फिल्म डायरेक्टर कैसे बन सकते है ?

इंसान को जीवन में मनोरंजन की आवश्यकता होती है और इंटरटेनमेंट प्राप्त करने के लिए वह फिल्म देखता है अथवा वेब सीरीज, ड्रामा सीरियल देखता है। ऐसे में कोई व्यक्ति चाहे तो फिल्म डायरेक्टर बन करके फिल्म में काम करना चालू कर सकता है और हर एक हिट फिल्म रिलीज होने पर लाखों अथवा करोड़ों रुपए कमा सकता है।

इस प्रकार से अगर आपको film director/film maker बनना है तो आपको सही गाइडलाइंस की जरूरत पड़ेगी। इसलिए ऐसे व्यक्ति जो फिल्म डायरेक्टर बनने की इच्छा रखते हैं उनके लिए स्पेशल हमने “फिल्म डायरेक्टर कैसे बने” वाला आर्टिकल लिखा है, ताकि फिल्म डायरेक्टर बनने के तरीके के बारे में वह जाने और सक्सेसफुल फिल्म डायरेक्टर बने।

फिल्म प्रोड्यूसर (Film Producer) कैसे बने

फिल्म डायरेक्टर (Film Director) कौन होता है?

डायरेक्टर को हिंदी भाषा में निर्देशक कहा जाता है। किसी भी फिल्म के निर्माण में फिल्म निर्देशक की अहम भूमिका होती है क्योंकि किसी भी फिल्म का निर्देशक, फिल्म से जुड़े हुए सभी लोगों को यह बताता है कि उन्हें कब कौन सा काम करना है।

एक film director का यह कर्तव्य होता है कि वह फिल्म की डायरेक्टिंग कुछ इस प्रकार से करें ताकि जब फिल्म रिलीज हो तो वह बॉक्स ऑफिस पर तहलका मचा दे और अधिक से अधिक दर्शक फिल्म देखने के लिए खींचे चले आएं।

अगर film director अच्छा है तो फिल्म के सफल होने के चांस काफी ज्यादा बढ़ जाते हैं। कहने का मतलब है कि किसी भी फिल्म से जुड़ा हुआ डायरेक्टर बहुत ही महत्वपूर्ण व्यक्ति होता है। डायरेक्टर फिल्म स्टार्ट होने से लेकर के फिल्म की शूटिंग खत्म होने तक फिल्म के साथ रहता है।

एक डायरेक्टर के हाथ में फिल्म से संबंधित तमाम प्रकार की कमांड होती है। वह हीरो और हीरोइन को कब तक एक्टिंग करनी है इसके बारे में बताता है साथ ही उन्हें एक्टिंग करना कब बंद करना है इसके बारे में भी बताता है। इसके अलावा कैमरे का सेटअप, शूटिंग प्लेटफार्म का सेटअप जैसी बातों का ध्यान भी फिल्म डायरेक्टर रखता है।

फिल्म डायरेक्टर कैसे बने?

ऐसे व्यक्ति जिनके पास क्रिएटिविटी है यानी कि सोचने और समझने की बढ़िया कला है, वह फिल्म डायरेक्टिंग की फील्ड में अपना करियर बना सकते हैं, क्योंकि एक फिल्म डायरेक्टर को सफल होने के लिए क्रिएटिविटी की बहुत ही ज्यादा आवश्यकता होती है। इसी कला की वजह से एक फिल्म डायरेक्टर अपनी क्रिएटिविटी का इस्तेमाल करके एक बढ़िया मूवी तैयार करता है।

इस प्रकार से फिल्म का डायरेक्टर बनने के लिए आपको क्रिएटिविटी अपने अंदर लानी है साथ ही साथ आप चाहे तो फिल्म डायरेक्टर कोर्स भी कर सकते हैं। हमारे इंडिया में ऐसे कई इंस्टिट्यूट मौजूद है जिनके द्वारा फिल्म डायरेक्टिंग कोर्स करवाए जाते हैं। फिल्म डायरेक्टर कोर्स को सफलतापूर्वक पूरा करने के पश्चात आपको थोड़ा सा प्रयास करने पर टीवी प्रोडक्शन हाउस में जरूर काम मिलेगा।

इस फील्ड में आने के लिए यह आवश्यक नहीं है कि आपने film directing का कोर्स किया हो परंतु अगर आपने फिल्म डायरेक्टिंग का कोर्स किया हुआ है, तो इसकी वजह से आपको फिल्मों से संबंधित कई महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होती है और जब आप एक असिस्टेंट डायरेक्टर के तौर पर अपना काम करना चालू करते हैं तब आपके काफी काम में यही जानकारियां आती है।

वहीं अगर आप बिना film directing course किए हुए इस फील्ड में आते हैं तो आपको चीजों को सीखने में थोड़ा लंबा समय लगता है। ऐसे व्यक्ति जो फिल्म डायरेक्टर बनना चाहते हैं परंतु वह कोर्स नहीं करना चाहते वह चाहे तो स्टार्टिंग में असिस्टेंट डायरेक्टर के तौर पर काम कर सकते हैं और फिल्मों से संबंधित अनुभव प्राप्त होने के पश्चात वह डायरेक्टर का काम प्राप्त करने का प्रयास कर सकते हैं।

मॉडल कैसे बने ?

फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए योग्यता

फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए किसी विशेष डिग्री की आवश्यकता नही है, अगर आपने समान्य स्कूली शिक्षा पूर्ण की तब भी आप फिल्म डायरेक्टर बन सकते हैं। फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए ना तो किसी एजुकेशन क्वालिफिकेशन की आवश्यकता होती है ना ही किसी उम्र की आवश्यकता होती है ना ही इसमें आपकी फिटनेस देखी जाती है।

इसमें देखा जाता है तो सिर्फ एक चीज और वह है आपकी रचनात्मकता। हालांकि अगर आप किसी फिल्म डायरेक्टिंग कोर्स में एडमिशन लेते हैं, तो वहां पर आपसे कुछ एजुकेशन मांगी जा सकती है जोकि हर फिल्म डायरेक्टिंग का कोर्स करवाने वाले कॉलेज में अलग-अलग होती है।

फिल्म डायरेक्टर का काम

फिल्म तैयार करने वाले डायरेक्टर का मुख्य कार्य फिल्म को तैयार करने में अपनी सारी क्रिएटिविटी को इस्तेमाल करना होता है और अपने दिशा निर्देश के अनुसार फिल्म के अंदर काम करने वाले कलाकारों से काम करवाना।

फिल्म डायरेक्टर फिल्म की शूटिंग करने वाली टीम को यह बताता है कि फिल्म के कौनसे सीन को किस जगह पर कैप्चर करना है, साथ ही वह यह भी बताता है कि फिल्म की कहानी के हिसाब से कब फिल्म के आर्टिस्ट को कैसा किरदार अदा करना है।

इसके अलावा जो अभिनेता और अभिनेत्री पिक्चर के अंदर काम कर रहे हैं उनके नाम क्या होंगे, साथ ही पिक्चर के अंदर काम करने वाले अन्य लोगों को कौन से किरदार दिए जाएंगे। इसके अलावा कैमरे का सेटअप कहां पर होगा, जैसी चीजें भी फिल्म डायरेक्टर को देखनी होती है।

फिल्म डायरेक्टर का करियर

वर्ष 1950 के बाद से ही हमारे भारत देश में हर साल कई फिल्मों का निर्माण हो रहा है और यह एक ऐसी इंडस्ट्री है जो जल्दी खत्म भी नहीं होने वाली है, क्योंकि साल भर में हमारा बॉलीवुड सबसे ज्यादा फिल्में दुनिया को देता है।

इस प्रकार से अगर आप फिल्म डायरेक्टर बन जाते हैं तो आपका अच्छा कैरियर इसमें स्थापित हो जाएगा, क्योंकि लोग अपनी बोरियत को दूर करने के लिए फिल्म तो देखते ही हैं, साथ ही वह वेब सीरीज, टीवी ड्रामा और वीडियो देखना भी पसंद करते हैं।

ऐसे में आप फिल्म डायरेक्टर बन करके इंडिया की अलग अलग फिल्म इंडस्ट्री में काम कर सकते हैं। जैसे की बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री, भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री, साउथ फिल्म इंडस्ट्री इत्यादि।

आप चाहे तो किसी टीवी सीरियल के लिए भी काम कर सकते हैं या फिर वेब सीरीज का निर्माण भी कर सकते हैं, क्योंकि अब पैसे कमाने के लिए यह आवश्यक नहीं है कि आपको किसी फिल्म का डायरेक्टर ही बनाया जाए। आप अपनी खुद की छोटी फिल्म बना सकते हैं और उसे यूट्यूब पर अपलोड करके पैसे कमा सकते हैं।

फिल्म डायरेक्टर का कार्यक्षेत्र

एक सफल फिल्म डायरेक्टर बन जाने के पश्चात काम करने के लिए आपके पास कई फील्ड मौजूद होती है जिनमें से आप अपनी इच्छा के अनुसार काम कर सकते हैं। नीचे हमने आपके समक्ष कुछ महत्वपूर्ण फील्ड के नाम प्रस्तुत किए हैं जिनमें आप काम कर सकते हैं।

  • यूट्यूब |
  • टीवी सीरियल |
  • एजुकेशनल मूवी |
  • ड्रामा मूवी |
  • एडवरटाइजमेंट |
  • वेब सीरीज |
  • बॉलीवुड मूवी |
  • डॉक्यूमेंट्री मूवी |
  • साउथ सिनेमा |
  • भोजपुरी सिनेमा |

फिल्म डायरेक्टिंग के कोर्स

हमने आपको पहले ही यह बताया है कि एक सफल फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए व्यक्ति के अंदर क्रिएटिविटी का होना बहुत ही आवश्यक है और यह जरूरी नहीं है कि व्यक्ति ने कोई फिल्म डायरेक्टिंग का कोर्स किया हो, तभी उसे फिल्म डायरेक्टर का काम मिलेगा। आप बिना कोर्स किए हुए भी फिल्म डायरेक्टर का काम प्राप्त कर सकते हैं।

हालांकि हमने आपको यह भी बताया कि अगर आप फिल्म डायरेक्टिंग का कोर्स कर लेते हैं तो आपको फिल्मों की अच्छी जानकारी प्राप्त हो जाती है, जिसकी वजह से काफी कम समय में ही आप की गिनती एक सक्सेसफुल डायरेक्टर के तौर पर होने लगती है। इसलिए नीचे हमने फिल्म एक्टिंग के कुछ ऐसे कोर्स के नाम आपको दिए हैं, जिसे करके आप एक सक्सेसफुल फिल्म डायरेक्टर बन सकते हैं।

  • पीजी डिप्लोमा इन मीडिया एंड कम्युनिकेशन |
  • बैचलर इन सिनेमैटिक |
  • पीजी डिप्लोमा इन फिल्म एंड टीवी प्रोडक्शन |
  • बीएससी इन सिनेमा प्लस डिप्लोमा इन  डायरेक्शन |
  • पीजी इन फिल्म डायरेक्शन |
  • बैचलर इन फिल्म डायरेक्शन |
  • डिप्लोमा एंड पीजी डिप्लोमा इन फिल्म डायरेक्शन |

एक्टर (Actor) कैसे बने

भारत में फिल्म डायरेक्शन कोर्स की फीस

हमारे इंडिया में ऐसे कई फिल्म डायरेक्शन सर्टिफिकेट कोर्स है जो सिर्फ 3 महीने के ही हैं और इसकी फीस तकरीबन 40,000 के आसपास में होती है। इसके अलावा अगर बात की जाए यूजी डिप्लोमा फिल्म डायरेक्शन कोर्स की तो ऐसे कोर्स 1 साल से लेकर के 2 साल तक के होते हैं।

जिनकी कुल फीस ₹1,50,000 से लेकर के 11 लाख के आसपास में होती है, साथ ही आपको बता दें बैचलर ओफ पीजी डिप्लोमा फिल्म डायरेक्शन कोर्स अगर कोई व्यक्ति करता है तो इसके लिए उसे ₹40,000 से लेकर के 11,00000 रुपए तक की फीस भरनी पड़ सकती है। ऐसे कोर्स अधिकतम 3 साल के होते हैं।

इसलिए हमारी यही सलाह है कि जब आप किसी भी कोर्स को करने के लिए जाए तो उस कोर्स की पूरी फीस के बारे में अवश्य पता कर ले, साथ ही कोर्स कितने साल का है इसके बारे में भी जानकारी हासिल कर ले। फिल्म डायरेक्टिंग से संबंधित हर कोर्स की फीस और उसका समय अलग अलग होता है।

भारत के सर्वश्रेष्ठ फिल्म डायरेक्टर कॉलेज

हमारे इंडिया में फिल्म डायरेक्टर का कोर्स करवाने वाले कई कॉलेज मौजूद हैं परंतु नीचे आपके समक्ष हमने इंडिया के बेस्ट फिल्म डायरेक्टिंग कॉलेज की लिस्ट दी है, जिसमें आप एडमिशन पाने का प्रयास कर सकते हैं।

  • नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा, दिल्ली |
  • विसलिंग वुड्स इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट, मुंबई |
  • नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन |
  • अरेना एनीमेशन, बेंगलुरु |
  • सत्यजीत रे फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट,कोलकाता |
  • फिल्म एंड टेलिविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया |

फिल्म डायरेक्टर की सैलरी

इंडिया में ऐसे कई सफल डायरेक्टर हैं जो अपनी खुद की फिल्मों को डायरेक्ट करते हैं। इस प्रकार से अपनी खुद की फिल्मों को डायरेक्ट करने के लिए उन्हें कोई पैसे नहीं मिलते हैं। हालांकि अपनी फिल्मों के सफल होने पर उनकी बंपर कमाई होती है। वही जब किसी फिल्म प्रोड्यूसर के द्वारा किसी डायरेक्टर को किसी फिल्म को बनाने के लिए कहा जाता है तो फिल्म डायरेक्टर फीस के तौर पर कुछ पैसे लेता है, जो कि फिल्म के हिसाब से अलग-अलग होती है।

हालांकि टीवी पर आने वाली वेब सीरीज और ड्रामा सीरियल को तैयार करने वाले फिल्म डायरेक्टर की महीने की सैलरी ₹30,000 से लेकर के ₹40,000 के आसपास में होती है। कभी कभी फिल्म डायरेक्टर को बड़ी बजट की फिल्म करने पर ₹10,00000 से लेकर के 1,0000000 रुपए भी प्राप्त हो जाते हैं। वही छोटे बजट की फिल्में, टीवी सीरियल  वेब सीरीज, ड्रामा सीरीज तैयार करने वाले फिल्म डायरेक्टरों को महीने की तनख्वाह मिलती है।

ग्राफ़िक डिज़ाइनर (Graphic Designer) कैसे बने

फिल्म डायरेक्टर के लिए नौकरी

फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए सभी प्रोसेस को पूरा करने के पश्चात सवाल आता है कि आपको फिल्म में डायरेक्टर का काम कैसे मिलेगा, तो बता दे कि इसके लिए आपको किसी इंस्टिट्यूट या फिर ड्रामा कॉलेज के जरिए ही नौकरी ढूंढने की कोशिश करनी पड़ेगी, क्योंकि ऐसी ही जगह पर आपको फिल्म डायरेक्टर का काम देने वाले कई लोग मिलेंगे, क्योंकि इस जगह पर फिल्मों से जुड़े हुए कई लोगों का आना जाना लगा रहता है।

ऐसे में आप उनके सामने अपना बायोडाटा बता कर के नौकरी पाने की कोशिश कर सकते हैं, साथ ही आप चाहे तो विभिन्न प्रोडक्शन हाउस में भी जा सकते हैं और वहां पर इंटरव्यू देकर के नौकरी पाने का प्रयास कर सकते हैं।

आप चाहे तो ऐसे व्यक्ति से थोड़ा सा सोर्स लगा सकते हैं जो पहले से ही फिल्म इंडस्ट्री से जुड़ा हुआ है। वह व्यक्ति आपको किसी ना किसी बड़े प्रड्यूसर से अगर मिलवा देता है तो हो सकता है की आपको फिल्म डायरेक्टिंग का काम मिल जाए।

भारत के टॉप 6 फिल्म डायरेक्टर

हमारे इंडिया में कई महान फिल्म डायरेक्टर हुए हैं जिन्होंने अपनी मेहनत के दम पर और अपनी क्रिएटिविटी से कई सफल फिल्मों का निर्माण किया है। जिनमें से नीचे हम आपको बेस्ट फिल्म डायरेक्टर ऑल टाइम लिस्ट में शामिल टॉप 6 लोगों के नाम बता रहे हैं।

  • गुरुदत्त |
  • श्रीराम राघवन |
  • राज कपूर |
  • राजकुमार हीरानी |
  • करण जोहर |
  • एसएस राजामौली |

फिल्म डायरेक्टर का रोल

एक फिल्म डायरेक्टर अलग-अलग जगह से स्टोरी को इकट्ठा करता है अथवा खुद ही स्टोरी को लिखता है। हालांकि वह चाहे तो फिल्म की कहानी लिखने वाले लेखक को भी हायर कर सकता है और उनसे स्क्रिप्ट खरीद सकता है अथवा चाहे तो किसी बुक या फिर उपन्यास से फिल्म की कहानी का आइडिया जनरेट कर सकता है।

फिल्म डायरेक्टर फिल्म के अंदर ऐसे कास्ट को रखने के लिए जिम्मेदार होता है जिसे दर्शक देखना पसंद करते हो। इस कास्ट में हीरो हीरोइन, सह अभिनेता- अभिनेत्री और साइड एक्टर तथा डांसर भी शामिल होते हैं।

फिल्म डायरेक्टर फिल्म के बजट को भी तैयार करता है अथवा देखता है जिसके अंतर्गत उसे क्रीव की फीस, डिवाइस का भाड़ा, स्टूडियो और लोकेशन का भाड़ा और दूसरी चीजों को देखना होता है, साथ ही फिल्म डायरेक्टर फिल्म के लिए प्रोफेशनल कोरियोग्राफर, म्यूजिशियन, एडिटर, मार्केटर, स्टंट परफॉर्मर को भी हायर करता है।

इसके अलावा फिल्म डायरेक्टर फिल्म का प्रोडक्शन और पोस्ट प्रोडक्शन के लिए भी जिम्मेदार होता है, साथ ही वह फिल्म की रिलीज के पश्चात उसके एडवरटाइजिंग पर भी ध्यान देता है, साथ ही फिल्म के प्रमोशन के लिए जरूरी इवेंट का भी आयोजन करवाता है।

सिंगर (Singer) कैसे बने

FAQ:

क्या फिल्म डायरेक्टर बनने के लिए फिल्म स्कूल ज्वाइन करना आवश्यक है?

नहीं

अच्छे फिल्म डायरेक्टर की क्वालिटी क्या है?

वह एक अच्छी स्टोरी के साथ आता है और स्क्रीन पर क्या दिखाया जाएगा, इस बात पर उसका कंट्रोल होता है।

क्या कोई भी फिल्म डायरेक्टर बन सकता है?

जी हां परंतु प्रोफेशनल फिल्म डायरेक्टर बनना एक अलग चीज है।

फिल्म में डायरेक्टर का काम क्या होता है?

फिल्म की कहानी के हिसाब से बढ़िया फिल्म तैयार करना।

फैशन डिजाइनर कैसे बने

Leave a Comment