AC कैसे काम करता है?



बढ़ती गर्मी से छुटकारा पाने के लिए ज्यादातर लोग अब घरो में पंखे और कूलर की जगह AC का इस्तेमाल कर रहें हैं। एयर कंडीशनर एक मशीन है जो हवा को ठंडा करने और नमी को हटाने के लिए उपयोग किया जाता है । पहले केवल कुछ संपन्न लोग ही AC का इस्तेमाल किया करते थे, परंतु आजकल मध्यमवर्गीय परिवार के लोग भी AC का इस्तेमाल करने लगे है। अगर आप भी ये जानना चाहते हैं की air conditioner क्या होता है ? और Air conditioner कैसे कार्य करता है, तो आपको परेशान होने की बिल्कुल जरूरत नहीं हैं, क्योकि आज हम आपको अपने आर्टिकल में इससे जुडी सभी जानकारी उपलब्ध करा रहें हैं। इसकी सभी जानकारी को विस्तार से जानने के लिए आप हमारे इस आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़ें।

Forever Company Kya Hai?

Air Conditioner क्या होता है?

वित्तीय वर्ष 17 जुलाई, 1902 को विलिस कैरियर ने पहली आधुनिक एयर कंडीशनिंग प्रणाली का आविष्कार किया। ये एक ऐसा उपकरण या सिस्टम हैं, जिसके द्वारा humidity, ventilation , और temperatureको अपने comfort के अनुसार नियंत्रित किया जाता है तो उस system या उपकरण को air conditioner कहते हैं। ये कई तरह के आकार और साइज़ में आते हैं, लेकिन वे सभी एक ही मूल आधार पर काम करते हैं। एयर कंडीशनर आपके घर या बंद जगह के अंदर ठंडी हवा प्रदान करता है, वास्तव में अंदर की हवा से गर्मी और नमी को हटाकर। यह ठंडी हवा को घर के अंदर वापस लाता है, और अवांछित गर्मी और नमी को बाहर स्थानांतरित करता है।जब एयर कंडीशनर चालू होता है, तो वह एक कंप्रेसर चलाता है जो गर्म गैस को निकालता है और उसे कंडेंसर कॉइल में भेजता है । कंडेंसर कॉइल में, गैस को ठंडा किया जाता है जिससे यह गैस द्रव्यमान में परिवर्तित होती है । फिर यह गैस एक एवापोरेटर कॉइल में जाती है, जो हवा के संपर्क में होता है । एवापोरेटर कॉइल में गैस को फैलाया जाता है जिससे हवा को ठंडा किया जाता है ।

img-1


एयर कंडीशनर के कार्य

एयर कंडीशनर के निम्लिखित कार्य हैं –



  • दुनिया का पहला AC Willis Haviland Carrier ने सन् 1902 में बनाया था ।
  • AC जहां पर लगा होता है, वह वहाँ से गर्म हवा को सोखता है, और उस गर्म हवा को अपने अंदर लगे हुऐ Refrigerant और Coils के द्वारा Process करके ठंडी हवा को वापस बाहर फेकता है।
  • स्प्लिट एयर कंडीशनर दो भागों से मिलकर बना होता है – एक इनडोर यूनिट और एक आउटडोर यूनिट । इनडोर यूनिट जो कि कमरे के अंदर स्थित होता है, ठंडी वायु को उत्पन्न करता है जबकि आउटडोर यूनिट वायु को ठंडा करने और उसे इनडोर यूनिट तक पहुंचाने के लिए उपयोग में लाया जाता है ।
  • दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों में हर घर में आपको एक छोटा air conditioner दिख ही जायेगा ।
  • इससे किसी भी रूम का Temperature कम होने लगता है।
  • एयर कंडीशनर एक मशीन है जो हवा को ठंडा करने और नमी को हटाने के लिए उपयोग किया जाता है ।

एयर होस्टेस (Air Hostess) कैसे बनें

img-2
  • एयर कंडीशनर के अंदर एक फैन लगा होता है जो वायु को एवापोरेटर कॉइल से उठाकर उसे आसपास के कमरों में फैलाता है।
  • पोर्टेबल एसी होता है जो केवल एक ही कमरे को ठंडा करने में मदद करता है । यह एक बंद कमरे में आसानी से फिट हो जाता है और एक बड़ी विंडो के रूप में उपयोग किया जाता है ।
  • एयर कंडीशनर के प्रकारों का वर्णन करने के साथ भी ऐसा ही है। और क्योंकि इनडोर रहने की जगहें कई तरह के आकार और साइज में आती हैं, आज के नए छोटे घरों से लेकर 30,000 वर्ग फुट के एस्टेट तक, आवासीय एयर कंडीशनिंग सिस्टम भी अलग-अलग शैलियों और विन्यास में उपलब्ध हैं।
  • इसके आलावा पोर्टेबल एसी का कंप्रेसर वातावरण के अनुसार वायु को ठंडा करने के लिए कंप्रेस करता है । फिर ठंडी वायु को एक एवापोरेटर कॉइल से गुजरने देता है, जो वायु को ठंडा करता है।
  • टावर एयर कंडीशनर पोर्टेबल एयर कंडीशनर का एक प्रकार है जो ऊँचाई पर खड़ा होता है और उपयोगकर्ता के मुख्य जगह के निकट रखा जाता है । इसमें एक कंप्रेसर होता है जो गर्म वायु को अंदर लेकर कूल करने वाली एवापोरेटर कॉइल में धकेल देता है। टावर एयर कंडीशनर पोर्टेबल एयर कंडीशनर का एक प्रकार है जो ऊँचाई पर खड़ा होता है और उपयोगकर्ता के मुख्य जगह के निकट रखा जाता है । इसमें एक कंप्रेसर होता है जो गर्म वायु को अंदर लेकर कूल करने वाली एवापोरेटर कॉइल में धकेल देता है । ये बड़ो कमरों में उपयोग क्या जाता हैं। 
  • डक्टलेस सिस्टम को केंद्रीय वायु प्रणाली नहीं माना जाता है क्योंकि वे घर के भीतर विशिष्ट, लक्षित क्षेत्रों में शीतलन प्रदान करते हैं। उन्हें कम आक्रामक स्थापना की आवश्यकता होती है।
img-3

उपयोगिता

स्प्लिट-सिस्टम एयर कंडीशनर, पैकेज्ड एयर कंडीशनर और डक्टलेस एयर कंडीशनर। प्रत्येक का अपना विशेष उपयोग है, लेकिन वे सभी अनिवार्य रूप से एक ही काम करते हैं – आपके घर के अंदर ठंडक पहुंचाते हैं। आपके लिए सबसे अच्छा काम करने वाला कूलिंग सिस्टम का प्रकार आपकी भौगोलिक स्थिति, आपके घर के आकार और भौतिक सीमाओं और आपके द्वारा इसका उपयोग करने के तरीके पर निर्भर करता है।

  • स्प्लिट-सिस्टम एयर कंडीशनर में यूनिट और आउटडोर यूनिट दोनों शामिल हैं।
  • पैकेज्ड सिस्टम ऑल-इन-वन समाधान हैं जो इस सवाल का भी जवाब देते हैं कि “सेंट्रल एयर क्या है?”
  • जब स्प्लिट-सिस्टम एयर कंडीशनर की इनडोर यूनिट के लिए अटारी या कोठरी में पर्याप्त जगह नहीं होती है तो वे अच्छी तरह से काम करते हैं। वे उन क्षेत्रों में भी एक अच्छा विकल्प हैं जहाँ छत पर इंस्टॉलेशन को प्राथमिकता दी जाती है।
  • डक्टलेस सिस्टम को केंद्रीय वायु प्रणाली नहीं माना जाता है क्योंकि वे घर के भीतर विशिष्ट, लक्षित क्षेत्रों में शीतलन प्रदान करते हैं। उन्हें कम आक्रामक स्थापना की आवश्यकता होती है क्योंकि, जैसा कि उनके नाम से पता चलता है, वे ठंडी हवा वितरित करने के लिए डक्टवर्क पर निर्भर नहीं होते हैं।
  • यह air conditioner का मुख्य भाग होता है तथा पूरे cost का 30 से 40 प्रतिशत cost सिर्फ और सिर्फ compressor की होती है ।
  • यह एक पंप होता है जो refrigerant को पंप करके condenser और evaporator के बीच flow कराता है।

सौर ऊर्जा (Solar Energy) क्या है

Air Conditioning System की संरचना में मुख्य चार भाग होते हैं।

  • Compressor
  • Condenser
  • Expansion  valve
  • Evaporator
FAQ’s
एयर कंडीशनर की परिभाषा क्या है?

: हवा को धोने और उसकी आर्द्रता और तापमान को नियंत्रित करने के लिए एक उपकरण से लैस करना (जैसे कोई इमारत या वाहन)

एयर कंडीशनर क्या होता हैं ?

एयर कंडीशनर जिसका अर्थ वातानुकूलक होता है। एयर कंडीशनर एक प्रकार की मशीन होती है जो रेफ्रिजरेशन साइकिल के अंतर्गत काम करती है और किसी एक जगह में गरम हवा को बहार निकाल कर अंदर जगह ठंडी करने का काम करती है।

एयर कंडीशनर किससे बनता है?

एयर कंडीशनर विभिन्न प्रकार की धातु से बने होते हैं।

एयर कंडीशनर कब लगाना चाहिए?

गर्मियों में।

AC की फुल फॉर्म क्या हैं?

AC की फुल फॉर्म-‘Air Conditioner ‘और ‘Anti Corruption’ दोनों हैं।

Leave a Comment