Flipkart Seller कैसे बने ?

आजकल टेक्नोलॉजी के इस युग में जब भी अगर किसी को कुछ सामान लेना होता है तो वह बाहर जाकर मार्किट से सामान लेने की बजाय ऑनलाइन शॉपिंग करने को तरजीह देता है और भारत में ऑनलाइन शॉपिंग की बात जब आती है तो इनमें से Flipkart का नाम ज़रूर हमारे ज़हन में आता है।

फ्लिपकार्ट आज के समय में एक ऐसी ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफार्म बन गया है जहाँ पर हर रोज़ लाखों प्रोडक्ट बेचे जाते हैं। ऐसे में आप भी जरूर चाहेंगे कि आपके उत्पाद भी फ्लिपकार्ट पर बेचे जाएं। लेकिन फ्लिपकार्ट पर अपने प्रोडक्ट बेचने के लिए हमें कुछ प्रक्रियाओं का सामना करना पड़ता है जो हर किसी के के समझ में आना मुश्किल होता है। आपकी सहायता के लिए इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि हम अपने उत्पाद फ्लिपकार्ट पर कैसे बेच सकते हैं। आपको इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक विस्तारपूर्वक पढ़ने की आव्यशकता होगी। 

Flipkart क्या है?

फ्लिपकार्ट भारत की सबसे बड़ी ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफॉर्म्स में से एक है।  इस कंपनी को  2007 में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IIT)  के छात्र सचिन बंसल द्वारा Bangalore में शुरू किया गया है। वर्तमान में फ्लिपकार्ट, अमेज़ॉन और अलीबाबा जैसी अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों को टक्कर देता है।

आज फ्लिपकार्ट इतनी बड़ी कंपनी बन गयी है कि फ्लिपकार्ट का वर्तमान टर्नओवर 200 अरब से भी ज़्यादा है। इस प्लेटफार्म पर आपको 50 से भी ज़्यादा कैटेगरीज़ के उत्पाद मिल जाएंगे। ऐसे में आप भी क्यों नहीं चाहेंगे कि भारत की सबसे बड़ी कंपनीयों में से एक फ्लिपकार्ट पर आपके प्रोडक्ट बिकें और आपकी अच्छी खासी कमाई हो।

सरकार को अपना उत्पाद कैसे बेचे ?

फ्लिपकार्ट पर सेलर बनने के फायदे

जैसे ही आप फ्लिपकार्ट पर सेलर बन जाते हैं तो आपको इसके बहुत सारे लाभ मिलते हैं जिसके बारे में हम निम्न चर्चा तो करने ही वाले हैं साथ ही कई फायदे ऐसे भी होते हैं जो आपके सेलर बनने के अनुभव के साथ साथ मालूम होंगे।

पुरे भारत में अपने उत्पाद बेच सकते हैं:- फ्लिपकार्ट पर सेलर बनने का सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण फायदा यह है कि फ्लिपकार्ट की मदद से आप भारत के हर कोने में अपने उत्पादों की बिक्री कर सकते हैं। अगर हम अपने प्रोडक्ट ऑफलाइन बेचते हैं तो अपने शहर में ही बेच सकते हैं लेकिन फ्लिपकार्ट हमें ऐसा मंच मुहैया करवाता है कि भारत के किसी भी जगह आप अपने प्रोडक्ट को बेच सकते हैं।

डिलीवरी में सहायता:- जब आप छोटे सेलर होते हैं तो आपको कम जानकारी या कम साधनों कि वजह से डिलीवरी थोड़ी लेट भी हो सकती है जिसकी वजह से ग्राहक पर हमारा बुरा प्रभाव पड़ता है। इस से बचने के लिए आप flipkart advantage का लाभ उठा सकते हैं जिससे आप जल्दी अपने उत्पाद डिलीवर कर पाएंगे और अपने बिक्री भी बढ़ा पाएंगे।

अपने बिक्री प्रदर्शन का विश्लेषण करें:- जब हम अपना सामान ऑफलाइन बेचते हैं तो बिक्री का सारा हिसाब किताब हमें खुद रखना पड़ता है जिसकी वजह से हमारा काफी समय व्यर्थ जाता है। लेकिन फ्लिपकार्ट हमें कुछ ऐसे कुछ features मुहैया करवाता है जिससे हम अपने उत्पादों की बिक्री का विश्लेषण कर सकते हैं और अपनी सेल्स को बढ़ा सकते हैं।

त्वरित भुगतान:- आपको मालूम होगा कि जब हम ऑफलाइन अपना सामान बेचते हैं तो ग्राहक से भुगतान लेने के लिए हमें बहुत सारी बाधाओं का सामना करना पड़ता है। लेकिन फ्लिपकार्ट से आपको इस समस्या से छुटकारा मिलेगा। जैसे ही फ्लिपकार्ट पर ग्राहक की return policy समाप्त हो जाती है आपको उत्पाद के पैसे मिल जाते हैं।

कम शुल्क:- फ्लिपकार्ट अन्य कंपनियों के मुकाबले कम शुल्क लेता है जिसका हम फायदा उठा सकते हैं और अपने पैसे बचा सकते हैं।

डिस्ट्रीब्यूटर (Distributor) कैसे बनें ?

फ्लिपकार्ट सेलर बनने के लिए जरूरी दस्तावेज़

फ्लिपकार्ट पर seller बनने से पहले रजिस्ट्रेशन के लिए कुछ दस्तावेज़ों की ज़रूरत होगी। रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया को फॉलो करने से पहले इन दस्तावेज़ों का आपके पास होना निश्चित करें ताकि प्रक्रिया के दौरान आपको किसी भी दिक्कत का सामना ना करना पड़े। यह दस्तावेज़ कुछ इस प्रकार हैं:-

फ्लिपकार्ट सेलर बनने के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करें

फ्लिपकार्ट पर सेलर बनने के लिए आपको रजिस्ट्रेशन करने होंगे, जिसके लिए आप हमारे द्वारा बताये निम्न स्टेप्स को फॉलो कर सकते हैं। रजिस्ट्रेशन के लिए जरूरी दस्तावेज़ एकत्रित करना निश्चित करें।

1. सबसे पहले आपको फ्लिपकार्ट सेलर की अधिकारिक वेबसाइट seller.flipkart.com पर जाना होगा जहां पर आपको डैशबोर्ड में अपना मोबाइल नंबर भरकर Register Now पर क्लिक करना होगा।

2. उसके बाद आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा जिसमें आपको पूछी गयी सारी जानकारी सही सही भरनी है। आपके द्वारा भरे गए मोबाइल नंबर पर एक OTP भी आएगा जिसे भरकर आप अपना मोबाईल नंबर वेरीफाई कर सकेंगे। उसके बाद Signup के बटन पर क्लिक करदें।

3. इसके बाद लोकेशन में आपको उस स्थान की जानकारी देनी है जहां से आप अपना व्यवसाय संचालित करना चाहते हैं। यानि की आपको उस स्थान की जानकारी देनी हैं जहाँ से कूरियर पार्टनर आपका सामान लेकर जाएगा।

4. अब आपको केटेगरी का चुनाव करना होगा जिसके आप उत्पाद बेचना चाहते हैं।

5. यहां पर आपको अपने व्यवसाय की जानकारी देनी होगी जिसमें बैंक डिटेल्स, व्यवसाय डिटेल्स और स्टोर डिटेल्स आदि शामिल हैं।

6. इसके पश्चात आपको अपनी बिजनेस नाम, gst नंबर, बिजनेस अड्रेस आदि की जानकारी देनी होगी और साथ ही साथ आपको GST दस्तावेज़ और डिजिटल सिग्नेचर भी अपलोड करना होगा।

7. यहां पर आपको अपने बैंक खाते की जानकारी देनी है जिसमें आप अपना भुगतान प्राप्त करना चाहते हैं।

8. अब आपको अपने स्टोर की जानकारी देनी है जैसे कि आप अपने स्टोर का नाम क्या रखना चाहते हैं आदि। यह जानकारी आपके ग्राहक को दिखेगी। इसे आप अपनी कंपनी के नाम से भी रख सकते हैं या कोई और नाम भी रख सकते हैं।

इस सारी प्रक्रिया को फॉलो करने के बाद फ्लिपकार्ट सेलर बन जायेंगे और अपने उत्पाद ग्राहकों तक पहुंचा सकेंगे। अब आप अपने उत्पाद CATALOG में List कर सकते हैं और Listing  के कुछ समय पश्चात ही फ्लिपकार्ट पर आपके प्रोडक्ट बिक्री के लिए लाइव हो जाएंगे। जितने ज़्यादा आपके प्रोडक्ट होंगे उतनी ही ज़्यादा आपकी बिक्री होगी।

यहां पर आपको इस बात का ध्यान रखने की भी ज़रुरत होगी की उत्पादों को शिप करने से पहले उत्पाद के ऊपर फ्लिपकार्ट का ही पैकेजिंग मेटेरियल होना आवश्यक है जो आप फ्लिपकार्ट से खरीद सकते हैं।

अमूल की फ्रेंचाइजी कैसे ले ?

फ्लिपकार्ट का Fee Structure

फ्लिपकार्ट का फीस स्ट्रक्चर समझने से पहले आपको यह जानना होगा कि किन तरीकों से आप अपने उत्पाद फ्लिपकार्ट ग्राहक तक पहुंचा सकते हैं। आप 2 तरीकों से अपने प्रोडक्ट को ग्राहक तक पहुंचा सकते हैं जो कि हैं:-

  1. Self Ship
  2. Easy Ship

1. Self Ship:- जैसा कि इसके नाम से ही ज़ाहिर होता है की इस प्रक्रिया में आपको उत्पाद खुद डिलीवर करना होता है। इसके लिए आपको किसी कूरियर सर्विस के साथ टाई अप करना होता है और फ्लिपकार्ट का पैकेजिंग मेटेरियल के इस्तेमाल करके प्रोडक्ट डिलीवर करना होता है। इसमें प्रोडक्ट खो जाने, टूट जाने आदि के लिए फ्लिपकार्ट की कोई भी ज़िम्मेदारी नहीं होती बल्कि इन चीज़ों का ध्यान आपको ही रखना होता है।

2. Easy Ship:- बात करें Easy Ship की तो इस प्रक्रिया में marketplace द्वारा आपका उत्पाद डिलीवर किया जाता है। यानी की आपको अपना प्रोडक्ट पैक करके रेडी रखना है और डिलीवरी पार्टनर खुद आपके स्टोर से पैकेज पिक करता है और आपके ग्राहक तक पहुंचाता है। इसमें प्रोडक्ट टूट या खो जाने पर आपको क्लेम भी मिलता है। चलिये अब जानते हैं fee structure के बारे में।

Shipping Charges

यह शुल्क उत्पाद की शिपिंग के लिए लिया जाता है। इसके लिए अलग अलग शुल्क तय किये गए हैं जो कुछ इस प्रकार हैं:-

WEIGHT SLABLOCAL (INTRACITY)
IN RS.
ZONAL (INTRAZONE)
IN RS.
NATIONAL (INTERZONE)
IN RS.
0.0 Kg – 0.5 Kg ( For every 0.5 kg )104565
0.5 Kg – 3.0 Kg ( For every 0.5 kg )182327
3.0 Kg – 12.0 Kg ( For every 1 kg )81015
> 12.0 Kg ( For every 1 kg )458

Collection Fee

पेमेंट गेटवे या कैश द्वारा जो भुगतान लिया जाता है उसके लिए भी कुछ शुल्क तय किये गए हैं जो कुछ इस प्रकार हैं:-

Selling PricePrepaidPostpaid
0-7502%₹15
>7502%2%

Fixed Fees

हर प्रोडक्ट की बिक्री पर फ्लिपकार्ट द्वारा कुछ तय शुल्क भी लिया जाता है जिसे देना जरूरी होता है। यह शुल्क कुछ इस प्रकार है:-

Order Item ValueRate
0-500₹5
500-1000₹15
>1000₹30

बिजनेस के लिए लोन कैसे प्राप्त करें ?

फ्लिपकार्ट पर अपने प्रोडक्ट की बिक्री को कैसे बढ़ाएं

अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन करें

फ्लिपकार्ट पर अपने प्रोडक्ट की बिक्री बढ़ाने के लिए आपको प्रोडक्ट का विज्ञापन जरूर करना चाहिए। सोशल मीडिया के सहारे अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन कर सकते हैं जिससे ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक आपके प्रोडक्ट की पहुँच हो पाएगी।

अपने प्रोडक्ट को जल्द से जल्द शिप करें

ग्राहक को जितना जल्दी उसके द्वारा मंगवाया गया सामान मिलता है उतना ही ज़्यादा ग्राहक संतुष्ट होता है और आपको रिव्यु भी सकारात्मक मिलता है। अगर आप खुद प्रोडक्ट को शिप करेंगे तो किसी अच्छे डिलीवरी पार्टनर के साथ टाई अप करें।

अपने स्टोर में उत्पादों का भंडारण हमेशा रखें

जब आप हमेशा अपने स्टोर में उत्पादों का भंडारण रखते हैं तो ग्राहक को भी उसका सामान जल्दी मिल जाता है और आपको भी किसी भी दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ता। अगर आपके उत्पाद आउट ऑफ़ स्टॉक रहते हैं तो इससे आपके स्टोर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

ग्राहक के हर सवाल का जवाब दें

जब आप ग्राहक के हर सवालों का जवाब देते हैं तो ग्राहक के प्रोडक्ट को खरीदने के मौके बढ़ जाते हैं और सवाल जवाब सेक्शन में सभी उन जवाबों को देख पाते हैं इसलिए ग्राहक के हर सवाल का जवाब डिटेल में दें।

अपने प्रोडक्ट की अच्छी इमेज रखें

जब आप अपना प्रोडक्ट लिस्ट कर रहे हों तो अपने प्रोडक्ट की ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी देने की कोशिश करें और हर एंगल से प्रोडक्ट की तस्वीर अपलोड करें। इससे ग्राहक को प्रोडक्ट के बारे में समझने में आसानी होगी और प्रोडक्ट खरीदने के मौके और भी बढ़ जाते हैं।

फ्लिपकार्ट सेलर बनने के संबंधित अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQ)

क्या सिर्फ मोबाईल से फ्लिपकार्ट सेलर बन सकते हैं?

वैसे तो मोबाईल से फ्लिपकार्ट सेलर के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं परंतु काफी सारे टास्क ऐसे हैं जिन्हें कंप्यूटर या लैपटॉप में ही पूरा किया जा सकता है। इसलिए सेल्स सम्बंधित काम कंप्यूटर पर ही करें।

क्या कोई प्रोडक्ट की बिक्री ना होने पर भी GST फाइल करना होता है?

जी हाँ! बिना किसी प्रोडक्ट की बिक्री पर भी आपको GST फाइल करने की जरूरत होती है लेकिन इसमें आपको कोई भुगतान नहीं करना होता बल्कि Nil GST फाइल करना होता है।

भुगतान प्राप्त करने के लिए कौन से बैंक खाते की जरूरत होती है?

आप भुगतान सेविंग्स खाते में भी प्राप्त कर सकते हैं लेकिन ज़्यादा transactions करने वाले हैं तो करंट खाता सबसे बेहतर है।

प्रोडक्ट की कीमत कौन तय करता है?

प्रोडक्ट की कीमत कीमत सेलर को ही तय करनी होती है इसलिए अपने उत्पादों की कीमत सोच समझ कर ही तय करें।  

अगर कुछ समझ नहीं आ रहा तो क्या करें?

अगर आपको किसी प्रक्रिया में बाधा आ रही है तो आप फ्लिपकार्ट के कस्टमर केयर से बात कर सकते हैं जो अच्छे से आपकी सहायता करेंगे और आपको सबकुछ समझाएंगे।

बिजनेसमैन कैसे बने ?

Leave a Comment