बैसाखी (Vaisakhi) क्या है

भारत विभिन्नताओं में एकता वाला देश है, जहाँ दुनिया में सबसे ज्यादा धार्मिक फेस्टिवल मनाये जाते है | भारत में विभिन्न सभ्यता और संस्कृति विद्द्मान है और यहाँ पर विभिन्न समुदाय के लोग है, जैसे हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, जैन, पारसी आदि धर्मों के लोग है | सभी धर्मों के अपने अलग – अलग त्यौहार होता है | इसी तरह सिख समुदाय में बैसाखी (Vaisakhi) का पर्व बड़े धूम – धाम से मनाया जाता है | हिंदी कैलेंडर के मुताबिक बैसाखी (Vaisakhi) हमारे सौर नव वर्ष के आरम्भ के रूप में मनाया जाता है | इस दिन भारत में सिख समुदाय के लोग व अन्य भारतीय अनाज का पूजन करते हैं और फसल कटकर घर आ जाने की खुशहाली में भगवान और प्रकृति को पर्व के माध्यम से धन्यवाद करते हैं | देश के अलग-अलग स्थानों पर भिन्न नामों से मनाया जाता है | जैसे असम में बिहू, बंगाल में नबा वर्षा, केरल में पूरम विशु आदि नामों से लोग इस त्यौहार को मनाते हैं | यदि आप भी बैसाखी (Vaisakhi) क्या है, बैसाखी कब और क्यों मनाया जाती है, इसके विषय में जानना चाहते है तो पूरी जानकारी बताई जा रही है |

गुड फ्राइडे (GOOD FRIDAY) का मतलब क्या होता है

बैसाखी (Vaisakhi) कब मनाया जाता है 

बैसाखी पर्व के समय आकाश में विशाखा नक्षत्र होता है, विशाखा नक्षत्र में पूर्णिमा के दिन यह पर्व मनाया जाता है | और यह त्यौहार हिंदी महीने के वैशाख माह के पहले दिन को होता है इसलिए इसे बैसाखी कहा जाता है | इस दिन सूर्य का मेष राशि में आगमन माना जाता है, इसलिए इसे मेष संक्रांति भी कहते है | अंग्रेजी महीने में यह पर्व “बैसाखी का पर्व प्रतिवर्ष अप्रैल माह में 13 या 14 तारीख को मनाया जाता है |”

होली का त्योहार क्यों मनाते हैं

बैसाखी (Vaisakhi) क्यों मनाया जाता है

दरअसल, बैसाखी पर्व सिख धर्म की स्थापना और फसल पकने के अवसर पर प्रतिवर्ष मनाते है | अप्रैल महीने की 13 या 14 तारीख तक रबी की फसल पूरी तरह से पक कर तैयार हो जाती है, और फसल कटने की शुरुआत भी हो जाती है | ऐसे में किसान फसल पकने की खुशी जाहिर करने के लिए इसे त्योहार के रूप में मनाते हैं | इसके अलावा मान्यता यह भी है कि 13 अप्रैल 1699 के दिन सिख पंथ के 10वें गुरू श्री गुरु गोबिंद सिंह जी ने इसी दिन खालसा पंथ की स्थापना की थी, तो यह भी मुख्य कारण माना गया है | इसके अतरिक्त बैसाखी (Vaisakhi) के दिन से ही पंजाबी नए साल की का नया वर्ष माना जाता है | इसलिये बैसाखी (Vaisakhi) का पर्व बड़े हर्षोल्लाष के साथ मनाया जाता है |

यहाँ पर आपको बैसाखी कब और क्यों मनाया जाता है इसके विषय में जानकारी प्रदान की गई | यदि इस जानकारी से संतुष्ट है, या फिर इससे समबन्धित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट करे और अपना सुझाव प्रकट करे, आपकी प्रतिक्रिया का निवारण किया जायेगा | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे|

सिंगर (SINGER) कैसे बने