मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण



Welcome Speech in Hindi – स्वागत भाषण किसी भी सभा, बैठक, कार्यक्रम या फिर उत्सव की शुरुवात के लिए महत्वपूर्ण एवम विशेष माना जाता है। स्वागत भाषण के माध्यम से आप कार्यक्रम में आए हुए मुख्य अतिथियों का स्वागत करते हैं। इस लेख में हम Welcome Speech in Hindi | मुख्य अतिथि के लिए स्वागत भाषण [सम्बोधन स्पीच इन हिंदी] कैसे लिखें सीखेंगे।

Welcome Speech in Hindi


स्वागत भाषण के अंतर्गत आपको जिस जगह पर भाषण दिया जा रहा है, वहां के बारे में अतिथियों के बारे में थोड़ी बहुत बातें बतानी होती है। संक्षेप में कहें तो आप दर्शकों या लोगों को इस बात से अवगत कराते हैं कि मुख्य अतिथियों के पधारने से इस कार्यक्रम में मौजूद सभी लोग अत्यंत प्रसन्न है।

Farewell Speech in Hindi

मुख्य अतिथि शिक्षकों के लिए स्वागत भाषण (वेलकम स्पीच)

Welcome Speech in Hindi: इससे पहले कि हम आपको मुख्य अतिथियों के स्वागत भाषण के बारे में जानकारी दें, आपको यह बता दें कि आपको स्वागत भाषण में साफ और सरल शब्दों का इस्तेमाल करना चाहिए, साथ ही जिन शब्दों का आपके द्वारा इस्तेमाल किया जाए वह सम्मान पूर्वक होना चाहिए ताकि किसी भी व्यक्ति को बुरा ना लगे।



इसके साथ ही आपको जल्दबाजी में नहीं बल्कि मध्यम गति में स्वागत भाषण देना चाहिए, ताकि आपकी बातें कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को साफ तौर पर सुनाई दे। कार्यक्रम का आयोजन होने से पहले आप स्वागत भाषण को अच्छी तरह से रट लें, ताकि बीच में कोई त्रुटि ना हो।

Welcome Speech for Chief Guest in Hindi

वार्षिक महोत्सव के दिन मुख्य अतिथि के लिए छात्र द्वारा दिए जाने वाला स्वागत भाषण

सभी को मेरा प्रणाम / नमस्कार / गुड मॉर्निंग / गुड इवनिंग / शुभ संध्या / शुभ प्रभात

माननीय अतिथि श्री_________, अध्यक्ष_________, प्रधानाचार्य महोदय_______, सम्मानित शिक्षक गण और यहां पर उपस्थित सभी लोगों का हमारे स्कूल के वार्षिक समारोह में मै खुले दिल से स्वागत करता हूं।

मेरा नाम राकेश कुमार है और मैं इसी विद्यालय श्री राम जानकी विद्या मंदिर में कक्षा 12वीं का छात्र हूं साथ ही मै अपनी कक्षा का प्रमुख विद्यार्थी भी हूं। मेरे लिए यह बहुत ही खुशी की बात है कि आज मुझे अपने स्कूल के वार्षिक कार्यक्रम के दरमियान आप लोगों के समक्ष अपनी भावनाओं को व्यक्त करने का मौका प्राप्त हुआ।

अपने स्कूल के वार्षिक कार्यक्रम के दरमियान मुझे इस बात को बताते हुए अत्यंत प्रसन्नता हो रही है कि हमारे स्कूल ने आज अपनी स्थापना के 20 साल पूरे कर लिए हैं। इसलिए आज का दिन इस विद्यालय में पढ़ने वाले सभी छात्रों, सभी शिक्षकों के लिए तथा स्कूल प्रशासन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है।

हमारे विद्याल की तरक्की के पीछे कहीं ना कहीं स्कूल प्रशासन और स्कूल में पढ़ाने वाले सभी शिक्षकों के साथ ही साथ स्कूल के आदर्श बच्चों का भी महत्वपूर्ण योगदान है। पिछले 20 सालों में हमारे स्कूल से पढ़े हुए विद्यार्थियों ने कई बड़े-बड़े पदों पर नौकरी प्राप्त की।

कई विद्यार्थी यहां से पढ़कर डॉक्टर, इंजीनियर और आईएएस ऑफिसर बने हुए हैं और कई विद्यार्थी दूसरे पदों पर काबिज है, जो स्कूल का छात्र होने के नाते मेरे लिए भी अत्यंत गर्व करने वाली बात है और इसी बात से मैं यह गर्व से कह सकता हूं कि मैं इस स्कूल में पढ़ने वाला विद्यार्थी हूं।

आज हमारे इस स्कूल की गिनती हमारे इलाके के सबसे प्रतिष्ठित और सबसे बेहतरीन स्कूलों में होती है, क्योंकि हमारे स्कूल के द्वारा ना सिर्फ पढ़ाई पर ध्यान दिया जाता है बल्कि खेलकूद और दूसरी सांस्कृतिक गतिविधियों पर भी बराबर ध्यान दिया जाता है।

यही वजह है कि यहां से पढ़ाई करने वाले बच्चे का सर्वांगीण विकास होता है और वह दूसरी कला में भी निपुण होते हैं। सर्वांगीण विकास होने की वजह से ही यहां से निकलने वाले बच्चे अपनी जिंदगी में बेहतरीन मुकाम को हासिल करते हैं।

यही नहीं हमारे विद्यालय में अध्यापकों का छात्रों के साथ व्यवहार काबिलेतारीफ है, साथ ही हमारे स्कूल में सांस्कृतिक और अनुशासित माहौल होने की वजह से विद्यार्थियों को एक अलग ही सुख प्राप्त होता है।

और उन्हें जिंदगी में आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है। इसके अलावा शिक्षकों का प्यार भरा व्यवहार विद्यार्थियों और शिक्षकों के बीच गुरु शिष्य की परंपरा की भी झलक दिखाता है।

हमारे इस विद्यालय को सफलता की बुलंदियों पर पहुंचाने में स्कूल प्रशासन के साथ ही साथ स्कूल में पढ़ाने वाले अध्यापक, स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के साथ स्कूल में काम करने वाले हर व्यक्ति का बराबर योगदान है। मैं यह आशा करता हूं कि हमारा यह विद्यालय ठीक लगातार उसी प्रकार से तरक्की के रास्ते पर आगे बढ़ता रहेगा जैसा वह पिछले 20 सालों से बढ़ता आ रहा है।

हमारे स्कूल की वार्षिक कार्यक्रम के इस खुशी के मौके पर आयोजित होने वाले सांस्कृतिक और साहित्यिक कार्यक्रम की शुरुआत होने से पहले मैं यहां पर अतिथि के तौर पर मौजूद श्रीमान अशोक भंडारी का तहे दिल से स्वागत करता हूं। श्रीमान अशोक भंडारी हमारे शहर के पुलिस कमिश्नर हैं जिनके द्वारा हमारे शहर में होने वाले अपराधों पर काफी लगाम लगाई गई है और कानून व्यवस्था का पालन बेहतरीन ढंग से करवाया जा रहा है।

इसके अलावा यहां पर उपस्थित दूसरी अतिथि श्रीमती शकुंतला राजे का भी हम स्वागत करते हैं जो कि हमारे शहर की विधायक है। फिलहाल यहां पर उपस्थित कोई भी अतिथि परिचय का मोहताज नहीं है, क्योंकि इनके द्वारा समाज के लिए जो काम किए जा रहे हैं वहीं उनकी प्रसिद्धि करवा रहे हैं।

हम सभी इस बात से अत्यंत प्रसन्न है कि ऐसे महान अतिथि आज हमारे स्कूल के वार्षिक उत्सव के मौके पर यहां पर विराजमान हुए हैं। अतः इस मौके पर मैं उन्हें पूरे आदर भाव के साथ इस मंच पर आने का आमंत्रण देता हूं, ताकि वह अपने अपने विचार प्रकट करें और स्कूल के वार्षिक महोत्सव का शुभारंभ करें।

आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया।

शिक्षक दिवस क्या है?

वार्षिक महोत्सव के दिन मुख्य अतिथि के लिए प्राचार्य द्वारा दिया जाने वाला स्वागत भाषण

आप सभी को मेरा नमस्कार / गुड मॉर्निंग/ गुड इवनिंग/ शुभ संध्या/ सुप्रभात

यहां पर मौजूद सभी सम्मानित अतिथियों तथा अन्य लोगों का अपने स्कूल के वार्षिक महोत्सव के कार्यक्रम पर मैं हार्दिक अभिनंदन करता हूं।

जैसा कि आप सभी लोग इस बात से अच्छी तरह परिचित हैं कि आज हम अपने स्कूल के 25वे वार्षिक महोत्सव के आयोजन में सम्मिलित हुए हैं। यह दिन हमारे स्कूल के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है। मुझे आज अत्यंत प्रसन्नता इसलिए भी हो रही है क्योंकि आज मुझे अपने स्कूल के वार्षिक महोत्सव के दिन आप सभी को संबोधित करने का मौका प्राप्त हुआ है।

हमारे इस विद्यालय को सफलता की ऊंचाइयों तक पहुंचाने में और इसका सफलतापूर्वक संचालन करने में प्रशासन, अध्यापक, छात्र और स्कूल के साथ जुड़े हुए हर व्यक्ति का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। सभी के कठोर प्रयास और संघर्ष की बदौलत ही आज हमारा यह स्कूल इस इलाके के सर्वश्रेष्ठ विद्यालयों की सूची में गिना जाता है और अधिकतर माता पिता हमारे इसी विद्यालय में अपने बच्चों को पढ़ाने की इच्छा रखते हैं।

हमारे स्कूल की सिल्वर जुबली के इस मौके पर कई सांस्कृतिक और अन्य कार्यक्रमों का आयोजन बड़े ही धूमधाम के साथ किया जाएगा  साथ ही पढ़ाई में अव्वल आने वाले और खेलकूद में हमेशा आगे रहने वाले तथा दूसरी गतिविधियों में अव्वल आने वाले छात्रों को इस मौके पर सम्मान दिया जाएगा।

ताकि उनका मनोबल बढ़े और वह आने वाले समय में और भी अच्छा प्रदर्शन करें तथा स्कूल के साथ ही साथ समाज और अपने देश का नाम भी रोशन करें।

आप लोगों के सामने इस बात को व्यक्त करते हुए मुझे अत्यंत प्रसन्नता हो रही है कि इस विद्यालय के 25 सालों में विद्यार्थियों ने अपना बेहतरीन प्रदर्शन देकर ना सिर्फ जीवन में सफलता की ऊंचाइयों को छुआ बल्कि विद्यालय का नाम भी रोशन किया और इस विद्यालय को आसपास के इलाकों में एक अलग पहचान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका भी अदा की।

अगर विद्यालय के विद्यार्थी लगातार इसी तरह बेहतरीन प्रदर्शन देते रहेंगे, तो हमारा यह विद्यालय लगातार सर्वश्रेष्ठ विद्यालय की सूची में हमेशा पहले स्थान पर विराजमान रहेगा।

फिलहाल विद्यालय के इस वार्षिक समारोह के मौके पर मै इस विद्यालय के प्राचार्य, समस्त टीचर और विद्यार्थियों के साथ ही साथ बच्चों के अभिभावकों को भी धन्यवाद देना चाहता हूं कि उन्होंने इस विद्यालय पर पूर्ण रूप से भरोसा किया और लगातार विद्यालय को अपना पुरजोर समर्थन भी दिया।

तो इस शुभ प्रसंग पर मैं अपने स्कूल सरस्वती विद्या मंदिर की तरफ से यहां पर आए हुए सभी अतिथियों का तहे दिल से स्वागत अभिनंदन करता हूं। मैं सबसे पहले मुख्य अतिथि के तौर पर श्रीमान अनिल चौबे जी को मंच पर आने का आमंत्रण देता हूं।

श्रीमान अनिल चौबे जी हमारे शहर के पुलिस कमिश्नर हैं। इसके साथ ही साथ जिन विद्यार्थियों ने अच्छी परफॉर्मेंस दी है उन्हें भी एक-एक करके मंच पर आने का आमंत्रण देता हूं, ताकि वह श्रीमान अनिल चौबे जी के हाथों अपना इनाम ग्रहण कर सकें। इनाम वितरण के बाद श्रीमान अनिल चौबे विद्यार्थियों के समक्ष अपने महत्वपूर्ण विचार प्रस्तुत करेंगे।

धन्यवाद।

FAQ: Welcome Speech in Hindi

किसी का वेलकम कैसे करे ?

किसी का वेलकम करने के लिए आपको सबसे पहले उस व्यक्ति के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करनी है। जैसे कि उनका नाम, वह क्या करते हैं इत्यादि। इसके बाद आपको सम्मान पूर्वक वेलकम स्पीच देकर उनका स्वागत करना है। अगर कोई ऐसा मौका है जहां पर स्पीच देने की आवश्यकता नहीं है, तो आप फूलों की माला पहना कर व्यक्ति का स्वागत कर सकते हैं।

स्कूल में भाषण की शुरुआत कैसे करें?

स्कूल में भाषण की शुरुआत करने के लिए आप कार्यक्रम में मौजूद सभी लोगों का सबसे पहले धन्यवाद अदा करें और उसके बाद भाषण की शुरुआत करें।

आप भाषण में शिक्षक का स्वागत कैसे करते हैं?

शिक्षक का स्वागत आप सम्मानजनक शब्दों के साथ कर सकते हैं।

भाषण देने की शुरुआत कैसे करें?

सबसे पहले उपस्थित लोगों का अभिवादन करें, उसके बाद जिस लिए लोग इकट्ठा हुए हैं उसकी चर्चा करें और फिर भाषण की शुरुआत करें।

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध

Leave a Comment