इनकम टैक्स अधिकारी कैसे बनें 

इनकम टैक्स ऑफिसर कैसे बने 

इनकम टैक्स अधिकारी की नौकरी एक बहुत  बड़ा पद होता है क्योंकि, इसमें एक अच्छी इनकम के साथ-साथ नाम भी अधिक होता है | इनकम टैक्स ऑफिसर का कार्य  मुख्य रूप से सरकार द्वारा किये जाने वाले आय पर कर वसूली  करना होता है | जिसमें इनका महत्वपूर्ण योगदान रहता है |  इनकम टैक्स हमारे देश की आय का प्रमुख स्रोत होता है |  सीबीडीटी (CBDT) अर्थात केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड द्वारा इसके  कार्य किये जाते है | इसके साथ ही  इनकम टैक्स ऑफिसर्स प्रत्यक्ष करों (Direct Tax) के कलेक्शन और प्रोसेसिंग को देखने का काम भी करते है |

इनकम टैक्स अधिकारी (IT Officer) की एक अलग ही पहचान होती है |  इसलिए अधिकतर अभ्यर्थियों का सपना होता है कि, वह इनकम टैक्स अधिकारी बने और देश की सेवा करने में अपनी एक अलग पहचान बनाये |  अगर  आप भी Income Tax Officer बनना चाहते है, तो  यहाँ पर योग्यता,  चयन प्रक्रिया एवं अन्य महत्वपूर्ण जानकारी विस्तृत से दी जा रही है | यदि आपने अजय देवगन की रेड मूवी देखी है तो आपको अंदाज़ा हो गया होगा कि टैक्स की वसूली कैसे की जाती है और उसमे कितना झौखिम भी शामिल है| लेकिन आपको देश के लिए कुछ करने का जज्बा भी उभरता होगा, इसीलिए आप देश की सबसे बड़ी प्रतियोगिता परीक्षा सिविल सर्विस के माध्यम से भी आईआरएस यानी इंडियन रेवेनुए सर्विस ऑफिसर के रूप में ज्वाइन कर सकते है|

यह परीक्षा यूपीएससी द्वारा साल में एक बार आयोजित की जाती है और इसके माध्यम से आप इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में बड़े ऑफिसर बन सकते है| इसके लिए संबधित आर्टिकल इसी पोर्टल के माध्यम से पढ़ सकते है| और समय मिले तो इस आर्टिकल के बाद रेड मूवी भी जरूर देखे, क्योंकि कुछ चीज़े देखकर ही समझ में आती है और मन में हमेशा के लिए बैठ जाती है|

ये भी पढ़े: 12 महीनों के नाम हिंदी और अंग्रेजी में

आयु सीमा (Age limit)

इस पद के लिए आवेदन करनें  वाले अभ्यर्थियों की न्यूनतम आयु 21 वर्ष व अधिकतम 32 वर्ष होनी चाहिए | वहीं,  आरक्षित वर्ग के आवेदको को आयु में  एससी, एसटी को पांच वर्ष, ओबीसी को तीन वर्ष तथा पीडब्लूडी को दस वर्ष की छूट दी जाती है | यह परीक्षा लेनी वाली संस्था पर निर्भर करता है कि उसका criteria क्या है और उसे किस प्रकार का कैंडिडेट की जरुरत है| एसएससी सीजीएल और यूपीएससी के माध्यम से आप आयकर अधिकारी बन सकते है जिसके बारे में पहले से ही बहुत कुछ आपको मालूम होगा|

योग्यता 

1.आयकर विभाग में अधिकारी बननें के लिए आवेदन करने वाला अभ्यर्थी भारत का नागरिक  होना आवश्यक है |

2.इस पद के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी को  किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन या पोस्ट ग्रेजुएशन करना आवश्यक है|

3.ग्रेजुएशन पूरा हो जाने के बाद अभ्यर्थी SSC CGL या सिविल सेवा की परीक्षा को क्रैक करना जरूरी होता है |

शारीरिक योग्यता‌  

पुरुषमहिलाएं
उँचाई  – 157.5 सेमीउँचाई ( height ) – 152 सेमी |
सीना फुलाया हुआ – 81 सेमीवजन ( Weight ) – 48 सेमी |
पैदल चलकर 15 मिनिट मे 1600 मीटर दूरी तय करनापैदल चलकर 20 मिनिट मे 1 Km दूरी |
साइक्लिंग कर के‌ 30 मिनिट मे 8km दूरी तय करनासाइक्लिंग कर के‌ 20 मिनिट मे 3 Km दूरी तय करना |

नोट: सम्बंधित योग्यता के लिए आपको परीक्षा आयोजक का परीक्षा नोटीफिकेशन जरूर देखना होगा|

ये भी पढ़े: केवाईसी (KYC) का मतलब क्या होता है

ये भी पढ़े: राज्यपाल की नियुक्ति कौन करता है?

सैलरी (salary)

इनकम टैक्स अधिकारी को  प्रतिमाह 9,300 से 34,600 रुपए  वेतन प्रदान किया जाता हैं, इसके  साथ ही इस पद के सभी अधिकारियों को वाहन, कर्मचारी, निवास हेतु भवन आदि सुविधाए सरकार द्वारा  प्राप्त होती है |

इनकम टैक्स अधिकारी चयन प्रक्रिया (selection process)

इस अधिकारी पद में अभ्यर्थियों का चयन करने के लिए  कर्मचारी चयन आयोग (SSC) प्रत्येक वर्ष प्रवेश परीक्षा (SSC CGL) का आयोजन करती है | इस पद की प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थी को  इस परीक्षा में पास होना अनिवार्य है | जो तीन चरणों आयोजित की जाती है | जो इस प्रकार हैं –

ये भी पढ़े: लोकसभा (LOK SABHA) और राज्यसभा (RAJYA SABHA) में अंतर क्या है?

1.प्रारम्भिक परीक्षा (Pre)

 इस पद के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को सबसे पहले प्रथम चरण की  प्रारम्भिक परीक्षा में शामिल होना रहता है जिसमें  दो  प्रश्न पत्र कराये  जाते है | जिसमें अभ्यर्थियों से प्रथम प्रश्न पत्र में सामान्य जागरूकता और सामान्य बुद्धिमत्ता के प्रश्न पूछे जाते है  और  दूसरे प्रश्न पत्र में अंकगणित से सम्बंधित प्रश्न दिए जाते है प्रथम प्रश्न पत्र  में 100 प्रश्न दिए रहते है  जिन्हे हल करने के लिए अभ्यर्थियों को 2 घंटे का समय दिया जाता है और इस प्रश्न पत्र की संख्या भी 100 निर्धारित की जाती है | वहीं दूसरे प्रश्न पत्र के लिए भी अभ्यर्थियों को 2 घंटे का समय दिया जाता है |

2.मुख्य परीक्षा (mains)

इसके बाद जो अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा में सफलता प्राप्त कर  लेते है,  तो उन्हें  मुख्य परीक्षा में  शामिल होने का मौका दिया जाता है | जिसमें अभ्यर्थियों से सामान्य अध्यन, भाषा, संचार कौशल और लेखन से सम्बंधित प्रश्न पूछें जाते है |

मुख्य परीक्षा पैटर्न    

विषयअंकसमय
सामान्य अध्ययन2003 घंटे
इंग्लिश1002 घंटे 20 मिनट
अंकगणित2004 घंटे
लैंग्वेज1002 घंटे 40 मिनट
संचार कौशल और लेखन2002 घंटे 20 मिनट

ये भी पढ़े: केंद्र शासित प्रदेश का मतलब क्या होता है?

3.साक्षात्कार  (interview)

दूसरी मुख्य परीक्षा में सफल हुए अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए आमंत्रित किया जाता है, जिसमें अभ्यर्थियों के  मूल्यांकन गुणों में से कुछ मानसिक सतर्कता, स्पष्ट और तार्किक प्रदर्शनी, आत्मविश्वास , विविधता, शक्तियों, न्याय के संतुलन,बौद्धिक स्तर का  मुख्य रूप से अनुमान लगाया जाता है, इसके साथ ही इंटरव्यू के समय ही  अभ्यर्थी के मानसिक गुणों को प्रकट करनें का तरीका,उद्देश्य तथा बातचीत पर  भी विशेष रूप से ध्यान दिया जाता है,  जिसके बाद अभ्यर्थी की  एक मेरिट सूची बनाकर तैयार की जाती है, जिसमें  सभी अभ्यर्थियों को उनके प्रदर्शन के  मुताबिक़, रैंक दी जाती है | इसके बाद जिन अभ्यर्थियों का नाम मेरिट लिस्ट में आ जाता है, उस  अभ्यर्थी को इस पद के लिए नियुक्त कर  लिया जाता है |

यहाँ पर हमने आपको  इनकम टैक्स अधिकारी कैसे बनें ,योग्यता, चयन प्रक्रिया की जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि आपको  इससे सम्बंधितअन्य जानकारी  प्राप्त करनी है तो आप www.hindiraj.com पर विजिट कर सकते है | इसके साथ यदि आप दी गयी जानकारी के विषय में अपने विचार या सुझाव अथवा प्रश्न पूछना चाहते है, तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से संपर्क कर सकते है | हम आपके प्रश्नो और सुझावों का इन्तजार कर रहें है |

ये भी पढ़े: भारत के राज्य और राजधानी की सूची

ये भी पढ़े: भारत के प्रसिद्ध मंदिरों की सूची हिंदी में

ये भी पढ़े: सॉलिसिटर जनरल ऑफ इंडिया क्या होता है?

ये भी पढ़े: आरबीआई ग्रेड बी परीक्षा क्या है?