एनएसएस क्या होता है

वर्तमान समय में हमारे देश में तकरीबन 65 प्रतिशत आबादी युवा है, जो साफ दर्शाता है की यदि सही समय पर युवाओं को उचित गाइडेंस मिलेगी तो वह अपना विकास तो करेंगे ही साथ ही साथ देश के विकास में भी अहम किरदार निभा पाएंगे।

देश की आजादी से पूर्व राष्ट्रपिता महात्मा गांधी द्वारा युवा वर्ग को, देश सेवा के साथ जोड़ने पर विशेष तौर पर ध्यान दिया था। और हमारे देश के आजाद होने के पश्चात कुछ अन्य लोगों ने मिलकर के एक ऐसे ही संगठन की स्थापना की जिसमें युवा वर्ग को मौका दिया जा रहा है। उस संगठन का नाम एनएसएस (NSS) है। इस लेख में हम आपको एनएसएस क्या होता है | NSS का फुल फॉर्म – NSS Certificate के लाभ व उपयोग की पूर्ण जानकारी दे रहे हैं।

शंघाई सहयोग संगठन क्या है

एनएसएस (NSS) क्या है ?

नेशनल सर्विस स्कीम मुख्य तौर पर विद्यार्थियों में सामाजिक कार्यों के जरिए देश के निर्माण के प्रति भागीदारी की भावना को विकसित करने के लिए शुरू की गई थी। बता दें वर्ष 1969 में नेशनल सर्विस स्कीम अर्थात राष्ट्रीय सेवा योजना पहली बार अस्तित्व में आई थी।

NSS नामक यह कल्याणकारी योजना 11वीं एवम 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को राष्ट्रीय स्तर पर, वहीं तकनीकी संस्थाओं के युवा विद्यार्थी,कॉलेज एवम ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रैजुएट छात्रों को यह विभिन्न सामाजिक क्रियाओं और कार्यक्रमों में भाग लेने का मौका उपलब्ध करवाता है।

देश के किसी भी राज्य में आग, सूखा, बाढ़ इत्यादि समस्याओं के समाधान के लिए NSS के स्वयंसेवी लोगों की मदद के लिए तैयार रहते है। इसलिए इस संगठन में जुड़ना देशप्रेम का सूचक भी माना जाता है।

एनएसएस का फुल फॉर्म | NSS full form in Hindi

NSS का संक्षिप्त नाम “National Service Scheme” होता है। जिसे हिंदी भाषा में “राष्ट्रीय सेवा योजना” कहा जाता है। एनएसएस एक स्वयंसेवी संस्था है जिसकी देखरेख भारतीय सरकार के अंतर्गत युवा मामले और खेल मंत्रालय द्वारा की जाती है और यह इसके द्वारा ही प्रायोजित एक कार्यक्रम होता है।

NSS कैसे ज्वाइन करें ? How to Join NSS in Hindi

अगर आप अभी स्कूल में अपनी पढ़ाई कर रहे हैं तो आप स्कूल स्तर से ही नेशनल सर्विस स्कीम में शामिल हो सकते हैं, वहीं अगर आप कॉलेज में पढ़ाई कर रहे हैं तो आप कॉलेज लेवल पर राष्ट्रीय सर्विस योजना में शामिल हो सकते हैं।

नेशनल सर्विस स्कीम को ज्वाइन करने के लिए आपको सबसे पहले अपने कॉलेज में मौजूद नेशनल सर्विस स्कीम के हेड से मुलाकात करनी है और उनके साथ इसमें भर्ती होने के लिए बातचीत करनी है।

बातचीत होने के बाद आपको NSS के बारे में सारी जानकारी उनसे प्राप्त करनी है। इसके पश्चात आपको उनसे एनएसएस में भर्ती होने वाले एप्लीकेशन फॉर्म को प्राप्त करना है।

अब आपको एप्लीकेशन के अंदर मांगी जा रही सभी जानकारियों को बिल्कुल सही सही दर्ज करना है। एप्लीकेशन फॉर्म भरने के बाद आपको नेशनल सर्विस स्कीम के हेड को एप्लीकेशन फॉर्म को जमा कर देना है।

इसके पश्चात आप NSS के वालंटियर बन जाते हैं। एनएसएस का वालंटियर बन जाने के पश्चात आपको 2 सालों के अंदर तकरीबन 240 घंटे समाज की सेवा करने की जिम्मेदारी दी जाती है जिसे आपको पूर्ण समर्पित होकर निभाना पड़ता है।

जब आपकी सेवा पूर्ण हो जाती है, ततपश्चात आपको राष्टीय सेवा योजना का प्रमाण पत्र दिया जाता है जो आपके लिए निकट भविष्य में उच्च शिक्षा हासिल करने के उचित अवसर प्रदान करता है।

एनएसएस का इतिहास | History of NSS in Hindi

वर्ष 1969 में 24 सितंबर के दिन नेशनल सर्विस स्कीम को तत्कालीन समय में मौजूद देश की तकरीबन 37 यूनिवर्सिटी में इंडियन गवर्नमेंट के तत्कालीन सेंट्रल एजुकेशन मिनिस्टर वी के आर वी राव जी के द्वारा स्थापित किया गया था।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि उस समय भारत के योजना आयोग के द्वारा चौथी पंचवर्षीय स्कीम के दरमियान राष्ट्रीय सेवा योजना को सभी कॉलेज और यूनिवर्सिटी में लागू करने के लिए बजट जारी किया गया था जो कि टोटल 5 करोड रुपए का था।

एनआईए क्या है ? NIA Officer कैसे बने

एनएसएस की विशेषताएं

नेशनल सर्विस स्कीम की विशेषताएं निम्नानुसार है।

  • भारत के साथ-साथ दुनिया की सामाजिक और आर्थिक समस्याओं से छात्रों को अवगत कराने का काम एनएसएस के द्वारा किया जाता है।
  • राष्ट्रीय सेवा योजना के द्वारा हर साल देश के अलग-अलग क्षेत्रों में नेशनल सेमिनार कार्यक्रम का भी आयोजन करवाया जाता है।
  • इनके द्वारा मौलिक अधिकारो का भी अध्ययन करवाया जाता है।
  • भारत के ग्रामीण इलाके में रहने वाले युवा लड़के और लड़कियों को नेशनल सर्विस स्कीम के द्वारा कार्य सशक्तिकरण की शिक्षा प्रदान की जाती है।
  • नेशनल सर्विस स्कीम के द्वारा पर्यावरण संवर्धन तथा परिवार कल्याण से संबंधित जागरूकता अभियान का भी आयोजन समय-समय पर किया जाता रहता है।

एनएसएस का LOGO

एनएसएस के लोगों में जिस सिंबल का इस्तेमाल किया गया है वह देश के उड़ीसा राज्य के पुरी शहर में मौजूद कोर्णाक सूर्य मंदिर है। जिसे अंग्रेजी में द ब्लैक पगोड़ा कहा जाता है इस logo को रथ के पहिए से लिया गया है।

इस रथ के पहिए में कुल 8 रेखाएं मौजूद है जो इस बात को दर्शाता है कि दिन के आठ पहर होते हैं। वही हमारी जिंदगी के स्थान और समय की स्तिथि को भी पहिए के द्वारा दर्शाया जाता है।

NSS की प्रमुख गतिविधियां | NSS Me Kya Hota Hai

राष्ट्रीय सेवा योजना में जो स्वयंसेवक शामिल होते हैं तथा  जिन्होंने राष्ट्रीय सेवा योजना की सेवा 2 साल तक की है तथा 240 घंटे तक काम किया है। उन्हें यूनिवर्सिटी के चांसलर के द्वारा राष्ट्रीय सेवा योजना का सर्टिफिकेट प्रदान किया जाता है जिस पर यूनिवर्सिटी के चांसलर के सिग्नेचर भी होते हैं।

इसके अलावा राष्ट्रीय सेवा योजना के द्वारा जनता के हित के लिए जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन वार्षिक स्पेशल शिविर के तहत करवाया जाता है। इसके अलावा एनएसएस के द्वारा और कौन से काम किए जाते हैं, उसकी जानकारी निम्नानुसार है।

  • लोगों के मन में सफाई को लेकर के जागरूकता फैले, इसके लिए राष्ट्रीय सेवा योजना समय-समय पर शिविर का आयोजन करवाती रहती है और अपने शिविर में सफाई पर जोर देने के लिए आग्रह करती है।
  • एनएसएस पर्यावरण के हित के लिए काम करती है। इनके द्वारा निश्चित जगह पर पौधे लगाए जाते हैं साथ ही एनएसएस के द्वारा वनीकरण का भी बढ़ावा दिया जाता है।
  • इनके द्वारा सामाजिक समस्याओं के लिए भी जागरूकता फैलाई जाती है। इसके अलावा शिक्षा और सफाई जैसे अहम मुद्दों पर लोगों के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए जुलूस निकाले जाते हैं या फिर स्टेज कार्यक्रम का आयोजन करवाया जाता है।
  • राष्ट्रीय सेवा योजना विभिन्न मुद्दों को लेकर के जागरूकता रैली का आयोजन करती है। इसके अलावा बीमार लोगों के कल्याण के लिए स्वास्थ्य शिविर का आयोजन अनुभवी डॉक्टर की सहायता लेकर के करती है।
  • राष्ट्रीय सेवा योजना सामुदायिक सर्वेक्षण प्रोग्राम भी चलाती है। इसके अलावा यह 26 जनवरी के परेड की शिविर का आयोजन भी करवाते हैं।
  • इसके अलावा नेशनल युवा महोत्सव का भी आयोजन एनएसएस के द्वारा करवाया जाता है।

एनएसएस के द्वारा दिए जाने वाले पुरस्कार | NSS Award Name List

नेशनल सर्विस स्कीम के द्वारा अपने साथ काम करने वाले स्वयंसेवकों को विभिन्न प्रकार के पुरस्कार भी दिए जाते हैं। यह पुरस्कार यूनिवर्सिटी तथा एनएसएस इकाई के द्वारा प्रदान किए जाते हैं। पुरस्कार की सूची निम्नानुसार है।

  • नेशनल सर्विस स्कीम नेशनल अवार्ड |
  • स्टेट लेवल अवॉर्ड |
  • यूनिवर्सिटी लेवल अवार्ड |
  • डिस्ट्रिक्ट लेवल अवार्ड |
  • कॉलेज लेवल अवार्ड |

एनएसएस (NSS) स्काउट गाइड क्या है ?

भारत में चुनावों के दरमियान अलग-अलग बूथ पर सेवा देने के लिए कुछ लोगों को रखा जाता है। यह लोग नेशनल सर्विस स्कीम स्काउट गाइड कहे जाते हैं अर्थात संक्षेप में इन्हें एनएसएस स्काउट गाइड कहते हैं, जिन्हें बूथ पर तैनात करने का काम इलेक्शन कमिशन (चुनाव आयोग) के द्वारा किया जाता है।

इलेक्शन कमिशन के द्वारा 18 साल से कम उम्र के युवकों को इलेक्शन के दरमियांन बूथ पर खड़ा किया जाता है। यही नहीं बूथ पर खड़े हुए स्वयंसेवकों के खाने पीने की सारी व्यवस्था और उनके रहने की सारी व्यवस्था वह जिस बूथ पर खड़े होते हैं वहां के लोकल गवर्नमेंट डिपार्टमेंट के द्वारा की जाती है।

एनएसएस प्रमाणपत्र के फायदे | Benefits of NSS Certificate in Hindi

नेशनल सर्विस स्कीम में बतौर स्वयंसेवक जुड़ने के पश्चात एक सर्टिफिकेट भी दिया जाता है जिसे एनएसएस प्रमाण पत्र अथवा एनएसएस सर्टिफिकेट कहते हैं, नीचे एनएसएस सर्टिफिकेट के फायदों का वर्णन किया गया है।

किसी क्षेत्र में सार्वजनिक या सांस्कृतिक समारोह/सेमिनार आयोजित होने पर व्यक्ति को आमंत्रित किया जाता है। और यही नहीं 15 अगस्त अथवा 26 जनवरी के मौके पर भी व्यक्ति को बुलाया जाता है।

किसी एडवेंचर प्रोग्राम में शामिल होने का मौका भी व्यक्ति को हासिल होता है।

  • अगर व्यक्ति के पास सर्टिफिकेट है तो उसे राज्य स्तर पर अथवा डिस्ट्रिक्ट लेवल पर आयोजित होने वाले प्रोग्राम में शामिल होने का मौका भी प्राप्त होता है।
  • सर्टिफिकेट होने पर व्यक्ति की लीडरशिप क्वालिटी भी बहुत ही बढ़िया हो जाती है।
  • प्रमाण पत्र होने की वजह से व्यक्ति की पर्सनालिटी में चार चांद लग जाते हैं अर्थात व्यक्ति की पर्सनैलिटी डिवेलप होती है।
  • व्यक्ति को इंसेंटिव भी प्राप्त होता है।
  • किसी कॉलेज, संस्थान में यदि व्यक्ति एडमिशन लेता है तो उसे प्राथमिकता दी जाती है।
  • आदमी को नए लोगों से मिलने का मौका मिलता है साथ ही उनके साथ वार्तालाप करने का समय प्राप्त होता है।
  • व्यक्ति के आत्मविश्वास में भी काफी तेजी के साथ बढ़ोतरी होती है।

FAQ:

एनएसएस का सिद्धांत क्या है ?

NOT ME BUT YOU

एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है ?

राष्ट्रीय सेवा योजना

राष्ट्रीय सेवा योजना का उद्देश्य क्या है ?

समाज सेवा हेतु लोगों को जागरूक करना

एनएसएस की आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

NSS.NIC.IN

आरएसएस (RSS) संघठन क्या है

Leave a Comment