सिप (SIP) क्या है

हमारे देश में उच्च वर्ग, मध्यम वर्ग और निम्न वर्ग के लोग रहते है, और लगभग सभी वर्ग के लोग अपनी आय के अनुसार बचत अवश्य करते है ताकि आवश्यकता पड़ने पर उस धन का उपयोग किया जा सके | लोगो द्वारा की जानें वाली यह बचत विभिन्न रूपों शार्ट टर्म या लांग टर्म में की जाती है |  कुछ लोग बैंक में भी बचत करते है, जबकि कुछ शेयर मार्केट में भी इन्वेस्टमेंट करते है | सही जगह इन्वेस्ट किया गया धन समय के साथ बढ़ता जाता है, जबकि पैसा इन्वेस्ट करनें में जरा सी भी असावधानी होनें पर लोगो का पैसा डूब जाता है |  अधिकांश लोगो को यह जानकारी नहीं होती है जहाँ वह अपनी मेहनत की कमाई को सुरक्षित रूप से इन्वेस्ट कर सकें |  वर्तमान में सिप (SIP) एक ऐसा तरीका है, जिसमें आप अपनी मेहनत की कमाई को सुरक्षित रूप से इन्वेस्ट कर सकते है | तो आईये जाते है सिप (SIP) क्या है, फुल फार्म, मतलब और SIP Account में निवेश कैसे करे ? इसके बारे में जानकारी |

SGB SCHEME IN HINDI

सिप का फुल फार्म (SIP Full Form)

SIP का अंग्रेजी में फुल फार्म Systematic Investment Plan होता है, जबकि सिप का हिंदी में फुल फार्म “व्यवस्थित निवेश योजना” कहते है | सिप के अंतर्गत कोई भी निवेशक शेयर मार्केट, म्यूच्यूअल फण्ड या गोल्ड ईटीएफ में निवेश कर सकता है, तथा निवेशक द्वारा निवेश का अन्तराल प्रतिदिन, प्रति सप्ताह या प्रतिमाह निर्धारित कर सकता है |    

SIP Systematic Investment Plan
सिप या एसआईपी    व्यवस्थित निवेश योजना

एफआईआई (FII) क्या है

सिप या एस आईपी क्या है (What Is SIP)

सिप अर्थात सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करने का एक तरीका है, जिसमें आप अपनें धन को एक मुश्त निवेश करनें के बजाय एक निश्चित अंतराल में धीरे-धीरे करते है | दूसरे शब्दों में हम यह कह सकते है कि सिप (SIP) में आपसे एक निश्चित अंतराल में पैसे लिए जाते है और आपसे लिए गये धन को म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट किया जाता है | एसआईपी में आप कम से कम 500 रुपये प्रति माह के साथ निवेश कर सकते हैं, जबकि अधिकतम कोई सीमा निर्धारित नहीं है | 

यदि आप सिप (SIP) में पैसा लांग टर्म के लिए निवेश करते है और रिटर्न कमाते हैं तो इसमें आपको मिलनें वाले रिटर्न पर भी रिटर्न मिलता रहता है, और ऐसा तब तक होता है जब तक कि आप उस राशि को विड्राल नहीं कर लेते है | इसमें सबसे खास बात यह कि निवेशक को अपनी निर्धारित राशि को घटानें और बढ़ानें का विकल्प मिलता है | इसके साथ-साथ एलर्ट सिप के माध्यम से निवेशकों को ऐसी सूचना भी प्राप्त होती रहती है, जिसमें शेयर बाजार की कमजोरी पर अधिक राशि निवेश करने का अवसर उपलब्ध कराया जाता है | यदि निवेशक को अचानक पैसों की आवश्यकता पड़ जाती है, तो वह बीच में कुछ पैसा निकाल सकते है, ऐसा करने से सिप अकाउंट पर कोई फर्क नहीं पड़ता है वह चलती रहती है | 

शेयर मार्केट क्या है

सिप अकाउंट में निवेश कैसे करे (How To Invest In SIP Account)

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) को तीन प्रकार से शुरू किया जा सकता है | पहला और सबसे सरल तरीके के अंतर्गत आप किसी म्‍युचुअल फंड एजेंट के माध्यम से सिप अकाउंट शुरू कर सकते है | दूसरे प्रकार के अंतर्गत आप किसी शेयर ब्रोकर से ऑनलाइन ट्रेडिंग अकाउंट खोल कर ऑनलाइन तरीके से म्‍युचुअल फंड में निवेश कर सकते है | तीसरे प्रकार के अंतर्गत आप सीधे प्‍लान में इन्‍वेस्‍टमेंट कर सकते है, इसमें निवेशक म्‍युचुअल फंड कंपनियों की वेबसाइट पर जाकर डायरेक्ट म्‍युचुअल फंड में इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं | यह तरीका निवेशक के लिए सबसे अधिक लाभकारी होता है, क्योंकि इसमें निवेशकों को किसी भी प्रकार का कमीशन नहीं देना पड़ता है, जिससे उनके रिटर्न में स्वतः वृद्धि हो जाती है |   

एफडीआई (FDI) क्या होता है

सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान से लाभ (Benefit from Systematic Investment Plan) 

  • एसआईपी (SIP) में निवेशक द्वारा निर्धारित धनराशि उनके अकाउंट से प्रति माह डायरेक्ट क्रेडिट हो जाती है |
  • एसआईपी (SIP) में निवेशक को अनेक तिथियों में किसी एक का चयन करनें का विकल्प मिलता है | 
  • निवेशक द्वारा अपनें एसआईपी अमाउंट को कभी भी घटा या बढ़ा सकता है |  
  • एसआईपी में निवेशक को बीच में कुछ पैसा निकालनें की सुविधा | 
  • निवेशक अपनें एसआईपी (SIP) अकाउंट को अपनी इच्छानुसार किसी भी दिन क्लोज कर सकता है, ऐसा करनें पर उन्हें किसी प्रकार की पेनाल्‍टी नहीं देनी पड़ती है |  
  • कोई भी निवेशक अपना एसआईपी अकाउंट न्‍यूनतम 500 या 1000 रुपए से शुरू कर सकता हैं, जबकि इसकी कोई अधिकतम सीमा निर्धारित नहीं है |  
  • निवेशक अपने निवेश की वैल्‍यू की जानकारी प्रतिदिन कर सकता है क्योंकि सभी म्‍युचुअल फंड कंपनियां अपनी सभी स्कीम की नैट आसेट वैल्‍यू प्रतिदिन घोषित करती हैं |

5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का अर्थ

सिप में इन्वेस्टमेंट क्यों करे (Why to invest in SIP)

सिप के अंतर्गत म्युचुअल फंड में पैसा इन्वेस्टमेंट करनें का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसमें आपके पैसों का प्रबंधन एक्सपर्टस द्वारा किया जाता है | एक्सपर्ट नियमित रूप से इंडस्ट्री, कंपनी और इकोनॉमी पर रिसर्च करनें के बाद ही वह आपके पैसों को सही जगह पर निवेश करने का निर्णय लेते हैं, इसके साथ-साथ वह नियमित रूप से मार्केट पर नजर रखते हैं, जिसके कारण जोखिम कम हो जाते हैं | 

सरकारी बैंक और प्राइवेट बैंक की सूची

आपको यहाँ सिप (SIP) में इन्वेस्टमेंट कैसे करे इसके विषय में जानकारी उपलब्ध करायी गई है | अब आशा है आपको जानकारी पसंद आयी होगी | यदि आप इससे संतुष्ट है, या फिर अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट करके पूंछ सकते है, और अपना सुझाव प्रकट कर सकते है | आपकी प्रतिक्रिया का जल्द ही जवाब देने का प्रयास किया जायेगा | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

सूचना का अधिकार अधिनियम (RTI)

Leave a Comment