अमरनाथ यात्रा 2022 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

प्रति वर्ष अमरनाथ की यात्रा मुख्य तौर पर हिंदू धर्म के अनुयायियों द्वारा की जाती हैं। हालांकि हर साल विदेशों से भी कई अन्य संप्रदायों के सैलानी भी अमरनाथ की यात्रा में शामिल होते हैं। अमरनाथ की यात्रा सकुशल संपन्न करवाने की सारी जिम्मेदारी अमरनाथ श्राइन बोर्ड के ऊपर होती है, जो अमरनाथ यात्रा का प्रबंधन करता है।

बता दें हाल ही में अमरनाथ श्राइन बोर्ड के द्वारा हाल ही में नोटिफिकेशन जारी किया गया है, जिसमें कहा गया है कि जो भी श्रद्धालु यात्रा करने आना चाहते हैं वह अपना रजिस्ट्रेशन अवश्य करवाएं। इस प्रकार जो श्रद्धालु दर्शन करना चाह रहे है उन्हें अमरनाथ यात्रा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन अवश्य करना चाहिए, जो हम इस आर्टिकल में बता रहे हैं।

चार धाम (Char Dham) यात्रा क्या है

Amarnath Yatra 2022 Distance and Yatra Route [Hindi]

हिंदू समुदाय के लोगों के लिए अमरनाथ की यात्रा करना बहुत ही सौभाग्यशाली माना जाता है। अमरनाथ को बाबा बर्फानी भी कहा जाता है, जहां पर बर्फ से बना हुआ शिवलिंग मौजूद है और उसी शिवलिंग के दर्शन करने के लिए लोग अमरनाथ यात्रा करते हैं। अमरनाथ यात्रा में हर साल लाखों लोगों की भीड़ जाती है। इसलिए अमरनाथ यात्रा करने जाने वाले हर श्रद्धालु को अपना ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना आवश्यक होता है, ताकि अमरनाथ की यात्रा करने आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या को देखते हुए उचित व्यवस्था गवर्नमेंट के द्वारा और अमरनाथ श्राइन बोर्ड के द्वारा की जा सके।

बाबा बर्फानी अमरनाथ की गुफा में समुद्र तल से तकरीबन 3890 किलोमीटर की ऊंचाई पर मौजूद है और यात्रा का ट्रैक तकरीबन 141 किलोमीटर लंबा है। अमरनाथ यात्रा सिर्फ हिंदू श्रद्धालु ही नहीं करते हैं बल्कि हर साल कई विदेशी श्रद्धालु भी इस यात्रा में शामिल होते हैं। अमरनाथ की यात्रा का रास्ता बट लाल, वन ब्लॉक और पहलगाम से होकर के जाता है। यात्रा के दरमियान श्रद्धालुओं को टोटल 2 पवित्र गुफाओं से गुजरना पड़ता है। 

अमरनाथ यात्रा 2022 ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया [Booking]

नीचे दी गई विधि का पालन करके आप अमरनाथ यात्रा में अपना रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन करवा सकते हैं।

  • अमरनाथ यात्रा में अपना पंजीकरण करवाने के लिए आपको अमरनाथ श्राइन बोर्ड की वेबसाइट को विजिट करना होगा, जिसका लिंक आपको नीचे दिया गया है।
  • विजिट वेबसाइट: https://jksasb.nic.in/
  • अमरनाथ श्राइन बोर्ड की वेबसाइट के होम पेज पर पहुंचने के पश्चात आपको Register वाला ऑप्शन दिखाई देगा, उस पर आपको क्लिक कर देना है। 
  • रजिस्टर वाले ऑप्शन पर क्लिक करने के पश्चात आपकी स्क्रीन पर एक पेज ओपन होगा, उस पेज में आपको i agree वाले ऑप्शन पर टिक मार्क करना है।
  • अब आपको register वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • अब आपकी स्क्रीन पर रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलेगा। इस फोर्म के अंदर आपको सभी जानकारियों को भरना है।
  • सभी जानकारियों को भरने के पश्चात आपको जरूरी दस्तावेज upload कर देने हैं।
  • दस्तावेज अपलोड कर देने के बाद आपको submit वाली बटन दबाना है।
  • इतनी प्रोसेस कंप्लीट होते ही आपका अमरनाथ यात्रा में ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पूर्ण हो जाता है।

चारधाम यात्रा रजिस्ट्रेशन

अमरनाथ यात्रा हेतु दस्तावेज 

अमरनाथ यात्रा हेतु नियम व शर्ते

अमरनाथ यात्रा पर कई बार आतंकवादी हमले हो चुके हैं। इसीलिए अमरनाथ यात्रा को लेकर के गवर्नमेंट और अमरनाथ श्राइन बोर्ड काफी सतर्क रहता है और इसलिए अमरनाथ की यात्रा हेतु अमरनाथ श्राइन बोर्ड के द्वारा कुछ नियम और शर्तें बनाई गई है।

जिसका पालन अमरनाथ जाने वाले हर श्रद्धालुओं को करना आवश्यक होता है। नीचे आपको अमरनाथ यात्रा पर जाने के पश्चात कौन से नियमों और शर्तों का पालन आपको करना पड़ता है, इसकी जानकारी दी गई है।

  • अमरनाथ की यात्रा पर जाने वाले हर यात्री को ऑनलाइन और ऑफलाइन परमिट हासिल करना जरूरी है।
  • अमरनाथ श्राइन बोर्ड के द्वारा जो परमिट जारी किया जाता है, वह सिर्फ 1 साल के लिए वैलिड होता है।
  • जो यात्री अमरनाथ की यात्रा पर जा रहे हैं उनकी कम से कम उम्र 13 साल और अधिक से अधिक उम्र 75 साल होनी चाहिए।
  • जिस महिला को प्रेग्नेंट हुए 6 सप्ताह से अधिक का समय हो गया है उन्हें यात्रा करने की परमिशन नहीं दी जाती है।
  • हर यात्री को परमिट तैयार करवाने के लिए अपना फिटनेस सर्टिफिकेट देना जरूरी है।

अमरनाथ गुफा से संबंधित रोचक बातें

  • भगवान शंकर के प्रमुख धार्मिक स्थलों में अमरनाथ गुफा की गिनती होती है।
  • अमरनाथ गुफा जाने के लिए आप पहलगाम से भी जा सकते हैं और बालटाल से भी जा सकते हैं।
  • अमरनाथ की गुफा दक्षिण कश्मीर के हिमालयी क्षेत्र में मौजूद है।
  • जम्मू कश्मीर के श्रीनगर शहर से तकरीबन 140 किलोमीटर की दूरी पर अमरनाथ गुफा मौजूद है, जो समुद्र तल से तकरीबन 12756 फीट की ऊंचाई पर मौजूद है।
  • बुजुर्गों के लिए अमरनाथ की गुफा के दर्शन करने के लिए अमरनाथ के इलाके में घोड़े और खच्चर भी मौजूद होते हैं।
  • हर साल देश के अलग-अलग राज्यों से साथ ही विदेशों से भी यहां पर लाखों की संख्या में श्रद्धालु भगवान भोलेनाथ के दर्शन करने की इच्छा से आते हैं।
  • अमरनाथ गुफा में जो शिवलिंग है वह बर्फ से बना हुआ है और उसकी ऊंचाई तकरीबन 12 फीट के आसपास में है।
  • गुफा के आसपास और थोड़ी दूरी पर धर्मशाला भी चलती रहती है, जहां पर निशुल्क भंडारे का आयोजन भी होता रहता है।

अमरनाथ यात्रा रजिस्ट्रेशन बैंक लिस्ट  

अमरनाथ श्राइन बोर्ड के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफीसर नितीशवर कुमार के द्वारा बताया गया है कि अमरनाथ की यात्रा पर जो भी श्रद्धालु आना चाहते हैं, वह अपना रजिस्ट्रेशन 11 अप्रैल से करवा सकते हैं क्योंकि रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया साल 2022 के 11 अप्रैल से स्टार्ट हो रही है। 

रजिस्ट्रेशन के लिए देश भर की कई बैंकों के साथ अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने संपर्क किया हुआ है, जिसमें यस बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, जम्मू कश्मीर बैंक, पंजाब नेशनल बैंक की विभिन्न शाखा से श्रद्धालु अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

अमरनाथ यात्रा प्रारंभ तिथि 2022 | Amarnath Yatra Opening Date

जो श्रद्धालु अमरनाथ की यात्रा पर जाना चाहते हैं वह 11 अप्रैल 2022 से अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। अमरनाथ की यात्रा 30 जून के आसपास से स्टार्ट हो जाएगी परंतु इस यात्रा में वही श्रद्धालु जा सकेंगे। जिन्होंने अपना पंजीकरण ऑनलाइन करवाया हुआ है अथवा ऑफलाइन करवाया हुआ है। 

इस यात्रा में पंजीकरण की फीस ₹150 रखी गई है जिसकी पेमेंट आप डेबिट कार्ड, यूपीआई, इंटरनेट बैंकिंग के जरिए कर सकते हैं। बता दें कि जो भी व्यक्ति अमरनाथ यात्रा में जाएगा उसका बीमा भी होगा जो कि पहले ₹300000 का होता था परंतु अब ₹500000 का होगा। वही अमरनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं को घोड़े और खच्चर की सहायता से जो लोग यात्रा करवाते हैं, उनका भी बीमा होगा।

FAQ: 

अमरनाथ यात्रा करने में कितना खर्चा सकता है?

एक आदमी के पीछे 15000 से ₹18000

अमरनाथ यात्रा का मैनेजमेंट कौन देखता है?

अमरनाथ श्राइन बोर्ड 

अमरनाथ श्राइन बोर्ड की वेबसाइट कौन सी है?

: https://jksasb.nic.in/

अमरनाथ यात्रा कितने दिन की होती है?

43 दिन

जगन्नाथ पुरी का रहस्य क्या है

Leave a Comment