किसान क्रेडिट कार्ड योजना क्या है

देश की जनता को सुविधा पहुंचाने के लिए हमारे देश की सरकार हर संभव प्रयास करती चली आ रही है |  इसी तरह भारत के प्रधानमंत्री द्वारा एक किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत की गई है | देश के प्रधानमंत्री द्वारा इस अभियान की शुरुआत वर्ष 1998 में की गयी थी | यह एक ऐसी योजना है, जिसकी शुरुआत मुख्य रूप से बैंको द्वारा किसानो को किसी जरूरी कार्य के लिए लोन प्रदान के लिए की गयी | यह एक महत्वपूर्ण योजना है, जिससे बड़ी संख्या में किसान इसका लाभ उठा रहें है | इसलिए यदि आपको किसान क्रेडिट कार्ड योजना के विषय में अधिक जानकारी नहीं प्राप्त है और आप इसके विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको किसान क्रेडिट कार्ड योजना क्या है , KCC Scheme Online Registration (फॉर्म डाउनलोड) | इसकी विस्तृत जानकारी प्रदान की जा रही है | 

LAGHU, SEEMANT KISAN IN HINDI

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) का मतलब

यह एक ऐसी सुविधा होती है, जिसे भूमिगत खाता धारक को प्रदान दिया जाता है लेकिन यह लोन केवल उन्ही व्यक्तियों को प्रदान किया जाता है,  जिनकी जमीन अच्छी और खेती करने योग्य होती है , जिससे सरकार द्वारा खेती से सम्बंधित खाद, बीज, पानी, मशीन, उपकरण भी आसानी से उपलब्ध कराये जा सके | ऐसा करने से किसानो को कम ब्याज पर लोन की सुविधा प्रदान की जाती है  | इसके आलावा इस योजना का लाभ उन लोगों को भी प्रदान किया जाता है जो दूसरे व्यक्ति की भूमि में खेती  करते हो और उसी खेती से अपना जीवन यापन करते है |

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) योजना की ब्याज दर

जो किसान, किसान क्रेडिट कार्ड से लोन निकालते है, उन्हें इस योजना के तहत कम ब्याज दर पर लोन प्रदान कर दिया जाता है | इसलिए इस योजना में शामिल होकर किसान कम ब्याज दर पर बहुत ही सहजता के साथ किसी भी बैंक से लोन प्राप्त कर सकते है | इस योजना में शामिल होकर किसान अपने किसान क्रेडिट कार्ड से 50,000 (हजार) रुपए से लेकर 3,00,000 (लाख) रुपए तक लोन ले सकते है | इसके अलावा किसान इस लोन कम समय प्राप्त करके कर सकते है, क्योंकि बैंक द्वारा 14 दिन में ही इस लोन को पास कर दिया जाता है | इसकी ब्याज की दर 4% (प्रतिशत) की दर है और यदि 6 महीने तक कीसाथ को यह पैसा बैंक में जमा करना पड़ता है  और वहीं यदि किसान एक साल के लोन लेता है, तो उसे 7% (प्रतिशत) की दर से ब्याज चुकाने पड़ेगी | इसके साथ ही किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से अपनी फसल का बीमा भी करा सकता है, लेकिन यह तब हो सकता है, जब किसी कारणवश किसान की फसल नष्ट हो गयी है, जैसे:- आग के कारण फसल का नष्ट हो जाना या बाढ़ की स्थिति में फसल डूब कर नष्ट हो  जाना, तथा सूखा पड़ जाने के स्थिति में भारत सरकार द्वारा मुआवजा दिया जाता है, जिससे किसान इसका लाभ आसानी से उठा सकते है |

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) आवेदन करने के लिए जरुरी कागजात

  1. फोटो (Photo)
  2. पता के लिए प्रमाण (Address Proof) – मतदाता पहचान पत्र / आधार कार्ड/ ड्राइविंग लाइसेंसपासपोर्ट  / आदि।
  3. भरा हुआ आवेदन पत्र
  4. पहचान प्रमाण पत्र (Identity Proof) – आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, PAN कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस इत्यादि |
  5. जमीन के दस्तावेज |

KCC SCHEME ONLINE REGISTRATION करने की प्रक्रिया  

  • किसान क्रेडिट कार्ड योजना में शामिल होने के लिए सबसे पहले आप गूगल पर जाकर बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट को ओपन कर लें | 
  • इसके बाद फिर किसान क्रेडिट विकल्प का चुनाव कर लें |
  • फिर आप अप्लाई करे पर क्लिक कर दें |
  • इसके बाद आपके सामने ऑनलाइन आवेदन पेज खुलकर आ जाएगा |
  • फिर आप मांगी गई पूरी जानकारी भरकर सबमिट बटन पर क्लिक कर दे |
  • इसके बाद आपको एक पावती रसीद भी प्राप्त हो जाएगी, जिस पर आपका ऐप्लीकेशन नंबर दिया रहेगा  | इस नंबर के माध्यम से आप अपना स्टेटस भी चेक कर सकते है |

एमएसपी (MSP) क्या है

किसान क्रेडिट कार्ड के नाम एवं बैंको के नाम

इलाहाबाद बैंक –  किसान क्रेडिट कार्ड कार्पोरेशन बैंक – किसान क्रेडिट कार्ड
देना बैंक – किसान गोल्ड क्रडिट कार्ड ओरिएंटल बैंक ऑफ़ कामर्स – ओरिएंटल ग्रीन कार्ड (ओ.जी.सी.)
पंजाब नेशनल बैंक – पी.एन.बी. कृषि कार्ड आन्ध्र बैंक – ए.बी. किसान ग्रीन कार्ड
बैंक ऑफ़ बडौदा – बी किसान क्रेडिट कार्ड बैंक ऑफ़ इंडिया – किसान समाधान कार्ड
केनरा बैंक – किसान क्रेडिट कार्ड सिंडिकेट बैंक – सिंडिकेट किसान क्रेडिट कार्ड
विजय बैंक – विजय किसान क्रेडिट कार्ड स्टेट बैंक ऑफ़ हैदराबाद – किसान क्रेडिट कार्ड
स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया – किसान क्रेडिट कार्ड

मनरेगा जॉब कार्ड लिस्ट कैसे देखे

यहाँ पर हमने आपको किसान क्रेडिट कार्ड (KCC) योजना से सम्बंधित जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि आप इस जानकारी से संतुष्ट है, या फिर इससे समबन्धित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट करे और अपना सुझाव दे सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का जल्द ही निवारण किया जायेगा | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

खसरा खतौनी और जमाबंदी का क्या मतलब होता है