जीडीपी (GDP) की गणना कैसे होती है

जीडीपी का फुल फॉर्म “Gross Domestic Product” ( सकल घरेलू उत्पाद ) होता है |  देश के विकास के लिए आर्थिक  व्यवस्था जानने के लिए  जीडीपी को प्रयोग में लाया  जाता है | एक देश की सीमा के भीतर उत्पादित सभी अंतिम वस्तुओं के बाजार मूल्य को जीडीपी (GDP) कहते है | जीडीपी में शामिल होने वाला  मूल्य वस्तु का अंतिम मूल्य होता है और वहीं जीडीपी की गणना इसलिए की जाती है  जिससे  देश की अर्थव्यवस्था को अच्छे से  समझा सके, क्योंकि यदि जीडीपी देश की अर्थव्यवस्था को मापने का एक  प्रमुख  स्रोत माना जाता है | इसलिए यदि जीडीपी में गिरावट पायी जाती है, तो इससे मालूम हो जाता है कि, देश की अर्थव्यवस्था में भी सुधार नहीं हुआ है | इसलिए जीडीपी की गणना  करना बेहद जरूरी  माना  गया है |  यदि आप भी  जीडीपी (GDP) की गणना के विषय में जानना चाहते हैं, तो यहाँ पर आपको जीडीपी (GDP) की गणना कैसे होती है, फार्मूला, आधार वर्ष (Base Year) क्या है? इसकी विस्तृत जानकारी प्रदान की  जा रही  है | 

आर्थिक मंदी (ECONOMIC RECESSION) क्या है

जीडीपी (GDP) की गणना

सकल घरेलू उत्पाद = निजी खपत + सकल निवेश + सरकारी निवेश + सरकारी खर्च + (निर्यात-आयात) जीडीपी डिफ्लेटर (अपस्फीतिकारक) बहुत ही जरूरी है, इसके द्वारा मुद्रास्फीति को मापा जाता है | इसकी गणना के लिए वास्तविक जीडीपी में से अवास्तविक (नामिक) जीडीपी को विभाजित किया जाता है और इसे 100 से गुणा किया जाता है |

GDP (कुल घरेलू उत्पाद) = उपभोग (Consumption) + कुल निवेश

GDP = C + I + G + (X − M)

जीडीपी (GDP) की गणना करने का फार्मूला

इस फॉर्मूले से जीडीपी की गणना बहुत ही सरलता पूर्वक की जा सकती है,  इसका फॉर्मूला इस प्रकार  है – 

 GDP = COE + GOS + GMI + TP & M ? SP & M

GDP = private consumption + gross investment + government spending + (exports? imports)

 सूचना का अधिकार अधिनियम (RTI)

आधार वर्ष (Base Year) क्या है

आधार वर्ष वह होता है, जो सकल घरेलू उत्पाद को निर्धारित करने के लिए तय किए जाते हैं | सरकार समय-समय पर आधार वर्ष में संशोधन करने का काम जारी रखती है, आधार वर्ष  देश के लिए  एक प्रकार का बेंचमार्क होता है, जिसके अंतर्गत राष्ट्रीय आंकड़ों की गणना की जाती है जैसे- जीडीपी, सकल घरेलू बचत और सकल पूंजी निर्माण आदि की गणना होती  है। सकल घरेलू उत्पाद  का इस्तेमाल मुख्य रूप से  देश की स्थित जानने के लिए किया जाता है। जीडीपी मुख्यतः 2 प्रकार की होती है, नॉमिनल जीडीपी और  वास्तविक जीडीपी।

नॉमिनल जीडीपी-

 यह  लागू कीमतों  (वर्तमान वर्ष की प्रचलित कीमत) में व्यक्त सभी वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य को मापने का काम करता है |

वास्तविक जीडीपी-  

यह किसी आधार वर्ष की कीमतों पर व्यक्त की गई सभी वस्तुओं और सेवाओं के मूल्य  को बताने का काम करता है | इससे आसानी से इसके मूल्यों के विशन में जाना जा सकता है | 

GDP, GNP, NNP का क्या मतलब है

यहाँ पर हमने आपको जीडीपी (GDP) के गणना के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि आपको इससे  सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करनी है तो आप  अपने विचार या सुझाव कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूंछ सकते है | इसके साथ ही आप अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो www.hindiraj.com पर विजिट करे|

5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का अर्थ