QR Code Kya Hota Hai ?



दोस्तों आज हम आपको एक अहम जानकारी उपलब्ध कराने जा रहें हैं। जिसका नाम QR Code हैं। जी हाँ दोस्तों ज्यादातर लोग इसके बारे में नहीं जानते, की QR Code Kya Hota Hai और ये कैसे काम करता है? एवं कैसे बनाया जाता है? व बनाने का तरीका क्या है। अगर आप भी इन सभी जानकारी को प्राप्त करना चाहते हैं, तो हमारा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होगा, क्योकि आज हम आपको क्यूआर कोड से संबंधित सभी जानकारी को आसान शब्दों में उपलब्ध करा रहें हैं। QR Code को विस्तार से जानने के लिए आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़ें।

QR Code क्या है? QR Code Kya Hota Hai  

आप लोगों ने QR Code को Advertisement, Billboards या किसी Products के ऊपर जरुर देखा होगा,QR Code का full form “Quick Response code”. हैं यह हमारे किसी भी तरह के डाटा की डिजिटल फोमॅ में स्टोर कर लेता है जिसे हम रीड नहीं कर सकते इसे सिर्फ इसकी मशीन के जरिए ही रीड किया जा सकता है। ये दिखने में Square Barcode के तरह ही होता हैं जिसे सबसे पहले Japan में develop किया गया था। अब आप स्मार्टफोन से भी स्कैन करके रीड कर सकते है। QR Code प्रोसेस के जरिए बनाया जाता है क्योंकि यह सिर्फ स्कैनिंग मशीन द्वारा ही रीड किया जा सकता है। ये ज्यादा attractive हैं और इसमें ज्यादा information भी store किया जा सकता है. इसके साथ साथ इस बड़ी आसानी से capture किया जा सकता है।

साथ ही QR codes का इस्तमाल हर जगह होता है जैसे की किसी Product को ट्रैक करने में या उसे identify करने में. यूँ कहे तो ये typical barcode का upgraded version है।

QR Code Kya Hota Hai  


QR codes इतना important क्यूँ है

दोस्तों अब आप ये समझ गए होंगे की QR Code क्या है। हमारे जैसे consumer की बात करें तो QR Codes की मदद से हम बड़ी आसानी से अपने SmartPhones को इस्तमाल कर कुछ action जल्दी से कर सकते हैं।उसको पढ़ने के लिए हमें एक डिजिटल स्केनर की जरूरत पड़ती है आमतौर पर हम उसे नहीं पढ़ सकते, वह सिर्फ हमें स्क्वायर शेप का ही दिखाई देता है इसमें काले और सफेद स्पॉट होते हैं। इसमें बहुत सारी इंफॉर्मेशन को स्टोर किया जा सकता है आप QR Code के जरिए भी अपनी जानकारी को शेयर कर सकते हैं उसे पढ़ना एक आम आदमी के बस की बात नहीं है इसे स्केनर मशीन और नए जमाने के स्मार्टफोन ही स्कैन कर सकते हैं।NFC (Near Field Communication) की तरह इसमें कोई Fancy electronic नहीं लगी है या इसमें कोई special technology का इस्तमाल भी नहीं हो रहा है।



उदाहरण – अगर advertising board में आपने कोई क्यूआर कोड देखा और उसे आपने स्कैन कर लिए तब वो आपको किसी website में ले गया, इसका मतलब है की उस QR Code में किस website का URL embeded था. इसी तरह ही काम करता है QR Code।

QR Code और 1D UPC Barcode में क्या अंतर है

दोस्तों हम आपको बता दें की QR Code को किसी भी direction से स्कैन कर सकते है (vertically और horizontally) लेकिन Barcode को हम एक ही direction से स्कैन कर सकते है। इसके आलावा 1D Barcode(UPC) में 30 numbers तक store हो सकता है लेकिन क्यूआर कोड में हम 7089 numbers तक store कर सकते हैं।

Google Pay से पैसे कैसे ट्रांसफर करें

क्यूआर कोड के प्रकार

QR Code Kya Hota Hai, Static QR Code, Dynamic QR Code ये दोनों QR Code के प्रकार हैं।

स्टैटिक क्यूआर कोड   डायनामिक क्यूआर कोड
स्टैटिक क्यूआर कोड का इस्तेमाल सर्वजनिक जानकारी को फैलाने के लिए किया जाता है और इसे बहुत कम बार संपादित भी किया जाता हैं। इस क्यूआर कोर्ट को पोस्टर्स, टीवी एंड, न्यूजपेपर, मैगजीन आदि ने प्रकाशित किया जाता है। इस कोड का निर्माता जानकारी प्राप्त कर पाता है। जैसेये एक तरह का लाइव कोड होता है जिसे टाइम टाइम पर संपादित किया जाता है। इसे Unique QR Code के नाम से भी जाना जाता है। इस कोड के निर्माता कई प्रकार की इंफॉर्मेशन को ट्रैक कर सकते हैं जैसे
QR Code कितनी बार स्कैन किया गया।स्कैन करने वाले का नाम
जिस डिवाईस से स्कैन हुआ है उसका OSईमेल आईडी , कितनी बार स्कैन किया, कोड में शामिल जानकारी तक पहुँच, Conversation Rate आदि।      

QR कोड के कार्य

अगर आपके पास कोई SmartPhone है भले ही वो iPhone, Android या Blackberry तो आप भी इसका इस्तमाल करके कोई QR Code scan कर सकते हैं।

  • साथ ही आप अपने किसी भी फ्रेंड को पासवर्ड बताने की जगह उसे डायरेक्ट क्यूआर कोड के जरिए कनेक्ट करवा सकते हैं।
  • Red laser, Barcode Scanner, QR Scanner जिनकी मदद से आप कोई भी QR Code बड़ी आसानी से decode कर सकते हैं. ये सारे App अक्सर Free होते हैं।
  • आप विजिटिंग कार्ड में भी इसका उपयोग कर सकते हैं।
  • इसके साथ ही आप बिना नंबर लिखे SMS भेज सकते हैं। इसके लिए आपको बस एसएमएस भेजने वाले का क्यु आर कोड स्कैन करना पडेगा। स्कैन करते ही नंबर आ जाता हैं।
  • massive storage capacity के कारण ही इसमें videos और बड़े Files को बड़ी आसानी से store किया जा सकता है।
  • इसके आलावा इसका उपयोग आप फेसबुक पेज के लिए भी कर सकते हैं क्योंकि इसमें फेसबुक पेज का लिंक होगा तो जब भी कोई इस कोड को स्कैन करेगा तो वह आपके फेसबुक पेज पर पहुंच जाएगा।

फेसबुक से पैसे कैसे कमाए?

QR Code कोड के लाभ

QR Code Kya Hai  

  • QR Code को scanner app की मदद से आप कई प्रकार के लाभ प्राप्त कर सकते हैं। जैसे –
  • अगर आपको यूट्यूब का कोई लिंक शेयर करना होता है तो उसको भी आप क्यूआर कोड का जरिय दूसरों तक भेज सकते हैं
  • इसमें videos और बड़े Files को बड़ी आसानी से store किया जा सकता है
  • हमारे जैसे consumer की बात करें तो QR Codes की मदद से हम बड़ी आसानी से अपने SmartPhones को इस्तमाल कर कुछ action जल्दी से कर सकते हैं।
  • अगर किस advertising board में आपने कोई क्यूआर कोड देखा और उसे आपने स्कैन कर लिए तब वो आपको किसी website में ले गया, इसका मतलब है की उस QR Code में किस website का URL embeded था. इसी तरह ही काम करता है QR Code।
  • अगर हम scanning की बात करें तो QR Code को किसी भी direction से स्कैन कर सकते है।
  • इसका इस्तमाल काफी बढ़ गया है जैसे आजकल इसे हम Advertisement, billboard और business window में भी देख सकते हैं. यहाँ तक की इसका इस्तमाल कुछ websites भी कर रहे हैं।
  • QR codes का इस्तमाल हर जगह होता है जैसे की किसी Product को ट्रैक करने में या उसे identify करने में. यूँ कहे तो ये typical barcode का upgraded version है।
  • यह लिंक आपके वीडियो वेबसाइट या किसी दूसरे लिंग तक ही सीमित नहीं है बल्कि इसमें आप अपना मैसेज फोन नंबर कूपन और अपने लोकेशन भी क्यूआर कोड के द्वारा भेज सकते हैं जो कि एक डिजिटल फॉर्म में होता है।
  • इसमें बारकोड के मुकाबले 50 गुना ज्यादा डाटा स्टोर किया जा सकता है जबकि बारकोड में बहुत कम डाटा रहता है।
  • ये ज्यादा attractive हैं और इसमें ज्यादा information भी store किया जा सकता है. इसके साथ साथ इस बड़ी आसानी से capture किया जा सकता है।

क्यूआर कोड को कैसे बनाएं ?

दोस्तों इसके लिए सबसे पहले हमें अपना गूगल क्रोम खोलना, उसके बाद बहुत सी ऐसी वेबसाइट्स हैं जिनके ऑनलाइन टूल के सहायता से आप बहुत आसानी से क्यूआर कोड बना सकते हैं।

  • आप सबसे पहले इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाएंगें।
  • वहां पहुंचकर अपना यूआरएल डालना हैं।
  • अब आपको बहुत सारे ऑप्शन नजर आएंगे।
  • फिर आपको एड क्यूआर कोड का ऑप्शन दिखाई देगा उसको क्लिक करना हैं।
  • क्लिक करने के बाद जिस जानकारी को कि क्योआर कोड में बदलना चाहते हैं उसे लिखें।
  • अब आपको क्रिएट कोड के ऑप्शन  पर क्लिक करना हैं।
  • फिर आप देखेंगे स्क्रीन की राइट साइड में आप का क्यूआर कोड बनकर तैयार हो जाएगा।
  • जिसे आप डाउनलोड कर सकते हैं।
  • अब इसे सेव करके जहां आप भेजना चाहे वहां पर सकते हैं।

Hamraaz App Download कैसे करें

QR Code कितना सुरक्षित है 

दोस्तों जैसा की हमने जाना की क्यूआर कोड कितना इंपॉर्टेंट हो गया हैं जिसके माध्यम से हम विभिन्न प्रकार के कार्य आसानी से कर सकते हैं। अब बात करें की क्यूआर कोड कितना सुरक्षित है, हर चीज के अपने फायदे होते हैं और उसी के साथ-साथ कुछ नुकसान भी होते हैं इसी तरह से क्यूआर कोड पूरी तरह से सुरक्षित नहीं हैं। इसमें कुछ डेंजर चीजें भी डाली जा सकती हैं। उदहारण के तौर पर बात करे तो यदि कोई क्रिमिनल चाहे तो कोई ऐसी क्यू आर कोड पर अपने किसी moulicious यूआरएल को डाल सकता है और उसे ऐसी जगह फिक्स कर सकता है जहां बहुत ज्यादा ट्राफिक होता है। जिसके बाद वह  बड़ी ही आसानी से उसके मोबाइल में घुस सकता है जिससे काफी खतरा बढ़ सकता है। इसलिय हम कह सकते हैं की क्यूआर कोड पूरी तरह से सुरक्षित नहीं हैं।

FAQ’s QR Code Kya Hota Hai  
QR Code के Business में क्या फ़ायदे है?

किसी भी conventional Barcode के मुकाबले ये बहुत ही ज्यादा फ़ायदे हैं. इसका सबसे महत्वपूर्ण फ़ायदा यह है की इसमें हम 100 गुना ज्यादा information store कर सकता हैं किसी Barcode के मुकाबले।

किसने QR Code का आविष्कार किया?

Denso-Wave जो की एक subsidiary company है Toyota Group के उन्होंने ही सबसे पहले QR Code का आविष्कार किया सन 1994 में।

QR Code में क्या Store हो सकता है?

इसमें हम कोई भी URL को encode कर सकते हैं जिससे की अगर कोई QR Code को Scan करे तो वो website आराम से खुल सकता है।
उदहारण के तोर पे अगर आप चाहते हैं की कोई आपके facebook page को like करे तब आप अपने facebook page का URL उस QR कोड में दे सकते है जिससे की कोई अगर उसे scan करना चाहे तो वो redirect होकर आपके Facebook पेज में ही जायेगा।

QR Code और 1D UPC Barcode में क्या अंतर है?

1D Barcode(UPC) में 30 numbers तक store हो सकता है लेकिन क्यूआर कोड में हम 7089 numbers तक store कर सकते हैं।

Leave a Comment