होली का त्योहार क्यों मनाते हैं

हिन्दू धर्म में होली का यह त्योहर बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता  है | प्रत्येक वर्ष होली का यह त्योहार  फाल्गुन मास के पूर्णिमा को मनाया जाता है | होली का यह त्योहार खुशियों का त्योहार कह जाता है  | यह रंगो का त्योहार है, जिसमें लोग हर रंगो का गुलाल लेकर लोगो के टीका करते है और उन्हें गले लगाकर  होली की ढेर सारी बधाई देते हैं, तो वहीं, कुछ लोग इस त्यौहार को रंगीन और खुशनुमा बनाने के लिए नाच गाने के प्रोग्राम का भी आयोजन करते हैं, जिसमें बड़ी तदाद में लोग शामिल होकर एक दूसरे को बधाई देते हैं और नाच गाना करते है | होली वसंत ऋतु में मनाया जाने वाला भारतीय लोगों का एक महत्वपूर्ण त्योहार होता है, जिसका इन्तजार हर साल बच्चे से लेकर बूढ़े तक करते है, क्योंकि इस त्योहार में हर उम्र के लोग शामिल होकर रंग पानी खेलते है ढोल और ताशे बजाते है गीत गाते झूमते है और खुशियां मनाते है | इसलिए यदि आप भी होली के त्योहार के विषय में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो यहाँ पर आपको होली का त्योहार क्यों मनाते हैं , होली का इतिहास, इसके महत्व की पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है |

कम उम्र में बाल सफेद होने के कारण और उपाय

होली का त्योहार क्या हैं   

होली का त्योहार बहुत ही धूमधाम के साथ 2 या 3 तक मनाया जाता है | यह त्योहार भारत के साथ और भी सभी  देशों में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है | तीन दिनों तक मनाया जाने वाला होली त्योहार के पहले पूर्णिमा के दिन एक थाली में रंगों को अच्छे से सजा लिया जाता है और इसके बाद परिवार का सबसे बड़ा सदस्य घर के शेष सभी सदस्यों के उन्ही रंगों से टीका लगाता है | इसके दूसरे दिन होलिका  दहन का पूरा विधान किया जाता हैं | यह होलिका दहन होलिका और प्रहलाद की याद में किया जाता  है। तीसरे दिन सभी लोग एक दूसरे पर रंग और पानी डालते है और गले लगाकर एक दूसरे को शुभकामनाएं देते है | होली के इस त्योहार को मनाने के पीछे  कई कहानियां प्रचलित हैं, जिनमे से हिरण्यकश्यप और प्रहलाद की कहानी अत्याधिक  प्रचलित हैं | जिसका इतिहास इस प्रकार से है-

होली का इतिहास

प्राचीन भारत में हिरण्यकश्यप नाम का एक राजा था, जो बहुत ही घमंडी और अत्याचारी था। वह अपने छोटे भाई की मौत का बदला लेना चाहता था, जिसे भगवान विष्णु ने मारा था। इसलिए अपने आप को शक्तिशाली बनाने के लिए उसने सालों तक प्रार्थना की हिरणकश्यप ने तपस्या कर भगवान ब्रह्मा से अमर होने का वरदान प्राप्त लिया था। वरदान में उसने मांगा था कि, कोई जीव-जन्तु, देवी-देवता, राक्षस या मनुष्य उसे मार न सके। इस वरदान को पाकर वह बहुत ही घमंडी राजा बन गया था, जिसके कारण वह सोचता था कि, सभी लोग भगवान् को छोड़कर उसकी पूर्जा किया करे, लेकिन उसका बेटा भगवान विष्णु का परम भक्त था। उसने प्रहलाद को आदेश दिया कि वह किसी और की स्तुति ना करे, लेकिन प्रहलाद नहीं माना ईश्वर की भक्ति से पिता हिरण्यकश्यप उससे बहुत ज्यादा क्रोधित रहते थे। इसी बात को लेकर उन्होंने अपने पुत्र को भगवान की भक्ति से हटाने के लिए कई प्रयास किए, लेकिन भक्त प्रह्लाद प्रभु की भक्ति को नहीं छोड़ पाए। बेटे प्रहलाद के ना मानने पर हिरण्यकश्यप ने उसे जान से मारने का प्रण लिया | इसके बाद हिरण्यकश्यप अपनी बहन होलिका के पास गया, जिसे अग्नि से बचने का वरदान प्राप्त था, लेकिन बुराई का साथ देने के कारण  बुराई पर अच्छाई की जीत हुई और प्रहलाद बच गया और उसकी बुआ होलिका अग्नि में जलकर वहीं  भस्म हो गई और इसके बाद से ही होली का त्योहार मनाया जाने लगा |

होली का महत्व

होली पर्व का महत्व और सभी मनाये जाने वाले त्योहारों से अधिक है। इस साल 2020 में होली का यह त्योहार 9 मार्च (सोमवार ) को बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाएगा । इसके साथ ही इस त्योहार में रंगों का अत्याधिक महत्त्व है, क्योंकि होली में लोग एक दूसरे को रंग लगाकर बधाई इसलिए देते हैं, ताकि उनका जीवन रंगों और खुशियों से हमेशा भरा रहे | 

बैडमिंटन प्लेयर (BADMINTON PLAYER) कैसे बने

Happy Holi Wishes 2020

 तुम भी झूमों मस्ती में

हम भी झूमें मस्ती में

शोर हुआ सारी बस्ती में

झूमे सब होली की मस्ती में

हैप्पी होली ||

होली है भई होली है

बुरा न मानो होली है

आओ मिल के खुशियां मनाएं

अपनों को हम रंग लगाएं ||

खाना पीना रंग उड़ाना

इस रंग की धुंध में हमें ना भुलाना

गीत गाओ खुशियां मनाओ बोलो मीठी बोली

हमारी तरफ से आपको और आपके पूरे परिवार को हैप्पी होली ||

रंग उड़े पिचकारी से रंग दे सारा जहॉन

होली के दिन आपको खुशी मिले तमाम ||

ऐसे मानना होली का त्यौहार 

पिचकारी से बरसे सिर्फ प्यार

हैप्पी होली मेरे यार ||

रंगो से भरा रहे जीवन तुम्हारा

खुशियां बरसे तुम्हारे आंगन

इद्रधनुष सी खुशियां आएं

आओ मिलकर होली मनाएं ||

वसंत ऋतु की बहार

चली पिचकारी

उड़ा है गुलाल

रंग बरसे नीले हरे लाल

मुबारक हो आपको होली का प्यारा त्यौहार ||

राधा का रंग और कान्हा की पिचकारी

प्यार के रंग से रंग दो दुनिया सारी

ये रंग न जाने कोई जात न कोई बोली

मुबारक हो आपको रंग भरी होली ||

पिचकारी की धार, गुलाल की बौछार,

अपनों का प्यार, यही है यारों होली का त्यौहार

हैप्पी होली ||

हमेशा मीठी रहे आपकी बोली

खुशियों से भर जाए सबकी झोली

आप सबको मेरी तरफ से हैप्पी होली ||

प्यार के रंग से भरो पिचकारी

स्नेह से रंग दो दुनिया सारी

ये रंग न जाने कोई जात न कोई बोली

आप सभी को मुबारक हो होली ||

खाना पीना रंग उराणा 

इस ख़ुशी के मौके पे हमें न भूल जाना 

हैप्पी होली 2020 ||

जिम ट्रेनर (GYM TRAINER) कैसे बने

यहाँ पर हमने आपको होली के पर्व के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि आपको इससे  सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करनी है तो आप  अपने विचार या सुझाव कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूंछ सकते है | इसके साथ ही आप अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो www.hindiraj.com पर विजिट करे |

सिंगर (SINGER) कैसे बने