दुनिया में कितने धर्म है



How Many Religions are there in the World: दुनिया में कितने धर्म है ये सवाल आप में से कई लोगों के मन में कभी न कभी आया होगा इसलिए आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से जानेंगे कि दुनिया में कितने धर्म है | दुनिया के सभी धर्मों की सूची (All Religions of the World List)

पूरी दुनिया में यूं तो लगभग 195 देश हैं और इन 195 देशों में कुछ ही देशों को छोड़ दें तो हर देश का अपना एक धर्म है, इसे इस प्रकार समझ सकते हैं, कि कहीं हिन्दू धर्म के लोग निवास करते हैं तो कहीं बौद्ध, कहीं इस्लाम, कहीं यहूदी, तो कहीं पर ईसाई धर्म। 



यदि भारत की ही बात करें तो अकेले भारत देश मे अनेकों धर्म है। ये धर्म कौन-कौन से हैं, इसकी जानकारी आपको इस आर्टिकल में विस्तार से बताई गई है, जिसमें आप जानेंगे कि धर्म क्या होता है दुनिया में कुल कितने धर्म हैं और किस देश मे या किस क्षेत्र में कौन सा धर्म प्रचलित हैं। दुनिया में कितने धर्म है? और उनकी संख्या कितनी है?

विश्व के सात अजूबे कौन-कौन से हैं




धर्म क्या होता है?

अक्सर लोग धर्म को किसी विशेष समुदाय या संप्रदाय से लेकर जोड़ते हैं, जो कि एक गलत अवधारणा को प्रस्तुत करता है, क्योंकि यह लोगों की आस्था से जुड़ा प्रश्न है, इसलिए धर्म को निम्न रुप में समझा जा सकता है :-

धर्म की परिभाषा

धर्म का सामान्य शब्दों में अर्थ होता है धारण करने योग्य। यानि धर्म किसी पूजा-पाठ, वेशभूषा, गॉड, ईश्वर, अल्लाह पर विश्वास करना नहीं बल्कि अपने कर्तव्यों का पालन करना है। सीधे शब्दों में कहें तो सभी के प्रति उदार, दया भाव, सत्याचरण, ईमानदारी आदि का पालन करना, सभी के साथ अच्छा व्यवहार, क्रोध न करना, क्षमावान, शांत रहना, और अहिंसा को धारण करना ही धर्म की श्रेणी में आता है। 

दुनिया में कुल कितने धर्म हैं? (All Religions of the World List)     

पुरातन काल या जब से मानव जाति का उदय हुआ है,तब से ही मनुष्य किसी न किसी पंथ या समुदाय का हिस्सा रहा है। ऐंसे में दुनिया में पूर्वकाल से ही अनेक मत, पंथ या धर्म मौजूद हैं। 

पूरी दुनिया में कुल लितने धर्म हैं अभी इसकी सटीक जानकारी नहीं दी जा सकती है, लेकिन एक अनुमानित आँकड़े के हिसाब से दुनिया में लगभग 300 से ज्यादा धर्म मौजूद हैं, पर इनमें से कुछ ही धर्म दुनिया में प्रचलित हैं, जिनमें से कुछ प्रचलित धर्मों के बारे में विस्तृत रूप से चर्चा की गई है ,जो कि निम्नलिखित हैं:

दुनिया के कुछ प्रमुख धर्मों की लिस्ट 

  1. हिन्दू धर्म या सनातन धर्म 
  2. जैन धर्म 
  3. बौद्ध धर्म 
  4. सिख धर्म 
  5. ईसाई धर्म
  6. इस्लाम धर्म 
  7. यहूदी धर्म 
  8. वुडू धर्म 
  9. पारसी धर्म 
  10. याजीडी धर्म
  11. शिंतो धर्म 
  12. बहाई धर्म 
  13. ड्रुज धर्म 
  14. मंदेस धर्म 

इन धर्मों में सबसे व्यापक रूप से प्रचलित धर्म की बात करें, तो वर्तमान में लगभग 7 धर्म ही प्रचलित हैं, हिन्दू, जैन, बौद्ध, सिक्ख, ईसाई, इस्लाम, यहूदी और वोडू। 

इसके अलावा पारसी, यजीदी, जेन, शिंतो, पेगन, बहाई, ड्रूज़् ,मंदेस, एलमितेस आदि धर्म को मानने वालों की संख्या बहुत कम हैं। इनमे से कुछ धर्म केवल कुछ ही स्थानों तक सिमट कर रह गयें हैं जैंसे; यहूदी इजराइल में, अरब में यजीदी, मुशरिक आदि। 

हिन्दू धर्म

हिन्दू धर्म को मुख्य रूप से सनातन धर्म कहा जाता है, जिसकी उत्पत्ति पूर्व आर्यों की अवधारणा में है, जो 4500 वर्ष पूर्व (आज से लगभग 6500) वर्ष पूर्व मध्य एशिया से हिमालय तक फैले थे। विद्वानों ने वेदों की रचनाकाल की शुरुवात 4500 ई।पू। से मानी है, जिनका वर्णन 6508 वर्ष पुराने वेदो में मिलता है। ऋग्वेद को संसार की सबसे प्राचीन पुस्तक माना जाता है। सनातन धर्म इसी वेद पर आधारित है। 

चार धाम (Char Dham) यात्रा क्या है

जैन धर्म

सनातन धर्म के बाद किसी धर्म का उल्लेख मिलता है, तो वह है,जैन धर्म, इसे ऑरचीं धर्मों की श्रेणी में रखा जाता है। जैन धर्म को श्रमणों का धर्म कहा जाता है। धार्मिक ग्रंथों में जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर ऋषभदेव का वर्णन मिलता है। जैन धर्म के अंतिम तीर्थंकर के रूप में महवीर स्वामी का उल्लेख मिलता है। इस जैन धर्म में मुखतः 2 प्रकार मिलते हैं 1। श्वेताम्बर 2। दिगंबर जिनमें कुछ-कुछ समानताएं हैं। 

माना जाता है कि वेदिक साहित्य में जिन यतियों का उल्लेख मिलता है वे ब्राम्हण परंपरा के न होकर श्रमण परंपरा के ही थे। मनु स्मृति में लिछवि, नाथ, मल्ल आदि व्रातयो का उल्लेख मिलता है।

यहूदी धर्म

यहूदी धर्म आज से लगभग 4000 वर्ष पुराना धर्म हैं और वर्तमान में यह इजराइल देश का राज धर्म है। दुनिया के प्राचीन धर्मों में से एक यहूदी धर्म से ही ईसाई और इस्लाम धर्म की उत्पत्ति हुई है, यहूदी एकेश्वरवाद में विश्वास करते हैं। मूर्ति पूजा को इस धर्म में पाप समझ जाता है। 

पेगन धर्म

पेगन धर्म को मानने वाले अनुयाइयों को जर्मन के हित मूल का मन जाता है, लेकिन ये रोम, अरब और अन्य इलाकों में भी बहुतायत में हैं। हालांकि इसका विस्तार यूरोप में ही ज्यादा था, कुछ प्राचीन मान्यताओं के अनुसार यह धर्म ईसाई धर्म के पूर्व आस्तित्व में था। 

वुडू धर्म

यह धर्म आदिवासियों या आदिम जातियों का प्रारम्भिक धर्म रहा है। हर देश में इसका नाम और थोड़े बहुत फेरबदल या परिवर्तनों के साथ इनके तर्क अलग हो सकते हैं। इस धर्म के अनुयाई झाड़-फूँक, जादू-टोने, काल्पनिक देवी देवताओं और कबीलों की प्राचीन परंपरा का धर्म है। 

पारसी धर्म

यूरोप से मध्य एशिया तक फैले इस धर्म का एक विशाल साम्राज्य था, तब पैगमबर जरथुस्त्र ने एक ईश्वर का संदेश देते हुए पारसी धर्म की स्थापना की। 

जैन धर्म

इस धर्म को सामान्यतः झेन भी कहा जाता है जिसका शाब्दिक अर्थ ध्यान माना जाता है। यह मुख्य रुओ से जापान के सेमूराई वर्गों का धर्म है। इसे मुख्यतः योद्धाओं का समाज कहा जाता है। इसे दुनिया की सर्वाधिक बहादुर कौम भी माना जाता है। 

बौद्ध धर्म

ईसाई और इस्लाम धर्म से पूर्व बौद्ध धर्म की स्थापना हुई। जिसकी स्थापना गौतम बुद्ध ने की थी। ईसाई और इस्लाम धर्म के बाद यह दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा धर्म है। इस धर्म को मानने वाले अधिकतर लोग चीन, जापान, कॉम्बोडिया, श्रीलंका, नेपाल, भूटान और भारत अदड़ी देशों में रहते हैं।

शिंतो धर्म

इस धर्म की अधितर बातें बौद्ध धर्म से ली गई हैं, फिर भी इस धर्म की एक अलग पहचान है। इस धर्म की मान्यता है, कि जापान का राजपरिवार सूर्य देवी अमतिरासु ओमिकामी से उत्पन्न हुआ है। 

ईसाई धर्म

आज से 2 हजार वर्ष पूर्व इस धर्म की उत्पत्ति हुई। जिसकी स्थापना ईसा मसीह ने की थी, इनका जन्म आज भी विवाद का विषय बना हुआ है। उनके जीवन की सच्चाई क्या है ओर क्या उनका जीवन वैसा ही रहा है जैसे उनकी धार्मिक पुस्तक बाइबल में बताया गया है या इसके कुछ अलग तथ्य हैं ये आज भी अनुसंधान परक सत्य है। 

इस्लाम धर्म

इस्लाम धर्म की उत्पत्ति आज से लगभग 1400 साल पहले हुई। इसकी स्थापना हजरत मुहम्मद अली ने की है, इन्होंने ही इस्लाम धर्म को लोगों तक पहुंचाया। इस धर्म की स्थापना हज में हुई थी जहां आज सभी हज करने जाते हैं। इस धर्म का पवित्र ग्रंथ कुरान है। 

सिक्ख धर्म

सिक्ख धर्म की स्थापना सिक्खों के प्रथम गुरु, गुरु नानक देव जी ने हिन्दू धर्म की रक्षा के लिए आज से लगभग 600 वर्ष पूर्व की थी। सिक्ख धर्म को व्यवस्थित रूप गुरु गोविंद सिंह जी ने दिया है, जो की सिक्खों के दसवे गुरु हैं। इनकी पहचान पगड़ी और कटार जिसे कृपाण भी कहा जाता है, से की जा सकती है। 

Conclusion

भारत समेत पूरे विश्व में हर देश के अपने अपने धर्म हैं अकेले भारत में ही प्रमुख रूप से विभिन्न धर्मों की विविधता देखी जा सकती है, जिसमें हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, ईसाई, बौद्ध, जैन, पारसी आदि धर्म देखने को मिलते हैं, जिसमें बिना किसी हस्तक्षेप के सभी लोग निवास करते हैं।

ऊपर हमने आपको दुनिया में जितने भी प्रमुख धर्म हैं, लगभग उन सभी के बारे मे जानकारी दी है। उम्मीद यही आपको आर्टिकल पसंद आया होगा। धन्यवाद! 

Leave a Comment