सौर ऊर्जा (Solar Energy) क्या है

भौगोलिक स्थितियों के अनुसार भारत की गिनती ऐसे देशों में होती है, जहाँ साल के 365 दिनों में से लगभग 300 दिन भर पूर मात्रा में धूप रहती है | जिसके कारण भारत का भविष्य सौर उर्जा के मामले में काफी बेहतर है | हालाँकि वर्तमान समय में पारंपरिक संसाधनों के माध्यम से विद्युत उत्पन्न करना निरन्तर महंगा होता जा रहा है और इसका ठोस विकल्प सिर्फ सौर ऊर्जा ही है |

आज के टेक्निकल युग में मनुष्य ने ऐसी तकनीक विकसित कर ली है, जिससे धरती पर पड़ने वाली सूरज की किरणों को आसानी से विद्युत् उर्जा में परिवर्तित किया जा सकता है | सौर ऊर्जा (Solar Energy) क्या है, फॉर्म, सब्सिडी, कीमत,उपयोग और फायदे के बारें में आज हम यहाँ विस्तार से चर्चा करेंगे|

भूकंप (Earthquake) कैसे आता है

सौर ऊर्जा क्या है (What Is Solar Energy)

सूर्य की रोशनी ही सौर-ऊर्जा का प्रमुख स्रोत है, दूसरे शब्दों में सूर्य की किरणों से प्राप्त होनें वाली ऊष्मा को सौर ऊर्जा कहते हैं | इस उर्जा का उपयोग पेड़-पौधों, जीव जंतुओं एवं जलवायु द्वारा विभिन्न स्तरो पर किया जाता है अर्थात सूर्य की रोशनी से प्राप्त होनें वाली उर्जा को विद्युत में परिवर्तित कर विभिन्न प्रयोगों में लाया जाता है | भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के अधिकतम देश सौर ऊर्जा का इस्तेमाल कर रहे हैं |

वर्तमान समय में दुनियाभर के लोग पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक हो रहे हैं, इसके साथ ही पारंपरिक संसाधनों से प्राप्त होनें वाली बिजली की कीमते लगातार बढ़ने के कारण लोगो का रुझान सौर ऊर्जा की तरफ हो रहा है | सबसे खास बात यह है, कि भारत सरकार लोगो को सौर उर्जा के प्रति लोगो को जागरूक करनें के लिए विभिन्न प्रकार की योजनायें संचालित कर रही है | 

चूँकि सौर ऊर्जा से विद्युत् उत्पन्न करने के लिए सोलर पैनल का इस्तेमाल किया जाता है। जिसके कारण सरकार योजनाओं के माध्यम से लोगो को सोलर पैनल उपलब्ध करवा रही है | यहाँ तक कि इन सोलर पैनल की खरीद पर सरकार द्वारा छूट के साथ-साथ सब्सिडी भी दी जा रही है |

आपातकाल (Emergency) क्या है

सौर उर्जा से विद्युत उत्पन्न करनें की खोज (Search To Generate Electricity From Solar Energy)

साधारण शब्दों में कहें तो हमें सौर उर्जा की प्राप्ति सूर्य की किरणों से होती है | सौर हीटिंग (Solar Heating), तापीय ऊर्जा (Thermal Energy), कृत्रिम प्रकाश संश्लेषण (ArtificialPhotosynthesis) आदि चीजें सौर ऊर्जा से ही चलती हैं। सौर ऊर्जा का प्रयोग अनेक प्रकार से किया जाता है।यह एक रिन्यूएबल एनर्जीअर्थात नवीकरणीय ऊर्जा है | वर्ष 1839 में इसकी खोज अलेक्जेंडर एडमंड बेस्क़ुएरेल द्वारा की गयी थी |

यह एक ऐसे शख्स थे, जिन्होनें फोटोवोल्टिक इफ़ेक्ट के माध्यम से बताया था कि सूर्य की किरणों से विद्युत उत्पादन किस तरह से किया जा सकता है | जिसके कारण आज लोग सोलर पैनल या सौर पैनल की सहायता से बिजली उत्पादन कर रहे है | वर्तमान समय में देश के कई गांवों और शहरों में सोलर पैनल के माध्यम से बिजली उत्पन्न कर इसका प्रयोग किया जा रहा है |  

काढ़ा के फायदे और साइडइफेक्ट्स क्या है

सौर उर्जा के मामले में भारत की स्थिति (India’s Position In Solar Energy)

हाल ही किये गये एक सर्वेक्षण के मुताबिक, भारत का नाम दुनिया में सबसे कम दामों में सौर उर्जा का उत्पादन करनें वाले देशों में एक है | हालाँकि आज से कुछ वर्ष पूर्व सौर उर्जा के बारें में लोगो को बहुत ही कम जानकारी थी परन्तु भारत सरकार के अथक प्रयासो और सोलर पैनल की खरीद पर विभिन्न प्रकार से सब्सिडी मिलनें के कारण लोगो का रुझान इस तरफ काफी तेजी से हुआ है | वर्तमान समय में सौर ऊर्जा का प्रयोग गांवों से लेकर शहरों तक किया जा रहा है |

काढ़ा (Brew) कैसे बनता है

सौर ऊर्जा से लाभ (Benefit From Solar Energy)

सौर उर्जा से प्राप्त होनें वाले अनेक प्रकार के लाभ इस प्रकार है-

नवीकरणीय ऊर्जा (Renewable energy)

नवीकरणीय ऊर्जा का मतलब एक ऐसी उर्जा से है, जो कभी ख़त्म नहीं होती है और सौर ऊर्जा एक नवीकरणीय ऊर्जा है | वैज्ञानिकों के अनुसार धरती पर सूर्य की किरणें आगामी 500-600 करोड़ वर्षो तक उपलब्ध रहेंगी | इस प्रकार हम सौर ऊर्जा से विद्युत् उत्पन्न कर अपनी अवश्यक्तों को पूरा कर सकेंगे |  

भारत के प्रमुख दर्रे के नाम और उनके राज्य

बिजली की बचत (Power Saving)

वर्तमान समय में शहरों तथा गांवों में बिजली होनें के बावजूद लोगो नें बिजली कनेक्शन न लेकर अपनें घरों की छत पर सोलर पैनल द्वारा उत्पन्न बिजली का उपयोग कर रहे है | ऐसा करनें से उन्हें किसी प्रकार का कोई बिल या शुल्क नहीं देना पड़ता है | सबसे खास बात यह है, कि सौर उर्जा द्वारा प्राप्त होनें वाली बिजली में किसी तरह की कोई रुकावट नहीं होती है | आप जब चाहे अपनी आवश्यकता के अनुसार इसका उपयोग कर सकते है |   

भारत के प्रमुख जलप्रपात कौन-कौन से हैं

वातावरण के लिये लाभकारी (Beneficial For Environment)

एक अनुमान के आधार पर विश्व भर में सिर्फ ऊर्जा उत्पादन में ही प्रति वर्ष लगभग 20 अरब टन कार्बन डाइ-ऑक्साइड तथा अन्य दूषित तत्व निकलते है | जो वायुमंडल में तापमान में वृद्धि का एक प्रमुख कारण है। यदि हम सौर उर्जा की बात करे तो इसके उत्पादन में पर्यायवरण को किसी प्रकार की कोई हानि नहीं होती है |

भारत के बंदरगाह की सूची

अन्य लाभ (Other Benefits)

सौर ऊर्जा कभी न समाप्त होनें वाला संसाधन है और यह नवीकरणीय संसाधनों का सबसे बेहतर विकल्प है। सौर उर्जा का उपयोग विद्युत उत्पादन करने के साथ ही अनेक उद्देश्यों के लिये प्रयोग की जाती है | एक सौर ऊर्जा निकाय को अपनें घरों की छत, अपनें खेत या किसी खाली पड़े किसी भी स्थान पर आसानी से स्थापित किया जा सकता है | सौर ऊर्जा प्राप्त करने के लिये विद्युत या गैस ग्रिड की आवश्यकता नहीं होती है |

भारत में कितनी नदियाँ है

सोलर पैनल क्या होता है और यह कार्य कैसे करता है (What Is Solar Panel & How Does It Work)

सोलर पैनल एक ऐसा उपकरण होता है, जिसकी सहायता से सूर्य की किरणों को विद्युत में परिवर्तित किया जाता है | सूर्य से निकलनें वाली किरणों में पाए जानें वाले कणों को  फोटोन कहते है और इन फ़ोटॉन को सोलर पैनलों की सहायता से विद्युत् में परिवर्तित किया जाता है |

सोलर पैनल में सिलिकॉन से बने हुए फोटोवोल्टिक सेल लगे होते है, जैसे ही इन सेलों पर सूर्य की किरणें पड़ना शुरू होती है, वैसे ही फ़ोटॉन की ऊर्जा अवशोषित हो जाती हैऔर ऊपरी परत में पाए जाने वाले इलेक्ट्रॉन सक्रिय हो जाते हैं | धीरे-धीरे यह ऊर्जा पूरे पैनल में प्रवाहित होती है, जिससे विद्युत् का उत्पादन होता है |

 अपनी जमीन कैसे देखे?

सोलर पैनल पर सब्सिडी (Subsidy On Solar Panel)

सौर उर्जा के प्रयोग को बढ़ावा देने के लिए केंद्र व राज्य सरकारों द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाये चलायी जा रही है | इन योजनाओं के माध्यम से लोगो को सौर उर्जा के प्रति जागरूक करनें के साथ ही बहुत ही कम दामों पर सौर उर्जा पैनल उपलब्ध कराये जा रहे है | जिसके फलस्वरूप भारत में पिछले कुछ वर्षो से सौर ऊर्जा के इस्तेमाल में काफी वृद्धि हुई है। यदि हम सब्सिडी की बात करे, तो सौर उर्जा लगानें पर लोगो को योजना के अनुसार सब्सिडी दी जा रही है |  

देश की फोटोवोल्टिक (Photovoltaic) क्षमता के विस्तार के लिए सरकार नें सोलर पैनल निर्माण उद्योग (Solar Panel Manufacturing Industry) को 210 अरब रुपए की वित्तीय सहायता देने की योजना बनाई है | प्रधानमंत्री योजना फॉर ऑग्मेंटिंग सोलर मैन्युफैक्चरिंग (PRAYAS) प्रयास योजना के अंतर्गत वर्ष 2030 तक कुल ऊर्जा का 40 प्रतिशत हरित ऊर्जा से उत्पन्न करने का लक्ष्य निर्धारित किया है |

PRAYAS-PradhanMantriYojana for Augmenting Solar Manufacturing नामक इस योजना के तहत सरकार ने वर्ष 2030 तक कुल ऊर्जा का 40 प्रतिशत हरित ऊर्जा से उत्पन्न करने का लक्ष्य रखा है।

भारत की राष्ट्रभाषा क्या है

यहाँ आपको सौर ऊर्जा (Solar Energy) से सम्बन्धित जानकारी प्रदान कराई गई है | यदि आप इससे रिलेटेड अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप  www.hindiraj.com पर विजिट करे | इसके साथ अपने विचार या सुझाव कमेंट बॉक्स के माध्यम से दे सकते है | हमे आपके सुझावों का इन्तजार है | आपकी प्रतिक्रिया का शीघ्र उत्तर दिया जायेगा |

Lord Shiva Names in Hindi

Leave a Comment