सिक्किम में कितने जिले हैं

भारत के पूर्वी इलाके में स्थित सिक्किम राज्य की स्थापना सन 1975 में 16 मई के दिन हुई थी और इसे भारत देश में जनमत संग्रह के तहत शामिल किया गया था। भारत में मिल जाने के पश्चात सिक्किम राज्य में राजशाही का अंत हो गया था और यहां पर भारतीय संविधान लागू किया गया था। 

सिक्किम राज्य की राजधानी गंगटोक है। इसके पश्चिम में नेपाल, उत्तर और पूर्व में चीनी तिब्बती इलाका और दक्षिण पूर्व में भूटान इलाका आता है। यहां पर अंग्रेजी, नेपाली, भूटिया, लिंबू और हिंदी भाषाएं बोली जाती है।

हालांकि इस राज्य में अधिकतर प्रशासनिक काम अंग्रेजी भाषा में ही होते हैं। यहां पर बड़े पैमाने पर हिंदू और बौद्ध धर्म को मानने वाले लोग रहते हैं। इस लेख में हम आपको “सिक्किम के कुल जिले कितने हैं” इस बात की जानकारी दे रहे हैं।

मणिपुर में कितने जिले हैं

सिक्किम में कितने जिले हैं | How Many Districts in Sikkim [List] ?

सिक्किम राज्य में कुल 4 जिले मौजूद है। उन जिलों में दक्षिण सिक्किम जिला, पश्चिम सिक्किम जिला, पूर्व सिक्किम जिला और उत्तर सिक्किम जिले का नाम आता है। सिक्किम राज्य में बड़े पैमाने पर प्राकृतिक संपदा भरी हुई है। 

यह तीन साइड से भारत के पड़ोसी देशों से घिरा हुआ है और इसका सिर्फ एक सिरा भारत के पश्चिम बंगाल राज्य को छूता है। सिक्किम के  दक्षिण भाग में मौजूद सभी क्षेत्र पश्चिम बंगाल जिले के बॉर्डर को टच करते है।

सिक्किम का मानचित्र (Map of Sikkim)

सिक्किम का सर्वाधिक साक्षरता वाला जिला

सिक्किम राज्य में सबसे अधिक पढ़ी-लिखी आबादी पूर्व सिक्किम जिले में रहती है, जिसमें महिला और पुरुष दोनों ही शामिल है। पूर्व सिक्किम जिले की कुल आबादी में से तकरीबन 83.85 प्रतिशत की आबादी अच्छी खासी पढ़ी लिखी है। 

इसके अलावा दूसरे स्थान पर दक्षिण सिक्किम जिले का नाम आता है। दक्षिण सिक्किम जिले की कुल आबादी में से 81.42 प्रतिशत आबादी पढ़ी लिखी हुई है।

सिक्किम का सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला

साल 2011 में भारत में जनगणना हुई थी। उस जनगणना के मुताबिक सिक्किम राज्य में सबसे अधिक जनसंख्या पूर्व सिक्किम जिले की ही है। पूर्व सिक्किम जिले की कुल जनसंख्या महिला और पुरुष तथा बच्चों को लेकर के 283583 थी।

सिक्किम का सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला

सिक्किम राज्य में सबसे अधिक लिंगानुपात पश्चिम सिक्किम जिले का है। यहां पर प्रति एक हजार पुरुषों पर 942 महिलाएं मौजूद है।

सिक्किम का सर्वाधिक भूमि क्षेत्रफल वाला जिला 

भूमि क्षेत्रफल के मामले में सबसे पहले स्थान पर उत्तर सिक्किम जिले का नाम आता है। यहां पर भूमि क्षेत्रफल 4226 वर्ग किलोमीटर है।

सिक्किम का सर्वाधिक विकास दर वाला जिला

सिक्किम में सबसे अधिक डेवलपमेंट पूर्व सिक्किम जिले का हुआ है। यहां पर कई औद्योगिक इकाइयां स्थापित हुई है। इस जिले की विकास दर 15.73% है

सिक्किम का सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व वाला जिला

सिक्किम राज्य में सबसे अधिक जनसंख्या घनत्व पूर्व सिक्किम जिले का है। यहां पर 295 प्रति व्यक्ति वर्ग किलोमीटर जनसंख्या घनत्व है।

अरुणाचल प्रदेश में कितने जिले हैं

सिक्किम में घूमने लायक जगह | Tourist Places in Sikkim 

सिक्किम राज्य भारत के पूर्व में स्थित है, जहां बड़े पैमाने पर प्राकृतिक जंगल है। इस प्रकार से यह एक खूबसूरत राज्य है। इस खूबसूरत राज्य में घूमने की भी कई जगह मौजूद हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख जगह की जानकारी नीचे बताए अनुसार है।

मंगन

यह पूर्वी हिमालय की गोद में बसा हुआ एक बहुत ही शानदार स्थल है जिसे इंडिया के टॉप टूरिस्ट प्लेस में गिना जाता है। ऐसे सैलानी जो किसी प्राकृतिक, आकर्षक और शांत जगह को घूमने की इच्छा रखते हैं उन्हें सिक्किम राज्य के इस इलाके में अवश्य ही जाना चाहिए।

यहां पर कई प्रकार के पर्यटन स्थल मौजूद हैं। यहां पर आने के बाद आपको कई प्राकृतिक खूबसूरत फूल दिखाई देते हैं। इसके अलावा पहाड़ी जानवर भी आपको देखने के लिए मिलते हैं। इसी इलाके में सिंघिक नाम का गांव भी है जिसकी दूरी मंगन से सिर्फ 12 किलोमीटर की है। यह गांव कंचनजंगा के नजारे के लिए काफी प्रसिद्ध है।

गुरूडोंगमर झील

सिक्किम की सबसे अच्छी झील में इस झील की गिनती की जाती है। यह झील सिक्किम के सबसे बड़े शहर गंगटोक और सिक्किम की राजधानी गंगटोक से तकरीबन 190 किलोमीटर की दूरी पर समुद्र तल से तकरीबन 17800 फीट की ऊंचाई पर मौजूद है। 

झील का पानी इतना साफ है कि सिक्किम जाने वाले लोग अवश्य ही इस झील को घूमने के लिए जाते हैं। यहां पर जाने के बाद आप कई सुंदर फोटो को क्लिक कर सकते हैं और उसे अपनी याद बना सकते हैं।

लाचुंग गांव

गांव तो सभी को अच्छा लगता है परंतु सिक्किम के इस गांव की कुछ अलग ही बात है। यह गांव तिब्बत के इलाके से लगा हुआ है जो उत्तरी सिक्किम में मौजूद है। यह गांव 9600 फुट की ऊंचाई पर लाचेन और लाचुंग नदी के संगम पर मौजूद है। 

ठंडी के मौसम में जब इस गांव पर बर्फबारी होती है तो यहां का वातावरण और नजारा देखने लायक ही होता है, जिसे शब्दों में हम बिल्कुल भी बयान नहीं कर सकते हैं। और अपनी इसी खासियत की वजह से यहां पर सैलानी आना पसंद करते हैं। यहां पर आप हथकरघा केंद्र और लोकल हस्तशिल्प की कला भी देख सकते हैं।

युमथांग घाटी

यह सिक्किम राज्य के उत्तर में मौजूद है। इसे फूलों की घाटी भी कहते हैं। अगर आपको फूल देखना पसंद है तो आपको निश्चित ही इस जगह पर जाना चाहिए। 

भारी बर्फबारी की वजह से दिसंबर से लेकर के मार्च के महीने तक इस घाटी को दर्शकों के लिए बंद करके रखा जाता है। इसके पश्चात आप इसे घूम सकते हैं और यहां पर अलग-अलग वैरायटी के फूलों को देख कर के आनंद उठा सकते हैं।

थांगू घाटी

सिक्किम राज्य में मौजूद सबसे सुंदर घाटियों में इस घाटी का नाम लिया जाता है, जो उत्तर लाचैन से तकरीबन 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह घाटी सैलानियों के बीच आकर्षण का केंद्र हमेशा से ही बना हुआ है। 

अगर आप सिक्किम राज्य घूमने जा रहे हैं तो इस जगह पर अवश्य जाएं क्योंकि यहां पर आपको ट्रैकिंग करने का मौका भी मिलता है। इस घाटी को घूमने का सबसे अच्छा समय मार्च से लेकर के जून के बीच का समय होता है।

चोपता घाटी

यह घाटी थांगू घाटी के बिल्कुल पास में ही मौजूद है। सिक्किम राज्य में स्थित यह घाटी घूमने के लिए एक बहुत ही बढ़िया जगह है, साथ ही यहां पर कैंपिंग और ट्रैकिंग भी की जा सकती है। 

ऐसे घूमने वाले व्यक्ति जो अपने परिवार के साथ सिक्किम घूमने के लिए जाते हैं वह इस जगह पर जाकर के ट्रैकिंग का आनंद उठा सकते हैं।

क्योंकि यह जगह इतनी अधिक खूबसूरत है कि यहां पर आपका मन अवश्य ही लग जाएगा। ठंडी के मौसम में यह घाटी बर्फ की चादर से लिपट जाती है और उस समय यह घाटी किसी स्वर्ग से कम नहीं दिखाई देती है।

FAQ 

भारत में सिक्किम राज्य की स्थापना कब हुई ?

16 मई 1975 

सिक्किम राज्य की राजधानी क्या है ?

गंगतोक 

सिक्किम राज्य का सबसे बड़ा शहर कौन सा है ?

गंगतोक

सिक्किम राज्य में सबसे अधिक विकसित जिला कौन सा है ?

पूर्वी सिक्किम जिला

सिक्किम में कितने जिले हैं 2022 ?

4

साक्षरता के लिहाज से सिक्किम भारत का कौन सा राज्य है?

13वां

त्रिपुरा में कितने जिले हैं

Leave a Comment