एयर बबल क्या होता है

इन दिनों पूरे देश में कोरोना जैसी महामारी बहुत ही तेजी के साथ फैल रही है, जो अभी भी थमने का नाम नहीं ले रही है | यह वायरस इतना खतरनाक वायरस है, जिससे लोगों के संक्रमित होने की संख्या बढ़ती ही जा रही है | इसके साथ ही इस खतरनाक वायरस से बड़ी संख्या में लोगों की मौत भी हो रही है, जिससे देश के प्रधानमंत्रियों के साथ-साथ पूरे देश की जनता भी बेहद परेशान है, क्योंकि यह वायरस अभी भी लगातार बढ़ता ही जा रहा है | वहीं इस खतरनाक वायरस के चलते पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया गया था और पूरे देश में यात्रियों का भी आना जाना बंद करवा दिया गया, क्योंकि देश में एयरलाइंस, ट्रेनों को भी बंद कर दिया था, लेकिन अभी भी यह महामारी रुकने का नाम नहीं ले रही है, जिसके चलते अब देश के प्रधानमंत्री ने कुछ अहम फैसला लिया है, जिसमें उन्होंने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को संचालित करने फैसला किया है | इन उड़ानों की शुरुआत करने के लिए भारत ने फ्रांस और अमेरिका के साथ मिलकर फैसला किया है | इसलिए यदि आपको एयर बबल के विषय में अधिक जानकारी नहीं प्राप्त है और आप इसके विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको What is Air Bubble Flights in Hindi | एयर बबल क्या होता है ? इसकी पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है |

एयर होस्टेस (AIR HOSTESS) कैसे बनें

एयर बबल का क्या मतलब होता है ?

ट्रैवल बबल और एयर बबल ये दोनों एक ही होते है, जिसके नाम केवल अलग-अलग है | एयर बबल दो देशों के बीच हवाई सेवा के लिए खास तौर बनाया गया एयर कॉरिडोर होता है | यह ऐसा कॉरिडोर होता है, जिसमें दोनों देशों के बीच समझौते के तहत हवाई यात्रा को मंजूरी प्रदान की जाती है | इसलिए इन दिनों कोविड-19 के चलते लगे प्रतिबंधों को बीच जरूरी शर्तों का ध्यान रखा गया और अहम फैसला लेते हुए दो देश आपस में एयर बबल शुरू करने का निर्णय लिया | एयर बबल दोनों देश शुरू कर सकते है |  

वहीं, दूसरी तरफ एक प्रेस मीट में एयर इंडिया के सीएमडी राजीव बंसल ने बताया कि, “वंदे भारत मिशन के तहत 13 जुलाई तक एयर इंडिया और एयर इंडिया एक्सप्रेस 1,103 फ्लाइट्स में 2,08,000 भारतीयों को विदेश से वापस लेकर आए हैं | इसी के साथ उन्होंने बताया कि इन फ्लाइट्स पर करीब 85,289 यात्रियों को दुनियाभर के कई देशों में पहुंचाया गया |”

S-400 एयर मिसाइल सिस्टम क्या है

एयर बबल से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी 

भारत ने फ्रांस और अमेरिका के साथ द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर कर दिए हैं | इसके तहत इनमें से प्रत्येक देश की एयरलाइंस को शुक्रवार 17 जुलाई से शुरू होने वाली अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को संचालित करने की अनुमति प्रदान कर दी जाएगी | वहीं इससे एक दिन पहले गुरुवार 16 जुलाई को नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा, ‘जर्मनी और ब्रिटेन (UK) के साथ भी ऐसी ही व्यवस्था की जा रही है. मंत्री ने कहा, “जब तक अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन (International Civil Aviation) कोविड-19 के प्रकोप से पूर्व की अपनी संख्‍या को फिर हासिल करता है, मुझे लगता है कि इसका जवाब Bilateral Air Bubbles में है, जो संभव संख्या में लोगों को ले जाएगा लेकिन परिभाषित परिस्थितियों में भारत सहित कई देशों ने एंट्री पर प्रतिबंध लगा रखा है |”

कोरोना वायरस (CORONAVIRUS) क्या है

यहाँ पर हमने आपको एयर बबल के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है |  यदि इस जानकारी से सम्बंधित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, या अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करे |

कोरोना पूल टेस्टिंग क्या है