Debit Card और Credit Card का क्या मतलब होता है

वर्तमान समय डिजिटल पेमेंट और ऑनलाइन शॉपिंग का दौर है | आज के समय में यदि कोई व्यक्ति शॉपिंग, डायनिंग, ट्रेवलिंग या फिर किसी तरह की वित्तीय लेन-देन से सम्बंधित चीजों को करना चाहता है, तो उसे इन कार्यो को करने में बहुत ही आसानी होती है | निजी और सरकारी बैंको द्वारा जारी किये गए डेबिट और क्रेडिट कार्ड इन कार्यो को आसान बनाते है |

वर्तमान समय में वित्तीय लेन-देन को डिजिटल बैंकिंग ने इतना आसान कर दिया है, कि अब लोगो को एटीएम से पैसे निकालना भी बड़ा काम लगता है, किन्तु ऐसे कार्यो को करने के लिए इस्तेमाल होने वाले क्रेडिट और डेबिट कार्ड के बारे अधिक लोगो को जानकारी नहीं होती है | बैंक द्वारा जारी किये गए डेबिट और क्रेडिट कार्ड में क्या अंतर है, इसके बारे में भी अधिकांश लोगो को जानकारी नहीं होती है | इस पोस्ट में हम आपको Debit Card और Credit Card का क्या मतलब होता है इसके अलावा डेबिट व क्रेडिट कार्ड में क्या अंतर है ? आदि के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी जा रही है |

Fixed Deposit (FD) क्या होता है ?

डेबिट कार्ड क्या है (Debit Card)

यह एक तरह का प्लास्टिक कार्ड होता है, जिसे बैंक अपने खाता धारको को उपलब्ध कराती है | इस डेबिट कार्ड को बैंक के ग्राहकों द्वारा लेन-देन के कार्यो को करने के लिए उपयोग में लाया जाता है, इसे ATM कार्ड भी कहते है | इस ATM कार्ड की सहायता से आप बिना बैंक में लाइन लगाए आसानी से ATM मशीन से पैसो को निकाल सकते है | डेबिट कार्ड में आप अपने खाते से उतनी ही राशि को निकाल सकते है, जितनी आपके अकॉउंट में होगी | इसका मतलब यह है, कि यदि आपके खाते में पैसे नहीं है, तो इस ATM कार्ड को आप इस्तेमाल नहीं कर सकते है |

डेबिट कार्ड के फायदे व नुकसान

  • इस ATM कार्ड के होने से आपको अपने साथ कैश रखने की जरूरत नहीं होती है |
  • इस ATM की मदद से आप कही भी कभी भी अपने खाते में उपलब्ध धनराशि में से अपनी जरूरत के हिसाब से पैसो की निकासी कर सकते है |
  • यह सेवा पूरी तरह से निशुल्क होती है,किन्तु आपको मासिक लिमिट के अंदर ही लेन-देन करना होता है | मासिक लिमिट पार होने के बाद निकासी करने पर आपसे बैंक द्वारा कुछ शुल्क लिया जाता है |
  • यदि आप सम्बंधित बैंक के ATM मशीन से निकालते है, तो आपको निकासी के समय पांच लेन – देन मुफ्त रखे गए है, इसके अलावा यदि आप एक महीने में 3 लेन – देन दूसरे बैंक के एटीएम से करते है तो उसके लिए आपको लगभग 23 देना पड़ता है, जो आपका निकासी के समय ही अपने आप बैंक द्वारा काट लिया जाता है |
  • इसलिए आप बचत खाता (Saving Account) में एक महीने में केवल 8 लेन देन ही मुफ्त में कर सकते है |
  • यदि आपका चालू खाता (Current Account) है, तो उसमे लेन – देन अधिक होते है, तो उसके डेबिट कार्ड में अधिक छूट प्रदान की गई है, इसके डेबिट कार्ड से बचत खाता के डेबिट कार्ड की तुलना में अधिक लेन – देन कर सकते है |

Doorstep Banking in Hindi

क्रेडिट कार्ड क्या है (Credit Card)

यह Credit Card देखने में बिल्कुल Debit Card की तरह ही होता है | इस कार्ड के माध्यम से भी आप आसानी से डिजिटल लेन-देन को कर सकते है,किन्तु जहां आपको डेबिट कार्ड के लिए बैंक खाते की आवश्यकता होती है, वही क्रेडिट कार्ड के लिए बैंक खाते का होना जरूरी नहीं है, क्योकि क्रेडिट कार्ड को कई फाइनेंस कंपनियों द्वारा भी जारी किया जाता है | क्रेडिट कार्ड लेते समय कार्ड धारक को अपनी लिमिट को तय करना होता है | यह लिमिट 10-20 हजार से लेकर लाखो तक होती है |

इस कार्ड के जरिये आप महीने भर आसानी से बिना किसी राशि के खरीददारी कर सकते है,किन्तु आपको महीने के अंत तक बैंक द्वारा निर्धारित तारीख के अंदर इस राशि का भुगतान करना होता है | यदि आप तय समय पर भुगतान नहीं कर पाते है, तो आप पर बैंक द्वारा जुर्माना लगाया जाता है |

क्रेडिट कार्ड के फायदे व नुकसान

  • इस क्रेडिट कार्ड का सबसे बड़ा फायदा यही होता है, कि यदि आपके खाते में पैसे नहीं है, तब भी आप बिना किसी समस्या के शॉपिंग कर सकते है |
  • इस Credit Card के जरिये आप किसी भी प्रॉडक्ट्स को आसानी से EMI किस्तों पर खरीद सकेंगे |
  • इस कार्ड के माध्यम से आपात स्थितियो में कैश भी निकाला जा सकता है,किन्तु इसका शुल्क ज्यादा होता है | इसलिए इस कार्ड का इस्तेमाल कैश निकालने के लिए आपात स्थिति में ही करना चाहिए |
  • इसके अलावा यदि आप इससे शोपिंग करते है, तो आपको अधिक सुविधाएँ और छूट मिलती है, और कैश बेक भी प्राप्त होता है |
  • क्रेडिट कार्ड के अगर बहुत सारे फायदें है, तो नुकसान भी काफी अधिक है, यदि आप समय पर पैसा जमा कर पाते है, तो इसके लिए आपसे बहुत अधिक चार्ज इंटरेस्ट अर्थात ब्याज के रूप में लिया जाता है |
  • इसमें यदि आप एटीएम से कैश निकालते है, तो उसके लिए दूसरे लोन की तुलना में बहुत अधिक ब्याज देना पड़ता है |

डेबिट और क्रेडिट कार्ड में अंतर (Debit and Credit Card Difference)

  • डेबिट कार्ड में आप अपने बचत खाते से पैसे निकालने है, इसके विपरीत क्रेडिट कार्ड में आप बैंक से रकम को उधार लेते है |
  • इस डेबिट कार्ड द्वारा निकाली गई राशि के लिए आपको किसी तरह का ब्याज नहीं देता होता है, जबकि क्रेडिट कार्ड में आपको निकाली गई राशि पर ब्याज देना होता है |
  • डेबिट कार्ड में आपके ट्रांसेक्शन राशि की लिमिट आपके खाते में उपलब्ध रकम होती है, वही क्रेडिट कार्ड की बात करे तो इसमें आपके सेवा प्रदाता बैंक द्वारा इस लिमिट को तय किया जाता है |
  • डेबिट कार्ड को मुख्य रूप से अपने देश में ही स्वीकार किया जाता है, किन्तु क्रेडिट कार्ड को आप किसी भी देश में आसानी से उपयोग कर सकते है, इसलिए क्रेडिट कार्ड को यात्रा के दौरान अधिक उपयोगी माना जाता है |
  • बैंक द्वारा डेबिट कार्ड पर लगने वाला सर्विस चार्ज क्रेडिट कार्ड की तुलना बहुत कम होता है |
  • डेबिट कार्ड पर कोई ब्याज नहीं पड़ता है, केवल अधिक लेन – देन होने पर कुछ शुल्क की कटौती होती है, इसकी तुलना में क्रेडिट कार्ड पर ब्याज के रूप में बहुत अधिक चार्ज देय होता है |

सरकारी बैंक और प्राइवेट बैंक की सूची

Leave a Comment