इम्यून सिस्टम (Immune System) क्या है

इम्यून सिस्टम (Immune system) किसी जीव के अंदर होने वाली जैविक प्रक्रियाओं का एक संग्रह होता है, जो रोगजनकों और अर्बुद कोशिकाओं की पहचान करके, फिर उसे मार कर जीव की रोगों से रक्षा करने का कार्य करती है। यह विषाणुओं तथा परजीवी कृमियों जैसे अनेकों प्रकार के एजेंटों को पहचान करने मे समर्थ होते है, इसके अलावा यह इन एजेंटों को जीव की स्वस्थ कोशिकाओं और ऊतकों से अलग पहचान करने में सक्षम है, ताकि यह उनके विरुद्ध प्रतिक्रिया न कर सके और पूरी प्रणाली सही तरीके से कार्य करे | रोगजनकों को पहचानना एक जटिल कार्य होता है क्योंकि रोगजनकों का रूपांतर अधिक तेजी से होता है और खुद का अनुकूलन इस तरह से करते हैं कि प्रतिरक्षा प्रणाली से बचकर सफलतापूर्वक अपने पोषक को संक्रमित करने में कामयाब हो सके। इम्यून सिस्टम (Immune system) को हिंदी में प्रतिरक्षा प्रणाली भी कहते है | यदि आप भी इम्यून सिस्टम (Immune System) क्या है, इम्यून सिस्टम को कैसे बढ़ाएं इसकी जानकारी पाना चाहते है तो इसके विषय में बताया जा रहा है |

रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट क्या है

इम्यून सिस्टम को कैसे बढ़ाएं

संतरा है फायदेमंद

संतरा इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए बहुत फायदेमंद होता है | संतरे में बी6 विटामिन बड़ी मात्रा में विद्द्मान होता है | इससे शरीर में हिमोग्लोबिन बढ़ने में मदद प्राप्त होती है, वहीं संतरे में मौजूद हेस्परिडिन ब्लडप्रेशर को कंट्रोल करने में भी सहायता करता है | संतरे के फायदे (Benefits Of Orange) अन्य भी बहुत होते हैं | परन्तु इम्यूनिटी (Immunity) को बनाए रखने में इसका विशेष महत्व है |

शुद्ध जल का सेवन

जल को एक प्रकार प्राकृतिक औषधि माना जाता है। प्रचुर मात्रा में शुद्ध जल को पीने से शरीर में एकत्रित कई प्रकार के विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं और जिससे प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोत्तरी होती है। पानी का जब भी सेवन करे तो ध्यान रखे कि पानी या तो सामान्य तापमान पर हो या फिर थोड़ा गुनगुना यानि कि हल्का गरम पानी पिए इसके अलावा जहाँ तक हो सके फ्रिज के पानी के सेवन से बचने का प्रयास करे |

गिरीदार फल होगा लाभदायक

सर्दी के सीजन में गिरीदार फलों का सेवन आपके लिए लाभदायक सिद्ध होता है। इसको खाने के पहले रात भर भिगोकर रखे और सुबह चाय या दूध के साथ, खाने से आधे घंटे पहले इनका सेवन करे |

अंकुरित अनाज होगा फायदेमंद

अंकुरित अनाज जैसे मूंग, मोठ, चना, मूंगफली के दाने इसके अलावा भीगी दालों का भी भरपूर मात्रा में सेवन करना आपके लिए फायदेमंद होगा। अनाज को अंकुरित करके खाने पर उसमे उपस्थित पोषक तत्वों की क्षमता और अधिक बढ़ जाती है। ये पचाने में आसान, पौष्टिक और स्वादिष्ट तत्व होते हैं।

महामारी अधिनियम (एपिडेमिक एक्ट) क्या है

सलाद भी है जरूरी

भोजन में सलाद के उपयोग विशेष महत्व है, सलाद में पोषक तत्व बहुत ज्यादा पाए जाते है, इसलिए खाने में सलाद का प्रयोग जितना अधिक हो सके उतना करे। भोजन का पाचन सही से हो सके, इसके लिए सलाद का सेवन बहुत आवश्यक होता है। सलाद में आप ककड़ी, टमाटर, मूली, गाजर, पत्तागोभी, प्याज, चुकंदर आदि का प्रयोग कर सकते है। सलाद में प्राकृतिक रूप से मौजूद नमक का भी प्रयोग करे |

चोकर सहित अनाज का सेवन करे

गेहूं, ज्वार, बाजरा, मक्का जैसे अनाजों का सेवन चोकर सहित करें, तो अधिक फायदेमंद होगा। इससे आपको कब्ज की शिकयत नहीं होगी और प्रतिरोध क्षमता चुस्त-दुरुस्त बनेगी।

तुलसी के पत्ते

तुलसी के पेड़ की पत्ती एंटीबायोटिक, दर्द निवारक और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायता प्रदान करता है। प्रतिदिन तुलसी के 3-5 पत्तों का सेवन करना फायदेमंद होगा।

योग करे

योग व प्राणायाम करना शरीर को स्वस्थ और रोगमुक्त बनाता है। इसे करने से आपको काफी फायदा मिलेगा |

हंसना है लाभकारी

हंसने से रक्त संचार सुचारु रूप से होता है और हमारा शरीर ज्यादा मात्रा में ऑक्सीजन ग्रहण कर पाता है। और तनावमुक्त होकर हँसने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ने में सहायता प्राप्त होती है।

आपको इम्यून सिस्टम (Immune System) के विषय में जानकारी प्राप्त हुई | यदि इससे सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते है | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन क्या है