इंटरनेट का क्या मतलब है ?

जैसे जैसे टेक्नोलॉजी का विकास हुआ है वैसे वैसे मनुष्य के लिए इतनी सहूलियत उपलब्ध हो चुकी हैं कि जिन कामों को पहले के समय में करने के लिए बाहर जाना पड़ता था और कई दिन लग जाते थे आज उन्हीं कामों को हम घर बैठे चुटकियों में कर सकते हैं।

टेक्नोलॉजी का एक बड़ा हिस्सा हमारी ज़िंदगी में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है जिसे हम इंटरनेट (Internet) कहते हैं। आज दुनिया के लगभग 4.95 अरब लोग इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं और दिन ब दिन इंटरनेट के यूज़र्स बढ़ते ही जा रहे हैं। परंतु काफी लोगों के मन में इंटरनेट के बारे में अधिक जानने की जिज्ञासा होती है। इसलिए इस लेख के माध्यम से हम आपको इंटरनेट से जुड़ी सारी जानकारी देने वाले हैं।

इंटरनेट (Internet) क्या है ?

इंटरनेट एक ऐसा महाजाल है जिसके माध्यम से एक कंप्यूटर दूसरे कंप्यूटर के साथ जुड़ सकता है फिर चाहे वह कंप्यूटर दुनिया के किसी भी कोने में स्तिथ हो। इंटरनेट का पूरा नाम Interconnected network है जिसका अर्थ है कि एक ऐसा नेटवर्क जो एक कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर के साथ जोड़ने का कार्य करे।

इंटरनेट एक प्रकार के Standard Internet Protocol का इस्तेमाल करता है जिसे (TCP/IP) भी कहा जाता है। हर कंप्यूटर का एक अपना IP Address होता है जिससे इंटरनेट से जुड़े कंप्यूटर की पहचान की जा सके बिलकुल उसी तरह जैसे हर घर का एक अपना एड्रेस होता है।

काफी लोग इस बात पर चकमा खा जाते हैं कि Web और Internet एक ही हैं। लेकिन ऐसी बात नहीं है। असल में इंटरनेट वैश्विक संचार प्रणाली है जो कि एक कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर के साथ जोड़ने का काम करता है जबकि Web एक सर्विस होती है जो इंटरनेट के द्वारा सूचनाओं का आदान प्रदान करने के लिए इस्तेमाल की जाती है।

आसान भाषा में कहें तो कंप्यूटर एक ऐसा नेटवर्क होता है जिसके माध्यम से हम एक कंप्यूटर का डेटा दूसरे कंप्यूटर तक पहुंचा सकें। हमारे रोज़ाना के बहुत सारे काम इंटरनेट द्वारा ही होते हैं जैसे ईमेल भेजना, चैटिंग करना, वीडियो कांफ्रेंस और ऑनलाइन शॉपिंग आदि।

Dark web (डार्क वेब) क्या होता है ?

Internet का इतिहास

इंटरनेट के तेज़ गति के विकास को देखकर काफी लोगों को लगता है कि इंटरनेट का इतिहास बहुत पुराना है लेकिन ऐसी बात नहीं है। बल्कि इंटरनेट का अविष्कार लगभग 1960 में हुआ। इंटरनेट के आविष्कार का कारण अमेरिका को जल्दी सूचनाऐं प्राप्त करने की आव्यशकता है।

असल में जब वर्ष 1960 में शीत युद्ध (Cold War) अपनी चरम सीमा पर था उस समय अमेरिका को तेज़  गति के साथ सूचनाओं का आदान प्रदान करने की जरुरत हुई। इस आवश्यकता को पूरा करने के लिए कई लोगों ने अपना योगदान दिया और इंटरनेट को विकसित किया।

जब अमेरिका इस आवश्यकता से जूझ रहा था तो लियोनार्ड क्लेरॉक (Leonard Kleinrock) ने एक ऐसी तकनीक की योजना के बारे में बताया जिससे कई कम्प्यूटरों को आपस में जोड़कर सूचनाओं का आदान प्रदान किया जा सके। इस योजना में उनका साथ  एम.आई.टी. के वैज्ञानिक J.C.R. Licklider और रोबर्ट टेलर (Robert Taylor) ने दिया।

साथ ही साथ 1965 में एक वैज्ञानिक ने इंटरनेट के ऐसे हिस्से का निर्माण किया जिससे डेटा को एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर तक छोटे छोटे टुकड़ों में बाँट कर भेजा जाता है। इसका बड़ा फ़ायदा यह है कि हमें डेटा के पुरे लोड होने का इंतज़ार नहीं करना पड़ता और सूचना को जल्दी पढ़ा जा सकता है।

इस तकनीक का इस्तेमाल सबसे पहले अमेरिका के रक्षा विभाग की Advance Research Projects Agency (ARPA) द्वारा किया गया और इसी वजह से इसे ARPANET का नाम दिया गया। वर्ष 1969 में ARPANET के माध्यम से पहला संदेश भेजा गया था जिसमें ‘LOGIN’ लिखा गया था। हालाँकि उस समय इसके पहले दो अक्षर LO ही प्राप्त हो सके थे।

वर्ष 1969 के अंत तक इससे सिर्फ चार कंप्यूटर ही जुड़ सके थे। लेकिन 1970 के बाद से कम्प्यूटर्स के जुड़ने में गति आई और धीरे धीरे बहुत सारे कम्प्यूटर्स एक साथ जुड़ने लगे। कम्प्यूटर्स की संख्या बढ़ने के साथ साथ इसमें बहुत सारी कठिनाईयां भी आईं लेकिन समय समय पर इनका हल किया गया। इसी प्रकार आज दुनिया के बहुत सारे लोग बिना किसी दिक्क्त के इंटरनेट का आनंद ले रहे हैं।

@ Symbol Meaning in Hindi

इंटरनेट के उपयोग

जैसे जैसे इंटरनेट विकसित होता गया वैसे वैसे इंटरनेट के उपयोग भी बढ़ने लगे। आज इंटरनेट हमारे रोज़ाना के कामों को पूरा करने के लिए एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। आज बहुत सारे क्षेत्रों में सूचनाओं के आदान प्रदान के लिए इंटरनेट का इस्तेमाल किया जाता है जिनमें से कुछ यह हैं:-

  • पढ़ाई के लिए:- पहले के समय में साधनों की कमी की वजह से हमें पढ़ने के लिए दूर दूर तक जाना पड़ता था। लेकिन आज हम इंटरनेट के माध्यम से घर बैठे ही पढ़ाई कर सकते हैं और बच्चों को पढ़ा भी सकते हैं। कोरोना के समय हमने इंटरनेट के महत्त्व को नज़दीक से देखा है।
  • घर बैठे शोपिंग कर कर सकते है:- समय के साथ साथ ऑनलाइन शॉपिंग का प्रचलन काफी तेज़ी से बढ़ रहा है और लोग घर बैठे ही ऑनलाइन शॉपिंग कर रहे हैं और अपना मनचाहा सामान प्राप्त कर रहे हैं। आज करोड़ों की बिक्री हर रोज़ इंटरनेट के माध्यम से होती है।
  • मनोरंजन:- मनोरंजन भी आज के समय में इंटरनेट का एक महत्त्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है। इंटरनेट से हम गाने सुन सकते हैं, फिल्में देख सकते हैं और गेम्स भी खेल सकते हैं। इंटरनेट के माध्यम से अपना मनोरंजन करना आजकल आम प्रचलन हो चुका है।
  • बैंकिंग:- बैंक की लंबी लंबी लाइनों से बचने के लिए इंटरनेट बैंकिंग को विकसित किया गया। इंटरनेट बैंकिंग से हमें यह फ़ायदा है कि ना तो हमें बैंक में जाकर लाइन में लगना पड़ता है और इससे हमारा बहुत सारा समय भी बचता है।
  • विज्ञापन के लिए:- जिस गति से इंटरनेट के यूज़र्स बढे हैं उसी गति से इंटरनेट पर विज्ञापन भी बढ़े हैं। इंटरनेट पर हम अपने व्यवसाय का प्रचार कर सकते हैं और लोगों को अपना उत्पाद करने के लिए Influence कर सकते हैं।
  • भुगतान:- ऑनलाइन बैंकिंग के अलावा हम इंटरनेट के माध्यम से भुगतान भी कर सकते हैं। एक बैंक खाते से दूसरे बैंक खाते में पैसे जमा करना आजकल आम बात हो चुकी है। इसके अलावा इंटरनेट से हम बिजली का बिल, ऑनलाइन रिचार्ज, गैस सिलिंडर बुकिंग आदि भी कर सकते हैं।
  • नए दोस्त बनाना:- इंटरनेट पर बहुत सारी ऐसी websites हैं जिससे हम नए नए दोस्त बना सकते हैं और उनसे बात कर सकते हैं। साथ ही साथ हम उनसे वीडियो कॉल करके बात करते समय उनका चेहरा भी देख सकते हैं।

इंटरनेट के और भी अनगिनत उपयोग हैं जिनका इस्तेमाल हम हमारी रोजमर्रा की ज़िन्दगी में करते हैं। हमारे जीवन के इस अभिन्न अंग के उपयोग हमें समय के साथ मालूम होते हैं।

बिना इंटरनेट के UPI Payment कैसे करे ?

Internet के लाभ

करोड़ों लोग आज इंटरनेट की मदद से लाभ प्राप्त कर सकते हैं और नई नई खोजों से इंटरनेट के लाभ बढ़ते ही जा रहे हैं। इनमें से कुछ लाभ इंटरनेट के हम नीचे बताने जा रहे हैं:-

  • इंटरनेट से हम जरूरी सरकारी एवं गैर सरकारी दस्तावेज़ों के लिए आवेदन कर सकते हैं और उन दस्तावेज़ों को प्राप्त कर सकते हैं।
  • स्कूल और कालेज की एडमिशन, फीस, स्कॉलरशिप के लिए आवेदन आजकल इंटरनेट के माध्यम से ही होने लगे हैं।
  • गाने सुनकर, फ़िल्में देखकर, गेम्स आदि खेलकर हम अपना मनोरंजन कर सकते हैं और अपने दिमाग को शांत कर सकते हैं।
  • बिजली बिल भरना, पानी का बिल, ऑनलाइन रिचार्ज आदि जैसे छोटे मोटे कार्य हम इंटरनेट पर घर बैठे ही कर सकते हैं।
  • किताबें पढ़कर, लेख पढ़कर, वीडियोस देखकर हम अपने ज्ञान में वृद्धि कर सकते हैं।
  • काम ढूंढ़ने के लिए हमें पहले दूर दूर भटकना लेकिन आज इंटरनेट पर हम अपनी CV डालते हैं तो कंपनी वाले रोज़गार देने के लिए खुद हमसे संपर्क करते हैं।
  • ब्लॉग लिखकर, अपनी वेबसाइट बनाकर और एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) के ज़रिए हम इंटरनेट से पैसे भी कमा सकते हैं।
  • सोशल मीडिया वेबसाइटस से हम दुनिया के किसी भी कोने में बैठे व्यक्ति के साथ जुड़ सकते हैं और नए नए दोस्त भी बना सकते हैं।
  • इंटरनेट पर कई ऐसे मैप्स हैं जो बताते हैं कि वर्त्तमान में हम किस जगह पर हैं और दूसरी जगह जाने के लिए कितना समय लगेगा।

Internet के नुक्सान

जिस चीज़ के फायदे होते हैं उसके साथ हमें नुकसान भी मिलते हैं। इंटरनेट के फायदों के साथ साथ बहुत सारे नुकसान भी हैं जिसके बारे में हम नीचे चर्चा करने जा रहे हैं:-

  • भले ही आज के समय में इंटरनेट एक बड़ी जरूरत बन गया है लेकिन इसके लिए हमें सर्विस प्रोवाइडर्स को पैसे देने पड़ते हैं। इस वजह से जिन्हें इंटरनेट की जरूरत होती है और उनके पास पैसे नहीं होते उन तक इंटरनेट नहीं पहुँच पाता।
  • इंटरनेट पर मनोरंजन के स्रोत जैसे जैसे बढ़े हैं वैसे ही कुछ अनावश्यक चीज़ें इंटरनेट पर उपलब्ध होने लगी हैं जिसके कारण काफी सारे लोग अपना मूल्यवान समय इंटरनेट पर बर्बाद करने लगे हैं।
  • इंटरनेट पर फ़ैल रहे अश्लील गानों, वीडियो और किताबों की वजह से किशोरों और नौजवानों में अश्लीलता फैलती जा रही है जिससे हमारा और हमारे बच्चों का भविष्य खतरे में पड़ता है।
  • ऑनलाइन शॉपिंग की सहूलियत का गलत इस्तेमाल करके कुछ लोग अवैध चीज़ें बेच रहे हैं और नियमों की उलंघना कर रहे हैं।
  • बहुत सारे ऐसे ठग मौजूद हैं जो आप से एक OTP लेकर कुछ ही पलों में आपका बैंक खाता खाली कर देते हैं। यह इंटरनेट का एक बड़ा नुक्सान माना जाता है और ऐसे लोगों से बचने की आपको जरूरत है।
  • बड़ी बड़ी वेबसाइट यह दावा करती हैं कि वह आपकी प्राइवेसी का पूरा ख्याल रखती हैं लेकिन समय समय पर इनका भांडा फुट जाता है जो एक चिंता का विषय बन जाता है।
  • अपने कौशलों का गलत इस्तेमाल करके कुछ लोग हमारे कंप्यूटर में वायरस भेज देते हैं और उसे निकालने के लिए फिरौती की मांग करते हैं।
  • भले ही हम इंटरनेट के लिए भुगतान करते हैं लेकिन फिर भी हमें इंटरनेट पर अनचाहे विज्ञापनों के देखने मिलते हैं जिससे हम तंग आ जाते हैं।
  • जब हम घंटों बैठ कर इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो वर्तमान में तो हमें लगता है कि इसका कोई नुक्सान नहीं लेकिन दीर्घकालिक में हम खुद को अकेलेपन, डिप्रेशन जैसी चीज़ों की तरफ धकेल रहे होते हैं।

इंटरनेट के और भी बहुत सारे नुकसान है जिन्हें इस छोटे से लेख में नहीं बताया जा सकता। लेकिन सरकारों को इसके निवारण के लिए ठोस कदम उठाने चाहिए और सार्थक नियम लागू करने चाहिए। इसके साथ ही हमें भी सावधानी के साथ इंटरनेट का इस्तेमाल करना चाहिए।

हम्म (Hmm) का मतलब क्या होता है ?

Leave a Comment