एनसीसी या राष्ट्रीय कैडेट कोर क्या है

एनसीसी या राष्ट्रीय कैडेट कोर भारत का सैन्य कैडेट कोर है | यह एक ऐसा सैन्य कोर है, जो छात्र और छात्राओं को सैन्य प्रशिक्षण प्रदान  करने का काम करता है | इसके साथ ही एनसीसी देश के युवाओं को जागृत करने और उनमे हौसला बढ़ाने का काम करता है इसके अलावा यह उन्हें सेना में हिस्सा लेने के लिए प्रोत्साहित करता है, क्योंकि ऐसे बहुत से अभ्यर्थी होते हैं, जो  एक बड़ा मुकाम प्राप्त करना चाहते हैं, ऐसे ही अभ्यर्थियों को एनसीसी या राष्ट्रीय कैडेट कोर की तरफ से सहायता प्रदान की जाती है | इसलिए यदि आप भी एनसीसी या राष्ट्रीय कैडेट कोर के विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको एनसीसी या राष्ट्रीय कैडेट कोर क्या है, एनसीसी का फुल फॉर्म , नियम और फायदे की पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है | 

कम उम्र में बाल सफेद होने के कारण और उपाय

एनसीसी या राष्ट्रीय कैडेट कोर क्या है

एनसीसी एक ऐसी संस्था हैं, जिसके माध्यम से कॉलेज और विश्वविद्यालय में पढ़ रहें छात्रों को ट्रेनिंग दी जाती है, जिसमें शामिल सभी अभ्यर्थियों को अपनें जीवन को अनुशासन में रखने के विषय में जानकारी प्रदान की जाती हैं और साथ ही देश और अपने काम के प्रति एक जिम्मेदार नागरिक बनाया जाता हैं | यह एक सैन्य प्रशिक्षण होता हैं, जिसकें अंतर्गत छात्रों  को सुरक्षा बलों के जवान ट्रेनिंग देते हैं और उन्हें उनकी सभी जिम्मेदारियों के बारे में सिखाते है |

एनसीसी का फुल फॉर्म

एनसीसी का फुल फॉर्म “राष्ट्रीय कैडेट कोर” होता है, जिसके माध्यम से छात्रों को सेना में भर्ती होने के लिए प्रारंभिक प्रशिक्षण का ज्ञान प्रदान किया जाता है, इसके साथ ही इस राष्ट्रीय कोर के जरिये छात्रों को भारतीय सेना भर्ती परीक्षा में छूट भी दी जाती हैं | जो अभ्यर्थी इस प्रशिक्षण में शामिल होकर सेना भर्ती के विषय में जानकारी प्राप्त करता है, उस अभ्यर्थी को देश के विकास का भी ज्ञान कराया जाता है |

एनसीसी से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी 

  • राष्ट्रीय कैडेट कोर अधिनियम XXXI 1948 के अंतर्गत राष्ट्रीय कैडेट कोर की स्थापना की गई है । (अप्रैल, 1948 में पारित, 16 जुलाई 1948 में स्थापित) |
  • एन सी सी क्रेस्ट में लाल रंग थल सेना का प्रतीकात्मक है |
  • एन सी सी का आदर्श वाक्य “एकता और अनुशासन” होता है |
  • एन सी सी क्रेस्ट में गहरा नीला एवं हल्का नीला रंग वायुसेना का प्रतीकात्मक है |
  • एन सी सी क्रेस्ट में कमल का फूल 17 राज्य निदेशालयों का प्रतीकात्मक हैं |
  • एन सी सी दिवस नवंबर के चौथे रविवार को मनाया जाता है |
  • इसका चिन्ह “एन सी सी” अक्षरों से युक्त स्वर्णांकित एन सी सी क्रेस्ट है, जिस पर सात पृष्ठभूमि में लाल, नीला तथा हल्का नीला रंग होता है |
  • एन सी सी के लिए वित्त/निधियों की व्यवस्था केन्द्र एवं राज्य सरकारें करती हैं |
  • राष्ट्रीय स्तर पर एन सी सी रक्षा मंत्रालय के अधीन है |
  • सभी राज्यों में एन सी सी शिक्षा मंत्रालय के अधीन है |

एनसीसी का उद्देश्य 

  • एनसीसी मुख्य रूप से देश के युवाओं में चरित्र सहचर्य, नेतृत्व, अनुशासन, धर्मनिरपेक्षता, रोमांच और निस्वार्थ सेवा भाव का संचार करना चाहता है | 
  • एनसीसी का उद्देश्य संघटित प्रशिक्षित व प्रेरित युवाओं का एक मानव संसाधन तैयार करना और उनके जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में नेतृत्व प्रदान करना व् देश की सेवा के लिए सदैव तत्पर रहना है |
  • एनसीसी सशस्त्र सेना में करियर बनाने के लिए युवाओं को प्रेरित करने का काम करता है और साथ ही में वह उचित वातावरण देना चाहता है |

टेस्ट ट्यूब बेबी या आईवीएफ क्या होता है

एनसीसी में प्रशिक्षण प्रदान करने वाले शिविरों के नाम 

एनसीसी में प्रशिक्षण प्रदान करने वाले निन्मलिखित शविर हैं, जिमे से कुछ नाम इस प्रकार है-

  • एनुअल ट्रेनिंग कैंप
  • इंटर ग्रुप कंपटीशन कैंप
  • थल सेना कैंप
  • नौ सेना कैंप
  • वायु सेना कैंप
  • रोक स्लीपिंग कैंप
  • आल इंडिया ट्रैकिंग कैंप
  • एडवेंचर ट्रेनिंग कैंप
  • आल इंडिया माउंटेन ट्रेनिंग कैंप
  • पैरा ट्रेनिंग कैंप

एनसीसी के फायदे  

  • आर्मी ⇒ IMA [इंडियन मिलिट्री एकेडमी] देहरादून और SSB के INTERVIEW में प्रत्येक वर्ष 64 रिक्तिया OTA  [ऑफिसर ट्रेनिंग एकेडमी] चेन्नई शॉर्ट सर्विस कमीशन के लिए प्रतिवर्ष 100 रिक्तिया |
  • नौसेना ⇒ प्रत्येक कार्य के लिए 6 रिक्तियां और SSB इंटरव्यू में पॉइंट्स |
  • एयर फोर्स ⇒ उड़ान प्रशिक्षण कोर्स सहित सभी कोर्स में 10 प्रतिशत कवक SSB साक्षात्कार सैनिक, नो सैनिक, वायु सैनिक की भर्ती में 5 से 10 प्रतिशत तक बोनस अंक दिए जाते है और जिन धारको के पास ‘C’ सर्टिफिकेट होता है उनकी कोई लिखित परीक्षा नहीं होती है और उन्हें छूट दी जाती है |
  • एनसीसी का सर्टिफिकेट प्राप्त कर लेने वाले अभ्यर्थियों को जनरल ड्यूटी, क्लर्क, SKT, टेक्निकल तथा नर्सिंग असिस्टेंट का रिटेन एग्जाम (Common Entrance Exam) नही देना पड़ता है | 
  • NCC में 100% मार्क्स वाला सर्टिफिकेट प्राप्त कर लेने वाले अभ्यर्थियों को आर्मी में एंट्री करने के लिए केवल फिजिकल फिटनेस टेस्ट तथा मेडिकल पास करना होता है |
  • NCC C Certificate होल्डर, इंडियन आर्मी NCC Entry Scheme के जरिये Short Service Commission भी प्राप्त कर सकते है | 
  • इसमें उन्हें लिखित परीक्षा नहीं देनी होती है क्योंकि,  shortlisted कैंडिडेट्स को SSB Interview के लिए कॉल  करके बुलाया जाता है |

एनसीसी  के नियम 

एनसीसी (NCC) के  अंतर्गत स्कूल और कॉलेज के छात्रों को सेना, नौसेना और वायु सेना के लिए उपयुक्त सैन्य प्रशिक्षण दिया जाता है,  वर्तमान समय में जिन कॉलेजों में एनसीसी पाठ्यक्रम  का ज्ञान कराया जाता है,  उनमें छात्रों को एंट्रेंस एग्जाम के माध्यम से प्रवेश  दिया जाता है, एनसीसी कैडेट बननें के लिए छात्र-छात्राओं को एप्टीट्यूड और फिजिकल टेस्ट में सफलता प्राप्त करनी होती है , इसके बाद  एन सी सी के अंतर्गत छात्रों को प्रमाण पत्र ए, बी तथा सी प्रदान किया जाते है |

स्मार्ट मीटर क्या होता है

यहाँ पर हमने आपको एनसीसी या राष्ट्रीय कैडेट कोर के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है |  यदि आपको इससे  सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करनी है तो आप  www.hindiraj.com पर विजिट कर सकते है |

एसएससी स्टेनोग्राफर कैसे बने