विलोम शब्द (Opposite Words) in हिंदी

Opposite Words in Hindi

हिंदी भाषा में परिपक्वता प्रदान करने के लिए कई प्रकार की विधियां अपनायी जाती है, इन विधियों के द्वारा हिंदी भाषा के ज्ञान में सुधार किया जाता है, इसी में सबसे प्रसिद्ध विधि है विलोम शब्द जिसको हम बहुत छोटे क्लास से पढ़ते हुए आये है, आज के समय में नौकरी प्राप्त करने में प्रतियोगी परीक्षा में भाग लेना होता है, इन परीक्षाओं में विलोम शब्द (Antonyms Words) पूछे जाते है, जिससे इनको पढ़ना अत्यंत आवश्यक हो जाता है, सामान्य जानकारी के लिए भी हमें विलोम शब्द की जानकारी होनी चाहिए | Opposite Words या Antonyms Words का उपयोग प्रतियोगी परीक्षा के साथ साथ स्कूलो में भी बड़े पैमाने में पढाई जाती है| इसलिए विलोम शब्दों का सभी प्रकार की परीक्षा में महत्वपूर्ण स्थान है|

विलोम शब्दों का हिंदी भाषा के साहित्य में विशेष स्थान है और यह अलंकारिक एवम विभिन्न प्रकार के लेखन में जान फूक देता है| विलोम शब्दों को विभिन्न रूपों में परिभाषित भी किया जाता है| विलोम शब्दों का निर्माण कुछ निर्धारित नियमो के माद्यम से ही किया जाता है, जिसमे उपसर्ग, लिंग, समास, अलग जाति का चयन समाहित है| 

विलोम शब्द की परिभाषा (Definition of Opposite Words in Hindi)

” किसी उचित शब्द का जब उसका अर्थ विपरीत दिशा में दिया जाता है तो शब्द उस उचित शब्द के लिए विलोम शब्द या Antonyms Word कहलाता है| प्रवर्तीवश विपरीत होने के कारण इसे  विपरीतार्थक शब्द भी कहते है| “

ये भी पढ़ें: जज (JUDGE) कैसे बने?

ये भी पढ़ें: क्लर्क (CLERK) कैसे बने?

महत्वपूर्ण विलोम शब्द (Important ViloM Shabd in Hindi)

महत्वपूर्ण विलोम शब्द इस प्रकार है-

शब्द

अर्थ

अंकुश

निरंकुश

अंगीकार

अस्वीकार

अंतर

बाह्य

अंशतः

पूर्णतः

अकलुष

 कलुष

अकाल

सुकाल

अक्रुर

क्रुर

अगला

पिछला

अग्रज

अनुज

अग्राह्य

ग्राह्य

अग्रिम

अन्तिम

अचल

चल

अच्छा

बुरा

अजल

निर्जल

अज्ञ

विज्ञ

अतल

वितल

अति

अल्प

अतिवृष्टि

अनावृष्टि

अतुकान्त

तुकान्त

अथ

इति

अदेय

देय

अदोष

सदोष

अधम

उत्तम

अधर्म

सध्दर्म

अधिक

न्यून

अधुनातन

पुरातन

अनंत

अंत

अनभिज्ञ

भिग

अनागत

आगत

अनातुर

आतुर

अनाथ

सनाथ

अनाहूत

आहुत

अनित्य

नित्य

अनिष्ट

इष्ट

अनुकूल

प्रतिकूल

अनुज

अग्रज

अनुरक्त

विरक्त

अनुरक्ति

विरक्ति

अनुराग

विराग

अनुर्तीण

उर्तीण

अनुलोम

विलोम

अनैतिहासिक

ऐतिहासिक

अन्तरंग

बहिरंग

अन्धकार

प्रकाश

अपकार

उपकार

अपचार

उपचार

अपेक्षा

उपेक्षा

अपेक्षा

नगद

अपेक्षित

अनपेक्षित

अभिज्ञ

अनभिज्ञ

अभ्यस्त

अनभ्यस्त

अमर

मर्त्य

अमावस्या

प्रूर्णिमा

अमृत

विष

अरूचि

सुरूचि

अर्थ

अनर्थ

अर्पण

ग्रह्र्ण

अर्वाचीन

प्राचीन

अल्प

अधिक

अल्पकालीन

दीर्घकालीन

अल्पज्ञ

बहुज्ञ

अल्पायु

दीर्घायु

अवनत

उन्नत

अवर

प्रवर

अवरोह

आरोह

अवलम्ब

निरालम्ब

असली

नकली

अस्त

उदय

अस्ताचल

उदयाचल

अस्पृश्य

स्पृश्य

आकर्ष

विकर्ष

आकर्षण

विकर्षण

आगमन

गमन

आगामी

विगत

आग्रह

दुराग्रह

आचार

 अनाचार

आच्छादित

 अनाछ्दित

आतुर

 शांत

आदत्त

 प्रदत्त

आदर

 अनादर

आदर्श

 यथार्थ

आदान

 प्रदान

आदि

 अंत

आद्र

 शुष्क

आधुनिक

 प्राचीन

आध्यात्मिक

 भौतिक

आय

 व्यय

आरम्भ

 अंत

आरोह

 अवरोह

आलस्य

 स्फूर्ति

आवृत

 अनावृत

आशा

 निराशा

आशीर्वाद

 अभिशाप

आसक्त

 अनाशक्त

आस्था

 अनास्था

आहार

 अनाहार

आहार

 निराहार

आहार

 निराहार

आह्वान

 विसर्जन

इच्छा

 अनिच्छा

इहलोक

 परलोक

ईर्ष्या

 प्रेम

ईश्वर

 अनीश्वर

उग्र

 सौम्य

उचित

 अनुचित

उत्कर्ष

 अपकर्ष

उत्कृष्ट

 निकृष्ट

उत्कृष्ट

 निकृष्ट

उत्तम

 अधम

उत्थान

 पतन

उदार

 अनुदार

उद्यमी

 आलसी

उधार

 नगद

उन्नति

 अवनति

उपकार

 अपकार

उपयुक्त

 अनुपयुक्त

उपस्थित

अनुपस्थित

उपाय

 निरुपाय

उर्वर

 ऊसर

उषा

 संध्या

एक

 अनेक

एकता

 अनेकता

एकांगी

 सर्वांगीण

कनिष्ठ

 ज्येष्ठ

कृतज्ञ

 कृतघ्न

कृष

 स्थूल

कृष्ण

 शुक्ल

क्रय

 विक्रय

क्षणिक

 शाश्वत

खेद

 प्रसन्नता

गुप्त

 प्रकट

ग्रामीण

 शहरी

घात

 प्रतिघात

घृणा

 प्रेम

छली

 निश्चल

छूत

 अछूत

जंगली

 पालतू

जन्म

 मृत्यु

जल

 थल

ठोस

 तरल

दयालु

 निर्दयी

दाता

 याचक

दिन

 रात

दुर्लभ

 सुलभ

धीर

 अधीर

नख

 शिख

निंदा

 स्तुति

निरक्षर

 साक्षर

नूतन

 पुरातन

प्रत्यक्ष

 परोक्ष

बंधन

 मुक्ति

बालक

 बालिका

मितव्यय

 अपव्यय

मूक

 वाचाल

मोक्ष

 बंधन

मौखिक

 लिखित

यश

 अपयश

रक्षक

 भक्षक

राजा

 रानी

रात

 दिन

रुग्ण

 स्वस्थ

लक्षण

 कुलक्षण

लक्षित

 अलक्षित

लगभग

 पूरा

लगाव

 हटाना

लचीला

 कठोर

लड़ना

 मिलना

लहू

 पसीना

वरदान

 अभिशाप

विधवा

 सधवा

विधि

 निषेध

विधि

 निषेध

वृष्टि

अनावृष्टि

शयन

 जागरण

शीत

 उष्ण

शुभ

 अशुभ

शुष्क

 आर्द्र

संक्षेप

 विस्तार

संतोष

 असंतोष

सक्रिय

 निष्क्रय

सगुण

 निर्गुण

सजीव

 निर्जीव

सज्जन

 दुर्जन

 सपूत

 कपूत

सफल

 असफल

सरस

 नीरस

सुगंध

 दुर्गन्ध

सौभाग्य

 दुर्भाग्य

स्त्री

 पुरुष

स्वाधीन

 पराधीन

हर्ष

 शोक

ये भी पढ़ें: अपनी राशि (HOROSCOPE) कैसे जाने?

ये भी पढ़ें: बीटेक (B.TECH) क्या है?

विलोम शब्द का लाभ (Advantage)

हिंदी की तैयारी में विलोम शब्द बहुत ही अधिक पूछे जाते है, आप इनको कंठस्थ करके प्रतियोगी परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर सकते है | यह स्कोरिंग टॉपिक है, यदि आपका विलोम सही होते है, तो आपको पूरे- पूरे अंक दिए जाते है |

ये भी पढ़ें: बीएड (B.ED) कोर्स क्या है?

ये भी पढ़ें: मुख्यमंत्री (CM) को पत्र कैसे लिखे?

विलोम शब्द का उपयोग (Use)

विलोम शब्द के द्वारा आपके शब्द में बढ़ोत्तरी होती है, जिसके द्वारा आप सही समय पर सही शब्द का प्रयोग करते हुए अपनी भाषा को सरल और सहज बना सकते है, इन शब्दों का प्रयोग मुहावरे में अधिक देखा जाता है, मुहावरे का प्रयोग करने में विलोम शब्द बहुत ही काम आते है |

 ये भी पढ़ें: भारतीय संविधान क्या है?

ये भी पढ़ें: ग्राम विकास अधिकारी (VDO) कैसे बने?

ये भी पढ़ें: नीट (NEET) परीक्षा क्या होता है?