गणतंत्र दिवस के सुविचार

हमारे देश में प्रतिवर्ष 26 जनवरी को राष्ट्रीय पर्व के रूप में बहुत ही हर्षोल्लास का साथ मनाया जाता है | इस दिन को राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाये जानें का मुख्य कारण यह है, कि आज ही के दिन अर्थात 26 जनवरी 1950 को प्रातः 10.18 मिनट पर भारत पूर्ण गणराज्य देश बना था और 10.24 मिनट पर डॉक्‍टर राजेंद्र प्रसाद ने भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी | 26 जनवरी 1950 को पहली बार डॉ० राजेंद्र प्रसाद नें भारतीय सैन्य बल की सलामी ली थी और उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया था |

गणतंत्र दिवस के इस पर्व को पूरे देश में धर्म और जाति से ऊपर उठकर मनाया जाता है। गणतंत्र दिवस के इस पावन पर्व पर जब सारा देश राष्ट्रभक्ति में डूबा रहता है, वही देश के नागरिक एक दूसरे को देशभक्ति भरे संदेशों का आदान प्रदान करते हैं। हम भी आपके साथ कुछ ऐसे ही संदेशों को शेयर कर रहे हैं जिन्हें आप अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ साझा कर सकते हैं। इसके साथ ही सभी भारत वासियों को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं भेज सकते है |

स्वतंत्रता सेनानी किसे कहते है

गणतंत्र दिवस के सुविचार (Republic Day Quotes in Hindi)

1.ना जियो धर्म के नाम पर
ना मरो धर्म के नाम पर
इंसानियत ही है धर्म वतन का
बस जियो वतन के नाम पर
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं|

2.तैरना है तो समंदर में तैरो, 
नदी नालों में क्या रखा है,
प्यार करना है तो वतन से करो,
इन बेवफ़ा लोगों में क्या रखा है।
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं|

3.खुशनसीब है वो जो वतन पर मिट जाते है,
मर कर भी वो लोग अमर हो जाते हैं,
करता हूँ उन्हें सलाम ए वतन पर मिटने वालों
तुम्हारी हर साँस में बसता तिरंगे का नसीब है 
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं|

भारतीय संविधान की प्रस्तावना क्या है

4.ना जियो घर्म के नाम पर,
ना मरों घर्म के नाम पर,
इंसानियत ही है धर्म वतन का,
बस जियों वतन के नाम पर
|| भारत माता की जय ||

5.कुछ नशा तिरंगे की आन है,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,
हम लहराएँगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है. 
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं|

6.यही खुवाहिश खुदा हर जन्म हिन्दुस्तान वतन देना,
अगर देना तो दिल में देशभक्ति का चलन देना,
न दे दोलत न दे शोहरत, कोई शिकवा नही हमको,
झुका दूँ सर मै दुश्मन का यही हिम्मत का घन देना,
अगर देना तो दिल में देशभक्ति का चलन देना 
गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!

गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है

7.नहीं सिर्फ जशन मनाना,
नहीं सिर्फ जंडे लहराना,
ये काफी नहीं है वतन पर.
यादों को नहीं भुलाना,
जो कुर्बान हुए उनके लफ़्ज़ों को आगे बढ़ाना,
खुदा के लिए नहीं,
ज़िन्दगी वतन के लिए लुटाना
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं|

8.फिर से खुद को जगाते हैं,
अनुशासन का डंडा फिर घुमाते हैं,
याद करें उन शूरवीरों को क़ुरबानी,
जिनके कारण हम गणतंत्र दिवस का आनंद उठाते हैं। 
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ।

9.चलो फिर से आज वो नजारा याद कर लें।
शहीदों के दिल में थी जो ज्वाला याद कर लें।।
जिसमे बहकर आज़ादी पहुची थी किनारे पे।
देशभक्तों के खून की वो धारा याद करलें ।।

आर्थिक मंदी (ECONOMIC RECESSION) क्या है

10.इतनी सी बात हवाओं को बताये रखना,
रौशनी होगी, चिरागों को जलाये रखना।
लहू देकर जिसकी हिफ़ाज़द की हमने,
उस तिरंगे को आँखों में बसाये रखना।

11.चलो फिर से आज वो नजारा याद करले,
शहीदों के दिलो में थी जो वो ज्वाला याद करले,
जिसमे बहकर आजादी पहुची थी किनारे पे,
देशभक्ति के खून की वो धारा याद करले ||

12.वतन हमारा ऐसे न छोर पाए कोई,
रिश्ता हमारा ऐसा ना तोड़ पाए कोई,
दिल है हमारे एक है, एक है हमारी जान,
हिन्दुस्तान हमारा है हम है इसकी शान ||

केंद्र शासित प्रदेश का मतलब क्या होता है?

13.भारत के गणतंत्र का सारे जग में है मान,
दशकों से खिल रही भारत की अदभुत शान,
सब धर्मो को देकर मान रच गया इतिहास,
इसलिए हर देशवासियों को इसमें है विशवास ||

14.हर किसी के दिल पे एक दास्तां लिख जाऊंगा,
जाते जाते में जमी को आसमां लिख जाऊंगा,
अगर किसी ने देखा आँख भर के मेरे हिंद को,
सरहदों पर खून से हिन्दुस्तान लिख जाऊंगा
गणतंत्र दिवस की ढेर सारी बधाई !!

15.ना जुबान से, ना निगाहों से, ना दिमाग से,
ना रंगों से, ना ग्रीटिंग से, ना गिफ्ट से,
आपको 26 जनवरी मुबारक डायरेक्ट दिल से|

सूचना का अधिकार अधिनियम (RTI)

16.तिरंगा हमारा है शान-ए-जिंदगी,
    वतन परस्ती है वफ़ा-ए-जिंदगी,
    देश के लिए मर मिटना कबूल है हमें,
    अखण्ड भारत के स्वप्न का जूनून है हमें।

17.मै भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूँ,
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नही है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।

18.आजादी का जोश कभी कम न होने देंगे,
जब भी जरुरत पड़ेगी देश के लिए जान लूटा देंगे,
क्योंकि भारत हमारा देश है,
अब दोबारा इस पर कोई आंच न आने देंगे।

मुख्यमंत्री (CM) को पत्र कैसे लिखे?

19.दाग गुलामी का धोया है जान लुटा कर,
दीप जलाये है कितने दीप भुझा कर,
मिली है जब यह आज़ादी तो फिर इस आज़ादी को,
रखना होगा हर दुश्मन से आज बचाकर।

20.आज शहीदों ने है तुमको, अहले वतन ललकारा,
तोड़ो गुलामी की जंजीरें, बरसाओ अंगारा,
हिन्दू-मुस्लिम-सिख हमारा, भाई-भाई प्यारा,
यह है आजादी का झंडा, इसे सलाम हमारा।

 नागरिकता संशोधन बिल (CITIZENSHIP AMENDMENT BILL) क्या है

यहाँ आपको गणतंत्र दिवस के सुविचार के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी गई है | अब आशा है आपको जानकारी पसंद आयी होगी | यदि आप इससे संतुष्ट है, या फिर अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट करके पूंछ सकते है, और अपना सुझाव प्रकट कर सकते है | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

भारत के राष्ट्रपति की क्रमबद्ध सूची

Leave a Comment