ऑक्सीमीटर क्या होता है

कोरोना वायरस की दूसरी लहर नें भारत में बहुत ही भयावाह स्थिति उत्पन्न कर दी है | महाराष्ट्र, दिल्ली और गुजरात जैसे कई राज्यों में कोरोना से संक्रमित होनें वाले लोगो की संख्या सबसे अधिक है | देश में संक्रमित लोगो की संख्या निरंतर बढ़नें से लोगो को अस्पतालों में बेड और आक्सीजन नहीं मिल पा रही है | ऐसी बेहद गंभीर परिस्थियों में डॉक्टर लोगों से घर में आइसोलेट होने की सलाह दे रहे हैं | जिन लोगों में ऑक्सीजन लेवल कम हो रहा है, सिर्फ उन्हीं को अस्पताल में एडमिट कराने की सलाह दी जा रही हैं | ऐसे में घर पर ऑक्सीजन लेवल को मापने के लिए पल्स ऑक्सीमीटर (Pulse Oximeter) का होना अत्यंत आवश्यक है | ऑक्सीमीटर क्या होता है,What is Oximeter Explained (SO2 and Pulse Rate) के बारें में आज हम यहाँ विस्तार से चर्चा करेंगे |

वेंटिलेटर क्या होता है

ऑक्सीमीटर क्या होता है (What is Oximeter)

ऑक्सीमीटर को पोर्टेबल पल्स ऑक्सीमीटर (Portable Pulse Oximeter) के नाम से भी जाना जाता है | दरअसल ऑक्सीमीटर एक छोटा सा मेडिकल उपकरण (Medical Equipment) है, जो हमारे ब्‍लड में ऑक्‍सीजन सैचुरेशन लेवल (Saturation Level) और ऑक्‍सीजन लेवल की जानकारी देता है | ऑक्सीमीटर एक छोटी सी क्लिप जैसी डिजिटल मशीन होती है, जिसमें ऊपर की ओर एक डिस्प्ले मशीन लगी होती है |

ब्लड में ऑक्सीजन लेवल मापने के लिए इसे हांथ की उंगली में कुछ देर के लिए फंसाया जाता है और कुछ सेकेंड्स में यह व्यक्ति के ऑक्सीजन लेवल को स्क्रीन पर प्रदर्शित कर देता है। इस उपकरण में उंगली लगानें पर किसी प्रकार का कोई दर्द नहीं होता है | इसके साथ ही यह शरीर में होने वाले छोटे से छोटे बदलाव को भी पकड़नें में सक्षम होता है |

CoWIN Covid-19 Vaccine Registration Online

ऑक्सीमीटर की आवश्यकता (Oximeter Required)

हम सभी जानते है कि देश में इस समय कोरोना वायरस से संक्रमित होनें वाले लोगो की सनखया निरंतर बढ़ती जा रही है | ऐसे में घरों में आइसोलेट लोगो के लिए यह मेडिकल उपकरण की बहुत ही अहम् भूमिका है | हालाँकि इससे पहले लोगो को ब्लड या रक्त में ऑक्सीजन की जांच के लिए अस्पताल जाना पड़ता था परन्तु इस उपकरण की सहायता से कोई भी व्यक्ति घर पर रहकर ही ब्लड में आक्सीजन लेवल की जाँच कर सकता है | मेडिकल एक्सपर्ट्स के अनुसार इस वायरस से संक्रमित पेशेंट दो से तीन घंटे के दौरान ऑक्सीजन लेवल चेक करते रहना चाहिए, ताकि  पेशेंट की स्थिति गंभीर होनें से पहले ही उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट कराया जा सके |

कोरोना वायरस (Coronavirus) क्या है

ऑक्सीमीटर कार्य कैसे करता है (How Does The Oximeter Work)

पल्स ऑक्सीमीटर को ऑन करने के बाद जैसे ही आप अपनी उंगली उसमें फसाते है, तो यह आपको स्किन पर एक प्रकार का प्रकाश छोड़ता है और ब्लड सेल्स के रंग और उनके मूवमेंट को डिटेक्ट करता है। इससे यह पता चलता है, कि लाल रक्त कोशिकाएं (RBC) ऑक्सीजन की कितनी मात्रा को हदय से शरीर के अन्य भाग में पहुंचा रही हैं |

आपके जिन रक्त कोशिकाओं में ऑक्सीजन की मात्रा ठीक होती है ,वह चमकदार लाल दिखाई देती हैं, जबकि शेष भाग गहरा लाल दिखाई पड़ता है | ऑक्सीमीटर चमकदार लाल और गहरे लाल रक्त कोशिकाओं के अनुपात के आधार पर ऑक्सीजन सैचुरेशन को फीसदी में कैलकुलेट कर डिस्प्ले में प्रदर्शित होती है |

ऑक्सीजन सिलेंडर (Oxygen Tank) क्या है

ऑक्‍सीजन लेवल कितना होना चाहिए (Oxygen Level)

एक स्वस्थ व्यक्ति के ब्लड में ऑक्सीजन का सैचुरेशन लेवल 95 से 100 फीसदी के बीच होता है | यदि आपका ऑक्सीजन लेवल 95 फीसदी से कम हो जाता है, यह आपके लिए खतरे की बात हो सकती है | वहीँ यदि आपका ऑक्सीजन लेवल 90 या फिर 93 फीसदी से कम हो जाता है, तो पेशेंट को तुरंत हॉस्पिटल ले जाना चाहिए क्योंकि यह खतरे का संकेत है | ब्लड में लेवल 90 या फिर 93 फीसदी होनें का मतलब यह है कि शरीर की 8 फीसदी तक कोशिकाएं ऑक्सीजन का प्रवाह नहीं कर पा रही हैं |

काढ़ा (Brew) कैसे बनता है

कोरोना काल में ऑक्सीमीटर का महत्व (Importance Of Pulse Oximeter)

सामान्यत:पल्स ऑक्सीमीटर का प्रयोग सर्जरी के बाद पेशेंट की मॉनिटरिंग करने में किया जाता है | हालाँकि श्वास की बीमारी जैसे कि एस्नोफीलिया (Esnophilia), दमा (Asthma) आदि से ग्रसित लोग भी अपनें घरों में इसका इस्तेमाल करते है |

पल्स ऑक्सीमीटर की सहायता से इस बात की जानकारी आसानी से प्राप्त हो जाती है, कि पेशेंट को अतिरिक्त ऑक्सीजन की आवश्यकता है अथवा नहीं | हालाँकि कोरोना काल में इस मेडिकल उपकरण कम महत्व और भी बढ़ गया है | वर्तमान समय में बहुत से लोग कोरोना पॉजिटिव होनें पर अपनें घरों में आइसोलेट है और वह आक्सीमीटर की सहायता से समय-समय पर आक्सीजन लेवल की जाँच करते है | 

काढ़ा के फायदे और साइडइफेक्ट्स क्या है

पल्स आक्सीमीटर की कीमत (Pulse Oximeter Price)

पल्स आक्सीमीटर आप किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीद सकते है | यदि हम इसकी कीमत की बात करे तो इसकी कीमत बहुत अधिक नहीं होती है | यह 400 रुपये से लेकर 4000 रुपये तक के रेंज में मिल जाते है | हालाँकि कोरोना काल में आक्सीमीटर की मांग बहुत अधिक बढ़ गयी है, जिसके कारण यह मेडिकल की दुकानों में आसानी से नही मिल पा रहा है | इस मेडिकल उपकरण की मांग बढ़ने के कारण लोग इसे काफी महंगा दे रहे है | वर्तमान समय में इसकी कीमत लगभग 1 हजार से लेकर 3 हजार रुपए तक है |      

आपातकाल (Emergency) क्या है

यहां आपको ऑक्सीमीटर (Oximeter) के बारे में जानकारी दी गई है | यदि इस जानकारी से रिलेटेड आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

संक्रमण (Infection) क्या है

Leave a Comment