होटल मैनेजमेंट क्या होता है ?



12वीं के बाद अधिकतर विद्यार्थी इस बात को लेकर परेशान होते है कि वह कौन सी फील्ड में अपना करियर बनाए ? बता दे कि अगर आपको देश और विदेश दोनों ही जगह पर एक ही कोर्स को करके नौकरी प्राप्त करनी है, तो आपको 12वीं कक्षा पास करने के बाद होटल मैनेजमेंट का कोर्स कर लेना चाहिए।

वर्तमान के समय में लोगों को घूमना फिरना काफी पसंद आने लगा है और यही वजह है कि होटल मैनेजमेंट अर्थात HM डिग्री होल्डर्स की डिमांड होटल और रिसोर्ट में काफी बढ़ रही है। अगर आप भी इसमें ध्यान देते हैं तो निश्चित है कि आगे चलकर के आप काफी अच्छी सैलरी प्राप्त करेंगे, साथ ही आपको घूमने का मौका भी मिलेगा।

होटल मैनेजमेंट (Hotel Management) क्या है?

Table of Contents

होटल इंडस्ट्री से जुड़े किसी भी प्रबंधन (मैनेजमेंट) को होटल मैनेजमेंट कहा जाता है दूसरे शब्दों में कहें तो  होटल, रेस्टोरेंट की सर्विस, प्रोडक्ट और बिजनेस को सही ढंग से चलाने की कला ही होटल मैनेजमेंट यानी HM कहलाती है। होटल मैनेजमेंट के अंदर आपको यह सिखाया जाता है कि आपको ग्राहकों से किस प्रकार का व्यवहार करना है और किस प्रकार से ग्राहकों का ध्यान रखते हुए आपको उस कंपनी या फिर होटल को आगे बढ़ाना है जिसके लिए आप काम करते हैं। इसके अंदर आपकी पर्सनैलिटी लगातार डिवेलप होती जाती है, साथ ही आपकी बातचीत करने की कला भी अच्छी होती जाती है।

एक अच्छा होटल मैनेजमेंट उसे ही कहा जाता है जहां पर आने वाला ग्राहक अगर एक बार आए तो उसे बार-बार होटल में आने का मन करें। होटल मैनेजमेंट के अंतर्गत आपको यात्रियों के लिए होटल में खाने पीने की व्यवस्था देखनी पड़ती है, वह आसानी से होटल तक आ-जा सके, इसकी व्यवस्था भी देखनी पड़ती है, साथ ही यात्रियों के लिए या फिर होटल में आने वाले लोगों के लिए पौष्टिक खाने का प्रबंध भी करना होता है।

कुल मिलाकर आपको इस बात का ध्यान रखना होता है कि ग्राहक को कैसे आप अच्छी से अच्छी सर्विस अपनी तरफ से दे सके, ताकि वह आपकी सर्विस या फिर आपके होटल की सर्विस से संतुष्ट हो सके। इसका फायदा यह होता है कि ग्राहक बार-बार आपकी ही जगह पर आता है जिससे आपकी कंपनी या फिर आपके होटल अथवा आपके काम करने की जगह की तरक्की होती है। अगर आसान भाषा में कहा जाए तो HM (Hotel Management) के अंतर्गत आपको ग्राहकों की जरूरतों पर विशेष तौर पर ध्यान देना होता है।

एमबीए (MBA) क्या होता है ?

होटल मैनेजमेंट कोर्स के लिए योग्यता

बता दें कि इसकी गिनती प्रोफेशनल कोर्स में होती है और यही वजह है कि जो भी अभ्यर्थी होटल मैनेजमेंट के कोर्स में एडमिशन पाना चाहता है, उसे इंस्टिट्यूट या फिर कॉलेज के द्वारा जो भी नियम बनाए गए हैं, उसे मानना जरूरी होता है।

इस कोर्स के लिए अलग-अलग प्रकार की योग्यताएं मांगी जाती है। जो भी अभ्यर्थी इंस्टिट्यूट के नियमों को पूरा करता है, उसे आसानी से एडमिशन मिल जाता है। सामान्य तौर पर इस कोर्स में एडमिशन पाने के लिए नीचे दी गई योग्यता को आपको पूरा करना आवश्यक होता है।

  • दसवीं अथवा 12वीं कक्षा को 55% अंकों के साथ पास करना आवश्यक है।
  • जब बैचलर डिग्री में एडमिशन लिया जाना हो तब आवेदक का 12वीं को 55% अंकों के साथ होना जरूरी है ।
  • इसमें मास्टर डिग्री हासिल करने के लिए ग्रेजुएट होना आवश्यक है।
  • एंट्रेंस एग्जाम भी कुछ इंस्टिट्यूट लेते हैं उसे आपको देना जरूरी है।
  • बातचीत करने की कला अच्छी होनी चाहिए।
  • इंग्लिश समझना आना चाहिए।
  • दिमाग रचनात्मक होना चाहिए।
  • पर्सनैलिटी अच्छी होनी चाहिए।

होटल मैनेजमेंट से सम्बंधित कोर्स

होटल मैनेजमेंट से सम्बन्धित अलग-अलग प्रकार के कोर्स हैं और इसी लिए अलग-अलग प्रकार के कोर्स को करने के लिए आपको अलग-अलग फीस भरनी पड़ती है। इसके अलावा उस कोर्स में एडमिशन पाने के लिए अलग-अलग योग्यता, समय लगता है, साथ ही कुछ कोर्स कम अवधि के तो कुछ कोर्स लॉन्ग टर्म के होते हैं।

आप होटल मैनेजमेंट के कोर्स को UG लेवल अथवा PG लेवल पर कर सकते हैं। ऐसे विद्यार्थी जो 12वीं कक्षा को पास करने के बाद होटल मैनेजमेंट का कोर्स करना चाहते हैं, वह यूजी लेवल पर कोर्स करने के लिए पात्र होते हैं, वही जो विद्यार्थी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करने के बाद होटल मैनेजमेंट से संबंधित कोर्स करना चाहते हैं वह पीजी लेवल पर कोर्स करने के लिए पात्रता रखते हैं।बता दें कि होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा का कोर्स भी होता है जोकि 1,2 या फिर 3 सालों का होता है।

होटल मैनेजमेंट के ऑनलाइन कोर्स

बता दें कि होटल मैनेजमेंट के अंतर्गत आपको कुछ ऑनलाइन कोर्स करने की भी choice होती है, उन सभी कोर्सेज की सूची निम्नानुसार है।

फूड एंड बेवरेज कोर्स:रॉयल इंस्टीट्यूशन
होटल मैनेजमेंट कोर्स:  Coursera
द फंडामेंटल ऑफ होटल डिस्ट्रीब्यूशन:  Coursera
होटल मैनेजमेंट फंडामेंटल   
रेवेन्यू मैनेजमेंट कोर्स   
एग्जीक्यूटिव पीजी प्रोग्राम इन मैनेजमेंट:Great Learning   
फंडामेंटल ऑफ हॉस्पिटैलिटी रिवेन्यू मैनेजमेंट   
फूड एंड बेवरेज मैनेजमेंट:Coursera   

MBA क्या होता है ?

बैचलर ऑफ़ होटल मैनेजमेंट के विषय

आपने बहुत जगह पर BHM का नाम सुना होगा। बता दे कि इसे ही होटल मैनेजमेंट प्रोग्राम कहा जाता है, जिसका पूरा नाम बैचलर ऑफ होटल मैनेजमेंट होता है‌। यह एक ऐसा कोर्स है, जो कुल 4 साल का होता है और यह अंडर ग्रेजुएट कोर्स की श्रेणी में आता है अर्थात 12वीं पास व्यक्ति इस कोर्स में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं।

यह कोर्स टोटल 8 सेमेस्टर में विभाजित होता है और इसमें हर सेमेस्टर में विद्यार्थियों को थ्योरेटिकल और प्रैक्टिकल सब्जेक्ट की स्टडी करवाई जाती है। नीचे हमने आपको उन सब्जेक्ट के नाम दिए हैं, जो होटल मैनेजमेंट के बैचलर प्रोग्राम में आपको पढाए जाते हैं।

  • इवेंट मैनेजमेंट
  • हाउस कीपिंग
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • पब्लिक रिलेशन
  • एकाउंटिंग
  • बिज़नस लॉ
  • कम्युनिकेशन स्किल
  • बिज़नस एथिक्स
  • फ़ूड प्रोडक्शन
  • फ्रंट एंड ऑपरेशन
  • मैनेजमेंट स्किल्स
  • ट्रेवल एंड टूरिज्म

होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा कोर्स

अभ्यर्थी चाहे तो अपनी पसंद के हिसाब से होटल मैनेजमेंट के अंतर्गत जो डिप्लोमा कोर्स आते हैं, उन्हें भी कर सकते हैं‌। बता दें कि डिप्लोमा कोर्स को करने के लिए टोटल 1 साल का समय अभ्यर्थियों को देना होता है। यही वजह है कि कम समय होने के कारण अधिकतर विद्यार्थी होटल मैनेजमेंट के अंतर्गत डिप्लोमा का कोर्स ही करने में दिलचस्पी दिखाते हैं। डिप्लोमा कोर्स के अंदर आपको बहुत सारे टॉपिक प्रोग्राम मिल जाते हैं, जो नीचे बताए अनुसार हैं‌।

  • डिप्लोमा इन फ्रंट ऑफिस |
  • डिप्लोमा इन हाउस कीपिंग |
  • डिप्लोमा इन फ़ूड विवरेज सर्विसेज |
  • डिप्लोमा इन मैनेजमेंट स्किल्स |
  • डिप्लोमा इन HR मैनेजमेंट |
  • डिप्लोमा इन सिपल्स ऑफ़ होटल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट |
  • डिप्लोमा इन म्युनिकेशन स्किल्स |
  • डिप्लोमा इन फ़ूड प्रोडक्शन एंड Nutrition.
  • डिप्लोमा इन बेकरी एंड कन्फेक्शनरी |

होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा कोर्स हेतु योग्यता

ऐसे विद्यार्थी जो डिप्लोमा का कोर्स होटल मैनेजमेंट में करना चाहते हैं, उन्हें किसी भी Stream से 12वीं कक्षा को कम से कम 50% अंकों के साथ पास करना आवश्यक है। हालांकि आपकी जानकारी के लिए यह भी बता दें कि इंडिया में ऐसे बहुत सारे इंस्टिट्यूट हैं, जो ऐसे विद्यार्थियों को भी एडमिशन देते हैं जिन्होने दसवीं कक्षा 50 या फिर 55 परसेंट अंकों के साथ पास की है।

होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा कोर्स की एडमिशन प्रक्रिया

दसवीं कक्षा और बारहवीं कक्षा पास विद्यार्थी डिप्लोमा इन होटल मैनेजमेंट के कोर्स में एडमिशन लेने के लिए पात्रता रखते हैं। इन लोगों के पास अगर दसवीं और बारहवीं कक्षा के 55 प्रतिशत अंकों के साथ पासआउट सर्टिफिकेट है, तो वह होटल मैनेजमेंट के कोर्स में एडमिशन पाने के लिए एंट्रेंस एग्जाम में शामिल हो सकते हैं।

हालांकि कुछ ऐसे भी इंस्टिट्यूट है, जहां पर आपको एंट्रेंस एग्जाम नहीं देनी होती है, वहां पर अगर आपको सीट की मौजूदगी है, तो एडमिशन आसानी से मिल जाता है। नीचे हमने उन एंट्रेंस एग्जाम के नाम दिए हैं, जो होटल मैनेजमेंट के डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन पाने के लिए आपको देने पड़ सकते हैं।

  • AIMA
  • UGAT
  • BWP

ग्रेजुएशन के बाद क्या करे ?

होटल मैनेजमेंट के अंडर ग्रेजुएट कोर्स

होटल मैनेजमेंट के अंतर्गत जो अंडरग्रैजुएट कोर्स होते हैं, यह टोटल 6 सेमेस्टर में डिवाइड होते हैं और हर कोर्स 3 साल का होता है। इस कोर्स में एडमिशन पाने के लिए आप एडमिशन 12वीं के बाद प्राप्त कर सकते हैं। नीचे आपको होटल मैनेजमेंट के अंतर्गत आने वाले अंडरग्रैजुएट कोर्स के नाम दिए हैं।

  • बैचलर ऑफ़ होटल मैनेजमेंट |
  • बैचलर इन इवेंट मैनेजमेंट |
  • बैचलर ऑफ़ फ़ूड एंड विवरेज |
  • बैचलर ऑफ़ कम्युनिकेशन स्किल्स |
  • बैचलर ऑफ़ होटल मैनेजमेंट एंड एडमिनिस्ट्रेशन |
  • बैचलर इन हाउस केप्पिंग |
  • बैचलर इन टूरिज्म एंड ट्रेवल मैनेजमेंट |
  • बैचलर इन मार्केटिंग मैनेजमेंट |
  • बैचलर ऑफ़ फ़ूड प्रोडक्शन |
  • बैचलर इन ट्रेवल मैनेजमेंट |
  • होटल मनागेंट इन एकाउंट्स |

होटल मैनेजमेंट में अंडर ग्रेजुएट कोर्स हेतु योग्यता

जिन भी छात्र अथवा छात्राओं ने बारहवीं की एग्जाम को 55% अंकों के साथ पास किया है, वह होटल मैनेजमेंट के अंडर ग्रेजुएट कोर्स में एडमिशन पाने के लिए पात्रता रखते हैं। इसके अलावा आपको यह भी बता दे कि, जो विद्यार्थी यह सोचते हैं कि 12वीं क्लास समकिसी विशेष स्ट्रीम से ही उन्हें पास करना होगा तो ऐसा नहीं है।

आपने साइंस, आर्ट, कॉमर्स किसी भी स्ट्रीम से अगर 12वीं कक्षा 55% अंकों के साथ पास की है, तो आप होटल मैनेजमेंट के अंडरग्रैजुएट कोर्स में एडमिशन पाने का प्रयास कर सकते हैं।

होटल मैनेजमेंट में मास्टर कोर्स

होटल मैनेजमेंट से संबंधित मास्टर कोर्स में एडमिशन पाने के लिए आपको कोई अंडर ग्रेजुएट कोर्स पूरा करना होगा, तभी आप मास्टर कोर्स में एडमिशन पाने के लिए अप्लाई कर सकते हैं। मास्टर कोर्स को करने के लिए आपको कुछ एंट्रेंस एग्जाम भी देनी पड़ सकती है, जैसे कि MAT, XAT, NMAT, GMAT, MAT, इत्यादि। मास्टर कोर्स के अंतर्गत आप नीचे दिए गए कोर्स कर सकते हैं।

  • मास्टर ऑफ़ होटल मैनेजमेंट |
  • मास्टर ऑफ़ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन इन हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट |
  • मास्टर ऑफ़ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन इन होटल मैनेजमेंट |

होटल मैनेजमेंट कोर्स के लिए कौशल

होटल मैनेजमेंट के क्षेत्र में एंट्री करने के लिए आपके अंदर कुछ आवश्यक कौशल भी होने चाहिए, जो नीचे बताए गए हैं।

  • अच्छी बातचीत की कला।
  • अच्छी पर्सनालिटी।
  • क्रिएटिव होना चाहिए।
  • ग्राहक का सम्मान करना आना चाहिए‌।
  • अनुशासन में रहना चाहिए।
  • अच्छा श्रोता वाला होना चाहिए।
  • भरपूर आत्मविश्वास होना चाहिए।
  • समय का पाबंद होना चाहिए।
  • जिम्मेदारी लेने वाला होना चाहिए।

होटल मैनेजमेंट कोर्स के सब्जेक्ट्स

होटल मैनेजमेंट के अंतर्गत आपको बहुत सारे सब्जेक्ट की स्टडी करनी पड़ती है, जो नीचे बताए अनुसार है।

  • होटल इंजीनियरिंग |
  • न्यूट्रिशन |
  • हॉस्पिटैलिटी लो |
  • सेल्स एंड मार्केटिंग कॉरपोरेशन |
  • फ्रंट ऑफिस ऑपरेशन |
  • ऑर्गेनाइजेशनल बिहेवियर |
  • ट्रैवल एंड टूरिज्म मैनेजमेंट |
  • एलाइड हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट |
  • होटल इकोनामिक एंड स्टैटिक्स |
  • होटल फाइनेंशियल अकाउंटिंग |
  • अकोमोडेशन ऑपरेशन |
  • फूड एंड बेवरेज प्रोडक्शन |
  • फूड एंड बेवरेज सर्विस |
  • हाउसकीपिंग |
  • हॉस्पिटैलिटी कम्युनिकेशन |
  • फ्रंट ऑफिस |
  • हाइजीन एंड फूड सेफ्टी |
  • एनवायरमेंटल साइंस |
  • मैनेजमेंट प्रिंसिपल्स एंड प्रैक्टिस |
  • फंडामेंटल ऑफ कंप्यूटर |
  • बिजनेस लॉ |
  • प्रोजेक्ट रिपोर्ट ऑन ऑपरेशनल एस्पेक्ट आफ स्टार होटल्स |
  • फूड एंड बेवरेज प्रोडक्शन मैनेजमेंट |
  • एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट |

12वी के बाद क्या करे ?

होटल मैनेजमेंट कोर्स की फीस

होटल मैनेजमेंट में अलग-अलग प्रकार के अंडर ग्रेजुएट और डिप्लोमा कोर्स होते हैं। इसलिए निश्चित तौर पर यह नहीं कहा जा सकता है कि आपको होटल मैनेजमेंट के कोर्स के लिए कितनी फीस भरनी पड़ सकती है।

 परंतु अंदाज के मुताबिक अगर आप होटल मैनेजमेंट में डिप्लोमा का कोर्स करते हैं, तो इसके लिए आपको सालाना ₹30000 से लेकर के ₹80000 तक की फीस भरनी पड़ सकती है।

वहीं अगर आप ग्रेजुएशन या फिर पोस्ट ग्रेजुएशन लेवल का कोर्स करते हैं, तो इसके लिए आपको सालाना तौर पर ₹40,000 से लेकर ₹2,00000 तक की फीस भरनी पड़ सकती है। गवर्नमेंट और प्राइवेट में कोर्स की फीस अलग-अलग हो सकती है

होटल मैनेजमेंट में करियर

बात करें अगर होटल मैनेजमेंट में कैरियर की तो इसे करने के बाद आप इंडिया के किसी भी प्राइवेट होटल में नौकरी पाने के लिए अप्लाई कर सकते हैं। अधिकतर होटल वालों को होटल मैनेजमेंट पास आउट कैंडिडेट की आवश्यकता होती ही है।

 अगर आपको अच्छा एक्सपीरियंस इस फील्ड में हो जाता है तो आप विदेशों में भी नौकरी पाने के लिए जा सकते हैं। सैलरी के बारे में बात करें तो आपको इंडिया और विदेश दोनों ही जगह पर काफी अच्छी सैलरी इसके अंतर्गत मिलती है।

होटल मैनेजमेंट कोर्स के बाद मिलने वाली पोस्ट

नीचे हमने आपको उन पदों के नाम दिए हैं, जो होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने के बाद आपको संभावित तौर पर प्राप्त हो सकते हैं।

  • मेनेजर ऑफ़ होटल |
  • किचेन मेनेजर |
  • इवेंट मेनेजर |
  • फ्रंट ऑफिस मेनेजर |
  • बैंक्वेट मेनेजर |
  • शेफ |
  • डायरेक्टर ऑफ़ होटल ऑपरेशन |
  • फ्लोर सुपरवाइजर |
  • हाउस कीपिंग मेनेजर |
  • गेस्ट सर्विस सुपरवाइजर/ मेनेजर |
  • वेडिंग कोऑर्डिनेटर |
  • रेस्टोरेंट मेनेजर |
  • फ़ूड सर्विस मेनेजर |
  • फ़ूड एंड विबरेज सुपरवाइजर |

होटल मैनेजमेंट कोर्स के बाद सैलरी

स्टार्टिंग में जब आप कोर्स को करने के बाद कहीं पर नौकरी प्राप्त कर लेते हैं तो आपको सालाना तौर पर ₹2 लाख से लेकर के ढाई लाख रुपए तक की सैलरी मिलती है। अगर आपने होटल मैनेजमेंट में उच्च पढ़ाई की है तो आपको किसी भी जगह पर ऊंची पोस्ट मिलती है जिसकी वजह से आपकी सैलरी और भी ज्यादा हो सकती है।

पर एक बात तो तय है कि आपकी महीने की सैलरी किसी भी पोस्ट पर ₹15000 से कम नहीं होगी।

होटल मैनेजमेंट कोर्स हेतु इंडिया के टॉप कॉलेज

नीचे हमने आपको उन कॉलेज के नाम दिए हैं, जो होटल मैनेजमेंट का कोर्स करने के लिए हमारे देश के बेस्ट कॉलेज माने जाते हैं।

  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग टेक्नोलॉजी & अप्लाइड न्यूट्रीशन (मुंबई)
  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग & न्यूट्रीशन, दिल्ली |
  • डिपार्टमेंट ऑफ होटल मैनेजमेंट क्राइस्ट यूनिवर्सिटी, बैंगलोर |
  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग & कैटरिंग टेक्नोलॉजी, केरल |
  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग टेक्नोलॉजी & अप्लाइड न्यूट्रीशन, चेन्नई |
  • आर्मी इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट & कैटरिंग टेक्नोलॉजी, बैंगलोर |
  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग & न्यूट्रीशन, पंजाब |
  • इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट कैटरिंग टेक्नोलॉजी & अप्लाइज न्यूट्रीशन, लखनऊ |
  • वेलकम ग्रुप ग्रेजुएट स्कूल ऑफ होटल एडमिनिस्ट्रेशन, उडुपी |
  • इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ होटल मैनेजमेंट, अहमदाबाद |

10th के बाद क्या करे ?

Leave a Comment