पीजीटी (PGT) क्या होता है ?



भारत में ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो एक शिक्षक बनना चाहते हैं और अपना भविष्य सुरक्षित करना चाहते हैं। इनमें से बहुत सारे लोगों ने पीजीटी (PGT) के बारे में भी सुना होगा। लेकिन कम जानकारी होने के कारण वह एक पीजीटी (PGT) नहीं बन पाते और और उनके सपने अधूरे रह जाते हैं।

इस समस्या के निवारण के लिए हम आपको इस लेख के माध्यम से पीजीटी (PGT) से जुड़ी सारी जानकारी देंगे और बताएंगे कि कैसे आप एक पीजीटी (PGT) बन सकते हैं जिससे आप एक सफल सरकारी शिक्षक बन सकते हैं। इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक ध्यानपूर्वक जरूर पढ़ें।

टीजीटी (TGT) क्या होता है ?

पीजीटी (PGT) क्या होता है

यहां आपको बता दें कि पीजीटी (PGT) कोई कोर्स नहीं है बल्कि यह एक उपाधि है जोकि बीएड और पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी कर लेने वाले को दिया जाता है। PGT कम्पलीट करने वाला व्यक्ति किसी भी प्राइवेट स्कूल में 12वीं तक के छात्रों को पढ़ाने के योग्य माना जाता है।

9वीं और 10वीं कक्षा का अध्यापक बनने के लिए हमें TGT बनना होता है परन्तु 11वीं और 12वीं कक्षा का शिक्षक बनने के लिए हमें PGT बनना होता है। अब हर बीएड और पोस्ट ग्रेजुएशन करने वाले को पीजीटी (PGT) नहीं बनाया जा सकता इसलिए राज्य सरकार द्वारा पीजीटी (PGT) की परीक्षा आयोजित की जाती है।

TGT की अपेक्षा में PGT परीक्षा को कठिन माना जाता है किन्तु अगर सही तरीके से हम पीजीटी (PGT) की तैयारी करते हैं तो आसानी से हम एक PGT बन सकते हैं। पीजीटी (PGT) बनने के उपरान्त आप सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में आसानी से एक शिक्षक की नौकरी प्राप्त कर सकते हैं और बच्चों को पढ़ा सकते हैं।

पीजीटी (PGT) का फुल फॉर्म

अगर फूल फॉर्म की बात करें तो पीजीटी (PGT) का फूल फॉर्म “पोस्ट ग्रैजुएट टीचर (Post Graduate Teacher)” है। वहीं हिंदी में PGT को स्नातकोत्तर शिक्षक कहा जाता है। PGT के फुल फॉर्म से साफ़ ज़ाहिर हो जाता है कि बीएड और पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई के बाद व्यक्ति PGT के योग्य हो जाता है।

पीजीटी (PGT) के लिए योग्यता

पीजीटी (PGT) बनने के लिए कुछ योग्यता मापदंड तय किये गए हैं जिनका आपको पालन करना अनिवार्य है। यह मापदंड कुछ इस प्रकार हैं:-

  • आप भारत के नागरिक होने चाहिए।
  • आपकी आयु कम से कम 21 वर्ष होनी चाहिए।
  • किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से आपकी ग्रेजुएशन अच्छे अंकों के साथ पूरी होनी चाहिए।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री भी PGT के लिए अति आवश्यक है।
  • PGT के लिए कोई ऊपरी आयु सीमा तय नहीं की गई है।

पीजीटी (PGT) की चयन प्रक्रिया

PGT के लिए चयन प्रक्रिया 4 चरणों में की जाती है। इस प्रक्रिया की जानकारी हमने निम्नलिखित विस्तार से दी है:-

Written Exam

पीजीटी (PGT) की चयन प्रक्रिया में सबसे पहला चरण लिखती परीक्षा का होता है। इस परीक्षा में उम्मीदवार से अलग अलग विषयों के बारे में प्रश्न पूछे जाते हैं जिनका सही जवाब देकर उम्मीदवार को इस परीक्षा को पास करना होता है। यह विषय कुछ इस प्रकार होते हैं:-

  • General English.
  • General Knowledge.
  • General Hindi.
  • Reasoning.
  • Computer Literacy.
  • Pedagogy.
  • Subject Concerned ( जैसे – Chemistry, Economics, English, Physics, Math, History, Geography, Biology, Commerce and Computer Science.
  • Hindi etc.

Interview

इसके बाद उम्मीदवार का इंटरव्यू लिया जाता है जिसमें उम्मीदवार से सामान्य ज्ञान से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं। लिखती परीक्षा के बाद से ही आपको इंटरव्यू के लिए तैयारी शुरू कर देनी चाहिए क्यूंकि PGT का यह चरण थोड़ा कठिन होता है।  सामान्य ज्ञान के अलावा उम्मीदवार का Personality Test भी लिया जाता है और साथ ही Expressiveness ability को भी देखा जाता है।

Special Qualification Weight age

पीजीटी की परीक्षा को पास करने के उपरांत अगर आपके पास कोई Special Qualification है तो उसकी जानकारी आपको इस चरण में देनी होगी। दूसरे उम्मीदवारों के मुकाबले उन उम्मीदवारों को अधिक महत्त्व दिया जाता है जिनके पास कोई Special Qualification है। ऐसे में Special Qualification वाले उम्मीदवारों के चयन की संभावना अधिक बढ़ जाती है।

Document Verification

परीक्षा का फॉर्म भरते समय आपने जो Documents भरे थे उनके बारे में जानकारी आपको इस चरण में देनी होगी। परीक्षा का फॉर्म भरते वक्त आपको Documents की सही से जानकारी देनी चाहिए ताकि इस चरण में आपको किसी समस्या का सामना ना करना पड़े। Documents की वेरिफिकेशन हो जाने के उपरांत सब कुछ ठीक होने पर उम्मीदवार का PGT के लिए चयन हो जाता है और व्यक्ति एक अध्यापक बनने के योग्य हो जाता है।

पीजीटी (PGT) अध्यापक कैसे बनें

पीजीटी (PGT) अध्यापक बनने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होती है। PGT अध्यापक बनने की प्रक्रिया का हमारे द्वारा निम्न उल्लेख किया गया है:-

  • PGT अध्यापक बनने के लिए सर्वप्रथम आपको किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन  करनी होगी।
  • यदि आप एक बेहतर पीजीटी अध्यापक का पद चाहते हैं तो आपको पोस्ट ग्रेजुएशन भी पूरा कर लेना चाहिए।
  • पीजीटी अध्यापकों के क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए हमेशा बीएड कोर्स को प्राथमिकता दी जाती है क्योंकि इसे पूरा करने से इस क्षेत्र में हमारे रोज़गार के बहुत सारे दरवाज़े खुल जाते हैं। आपको भी बीएड कोर्स जरूर कर लेना चाहिए।
  • बीएड या ग्रेजुएशन कोर्स को पूरा कर लेने के बाद आपको M.Phil या कोई पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स करना चाहिए ताकि आपको इस क्षेत्र में बहुत सारे मौके प्राप्त हो सकें।
  • बहुत सारे संस्थान अध्यापकों को नौकरी देते हैं इसलिए अनुभव हासिल करने के लिए आपको कुछ समय अध्यापक के रूप में भी जरूर कार्य करना चाहिए।
  • इसके बाद आपको राज्य द्वारा आयोजित की जाने वाली PGT परीक्षा को क्लियर करना होगा जिसमें आपको लिखती परीक्षा देनी होगी और आपका इंटरव्यू भी लिया जाएगा।
  • परीक्षा की सारी प्रक्रिया पूरी होने पर यदि आपका चयन हो जाता है तो आप एक PGT अध्यापक कहलाते हैं और आप अब PGT अध्यापक के लिए किसी भी सरकारी या प्राइवेट संस्थान में आवेदन कर सकते हैं।

बीएससी (B.Sc) क्या है ?

पीजीटी (PGT) अध्यापक की सैलरी

पीजीटी (PGT) अध्यापक की सैलरी अलग अलग होती है। फिर भी आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सामान्य तौर पर एक PGT अध्यापक की शुरुआती सैलरी 47,000 से लेकर 60,000 रूपये तक हो सकती है। इसके साथ ही जैसे जैसे आपका अनुभव बढ़ता रहता है उसी प्रकार से आपकी सैलरी में भी बढ़ोतरी होती रहती है।

पीजीटी (PGT) परीक्षा के पेपर का पैटर्न

  • पीजीटी परीक्षा का लिखती पेपर 425 अंकों का होता है जिसे उम्मीदवार को 2 घंटों में हल करना होता है।
  • प्रश्न पत्र में 125 बहुविकल्पी प्रश्न होते हैं।
  • हर प्रश्न के आपको 3.4 अंक मिलते हैं।
  • इसके परीक्षा के लिए किसी भी प्रकार की नेगेटिव मार्किंग नहीं होती।
  • लिखती परीक्षा के बाद आपका इंटरव्यू लिया जाता है जोकि 50 अंकों का होता है।
  • इंटरव्यू में आपके सामान्य ज्ञान के साथ आपकी पर्सनालिटी का भी टेस्ट किया जाता है।
  • इसके बाद आपकी Special Qualification को देखा जाता है। जैसे की अगर आपके पास Doctorate Degree, M.Ed, B.Ed आदि की डिग्री है तो आपको प्राथमिकता दी जा सकती है। इसके लिए आपको 25 अंक मिलते हैं।
  • पीजीटी परीक्षा के कुल अंक 500 होते हैं।

पीजीटी (PGT) अध्यापक बनने के लिए जरूरी कौशल

एक सफल PGT अध्यापक बनने के लिए आपके पास कुछ कौशल होने चाहिए ताकि आपको इस क्षेत्र में किसी भी समस्या का सामना ना करना पड़े। यह कौशल कुछ इस प्रकार हैं:-

  • आपके पास अच्छे संचार कौशल होने चाहिए। वर्तमान में किसी भी क्षेत्र में आप प्रवेश करते हैं तो उसके लिए संचार कौशल होना बहुत ही जरूरी है।
  • अगर आपको अच्छे से अंग्रेज़ी बोलनी आती है तो आपके लिए यह और भी बढ़िया बात है।
  • भविष्य में आप हर तरह एक छात्र का सामना करने वाले हैं इसके लिए आपके पास सकारात्मक approach होना चाहिए।
  • आपके पास अच्छे problem solving स्किल्स होने चाहिए ताकि आपको छात्रों की समस्याओं का समाधान ढूंढ़ने में आसानी हो सके।
  • आपके पास बढ़िया पारस्परिक कौशल होने चाहिए जोकि आज के समय में अति आवश्यक हैं।

पीजीटी (PGT) परीक्षा की तैयारी कैसे करें

  • सबसे पहले आपको PGT की परीक्षा को पास करना ही अपना एकमात्र लक्ष्य बनाना होगा। किसी और चीज़ पर आपको ध्यान नहीं देना है।
  • इसके बाद इंटरनेट पर पीजीटी परीक्षा के सिलेबस और पेपर के पैटर्न को ढूढें और इन्हें अच्छे से समझें।
  • अब अपनी पढ़ाई का टाइम टेबल बना लें और यह निश्चित करलें कि आपको किस दिन कितना पढ़ना है। हफ्ते में न्यूनतम 2 बार अभ्यास टेस्ट जरूर दें।
  • प्रत्येक पाठ पूरा हो जाने के बाद उसकी अच्छे से रिविज़न करें।
  • इसके अलावा ऑनलाइन टेस्ट हल करने की सीरीज को भी जरूर ज्वाइन करें ताकि आपके प्रश्न हल करने की गति में सुधार आ सके।
  • अपने टाइम टेबल के प्रति अनुशासित रहें क्यूंकि रोज़ थोड़ा थोड़ा और लगातार पढ़ने से ही आप बेहतर बन सकते हैं।
  • अंत में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि घबरा कर पढ़ाई को छोड़ने का फैसला बिलकुल ना करें।

पीजीटी (PGT) का सिलेबस

पीजीटी (PGT) की परीक्षा में हमें अलग अलग विषयों के संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। आपकी मदद के लिए PGT की परीक्षा में शामिल विषयों के बारे में निम्नलिखित जानकारी दी है:-

General Knowledge

HistoryCulture
GeographySports
Current EventsGeneral Polity
Indian ConstitutionHistory Related to State
Economic SceneScientific Research

Quantitative Aptitude

SimplificationStreams
Profit and LossDistance
BoatsAverage
TimePipes
WorkInterests
CisternsPercentages
Problem and AgesData Interpretation
  

English Language

IdiomsVerbs
AntonymsAdverb
Unseen PassagesArticles
VocabularySentence Rearrangement
ComprehensionGrammar
Verb AgreementFill in the Blanks
Error ConnectionSynonyms
PhrasesTenses

पीजीटी (PGT) की ट्रेनिंग देने वाले सर्वश्रेष्ठ संस्थान

वैसे तो भारत में ऐसे बहुत सारे संस्थान हैं जो पीजीटी (PGT) के लिए ट्रेनिंग देते हैं। परन्तु निम्न हमने भारत के कुछ सर्वश्रेष्ठ संस्थानों के बारे में बताया है जो पीजीटी के लिए ट्रेनिंग देते हैं:-

  • Legend Defence Academy, Lucknow.
  • Jey Shetra Academy, Chromepet.
  • Mindgame Coaching Classes, Mumbai.
  • Eva Stalin IAS Academy, Chennai.
  • Bharat Soft Tech Pvt. Ltd., Delhi.
  • Vinayak Institute of Professional Studies, Pathankot.
  • Strive Institutes, Mumbai.
  • Academy Of Future Teacher & Education, Delhi.
  • Bansal Academy, Chandigarh.
  • F. Future Bright Coaching Centre, Faridabad.

एमएससी (M.Sc) क्या होता है ?

Leave a Comment