स्क्रूटनी (Scrutiny) क्या है

जब किसी बड़ी कक्षा की परीक्षाएं समाप्त होती है, तो परीक्षाएं समाप्त होने के बाद परीक्षा फल की घोषणा की जाती है, जिसके लिए कॉपी चेक की जाती है | वहीं, परीक्षा फल घोषित हो जाने के बाद  कुछ अभ्यर्थियों के अंक बहुत ही अच्छे आते है और कुछ अभ्यर्थी ऐसे होते हैं जिनके अंक कुछ कम आ जाते है और वहीं कुछ अभ्यर्थी ऐसे भी जो बहुत ही कम अंक प्राप्त करने की वजह परीक्षा में असफल हो जाते है | परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थी एक तय की गई तिथि को बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से अपना परीक्षा फल देख सकते है | वहीं, अभ्यर्थी अपने अंकों को कम देखकर विचार करने लगते है कि, परीक्षा में पूछे गए सभी प्रश्नों का उत्तर सही दिया है, लेकिन इसके बावजूद भी  आपको कम अंक या अनुत्तीर्ण कर दिया गया है | इसी तरह स्क्रूटनी का विकल्प होता है, जो अभ्यर्थियों की परीक्षा की कॉपियां चेक करने के समय इस्तेमाल किया जाता है | इसलिए यदि आपको स्क्रूटनी (Scrutiny) के विषय में अधिक जानकारी नहीं प्राप्त है और आप इसके विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको स्क्रूटनी (Scrutiny) क्या है | What is Scrutiny Meaning in Hindi ? इसकी पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है |

प्राइमरी स्कूल के टीचर कैसे बने

स्क्रूटनी (Scrutiny) का क्या मतलब होता है ?

स्क्रूटनी का अर्थ संवीक्षा करना होता है, स्क्रूटनी एक ऐसा विकल्प है,  जिसमें परीक्षा की कापियों में न जांचने वाले प्रश्नों को पूर्ण रूप से जांचा जा सकता है और इसमें कुल अंकों की गणना बहुत ही आसानी से हो जाती है और यदि गणना में किसी भी प्रकार की त्रुटि पायी जाती है, तो उसे तुरंत ही सही किया जाता है | यहाँ पर यह  बताना बहुत जरूरी है कि परीक्षा में चेक किये गए प्रश्नों को पुनः चेक नहीं किया जाता है | इसलिए यदि आपने प्र्शनपत्र में किसी प्रश्न का उत्तर सही दिया है और वह पांच अंको का प्र्शन है और परीक्षक ने केवल दो अंक ही दिए है तो ऐसे प्रश्नों को दोबारा नहीं जांचा जाता है| स्क्रूटनी में केवल न जांचने वाले प्रश्नों को ही जांचा जाता है और अंकों को टोटल करके उसमें सुधार किया जाता है |

लेखपाल (LEKHPAL) कैसे बने

स्क्रूटनी के नियम में हुआ बड़ा बदलाव

यूपी बोर्ड वर्ष 2020 से स्क्रूटनी के लिए एक बड़ा बदलाव किया गया है, बदलाब करते हुए अब रिजल्ट घोषित किये जाने के बाद रिजल्ट के 25 दिन के अंतर्गत ही स्क्रूटनी के लिए आवेदन किये जाने का नियम बना दिया गया है। अभी तक यह प्रक्रिया ऑफलाइन थी, और अभ्यर्थियों को इसके लिए आवेदन का समय केवल एक महीना यानी कि केवल 30 दिनों का दिया जाता था, वहीं अब यह समय 25 दिन का ही कर दिया गया है और इसके साथ ही अब ऑफलाइन स्क्रूटनी के लिए किये गए आवेदन मान्य नहीं होंगे |

स्क्रूटनी फॉर्म (Scrutiny Form)

अभ्यर्थियों के परीक्षा परिणाम घोषित कर देने के कुछ ही दिन  बाद बोर्ड अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर स्क्रूटनी फॉर्म के लिए आवेदन जारी कर देता है और यदि आपके अंक कम है और आप इसके लिए आवेदन करते है तो आपको प्रति पेपर के लिए निर्धारित फीस का भुगतान करना होगा |

बीएड (B.ED) कोर्स क्या है?

स्क्रूटनी रिजल्ट (Scrutiny Result)

जो अभ्यर्थी स्क्रूटनी आवेदन करते हैं , तो  बोर्ड के द्वारा उनकी कापियों का दोबारा परिक्षण किया जाता है, जिसमे यदि किसी प्रकार की त्रुटि पायी जाती है, तो उसमें तुरंत ही सुधार किया जाता है और निर्धारित तिथि को स्क्रूटनी रिजल्ट बोर्ड की वेबसाइट पर फिर से घोषित कर दिया जाता है | स्क्रूटनी रिजल्ट में कई छात्रों के अंक बढ़ जाते है और कई छात्रों के अंक नहीं भी बढ़ते है, क्योंकि उनके अंकों में किसी भी प्रकार की कोई गड़बड़ी नहीं पाई जाती है |

डी एल एड (D.EL.ED) क्या है?

यहाँ पर हमने आपको स्क्रूटनी (Scrutiny) क्या है ? इसके विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि आप इस जानकारी से संतुष्ट है, या फिर इससे समबन्धित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट करे और अपना सुझाव दे सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का जल्द ही निवारण किया जायेगा |अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

BDO KAISE BANE