एसएससी क्या है

बहुत से छात्र सरकारी नौकरी की चाह रखते है और अपने भविष्य को उज्जवल बनाना चाहते है लेकिन जानकारी के अभाव के कारण वह एसएससी (SSC) की परीक्षा में सफल नहीं हो पाते है | एसएससी की परीक्षा सरकारी पद के लिए आयोजित की जाने वाली कठिन परीक्षाओ में से एक मानी जाती है इस परीक्षा में पास होने के लिए छात्र को अधिक परिश्रम और लगन की आवश्यकता होती है | इसके अलावा अन्य सामग्री और गाइड लाइन की आवश्यकता होती है | परन्तु कभी – कभी आवश्यक जानकारी और इससे समबन्धित सामग्री या फिर कोचिंग की सुविधा छोटे शहरो एवं गांव के छात्रों तक नहीं पहुँच पाती है और वह इस परीक्षा को सफल नहीं बना पाते है | यदि आप भी एसएससी क्या है, एसएससी का फुल फॉर्म, SSC परीक्षा तैयारी कैसे करे, इसके प्रश्नपत्र और पाठ्यक्रम से सम्बंधित सम्पूर्ण सामग्री के विषय में जानना चाहते है तो यहाँ पर इसके विषय में जानकारी प्रदान की जा रही है |  

SSC STENOGRAPHER कैसे बने

एसएससी का क्या मतलब होता है?

एसएससी (SSC) केंद्र सरकार द्वारा संचालित एक संस्था या बोर्ड भी कहा जाता है, भारत सरकार ने इस आयोग का गठन  योग्य और श्रेष्ठ छात्रों  का चुनाव करके विभिन्न विभागों में नियुक्त कार्य करने के लिए किया गया है |  भारत सरकार के विभिन्न विभागों के लिए प्रतिवर्ष बहुत सारे पदों के लिए भर्तिया निकलती रहती है जिसमें लाखो उम्मीदवार इन रिक्त पदों के लिए आवेदन करते है विभिन विभागों और मंत्रालयों में ग्रुप B, C और D के कर्मचारियों की भर्ती होती है | इस आयोग का कार्य विभागों के अनुसार योग्य छात्रों का चुनाव करना होता है योग्यतानुसार छात्रों के लिए  विभागों के कार्यो के अनुसार अलग-अलग परीक्षाओ का आयोजन करना होता है | इसके अंतर्गत  विभिन्न प्रकार की  प्रतियोगी परिक्षाओं  जैसे  CGL, CHSL, Steno, JE, CAPF, JHT आदि का आयोजन इसी के माध्यम से होता हैं | परीक्षा में सफल छात्र अपनी योग्यता अनुसार केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों में नौकरी प्राप्त करते  हैं | कर्मचारी सेवा आयोग एक ऐसा संगठन है जो लाखो उम्मीदवारो को प्रतिवर्ष रोजगार प्रदान करता है |

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) क्या है?

एसएससी का फुलफॉर्म और इतिहास 

एसएससी का फुलफॉर्म “Staff Selection Commission” होता है जिसे संक्षिप्त में SSC कहते है, भारत सरकार ने 4 नवंबर 1975 को अधीनस्थ सेवा आयोग का गठन किया था जिसे अंग्रेजी में “Subordinate Service Commission”  कहा जाता है, 26 सितम्बर 1977 को भारत सरकार ने अघीनस्थ सेवा आयोग का नाम बदल कर कर्मचारी सेवा आयोग कर दिया जिसे अंग्रेजी में Staff Selection Commission कहते है आम भाषा में SSC भी कहा जाता है नई दिल्ली में इस आयोग का मुख्यालय स्थित है | 

 एसएससी MTS की तैयारी कैसे करे?

एसएससी (SSC) पद के लिए आयुसीमा एवं शैक्षिक योग्यता

एसएससी के पद के आवेदन के लिए उम्मीदवार की आयु 18 वर्ष से कम तथा  32 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए ,एसएससी के प्रत्येक पद के लिए अलग-अलग आयुसीमा निर्धारित की गयी है तथा आरक्षित वर्ग के छात्रों  को सरकार के नियमानुसार आयु में छूट भी प्रदान की गयी है | सरकार द्वारा भिन्न-भिन्न पदों की परीक्षा में भाग लेने के  लिए पात्रता का अलग-अलग मापदंड रखे गए है, परीक्षा के लिए हाई स्कूल पास छात्र भी आवेदन कर सकते है और कुछ पदों में इंटरमीडिएट या स्नातक या अन्य डिप्लोमा, डिग्री की भी आवश्यकता होती है|  

क्लर्क (CLERK) कैसे बने?

एसएससी का पाठ्यक्रम एवं पद के नाम 

एसएससी यानि कि कर्मचारी चयन आयोग जिसके द्वारा प्रतियोगी परीक्षाओ का आयोजन किया जाता है जिसके अंतर्गत हिंदी, अंग्रेजी, गणित और तार्किक प्रश्न पूछे जाते है ये प्रश्न वस्तुनिष्ठ होते है जिनका स्तर परीक्षा के आधार पर अलग-अलग होता है। प्रतियोगी परिक्षा जैसे  CGL, CHSL, Steno, JE,CAPF, JHT का संचालन करता है  छात्र इन प्रतियोगी परिक्षाओं के माध्यम से योग्यतानुसार परीक्षा  देकर भारत सरकार के विभिन्न विभागों में नौकरी प्राप्त कर सकते है | 

एलआईसी एएओ (LIC AAO) कैसे बने?

CGL परीक्षा  – इस परीक्षा का फुलफॉर्म  “COMBINED GRADUATE LEVEL EXAMINATION” होता है यह स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद ही परीक्षा में सम्मिलित हुआ जा सकता है  इस परिक्षा को पास करने के बाद आप  जैसे खाद्य अधिकारी, आयकर अधिकारी, ऑडिट आदि  के पदों पर नियुक्त किये जाते है |

CHSL परीक्षा – सीएचएसल को अंग्रेजी में  “COMBINED HIGHER SECONDARY LEVEL EXAMINATION” कहते है इसके अंतर्गत वह छात्र जो इंटरमीडिएट की परीक्षा के बाद नौकरी करना चाहते हैं और उनकी आयु 18 वर्ष हो चुकी है वे इस परीक्षा में बैठ सकते है  इस परीक्षा में सफल होने के बाद आप एलडीसी, क्लर्क आदि पद पर नियुक्त हो सकते है |

Steno परीक्षा – Steno को अंग्रेजी में  Stenography तथा हिंदी में  आशुलिपि कहते है आशुलिपि में भविष्य बनाने के लिए आप इस परीक्षा में भाग ले सकते है |  परन्तु इसके लिए आपको परीक्षा से सम्बन्धी ज्ञान होने के साथ आशुलिपि यानि कि शोर्टहैण्ड का ज्ञान होना जरूरी होगा, इसकी आवश्यकता आपको स्किल टेस्ट के दौरान पड़ेगी |

JE परीक्षाJE का मतलब  Junior Engineer  होता है इस परीक्षा के माध्यम से भारत सरकार के विभिन्न विभागों में जूनियर इंजिनियर के पद पर काम करने का मौका मिलता हैं, इस पद के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता इंजीनियरिंग में डिप्लोमा या डिग्री होना जरूरी है| 

CAPF परीक्षा -CAPF को  Central Armed Police Forces कहते है केंद्र सरकार में सशस्त्र पुलिस बल में Inspector, Sub Inspector आदि के लिए यह परीक्षा देनी होती हैं |

JHT परीक्षा: JHT का फुलफॉर्म  Junior Hindi Translators होता है  इस परीक्षा को देने के बाद आप हिन्दी अनुवादक के पद पर कार्य करने का मौका प्राप्त करते  हैं इसके लिए आपकी हिन्दी और अंग्रेजी  दोनों भाषा का ज्ञान होना अनिवार्य हैं |  

पटवारी (PATWARI) कैसे बने?

एसएससी चयन प्रक्रिया 

एसएससी के द्वारा चयन की  प्रक्रिया चार चरणों में पूरी होती है जिनके नाम टियर -1, टियर -2, टियर -3 और टियर -4 परीक्षा है । टीयर-1 और टीयर-2 में कंप्यूटर से सम्बंधित ऑनलाइन परीक्षा होती  है। जिसमें वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जाते है। जो छात्र  टीयर-1 और टीयर-2 परीक्षा को पास कर लेते है  उन छात्रों को टीयर -3 की परीक्षा के लिए बुलाया जाता है जिसमें व्याख्यात्मक प्रश्न पूछे जाते है। टियर -1 और टियर -2 में सामान्य बुद्धिमत्ता, तर्कशक्ति, सामान्य ज्ञान, परिणात्मक अभिरुचि तथा अंग्रेजी अभिज्ञान, गणित  से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है एवं टियर- 3 में कलम और कागज पर परीक्षा होती है |  इसके बाद टीयर-4 की परीक्षा  के लिए बुलाया जाता है जिसमे कौशल, दक्षता, कंप्यूटर  ज्ञान  और शैक्षणिक योग्यता के दस्तावेजों का निरिक्षण किया जाता है।

जज (JUDGE) कैसे बने?

एसएससी परीक्षा की तैयारी 

एसएससी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए  तैयारी के साथ  कठिन परिश्रम और मेहनत भी करनी पड़ती है,इसके लिए आप किसी अच्छे इंस्टिट्यूट या फिर अच्छी कोचिंग में दाखिला ले सकते है जिससे आपको तैयारी करने में सहायता मिलेगी | एसएससी की परीक्षा में आप कैसे सफलता प्राप्त कर सकते है आप  कुछ बिन्दुओ की सहायता ले सकते है जो निचे दिए गए है:- 

ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने?

1.परीक्षा प्रारूप एवं पाठ्यक्रम 

बहुत से छात्र परीक्षा की तैयारी से पहले परीक्षा के प्रारूप  एवं पाठ्यक्रम पर ध्यान नहीं देते है जिस कारण तैयारी उचित दिशा में नहीं हो पाती है जिस वजह से छात्र परीक्षा में असफल हो जाते है पाठ्यक्रम से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त कर लेने से  आपको परीक्षा की तैयारी करने में मदद मिलती है । परीक्षा के पाठ्यक्रम  के अंतर्गत प्रत्येक विषय में आने वाले टॉपिक्स को ध्यान से पढ़ें-समझे और उसी के अनुसार तैयारी करे, परीक्षा के प्रारूप एवं पाठ्यक्रम न समझ पाने के अभाव में परीक्षा में सफलता नहीं प्राप्त हो पायेगी |

2.समय सारणी बनाये

एसएससी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए एक समय सारिणी एक व्यवस्थित तरीका है। प्रत्येक विषय को उनकी जटिलता के अनुसार समय आवंटित कर सकते है। अधिकतर छात्र अध्ययन के लिए समय सारणी  नही बना पाते है और बनाने के बाद समय सारणी  का सही से अनुसरण नहीं करते है इसलिए एसएससी की परीक्षा में सफल न होने का सबसे बड़ा कारण है इसलिए विषयानुसार समय सारणी व्यवस्थित करे और पूरी ईमानदारी के साथ उसे अपनाये तभी छात्र को सफलता प्राप्त होगी।

नीट (NEET) परीक्षा क्या होता है?

3.सीखने एवं साँझा करने का द्रष्टिकोण 

यदि छात्र में कुछ सीखने की इच्छा है तभी आप में किसी को सिखाने की क्षमता होगी, सीखने की इच्छा होने पर ज्ञान में भी वृद्धि होगी छात्र अध्ययन  के बाद उसे किसी से साँझा करता है तो अधिक समय तक ज्ञान बना रहता है साँझा करने से स्मरण शक्ति बढ़ती है| बार बार सीखने और अभ्यास से छात्र पूर्ण बनता है इसलिए, प्रत्येक विषय पर जितना संभव हो उतना अध्ययन करे साँझा करे जिससे वास्तविक परीक्षा में प्रश्नों के प्रयास का प्रवाह बना रहता है।

4.समसामयिकी (ताजा घटनाक्रम) एवं समाचार पत्र 

परीक्षा की तैयारी के लिए नियमित समाचार पत्र पढ़े तथा समसामयिकी का अध्ययन करे जिसके द्वारा आप परीक्षा में अच्छे नंबर प्राप्त कर पाएंगे समसामयिकी के लिए रोज़ाना एक निश्चित समय निकाले  जिसमें आप देश-दुनिया से जुड़ी सभी ताजा घटनाक्रम के विषय में जानकारी प्राप्त कर सके | समसामयिकी से सम्बंधित प्रश्न काफी अहम होते हैं लेकिन अधिकतर छात्र परीक्षा से कुछ दिन पहले ही इस पर ध्यान देते हैं जिस कारण  से अधिकतर ये हिस्सा कमज़ोर रह जाता है और परिणाम को प्रभावित भी करता है।

आईटीआई (ITI) कोर्स क्या है?

5.ऑनलाइन सहायता 

एसएससी  परीक्षा की तैयारी  के लिए ऑनलाइन सहायता ले सकते है जिससे सफलता प्राप्त हो सके, इंटरनेट के द्वारा ऑनलाइन अध्ययन से सभी आवश्यक विषयो का अध्ययन कर सकते हैं, जैसे अध्ययन सामग्री, मार्गदर्शन और विभिन्न प्रकार के तरीके सम्मिलित हैं, एक क्लिक करने पर आप को  तुरंत उपलब्ध हो जायेगा | यूट्यूब एक बहुत ही अच्छा तरीका है एसएससी की तैयारी करने का क्योकि इसमें आपको विडियो  के द्वारा समझाया जाता है जिससे हमारा दिमाग वीडियो के द्वारा अच्छे से समझ आता है | क्योंकि हम कोई भी विडियो देखते है तो उस पर से हमारा ध्यान नहीं हटता और बात जल्दी समझ में आ जाती है |

6.नकली (Mock) परीक्षण करे 

एसएससी की परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम समाप्त होने के बाद प्रतिदिन छात्र नकली (Mock) परीक्षण करे, जिसके द्वारा आप जान सकेंगे कितने समय में आप प्रश्नपत्र को हल कर पाएंगे | एसएससी परीक्षा का एक निश्चित समय होता है उस समय के अंदर आपको समाप्त  करना होता है, नकली परीक्षण के द्वारा आप जान सकेंगे के आपको प्रश्नपत्र हल करने में कितना समय लगेगा | अतः नकली परीक्षण परीक्षा के लिए बहुत ही आवश्यक है, क्योंकि इससे आपकी क्षमता का पता चल जायेगा |

लेखपाल (LEKHPAL) कैसे बने

7.स्वस्थ एवं तनावमुक्त रहे 

अगर आप स्वस्थ और तनावमुक्त है तो आप परीक्षा की तैयारी अच्छी तरह कर पाएंगे, तनाव लेने से आप अस्वस्थ हो सकते है जिससे अधिक बहुमूल्य समय व्यर्थ हो जायेगा इसलिए आवश्यक है अध्ययन एवं खेलकूद के लिए सही समय सारणी बनाये, अच्छा भोजन करे, पर्याप्त नींद ले, प्रतिदिन योगासन करे, सगींत सुने तथा खेले कूदे जिससे आप स्वस्थ और तनावमुक्त रहे |   

सरकारी वकील कैसे बने?

यहाँ आपको SSC परीक्षा तैयारी के विषय में जानकारी दी गई है |  यदि इस जानकारी से संतुष्ट है, या फिर इससे समबन्धित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट करके अपना सुझाव दे सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का जल्द ही उत्तर देने का प्रयास किया जायेगा | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

सुबह जल्दी कैसे उठे और पढ़ाई कैसे करें

Leave a Comment