Planets Name in Hindi and English



Graho Ke Naam Hindi Mein: विद्यार्थीयों को स्कूल में कई बार सभी ग्रहों के नाम पूछ लिए जाते हैं। लेकिन कम जानकारी होने के कारण वह इन सभी 9 ग्रहों के नाम नहीं बता पाते जिसके फलस्वरूप अध्यापक के सामने हमे हमारा चरित्र कमज़ोर पड़ता दिखाई देता है।

इसके अलावा कुछ प्रतियोगी परीक्षाओं और सामान्य ज्ञान के प्रश्नों में भी 9 ग्रहों के नाम पूछे जाते हैं। अगर आपको हमारे सौर मंडल के सभी 9 ग्रहों के नाम नहीं मालूम है तो आपको चिंता करने की कोई बात नहीं क्योंकि इस लेख के अंत तक आप सौर मंडल (Solar System) के 9 ग्रहों के नाम और उनके बारे में कुछ रोचक जानकारियां ले चुके होंगे। आपको बस यह लेख शुरू से लेकर अंत तक पढ़ने की आवयश्कता है।

सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) का क्या मतलब होता है

सौर मंडल (Solar System) क्या है ?

Saurmandal Kise Kahate Hain : सूर्य और खगोलीय पिंड से मिलकर बने समूह को सौर मंडल कहा जाता है। यह सभी ग्रह (Planet) गुरुत्वाकर्षण के द्वारा एक दूसरे के साथ जुड़े होते हैं। खगोलीय वस्तुएं जो ब्रह्माण्ड में किसी तारे के आस पास परिक्रमा करती हैं उन्हें ग्रह मंडल कहते हैं जोकि दूसरे तारे ना हों जैसे कि  धूमकेतु, खगोलीय धूल, और प्राकृतिक उपग्रह आदि।

अब यहाँ पर यह सवाल भी उठता है कि खगोलीय पिंड या खगोलीय वास्तु किसे कहते हैं जिनसे मिलकर ग्रह मंडल बनता है। असल में सौर मंडल (Solar System) में जो चीज़ें प्राकृतिक रूप से पाई जाती हैं उन्हें खगोलीय पिंड कहा जाता है। यानिकि इनका निर्माण कुदरती रूप से होता है। उपग्रह तारे, ब्लैक होल, और बोन ग्रह आदि इसका एक उदाहरण हैं।

ग्रह (Planet) क्या है ?

Planet Kise Kahate Hain: किसी तारे कि चारों तरफ जो खगोलीय पिंड चक्कर लगाते हैं उन्हें ग्रह (Planet) कहते हैं। गुरुत्वाकर्षण बल की वजह से यह सभी ग्रह एक निश्चित दूरी से चक्कर लगाते हैं। इन सभी ग्रहों का आकार एक दूसरे से अलग होता है। दूसरे खगोलीय पिंडों का इनके आसपास कोई भी झुंड नहीं होता।

आपके दिमाग में अब यह सवाल भी जरूर आएगा कि आखिर तारों और ग्रहों में क्या अंतर होता है। आसान भाषा में आपको बताएं तो रात के समय में पूरब कि दिशा में चमकने वाले अधिकतर पिंड को तारे कहते हैं जो पश्चिम की तरफ अस्त हो जाते हैं। परन्तु इनके पीछे कुछ और भी पिंड होते हैं जिन्हे हम ग्रह (Planet) कहते हैं। ग्रह को अंग्रेज़ी में Planet भी कहा जाता है।

Planets Name In Hindi And English

9 ग्रहों के नाम हिंदी और इंग्लिश में: आपने सौर मंडल के बारे में तो जानकारी प्राप्त करली है, अब हम सौर मंडल (Solar System) में मौजूद सभी ग्रहों के बारे में जानते हैं –

क्रमिक संख्याहिंदी में नामअंग्रेज़ी में नाम
1बुधMercury
2शुक्रVenus
3पृथ्वीEarth
4मंगलMars
5बृहस्पतिJupiter
6शनिSaturn
7अरुणUranus
8वरुणNeptune
9प्लूटो (अब सौर मंडल का हिस्सा नहीं है)Pluto

ग्रहों के बारे में जानकारी

1. बुध (Mercury)

Mercury Planet in Hindi: सूर्य के सबसे करीब और 8 ग्रहों में सबसे छोटा ग्रह बुध (Mercury) है। यह एक चट्टानी पिंड है जो सौर मंडल (Solar System) के चार स्थलीय ग्रहों में गिना जाता है। पृथ्वी से देखने पर यह ग्रह एक चमकते तारे कि तरह दिखता है और इस ग्रह (Planet) पर मौसम में बदलाव नहीं होता। यानिकि बुध ग्रह पर एक जैसा मौसम ही रहता है।

सुबह और शाम के समय तो पृथ्वी से यह ग्रह देख सकते हैं लेकिन मध्यरात्रि में बुध ग्रह नज़र नहीं आता। बुध ग्रह पर तापमान में बदलाव अक्सर देखने को मिलता है। रात के समय में बुध ग्रह का तापमान लगभग −173 °C; −280 °F होता है जबकि दिन के समय में इसका तापमान 427 °C, 800 °F के करीब पहुँच जाता है।

70% धातु व 30% सिलिकेट पदार्थ से मिलकर बने हुए इस ग्रह कि सतह पर ज़्यादातर कंक्रीट और पत्त्थर मौजूद हैं। इसके साथ ही इस ग्रह पर क्लोरीन, सल्फर भी मौजूद हैं। इसकी सतह चन्द्रमा के जैसी है। इसकी दुरी सूर्य से लगभग 46,000,000 से लेकर 70,000,000 किमी मानी जाती है। सूर्य का एक चक्कर पूरा करने में बुध ग्रह तकरीबन 88 दिन लगता है।

2. शुक्र (Venus)

Venus Planet in Hindi: सूर्य से दूसरा सबसे नज़दीक ग्रह शुक्र है। यह ग्रह (Planet) रात के समय में चन्द्रमा के बाद सबसे अधिक चमकने वाली वस्तु है। यह सौर मंडल का सबसे गरम ग्रह माना जाता है क्योंकि इस ग्रह पर तापमान सामान्य तौर पर लगभग 462°C रहता है। पृथ्वी का सबसे निकटम ग्रह शुक्र ही है।

सूर्य से इस ग्रह (Planet) की दूरी लगभग 6.72 करोड़ मील है जबकि धरती से यह ग्रह करीब करीब 2.6 करोड़ मील की दुरी पर स्थित है। आकर, गुर्त्वाकर्षण, और बनावट की वजह से इस ग्रह को धरती की बहन भी कहा जाता है। सूर्य की परिक्रमा करने में यह ग्रह लगभग 25 दिन लगाता है।

3. पृथ्वी (Earth)

Earth Planet in Hindi: सूर्य से दूरी के स्थान पर स्थित तीसरा ग्रह (Planet) पृथ्वी है जिसे नीला ग्रह भी कहा जाता है। चन्द्रमा पृथ्वी का उपग्रह है। सूर्य से लगभग 15 करोड़ किलोमीटर दूर पृथ्वी एक चट्टानी ग्रह है। सौर मंडल (Solar System) में स्थित यह एकमात्र एक ऐसा ग्रह है जहाँ पर जीवन मौजूद है जिसकी उतपत्ति लगभग 4.54 अरब साल पुरानी मानी जाती है।

इस ग्रह पर बहुत सारी गैसें मौजूद हैं जिनमें से सबसे अधिक मात्रा आक्सीजन और नाइट्रोजन की है। पृथ्वी की सतह बहुत कठोर है जोकि मिट्टी और पत्थरों से मिलकर बनी हुई है। सूर्य का प्रकाश धरती पर पहुंचने में 8.3 मिनट का समय लगता है और धरती को सूर्य का एक चक्कर लगाने में 365 का समय लगता है।

4. मंगल (Mars)

Mars Planet in Hindi: सौर मंडल (Solar System) में दूरी में मंगल ग्रह का चौथा स्थान आता है। सौर मंडल के सबसे छोटे ग्रह (Planet) को लाल ग्रह के नाम से भी जाना जाता है। सौर मंडल का सबसे ऊँचा ग्रह मंगल ग्रह ही है जिसका नाम ओलम्पस मोन्स है। इस ग्रह के भी दो उपग्रह हैं जिनका नाम फो़बोस और डिमोज़ है।

हमेशा से ही मंगल ग्रह पर जीवन होने की संभावना को आँका गया है। हाल ही में विज्ञानियों द्वारा मंगल ग्रह पर जीवन होने की संभावना का अनुमान लगाया गया था लेकिन मंगल ग्रह पर पहुँचने पर पता लगा कि यह एक प्रकाशीय निशान के रूप में एक भ्रम है। मंगल ग्रह के बारे में एक रोचक तथ्य है कि इस ग्रह पर एक दिन 24 घंटे 37 मिनट का होता है जबकि पृथ्वी पर का एक दिन 24 घंटे होते हैं।

चन्द्र ग्रहण (Lunar Eclipse) क्या होता है

5. बृहस्पति (Jupiter)

Jupiter Planet in Hindi: सौर मंडल (Solar System) का सबसे बड़ा और सूर्य का पांचवा ग्रह बृहस्पति है। इस ग्रह (Planet) का नाम रोमन सभ्यता के लोगों द्वारा भगवान माने जाने वाले ‘जुपिटर’ पर रखा गया है। शुक्र और चन्द्रमा के बाद सबसे ज़्यादा चमकने वाली वास्तु बृहस्पति ही है। इस ग्रह पर हीलियम और हाइड्रोज़ोन गैस पाई जाती है।

अन्य ग्रहों के मुकाबले इस ग्रह पर गुरुत्वाकर्षण सबसे ज़्यादा होने के कारण से बृहस्पति ग्रह का वजन पृथ्वी के मुकाबले 318 गुना ज़्यादा है। सूर्य से इस ग्रह की दूरी 77 करोड़ 80 लाख किलोमीटर है और सूर्य का सम्पूर्ण चक्कर लगाने में इस ग्रह को 11.86 साल का समय लगता है।

6. शनि (Saturn)

Saturn Planet in Hindi: बृहस्पति के बाद सबसे बड़ा और सूर्य से दूरी में स्थित छठा ग्रह शनि है। पृथ्वी की सतह से नंगी आँखों से देखा जा सकने वाला यह अंतिम ग्रह है। शनि को एक जैसी ग्रह भी कहा जाता है क्योंकि इस ग्रह (Planet) पर बहुत सारी गैसें मौजूद हैं। यह ग्रह लोहा, सिलिकॉन, ऑक्ससीजन, हाइड्रोज़ोन और मोटी चट्टानों से मिलकर बना है।

शनि के बहुत सारे उपग्रह हैं जिसमें से टाइटन सबसे बड़ा है। सूर्य से यह ग्रह 1.4 अरब किलोमीटर दूरी पर स्थित है। यही एक वजह है जिसके कारण शनि को सूर्य का एक चक्कर लगाने में 10,759 दिन यानिकि लगभग 30 सालों का समय लगता है।

7. अरुण (Uranus)

Uranus Planet in Hindi: अरुण सूर्य से सातवां ग्रह है। व्यास के मामले में यह ग्रह सौर मंडल (Solar System) का तीसरा सबसे बड़ा ग्रह (Planet) है। अरुण ग्रह का आकार पृथ्वी से 63 गुना ज़्यादा है। इस ग्रह की खोज विलियम हरशल द्वारा की गई थी और दूरबीन के माध्यम से खोजा जाने वाला यह सबसे पहला ग्रह है।

सौर मंडल (Solar System) का सबसे ठंडा ग्रह अरुण ही है क्योंकि इस ग्रह पर अमोनियाँ और मीथेन गैसों की जमी हुई परत मौजूद है। इसी कारणवश इस ग्रह को बर्फ़ीले गैस दानव भी कहा जाता है। इस ग्रह का सबसे न्यूनतम तापमान 224° Centigrade मापा गया है। अगर इस ग्रह के केंद्र को देखा जा सके तो यहां पर बर्फ और पत्थर को देखा जा सकता है।

8. वरुण (Neptune)

Neptune Planet in Hindi: सौर मंडल (Solar System) का आठवां ग्रह वरुण है। सौर मंडल में आकार के मामले में वरुण चौथा ग्रह है। यह एक गैसीय ग्रह है और इसकी सतह मिट्टी और पत्थर की ना होकर गैसों से बनी है जिसमें से मीथेन और अमोनिया गैस मुख्य हैं। अरुण और वरुण काफी हद तक एक जैसे ही ग्रह हैं।

वरुण ही सौर मंडल का पहला ग्रह (Planet) है जिसकी भविष्यवाणी इस ग्रह को बिना देखे ही गणित के आधार पर की गई थी। ऐसा इसलिए हुआ था क्योंकि जब अरुण ग्रह की परिक्रमा पर अजीब हलचल देखी गई तो वैज्ञानिकों ने अनुमान लगाया कि इसका सबसे नज़दीकी ग्रह अपने गुर्त्वाकर्षाण से इस ग्रह पर प्रभाव डाल रहा है। इस ग्रह (Planet) को सूर्य का सम्पूर्ण चक्कर लगाने में 164.79 का समय लगता है।

9. प्लूटो (Pluto) (अब सौर मंडल का हिस्सा नहीं है)

Pluto Planet in Hindi: सौर मंडल (Solar System) का दूसरा सबसे बड़ा बौना ग्रह प्लूटो है जिसका नया नाम यम है। पहले यह ग्रह सौर मंडल के 9 ग्रहों की सूचि में शामिल था लेकिन 24 अगस्त 2006 को इस ग्रह को सौर मंडल के ग्रहों की सूची से हटा दिया गया। वर्तमान में सौर मंडल के कुल 8 ग्रह हैं।

यह ग्रह (Planet) सौर मंडल (Solar System) में बड़ी ही बेढंगे रूप से परिक्रमा करता है जिसके कारणवश कभी तो यह ग्रह बहुत पास आ जाता है और कभी यह ग्रह बहुत दूर चला जाता है। यदि इस ग्रह की तुलना पृथ्वी से की जाए तो यह ग्रह पृथ्वी के 18% भाग के बराबर है। सूर्य का चक्कर लगाने में यह ग्रह 248 सालों का समय लगाता है।

ग्रहों की दूरी कैसे नापी जाती है?

इन ग्रहों की दुरी देखने के बाद हमारे मन में यह सवाल उठता है कि इन ग्रहों की दुरी कैसे नापते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ग्रहों की दुरी नापने के लिए खगोल वैज्ञानिकों द्वारा रेडियो तरंगों का इस्तेमाल किया जाता है। दरअसल सितारों से इन ग्रहों के बीच रेडियो तरंगें भेजी जाती हैं जिनके जाने के समय को दूरी माना जाता है। ग्रहों कि दूरी नापने की इस प्रक्रिया को कॉस्मिक डिस्टेंड लैडर भी कहा जाता है।

अपनी जन्म कुंडली कैसे देखे

Leave a Comment