Aaplication फॉर्म लेकर अपनी जानकारी भर सकते हैं। यहाँ पर यह बात ध्यान देने योग्य है कि एप्लिकेशन फॉर्म में अपनी जानकारी सही तरीके से भरें ताकि बाद में आपको कोई भी दिक्कत का सामना ना करना पड़े।

हर महीने डी फार्मा के कोर्स के लिए एप्लिकेशन लिए जाते हैं। लेकिन कुछ राज्यों में इसके लिए समय सीमा भी तय की जाती है। इसलिए आपको पहले ही अपने राज्य के कॉलेजों में डी फार्मा के लिए एडमिशन प्रक्रिया के बारे में मालूम कर लेना चाहिए।

उसके बाद आप क्लासेज ज्वाइन कर सकते हैं। इस कोर्स के दौरान आप फार्मा के बारे में जानकारी दी जाएगी जिसे आपको अच्छे से समझना है। कोर्स 4 अलग अलग सेमेस्टर में बांटा जाता है और हर सेमेस्टर के अंत में आपको परीक्षा से गुज़ारना होता है। परीक्षा पास करने के उपरांत आप अगला सेमेस्टर शुरू कर सकते हैं। इसी बीच आपको कुछ प्रैक्टिकल और असाइनमेंट भी तैयार करने के लिए दिए जाते हैं जिसके आधार पर आपको असेसमेंट अंक दिए जाते हैं।

सफलतापूर्वक चारों सेमेस्टर ख़तम करने के बाद आपको 3 महीने की इंटर्नशिप का मौका मिलता है जिसके दौरान आपको फार्मा के क्षेत्र के बारे में रियल लाइफ अनुभव प्राप्त होता है। कई कॉलेजों में इंटर्नशिप के भी अंक दिए जाते हैं। इसके बाद आपका डी फार्मा का कोर्स खत्म हो जाता है और आप किसी कंपनी में नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। आप चाहें तो उच्च शिक्षा के लिए भी एडमिशन ले सकते हैं।

लैब टेक्नीशियन (Lab Technician) कैसे बने ?

D Pharma कोर्स के लिए सिलेबस

जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं की डी फार्मा को 4 सेमेस्टर में विभाजित किया जाता है जिसमे आप फार्मा के क्षेत्र का ज्ञान प्राप्त करते हैं। 2  साल में आप अलग अलग विषयों को पढ़ते हैं। यह विषय कुछ इस प्रकार हैं:-

First YearSecond Year
औषध बनाने की विद्या Iऔषध बनाने की विद्या II
फार्मास्युटिकल रसायन विज्ञान Iफार्मास्यूटिकल कैमिस्ट्री II
फार्माकोग्नॉसीफार्माकोलॉजी विष विज्ञान
बायोकैमिस्ट्री क्लीनिकल पैथोलॉजीफार्मास्युटिकल न्यायशास्र
मानव शरीर रचना विज्ञान शरीर विज्ञानड्रग स्टोर व्यापार प्रबंधन
स्वास्थ्य शिक्षा समुदाय फार्मेसीअस्पताल नैदानिक फार्मेसी

डी फार्मा कोर्स करने के बाद करियर स्कोप

डी फार्मा के विद्यार्थियों की मांग कुछ सालों में काफी बढ़ी है जिसका फायदा उठा कर आप अपना करियर आसानी से बना सकते हैं। डी फार्मा कोर्स करने के बाद हमारे सामने बहुत सारे करियर विकल्प आ जाते हैं। सरकारी एवं गैर सरकारी किसी भी संस्था में आप नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। आप अपना खुद का मेडिकल स्टोर भी खोल सकते हैं। इसके अलावा आप निम्न बताए जॉब रोल्स भी अपना सकते हैं:-

  • ड्रग इंस्पेक्टर |
  • मेडिकल स्टोर |
  • ड्रग इंस्पेक्टर |
  • मेडिकल एजेंसी |
  • ड्रग मैन्युफैक्चरिंग कंपनी में मेडिकल रिप्रेजेन्टेटिव |
  • मेडिसिन मार्केटिंग |
  • साइंटिफिक ऑफिसर |
  • प्रोडक्शन एग्जीक्यूटिव |
  • सकरकारी और प्राइवेट क्षेत्र में फार्मासिस्ट |
  • रिसर्च सेंटर |

डी फार्मा कोर्स करने के बाद सैलरी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डी फार्मा करने के बाद आपकी सैलरी कंपनी और राज्य के आधार पर होती है। आम तौर पर एक फ्रेशर की सैलरी लगभग 25 हज़ार रूपये से शुरू होती है और जैसे जैसे आपका अनुभव बढ़ता है वैसे वैसे आपकी सैलरी में वृद्धि होती रहती है। विदेशों में फ्रेशर के लिए सैलरी 30 हज़ार से शुरू हो सकती है।

डी फार्मा कोर्स के बाद उच्चतम शिक्षा

डी फार्मा के बाद भी ऐसे कई कोर्स हैं जिनमें प्रवेश करके आप अपना अनुभव बढ़ा सकते हैं और रोज़गार के रास्तों में वृद्धि कर सकते हैं। विद्यार्थिओं को अच्छी तरह से सोच समझकर निर्णय लेना चाहिए कि उन्हें आगे पढ़ना चाहिए या फिर नौकरी या व्यवसाय की तरफ ध्यान देना चाहिए।

Bachelor’s Courses

Bachelor of Pharmacy (B. Pharm)4 Years
Bachelor of Pharmacy (B. Pharm) Lateral Entry3 Years
Pharm (Hons.)4 Years
Bachelor of Pharmacy (Ayurveda)4 Years

Master’s Courses

Master of Pharmacy (M.Pharm)2 Years
PharmD (Post Baccalaureate)3 Years
Doctor of Pharmacy (Pharm D)6 Years

Doctorate and Post-Doctoral Courses

PhD in Pharmaceutical Sciences3 Years
Postdoc in Pharmaceutical Sciences2 Years

डी फार्मा की प्रवेश परीक्षा की तैयारी कैसे करें

  • किसी भी कोर्स की प्रवेश परीक्षा आसान नहीं होती। इसलिए आपको 1 या 2 पहले ही डी फार्मा की प्रवेश परीक्षा की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। नीचे हम आपको डी फार्मा की प्रवेश परीक्षा की तैयारी के बारे में कुछ उपयोगी सुझाव देने जा रहे हैं:-
  • प्रवेश परीक्षा के लिए आपके पास सिलेबस जरूर होना चाहिए। आजकल आप किसी भी कोर्स का सिलेबस ऑनलाइन आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। इससे आपको तैयारी में आसानी रहेगी।
  • पिछले साल के प्रश्न पत्रों को हल करें और जो प्रश्न अधिकतम आए हैं उनकी तैयारी जरूर करें।
  • Mock Test देने से आपको यह पता चलता है कि आपकी तैयारी कितनी है और आत्म विश्वास बढ़ता है। इंटरनेट पर ऐसी कई वेबसाइट मौजूद हैं जहाँ पर से आप Mock Test दे सकते हैं।
  • महत्त्वपूर्ण प्रश्नों को अच्छे से याद करें और प्रश्नों के जवाबों को लिखकर भी देखें। समय समय पर खुद का टेस्ट लें।

भारत में डी फार्मा कोर्स के लिए कुछ उत्तम कॉलेज

भारत में ऐसे बहुत सारे कॉलेज हैं जहाँ से आप डी फार्मा कर सकते हैं। लेकिन नीचे हमने भारत के कुछ उत्तम कॉलेजों के बारे में बताया है जहां पर आपको ज़्यादा से ज़्यादा सहूलतें मिलेंगी और आप बिना किसी बाधा के डी फार्मा कर पाएंगे।

  • महेन्द्रगयात्री पैरामेडिकल कॉलेज, बरेली |
  • देवभूमि ग्रुप ऑफ इंस्टिट्यूट, देहरादून |
  • रक्षपाल बहादुर इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मेसी, दिल्ली |
  • मणिपाल कॉलेज ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंस, मणिपाल, कर्नाटक |
  • स्वामी विवेकानंद सुहार्तो यूनिवर्सिटी, मीराट, उत्तर प्रदेश |
  • दिल्ली फार्मास्यूटिकल साइंस एंड रिसर्च यूनिवर्सिटी, नई दिल्ली |
  • पूना कॉलेज ऑफ फार्मेसी, पूना, महाराष्ट्र |
  • विजडम स्कूल ऑफ मैनेजमेंट, ऐहमदबाद |
  • डेकन स्कूल ऑफ फार्मेसी, हैदराबाद, तेलंगाना |
  • वरुण अर्जुन मेडिकल कॉलेज, शाहजहांपुर |

नीट (NEET) परीक्षा क्या होता है?

Leave a Comment