UFM Rule क्या है

SSC की परीक्षा में हर वर्ष कई लाख स्टूडेंट्स भाग लेते है, और कई स्टूडेंट्स को इसमें सफलता प्राप्त होती है, और बहुत सारे स्टूडेंट्स यह परीक्षा पास करने में सफल नहीं हो पाते है | इस परीक्षा में एक UFM का भी नियम होता है जिसके तहत इसे फॉलो न करने पर इसमें फेल कर दिया जाता है | कई ऐसे छात्र भी होते है जो SSC की परीक्षा उत्तीर्ण होने के बावजूद भी UFM रूल से फेल हो जाते है | SSC में UFM नियम के मुताबिक यदि कोई छात्र उत्तर पुस्तिका में “वास्तविक या काल्पनिक” नामों का प्रयोग करता है  तो उस उम्मीदवार को अयोग्य घोषित कर दिया जाता है। SSC द्वारा आयोजित होने वाली परीक्षाओं में पहचान प्रकट करना UFM के दायरे में आता है। यदि आप भी UFM Rule क्या है, यूएफएम का फुल फॉर्म, एसएससी यूएफएम के बारे में जानना चाहते है तो इसके विषय में जानकारी दी जा रही है |

एसएससी स्टेनोग्राफर कैसे बने

यूएफएम (UFM) का फुल फॉर्म

SSC में यूएफएम (UFM) का फुल फॉर्म “Unfair Means” होता है इसका उच्चारण ‘अनफेयर मीन्स’ होता है | UFM का हिंदी में अर्थ ‘अनुचित साधन यानि की बिना मतलब की बात’ होता है | इसके नियम के तहत स्टूडेंट कोई भी ऐसा वर्ड या वाक्य नहीं प्रयोग कर सकते, जिससे की उसकी पर्सनल या अन्य किसी की जानकारी को संकेत न देता हो |

चर्चा में क्यों है यूएफएम (UFM)

25 फरवरी, 2020 को SSC CHSL ने टीयर 2 2018 के परिणाम घोषित किये और जिसमे बहुत से स्टूडेंट्स अच्छे अंक प्राप्त करने के बावजूद भी एग्जाम में पास नहीं हुए है | जिसका कारण UFM का नियम था | UFM का मतलब है अनफेयर मीन्स होता है। SSC के “UFM” नियम ने कई कैंडिडेट्स को अयोग्य घोषित कर दिया है जिन्होंने CHSL की परीक्षा लिखित परीक्षा दी थी। परीक्षा में सम्मिलित हुए उम्मीदवारों द्वारा साझा की गई जानकारी के मुताबिक इसका कारण, उन्होंने एग्जाम में पत्र -लेखन भाग में काल्पनिक नाम व पते का प्रयोग किया गया था।

अपना लक्ष्य कैसे बनाये

यूएफएम के नियम

  • यदि कैंडिडेट SSC की UFM गाइडलाइन्स का उल्लंघन करते हुए यदि वह अपना एड्रेस या अपनी कोई भी अन्य निजी जानकारी लेटर में डालते हैं तो ऐसे में परीक्षार्थी को जीरो नंबर दिया जाता हैं |
  • यदि परीक्षा में शामिल अभ्यर्थी आंसर शीट में यदि कहीं भी गलती से अपना नाम लिख दिया या फिर  टीचर के कॉलम में अपने सिग्नेचर कर दिए तो ऐसी स्थिति में या तो अभ्यर्थी की आंसर शीट नहीं चेक की जाती है या फिर उसे जीरो नंबर दिया जाता हैं |
  • एग्जाम पेपर के बाहर या अंदर किसी भी तरह जानकारी लिखने पर भी जीरो नंबर दिए जाने का प्रावधान हैं |
  • परीक्षार्थी आंसर शीट में किसी भी प्रकार का असली या काल्पनिक फोन नंबर या एड्रेस नहीं लिखने का नियम है |
  • आसंर शीट (Answer Sheet) पर रफ कार्य करने की अनुमति नहीं है, यदि आप ऐसा करते है तो आपको जीरो नंबर दिए जायेंगे |
  • यदि परीक्षा में निबंध लिखते वक्त कैंडिडेट ने 10 फीसदी भी शब्दों की लिमिट क्रॉस कर देता है तो भी उसके नंबर काटे जा सकते हैं |

  एसएससी CHSL परीक्षा तैयारी कैसे करे?

यहाँ आपको यूएफएम (UFM) के विषय में जानकारी प्रदान की गई | यदि इससे सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते है | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

एसएससी MTS की तैयारी कैसे करे?