जम्मू कश्मीर में कितने जिले हैं

राष्ट्रपति के आदेश के पश्चात साल 1954 में 14 मई के दिन जम्मू कश्मीर को भारत के एक नए राज्य के तौर पर स्थापित किया गया। जम्मू कश्मीर साल के 12 महीने ठंडा ही रहता है क्योंकि यह हिमालय के काफी करीब है। इस लेख में हम जम्मू कश्मीर में कितने जिले हैं | List of Districts in Jammu & Kashmir [राजधानी व नक्शा] देखेंगे।

जम्मू कश्मीर को प्रायः J&K नाम से भी जाना जाता है, पाकिस्तान के साथ इसकी सीमा छूती है। इसीलिए अक्सर पाकिस्तानी सैनिकों के द्वारा जम्मू-कश्मीर में घुसपैठ की जाती है, जिसे भारतीय सैनिकों के द्वारा नाकाम किया जाता है। 

लद्दाख में कितने जिले हैं

जम्मू कश्मीर में कितने जिले हैं ?

साल 2019 में 5 अगस्त तक जम्मू कश्मीर भारत का एक राज्य था परंतु साल 2019 में ही अगस्त के महीने में जम्मू कश्मीर को विभाजित किया गया और इसमें से कुछ जिलों को लद्दाख में शामिल कर दिया गया। इस प्रकार से वर्तमान के समय में जम्मू कश्मीर में मौजूद जिलों की संख्या 20 है। 

जम्मू कश्मीर हमेशा से ही विवाद में रहा है। यहां पर भारत में सबसे अधिक आतंकवादी गतिविधियां होती हैं क्योंकि जम्मू कश्मीर पर पाकिस्तान भी अपना दावा करता है और भारत भी। इसलिए भारत के द्वारा पाकिस्तान के द्वारा कब्जाए गए कश्मीर को पाक ऑक्यूपाइड कश्मीर (PoK) कहां जाता है और पाकिस्तान के द्वारा भारत के कब्जाए गए कश्मीर को इंडियन ऑक्यूपाइड कश्मीर (IoK) कहा जाता है।

Map of Jammu and Kashmir After 370 Article

जम्मू कश्मीर के सभी जिलों के नाम | List of Districts in Jammu & Kashmir

  • जम्मू जिला          
  • डोडा जिला             
  • किश्तवार जिला    
  • राजौरी जिला         
  • रियासी जिला        
  • उधमपुर जिला      
  • रामबन जिला        
  • कठुआ जिला         
  • साम्बा जिला         
  • पुंछ जिला              
  • श्रीनगर जिला        
  • अनंतनाग जिला   
  • कुलगाम जिला      
  • पुलवामा जिला      
  • शोपियां जिला       
  • बडगाम जिला       
  • गांदरबल जिला     
  • बांदीपोरा जिला      
  • बारामुला जिला     
  • कुपवाड़ा जिला       

जम्मू कश्मीर का सर्वाधिक साक्षरता वाला जिला

धरती का स्वर्ग कहे जाने वाले जम्मू कश्मीर राज्य में सबसे ज्यादा पढ़े लिखे लोग जम्मू जिले में ही निवास करते हैं। आंकड़े के अनुसार जम्मू जिले की साक्षरता की दर 83.45 प्रतिशत है। इसके बाद साक्षरता के मामले में दूसरे स्थान पर जम्मू कश्मीर का सांबा जिला आता है। 

सांबा जिले की साक्षरता की दर 81.41% है। तीसरे स्थान पर जम्मू कश्मीर का कठुआ जिला विराजमान है। यहां की साक्षरता की दर 73.09 प्रतिशत है।

जम्मू कश्मीर का सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला

संपूर्ण भारत में हुई साल 2011 की सामाजिक, आर्थिक और जाति जनगणना के हिसाब से जम्मू कश्मीर में सबसे अधिक आबादी वाले जिले के स्थान पर पहले नंबर पर जम्मू जिले का ही नाम आता है। जम्मू जिले की टोटल आबादी साल 2011 की जनगणना के हिसाब से 1529958 है। 

इसके बाद आबादी के मामले में दूसरे स्थान पर श्रीनगर जिला आता है। श्रीनगर जिले की आबादी 1236829 है। तीसरे स्थान पर अनंतनाग जिले का नाम आता है और चौथे स्थान पर बारामुला जिले का नाम आता है। अनंतनाग जिले की कुल आबादी तक़रीबन 1078692 है जबकि बारामूला जिले की कुल आबादी 1008039 है।

जम्मू1529958
श्रीनगर 1236829
अनंतनाग1078692
बारामूला1008039

जम्मू कश्मीर का सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला 

जम्मू कश्मीर राज्य में सबसे बेहतरीन लिंगानुपात के मामले में सोपिया जिले का नाम पहले स्थान पर आता है। सोपिया जिले में प्रति एक हजार पुरुषों पर 951 महिलाएं हैं। दूसरे नंबर पर कुलगाम जिले का नाम आता है। कुलगाम जिले में प्रति एक हजार पुरुषों पर 951 महिलाएं हैं। तीसरे स्थान पर अनंतनाग जिला विराजमान है। 

यहां का लिंगानुपात प्रति 1000 पुरुषों पर 927 महिलाएं हैं। चौथे स्थान पर किश्तवाड़ जिला है। किश्तवाड़ जिले का लिंगानुपात प्रति 1000 पुरुषों पर 920 महिलाएं हैं। पांचवें स्थान पर डोडा जिले का नाम आता है। यहां का लिंगानुपात प्रति 1000 पुरुषों पर 919 महिलाएं हैं। इसके बाद क्रमशः पुलवामा, रामबन और श्रीनगर जिले का स्थान आता है।

शुपियां    951
कुलगाम951
अनंतनाग927
किश्तवाड़920
डोडा919
पुलवामा912
रामबन902
श्रीनगर900

जम्मू कश्मीर का सर्वाधिक विकास दर वाला जिला

जम्मू कश्मीर में सबसे विकसित जिला अनंतनाग जिला है। यहां की विकास दर 38.58% है। दूसरे स्थान पर सबसे ज्यादा विकसित जिले के अंतर्गत गांदेरबल जिले का नाम लिया जाता है। यहां की विकास दर 36.50 प्रतिशत है। तीसरे स्थान पर कुपवाड़ा, चौथे स्थान पर राजोरी और पांचवें स्थान पर रामबन जिले का नाम आता है।

अनंतनाग:    38.58%
गांदरबल:    36.50%
कुपवाड़ा:    33.82%
राजौरी:    32.93%
रामबन: 31.99%

जम्मू कश्मीर का सर्वाधिक भूमि क्षेत्रफल वाला जिला 

जम्मू कश्मीर में सबसे अधिक भूमि क्षेत्रफल कारगिल जिला रखता है। यहां का भूमि क्षेत्रफल 14036 वर्ग किलोमीटर है। दूसरे स्थान पर भूमि क्षेत्रफल के मामले में डोडा जिला विराजमान है।

यहां का भूमि क्षेत्रफल 11691 वर्ग किलोमीटर है। बता दें कि जम्मू-कश्मीर में पहले भूमि क्षेत्रफल के मामले में पहले नंबर पर लेह जिला था परंतु लेह जिला अब लद्दाख का जिला बन चुका है। इसलिए लेह जिले की गिनती जम्मू कश्मीर में नहीं की जा रही है।

जम्मू कश्मीर का सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व वाला जिला 

जम्मू कश्मीर में सबसे अधिक जनसंख्या घनत्व गांदेरबल जिले में है। यहां पर जनसंख्या घनत्व 1151 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है।

 दूसरे स्थान पर बांदीपोरा जिले का नाम आता है। बांदीपोरा जिले का जनसंख्या घनत्व 1117 व्यक्ति प्रति वर्ग किलोमीटर है।

हिमाचल प्रदेश में कितने जिले है

जम्मू कश्मीर के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल | Tourist Places in Jammu and Kashmir (India)

कश्मीर हमेशा से ही लोगों की पसंदीदा घूमने की जगह में शामिल रहा है। अगर आप कश्मीर घूमने जा रहे हैं तो निम्न जगह को अवश्य करें

श्रीनगर 

जम्मू कश्मीर में मौजूद श्रीनगर शहर को हेवन आफ अर्थ अर्थात धरती का स्वर्ग कहा जाता है। यह भारत में मौजूद सबसे सुंदर जगह में से एक है। आप यहां पर जाने के पश्चात बोटिंग का आनंद ले सकते हैं। इसके अलावा ट्रैकिंग और बर्डवाचिंग तथा वोटर इसकिंग का आनंद भी ले सकते हैं। 

श्रीनगर को ही जम्मू कश्मीर का सबसे बड़ा शहर कहा जाता है, जहां पर आपको खूबसूरत वादियों को देखने का मौका मिलता है और प्रकृति के नजदीक आने का मौका मिलता है। अगर आप शांत वातावरण पसंद करते हैं साथ ही आप ऊंची ऊंची पहाड़ियां देखने के शौकीन हैं तो आपको जम्मू कश्मीर में स्थित श्रीनगर अवश्य घूमना चाहिए।

गुलमर्ग 

गुलमर्ग समुद्र तल से तकरीबन 2730 मीटर की ऊंचाई पर मौजूद है। यह इलाका हरे-भरे घास के मैदानों के लिए, बर्फ से ढके हुए पहाड़ों के लिए और सदाबहार जंगलों के लिए जाना जाता है। यह जगह इतनी प्रसिद्ध है कि यहां पर बॉलीवुड की कई हिंदी फिल्मों की शूटिंग भी हुई है। 

इसके अलावा हनीमून मनाने के लिए भी यह जगह लोगों के फेवरेट डेस्टिनेशन में हमेशा शामिल रहती है। इस जगह को एडवेंचर हब के तौर पर भी विकसित किया जा रहा है। यहां पर आप पर्वतारोहण और ट्रैकिंग का आनंद उठा सकते हैं।

पहलगाम 

यहां पर आपको कई छोटे-छोटे घर दिखाई देते हैं जो देखने में बहुत ही आकर्षक लगते हैं। इसके अलावा यहां के हरे भरे खेत आपका अवश्य ही मन मोह लेंगे। अपनी प्राकृतिक सुंदरता की वजह से पहलगाम पर्यटकों को काफी आकर्षित करता है।

आप पहलगाम में लीदर जेल में रिवर राफ्टिंग, गोल्फिंग और अन्य चीजों का मजा ले सकते हैं। इसके अलावा यह इलाका पारंपरिक कश्मीरी चीजों की खरीदारी के लिए भी काफी अधिक प्रसिद्ध है। इसी रास्ते से होकर के अमरनाथ की यात्रा के लिए श्रद्धालु जाते हैं।

अमरनाथ 

दुनिया भर में प्रसिद्ध अमरनाथ की यात्रा जम्मू कश्मीर में ही होती है। अमरनाथ में भगवान शिव जी का शिवलिंग विराजमान है जो कि बर्फ का बना हुआ है। 

अमरनाथ यात्रा का संचालन अमरनाथ श्राइन बोर्ड के द्वारा किया जाता है। इसलिए अगर आप इस यात्रा में जाना चाहते हैं तो आपको पहले अपना पंजीकरण करवाने की आवश्यकता होती है।

हर साल अमरनाथ श्राइन बोर्ड के द्वारा अमरनाथ यात्रा का आयोजन करवाया जाता है। इस यात्रा के दौरान जगह-जगह पर रुकने की व्यवस्था होती है साथ ही समाजसेवी संस्थाओं के द्वारा भंडारे का आयोजन किया जाता है। अमरनाथ यात्रा मे जम्मू कश्मीर का नजारा कुछ और ही होता है।

सोनमर्ग 

जम्मू कश्मीर में मौजूद सोनमर्ग शहर बर्फ से भरे हुए मैदानों के लिए और शांत झीलो के लिए काफी अधिक प्रसिद्ध है। इसकी दूरी श्रीनगर से तकरीबन 80 किलोमीटर की है और समुद्र तल से यह तकरीबन 2800 किलोमीटर की ऊंचाई पर मौजूद है। 

यहां पर प्राकृतिक खूबसूरती भर भरकर है। इसके अलावा यहां की झील अवश्य ही आपको कुछ देर आराम से बैठने के लिए विवश करेगी।

FAQ

जम्मू कश्मीर की राजधानी क्या है ?

श्रीनगर

कश्मीर घूमने का सबसे अच्छा समय कौन सा है ?

फरवरी से लेकर के अप्रैल

जम्मू कश्मीर का सर्वाधिक विकास दर वाला जिला कौन सा है ?

अनंतनाग

जम्मू कश्मीर का सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला कौन सा है ?

जम्मू

लक्षद्वीप में कितने जिले हैं

Leave a Comment