एमएससी (M.Sc) क्या होता है ?



देखा जाए तो हमारे देश में ऐसे काफी कम ही लोग हैं, जो किसी भी कोर्स की उच्चतम डिग्री को पाने का प्रयास करते हैं, क्योंकि अधिकतर लोगों की यह सोच है कि अगर उन्होंने ग्रेजुएशन कर ली, तो उन्होंने काफी पढ़ाई कर ली है। जो कि काफी हद तक सरकारी नौकरी के पैमाने के हिसाब से सटीक भी बैठती है।

क्योंकि अधिकतर सरकारी नौकरियों में ग्रेजुएट पास लोगों को ही अप्लाई करने के लिए कहा जाता है परंतु अगर आप पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल कर लेते हैं, तो यह आपके और काम आ सकती है। बात करें अगर एमएससी (M.Sc) की तो यह एक पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री प्रोग्राम होता है जो कुल 2 साल का होता है और इसमें आप बैचलर ऑफ साइंस यानी की बीएससी (B.Sc) के कोर्स को पूरा करने के बाद एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं।

बीकॉम (B.Com) क्या होता है ?

एमएससी (M.Sc) क्या है

Table of Contents

बता दें कि यह कोर्स पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री प्रोग्राम की श्रेणी में आता है। इस कोर्स को करने के बाद आप पोस्ट ग्रैजुएट बन जाते हैं। इस कोर्स में एडमिशन पाने हेतु आपको बैचलर ऑफ साइंस यानी (B.Sc) कोर्स करना पड़ता है, जो कि कुल 3 साल का कोर्स होता है। बीएससी (B.Sc) के इस कोर्स को पूरा करने के बाद अगर आप साइंस के सब्जेक्ट में ही आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं, तो आपको मास्टर ऑफ साइंस के कोर्स में एडमिशन लेना पड़ता है।

इस कोर्स को करने के बाद आपको मेडिकल की फील्ड से संबंधित कई बातों के बारे में प्रैक्टिकल जानकारी प्राप्त होती है। इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप हॉस्पिटल, नर्सिंग, लैब, रिसर्च इंडस्ट्री, फार्मा इंडस्ट्री में नौकरी पाने के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

एमएससी (M.Sc) का फुल फॉर्म क्या है?

एमएससी (M.Sc) का संक्षिप्त नाम “Master of Science” होता है। हिंदी भाषा में एमएससी को “विज्ञान में निपुण” कहा जाता है अर्थात एमएससी पास आउट व्यक्ति को साइंस की फील्ड के बारे में काफी जानकारी होती है।

एमएससी (M.Sc) कोर्स के लिए योग्यता क्या है?

बैचलर ऑफ साइंस के कोर्स को पूरा करने के बाद ही आप एमएससी के कोर्स में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं। इस प्रकार अगर आप इस कोर्स में एडमिशन पाना चाहते हैं, तो आपको बैचलर ऑफ साइंस के इस कोर्स को कम से कम 40 प्रतिशत से लेकर के 60 प्रतिशत अंकों के साथ पास करना पड़ेगा। इसके अलावा आपको यह प्रयास करना चाहिए कि आप बीएससी के कोर्स में अधिक से अधिक परसेंटेज हासिल कर सकें।

एमएससी (M.Sc) कैसे करें?

बता दे कि एमएससी (M.Sc) का कोर्स कुल 2 साल का होता है। इन 2 सालों की अवधि के दौरान अभ्यर्थियों को कुल 4 सेमेस्टर की पढ़ाई करनी पड़ती है और इन सभी 4 सेमेस्टर की एग्जाम होती है। अगर अभ्यर्थी सभी 4 सेमेस्टर की एग्जाम को पास कर लेते हैं, तो उन्हें एमएससी (M.Sc) की डिग्री प्राप्त हो जाती है। फिलहाल नीचे हम आपको एमएससी कैसे करें, इसकी प्रक्रिया बता रहे हैं।

दसवीं कक्षा पास करें।

हम सभी यह जानते हैं कि दसवीं में बोर्ड की परीक्षाएं होती है। इस प्रकार अगर आपको आगे चलकर के एमएससी के कोर्स में जाना है, तो आपको दसवीं क्लास से ही इसकी तैयारी करनी पड़ेगी। अतः आपको दसवीं क्लास में साइंस के सब्जेक्ट पर विशेष तौर पर फोकस करके दसवीं कक्षा को अच्छे अंकों के साथ पास करना पड़ेगा।

साइंस स्ट्रीम से 12वीं पास करें।

दसवीं पास करने के बाद आपको 11वीं क्लास में साइंस स्ट्रीम के अंतर्गत आपको फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी या फिर फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथमेटिक्स का चुनाव करना है और अच्छे परसेंटेज के साथ 12वीं क्लास को भी पास करना है।

बीएससी (B.Sc) में एडमिशन लें।

12वीं क्लास को पास करने के बाद आपको बैचलर ऑफ साइंस के कोर्स में एडमिशन लेना है। कुछ यूनिवर्सिटी इसमें बिना एंट्रेंस एग्जाम के एडमिशन दे देती है, तो कुछ यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन करती हैं।

एमएससी (M.Sc) के कोर्स में एडमिशन लें।

बीएससी का कोर्स पूरा करने के बाद आपको एमएससी के कोर्स में एडमिशन लेना पड़ता है। यहां पर आपको हो सकता है कि एंट्रेंस एग्जाम देनी पड़ जाए। इसलिए एग्जाम की तैयारी पहले से ही चालू कर दें और एग्जाम पास करने के बाद इस कोर्स में एडमिशन हासिल करें और सफलतापूर्वक 2 सालों में एमएससी कोर्स को पूरा करें।

बीएमएम कोर्स (BMM Course) क्या है ?

एमएससी (M.Sc) कोर्स की फीस कितनी है?

गवर्नमेंट कॉलेज से अगर आप एमएससी के कोर्स को करते हैं, तो आपको कम फीस भरनी पड़ेगी और अगर आपको इस कोर्स में प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन प्राप्त हो गया है, तो आपको अधिक फीस भरनी पड़ेगी।

यहां पर हम आपको किसी इंस्टिट्यूट की विशेष फीस के बारे में नहीं बता सकते हैं, क्योंकि हर इंस्टिट्यूट, कॉलेज अथवा यूनिवर्सिटी की फीस अलग-अलग होती है। इस प्रकार जब आप यूनिवर्सिटी में एडमिशन लेंगे, तभी आपको सही और सटीक जानकारी फीस के बारे में प्राप्त हो सकेगी।

एमएससी (M.Sc) कोर्स के लिए इंडिया के टॉप कॉलेज कौन से हैं?

मास्टर ऑफ साइंस का कोर्स एक सामान्य कोर्स होता है। इसलिए इस कोर्स को अधिकतर यूनिवर्सिटी और कॉलेज के द्वारा ऑफर किया जाता है। इस प्रकार आप लोकल लेवल पर स्थित यूनिवर्सिटी/कॉलेज में इस कोर्स को करने के लिए एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं। नीचे हमने आपको इंडिया के टॉप ऐसे कॉलेज के नाम दिए हैं, जो इस कोर्स को करने के लिए बेस्ट कॉलेज माने जाते हैं।

  • जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी, न्यू दिल्ली |
  •  संबलपुर यूनिवर्सिटी, संबलपुर, उड़ीसा |
  •  अहमदाबाद यूनिवर्सिटी, अहमदाबाद |
  • हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल यूनिवर्सिटी, गढ़वाल |
  • देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी, इंदौर |
  • श्री वेंकटेस्वर यूनिवर्सिट,तिरुपति |
  • माउंट कार्मेल कॉलेज,बैंगलोर |
  •  यूनिवर्सिटी ऑफ़ राजस्थान, जयपुर |
  • शिवजी यूनिवर्सिटी,कोल्हापुर |
  • सावित्रीबाई पहले पुणे यूनिवर्सिटी, पुणे |
  •  काशी हिन्दू विश्वविद्यालय , वाराणसी |

एमएससी (M.Sc) कोर्स के फायदे क्या है?

  • मास्टर ऑफ साइंस की डिग्री प्राप्त करने के बाद आपको साइंस का मास्टर कहां जाने लगता है।
  • इस कोर्स को पूरा करने के बाद जब आपको डिग्री मिल जाती है, तब आप रिसर्च इंस्टिट्यूट में काम करने के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
  • कोर्स को पूरा करने के बाद आपको उच्चतम इंस्टिट्यूट या फिर कंपनी में कैरियर बनाने का मौका मिलता है।
  • एमएससी की डिग्री हासिल करने के बाद आप डीआरडीओ अथवा भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर जैसे इंस्टीट्यूट में भी नौकरी पाने के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
  • इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप विभिन्न प्रकार के गवर्नमेंट और प्राइवेट नौकरी को पाने के लिए एलिजिबल हो जाते हैं।

एमएससी (M.Sc) के सब्जेक्ट क्या है?

हमने आपको पहले ही यह बताया कि यह साइंस की फील्ड के अंतर्गत आने वाला 1 कोर्स होता है और इसमें आपको अधिकतर साइंस की बातें ही पढ़ाई जाती हैं। नीचे हमने आपको एमएससी के अंतर्गत जो सब्जेक्ट पढ़ाया जाते हैं, उसकी लिस्ट दी है। यही सब्जेक्ट आपको बीएससी के कोर्स में भी पढ़ने पड़ते हैं।

  • जंतु विज्ञान |
  • वनस्पति विज्ञानं |
  • रसायन विज्ञान/रसायन शास्त्र |
  • भौतिक विज्ञान/भौतिक शास्त्र |
  • बायोकेमिस्ट्री |
  • गणित |
  • कंप्यूटर साइंस |
  • पर्यावरण विज्ञानं |
  • इलेक्ट्रॉनिक्स |
  • क्लीनिकल साइकोलॉजी |

एमफिल (M.Phil) क्या होता है ?

एमएससी (M.Sc) का सिलेबस क्या है?

नीचे हमने आपको एमएससी के अलग-अलग सब्जेक्ट के सिलेबस के बारे में जानकारी दी है।

एमएससी (M.Sc) बायोलॉजी सिलेबस

  • Genes and Genomics
  • Biophysics and Structural Biology
  • Microbiology
  • Recent Advances in Biology
  • Introduction to Pharmacology
  • Clinical Immunology
  • Metabolism and Metabolism
  • Bio statistics and Bioinformatics
  • Cell Biology
  • Computational Biology and Bioinformatics
  • Animal Physiology
  • Plant physiology
  • Molecules of living systems
  • Biochemistry
  • Methods in Applied Sciences

एमएससी (M.Sc) मैथमेटिक्स सिलेबस

  • Advanced Differential Equations
  • Complex Analysis
  • Measure and Integration Geometry of Numbers
  • Linear Algebra
  • Advanced Abstract Algebra
  • Differential Geometry
  • Numeral Analysis
  • Real Analysis

एमएससी (M.Sc) केमेस्ट्री सिलेबस

  • Inorganic Chemistry
  • Chemical Dynamics and Electrochemistry
  • Physical Chemistry
  • Computational Chemistry
  • Chemistry
  • Organic Chemistry
  • Transition and Non-transition Metal
  • Analytical Chemistry
  • Biology
  • Advanced Chemical Kinetics and Electrochemistry
  • Chemistry of Materials
  • Modern Techniques and Scope of Chemical
  • Advanced Quantum Chemistry

एमएससी (M.Sc) फिजिक्स सिलेबस

  • Classical Mechanics
  • Computer Applications in Physics
  • Classical Electrodynamics
  • Nuclear and Particle Physics
  • Advanced Optics
  • Atomic and Molecular Physics
  • Statistical Mechanics
  • Quantum Mechanics
  • Advanced Quantum Mechanics
  • Electronics
  • Astrophysics

एमएससी (M.Sc) के बाद क्या करें?

एमएससी (M.Sc) कोर्स पूरा करने के बाद आप पोस्ट ग्रेजुएट हो जाते हैं और आपको किसी स्पेसिफिक सब्जेक्ट की काफी अच्छी इंफॉर्मेशन प्राप्त हो जाती है। इस प्रकार आप एमएससी कोर्स पूरा करने के बाद बड़े-बड़े कंपनी और इंस्टिट्यूट में ऊंची पोस्ट पर नौकरी पाने का प्रयास कर सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद आपको कहीं पर अगर नौकरी मिलती है, तो स्टार्टिंग में ही आपको महीने में काफी अच्छी सैलरी प्राप्त होती है। आप चाहे तो कोर्स को पूरा करने के बाद रिसर्च कंपनी में भी काम कर सकते हैं।

एमएससी (M.Sc) के बाद कैरियर के कौन कौन से विकल्प है?

एमएससी डिग्री हासिल करने के बाद आप नीचे दिए गए कैरियर ऑप्शन में से किसी भी फील्ड में अपना कैरियर बनाने का प्रयास कर सकते हैं।

  • फील्ड ऑफिसर
  • लैब टेक्नीशियन
  • साइंटिस्ट
  • रिसर्च असिस्टेंट
  • लेक्चरर
  • वाइल्डलाइफ एंड फिशिंग डिपार्टमेंट
  • एग्रीकल्चर रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन
  • बायो मेडिकल केमिस्ट
  • लेबोरेटरी टेक्नीशियन
  • मरीन जियोलॉजिस्ट
  • रिसर्च एंड अकाउंटेंट
  • जूनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर
  • क्वानटेटिव डेवलपर
  • असिस्टेंट प्रोफेसर
  • मैनेजर
  • क्लीनिकल रिसर्च स्पेशलिस्ट
  • प्रोफेसर

एमएससी (M.Sc) के बाद कितनी सैलरी मिलती है?

एमएससी डिग्री हासिल करने के बाद जब आप किसी पद पर नौकरी प्राप्त करते हैं, तब उसी के हिसाब से सैलरी डिसाइड की जा सकती है, क्योंकि अलग-अलग फील्ड में अलग-अलग पद मिलते हैं और सभी पदों की सैलरी अलग-अलग होती है परंतु फिर भी अगर अंदाज लगाया जाए, तो स्टार्टिंग में आपको किसी भी पोस्ट पर नौकरी प्राप्त होने पर महीने में ₹25,000 से लेकर के ₹30,000 तक प्राप्त हो सकते हैं। वहीं अगर आपकी नौकरी मल्टीनेशनल कंपनी में लगती है तो स्टार्टिंग में महीने में ही सैलरी ₹40000 से लेकर के ₹50000 के आसपास तक हो सकती है। बड़े पद प्राप्त होने पर आपकी सैलरी अधिक होगी।

आर्किटेक्ट (Architect) क्या होता है ?

Leave a Comment