संगठित और असंगठित क्षेत्र क्या है

सेक्टर मुख्य रूप से तीन श्रेणियों में प्राथमिक, माध्यमिक और तृतीयक में विभाजित किये जाते है | वहीं रोजगार की स्थिति के आधार पर इन्हें एक संगठित और असंगठित क्षेत्र के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। इसलिए संगठित क्षेत्र वह क्षेत्र कहे जाते है, जो उचित प्राधिकारी या सरकार के साथ शामिल हो सकते है और इसके साथ ही में उसके नियमों और विनियमों का पालन करते है |  इसके  अलावा, असंगठित क्षेत्र को सेक्टर के रूप में समझ सकते है, जो सरकार के साथ शामिल नहीं होते है, जिसकी वजह से इसे किसी भी नियम का पालन करने की आवश्यकता नहीं पड़ती है | इसलिए यदि आप भी संगठित और असंगठित क्षेत्र के विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको संगठित और असंगठित क्षेत्र क्या है | Organised & Un-Organised Sectors in Hindi | इसकी पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है |

भारतीय अर्थव्यवस्था में कोर सेक्टर क्या है

संगठित (ORGANISED) क्षेत्र क्या है ?

वह क्षेत्र, जिसे सरकार के साथ पंजीकृत किया जाता है, उसे एक संगठित क्षेत्र कहा जाता है। यह एक ऐसा क्षेत्र होता है, जिसमें, लोगों को सुनिश्चित काम दिया जाता है, और इसमें रोजगार की शर्तें निश्चित और नियमित रखी जाती हैं। संगठित क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले उद्यमों, स्कूलों और अस्पतालों पर कई अधिनियम लागू किये जाते हैं। यदि इकाई के उचित पंजीकरण की आवश्यकता होती है, तो संगठित क्षेत्र में प्रवेश बहुत कठिन होता है | 

प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर भारत अभियान क्या है

संगठित क्षेत्र के तहत काम करने वाले कर्मचारियों को कई तरह के लाभ भी प्रदान किए जाते हैं जैसे – उन्हें नौकरी की सुरक्षा का लाभ प्रदान किया जाता है, विभिन्न भत्ते और अनुलाभ की तरह लाभ प्रदान  प्राप्त होता है। उन्हें एक निश्चित मासिक भुगतान, काम के घंटे और नियमित अंतराल पर वेतन पर बढ़ोतरी भी दी जाती है |

असंगठित (UN-ORGANISED) क्षेत्र की परिभाषा

वह सेक्टर जो सरकार के साथ पंजीकृत नहीं किया जाता है और जिसके रोजगार की शर्तें भी नहीं तय की जाती हैं, जिसे  नियमित रूप से असंगठित क्षेत्र मान लिया जाता है। यह एक ऐसा सेक्टर होता है, जिसमें किसी भी सरकारी नियम-कानून का पालन नहीं किया जाता है। ऐसे क्षेत्र में प्रवेश करना बहुत ही आसान काम होता है, क्योंकि इसके लिए किसी संबद्धता या पंजीकरण की जरूरत नहीं पड़ती है। वही, सरकार असंगठित क्षेत्र को विनियमित नहीं करती है, और इसलिए इसपर कर नहीं लगाया जाता है। इस क्षेत्र में प्रमुख रूप से उन छोटे आकार के उद्यम, कार्यशालाएं शामिल किया जाता हैं जहां कम कौशल और अनुत्पादक रोजगार पाया जाता है |

ऑटोनॉमी (AUTONOMY) या स्वराज्य क्या है

तुलना चार्ट

तुलना के लिए आधार संगठित क्षेत्र असंगठित क्षेत्र
अर्थ जिस क्षेत्र में रोजगार की शर्तें तय की जाती हैं और कर्मचारियों ने काम का आश्वासन दिया है वह है संगठित क्षेत्र। वह सेक्टर जिसमें छोटे पैमाने पर इमेरेट्स या यूनिट्स शामिल हैं और सरकार के साथ पंजीकृत नहीं हैं।
द्वारा शासित विभिन्न अधिनियम जैसे बोनस अधिनियम, बोनस अधिनियम, पीएफ अधिनियम, न्यूनतम मजदूरी अधिनियम आदि। किसी अधिनियम द्वारा शासित नहीं।
सरकारी नियम सख्ती से पालन किया गया पालन ​​नहीं किया गया
पारिश्रमिक नियमित मासिक वेतन। दैनिक मज़दूरी
नौकरी की सुरक्षा हाँ नहीं
काम करने के घंटे स्थिर निश्चित नहीं
अधिक समय तक ओवरटाइम के लिए श्रमिकों को पारिश्रमिक दिया जाता है। ओवरटाइम के लिए कोई प्रावधान नहीं।
श्रमिकों का वेतन जैसा कि सरकार द्वारा निर्धारित है। सरकार द्वारा निर्धारित वेतन से कम।
नियोक्ता द्वारा भविष्य निधि में योगदान हाँ नहीं
वेतन में वृद्धि कभी कभी शायद ही कभी
लाभ और अनुलाभ कर्मचारियों को चिकित्सा सुविधा, पेंशन, अवकाश यात्रा मुआवजा आदि जैसे लाभ मिलते हैं। नहीं दिया गया।

5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था का अर्थ

यहाँ पर हमने आपको संगठित और असंगठित क्षेत्र के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि आप इस जानकारी से संतुष्ट है, या फिर इससे समबन्धित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट के माध्यम से अपना सुझाव दे सकते है, आपकी प्रतिक्रिया का जल्द ही उत्तर दिया जायेगा | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

जी 7 (G-7) क्या है