Periodic Table in Hindi

केमिस्ट्री के सब्जेक्ट के सबसे महत्त्वपूर्ण टॉपिक्स में से एक है Periodic Table. परंतु विद्यार्थियों से जब स्कूल में या सामान्य ज्ञान के सवालों में Periodic Table in Hindi के बारे में पूछा जाता है तो कम जानकारी होने के कारण वह इसका जवाब नहीं दे पाते जोकि बच्चों के लिए एक बड़ी समस्या बन जाती है।

लेकिन अब आपको कोई भी चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि इस लेख में आपको हम Periodic Table in Hindi के बारे में सारी जानकारी आपको बताने वाले हैं। इसलिए इस लेख को शुरुआत से लेकर अंत तक ध्यानपूर्वक जरूर पढ़ें।

मैथ्स (Maths) में इंटेलिजेंट कैसे बने

आवर्त सारणी क्या है? (What Is the Periodic Table in Hindi)

रासायनिक तत्वों को उनकी संगत विशेषता और गुणों के आधार पर एक चार्ट शीट में व्यवस्थित किया जाता है। इसी को वर्त सारणी (Periodic Table) कहा जाता है।

अगर आसान भाषा में अगर समझें तो Periodic Table एक रसायनिक तत्वों का एक टेबल या चार्ट होता है जिसमें इन्हें परमाणु संख्या, इलेक्ट्रॉन विन्यास और आवर्ती रासायनिक गुणों के आधार पर ऊर्ध्वाधर और क्षैतिज क्रम (Vertical And Horizontal Order) में रखा जाता है। इन्हें इस प्रकार से इसलिए रखा जाता है ताकि कोई भी साधारण व्यक्ति आसानी से इन तत्वों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सके।

Periodic Table in Hindi में हमें तत्वों के नाम, प्रतीक, परमाणु संख्या और नाभिक की संख्या के अलावा प्रोटॉन, इलेक्ट्रॉनों और न्यूट्रॉन की जानकारी भी मिलती है। इसी जानकारी का इस्तेमाल करके तत्वों से संबधित गुण, प्रकृति और इलेक्ट्रोनिक विन्यास को आसानी से समझने में हमें मदद मिलती है।

The Long Form of The Periodic Table in Hindi

  • आधुनिक आवर्त सारणी में तत्वों को व्यवस्थित करने का जो श्रेय है वह  ”दिमित्री इवानोविच मेंडेलीव (Dmitri Ivanovich Mendeleev)” को दिया जाता है। इसके बाद कुछ खामियों में सुधार करके “Henry Gwyn Jeffreys Moseley” द्वारा भी Periodic Table बनाया जा चूका है।
  • आवर्त सारणी में केवल 118 ज्ञात तत्वों को ही रखा गया है।
  • इस सरणी के 18वें समूह में सिर्फ निष्क्रिय गैसों को ही शामिल किया गया है।
  • आधुनिक आवर्त सारणी में तत्वों को परमाणु संख्या के बढ़ते क्रम के आधार पर रखा गया है।
  • आधुनिक आवर्त सारणी में 7 Horizontal Rows होती हैं जिन्हें Periods कहा जाता है और 18 Vertical Columns होते हैं जिन्हें समूह के नाम से जाना जाता है।

संयोजक इलेक्ट्रानों के आधार पर आवर्त सारणी

संयोजक इलेक्ट्रानों के आधार पर आवर्त सारणी को 4 Blocks में विभाजित किया जाता है जिसकी जानकारी कुछ इस प्रकार है:-

  1. S-Block – वर्ग 1 तथा 2
  2. P-Block – वर्ग 13 से 18 तक
  3. D-Block – वर्ग 3 से 12 तक
  4. F-Block – लैन्थेनाइड और ऐक्टिनाइड

S ब्लॉक वाले तत्व (List of S Block Element)

  • Hydrogen
  • Lithium
  • Sodium
  • Potassium
  • Rubidium
  • Caesium
  • Francium
  • Beryllium
  • Magnesium
  • Calcium
  • Strontium
  • Barium
  • Radium

D ब्लॉक वाले तत्वों (List of D Block Element)

  • Scandium
  • Titanium
  • Vanadium
  • Chromium
  • Manganese
  • Iron
  • Cobalt
  • Nickel
  • Copper
  • Zinc
  • Yttrium
  • Zirconium
  • Niobium
  • Molybdenum
  • Technetium
  • Ruthenium
  • Rhodium
  • Palladium
  • Silver
  • Cadmium
  • Lanthanum, Sometimes (Often Considered A Rare Earth, Lanthanide)
  • Hafnium
  • Tantalum
  • Tungsten
  • Rhenium
  • Osmium
  • Iridium
  • Platinum
  • Gold
  • Mercury
  • Actinium, Sometimes (Often Considered A Rare Earth, Actinide)
  • Rutherfordium
  • Dubnium
  • Seaborgium
  • Bohrium
  • Hassium
  • Meitnerium
  • Darmstadtium
  • Roentgenium
  • Copernicium Presumably Is A Transition Metal.

P ब्लॉक वाले तत्वों (List of P Block Element)

Periodic Table Metals List

  • Aluminum
  • Gallium
  • Indium
  • Thallium
  • Tin
  • Lead
  • Bismuth

Periodic Table Nonmetals List

  • Helium
  • Carbon
  • Nitrogen
  • Oxygen
  • Fluorine
  • Neon
  • Phosphorus
  • Sulphur
  • Chlorine
  • Argon
  • Selenium
  • Bromine
  • Krypton
  • Iodine
  • Xenon
  • Radon
  • Metalloids
  • Boron
  • Silicon
  • Germanium
  • Arsenic
  • Antimony
  • Tellurium
  • Polonium
  • Astatine

11वीं कॉमर्स में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं ?

F ब्लॉक वाले तत्वों (List of F Block Element in Hindi)

F Block में शामिल तत्वों को Periodic Table में 2 श्रेणियों में विभाजित किया जाता है:-

लेंथेनॉइड श्रेणी सूचि

इस श्रेणी के सबसे पहले तत्व लेथेनम (La) होने की वजह से इसे लेन्थेनाइड कहा जाता है। वैसे इसे लेंथेनॉन भी कहा जाता है। लैन्थेनाइड तत्वों की सूचि कुछ इस प्रकार है:-

  • Lanthanum
  • Cerium
  • Praseodymium
  • Neodymium
  • Promethium
  • Samarium
  • Europium
  • Gadolinium
  • Terbium
  • Dysprosium
  • Holmium
  • Erbium
  • Thulium
  • Ytterbium
  • Lutetium

एक्टिनॉइड श्रेणी

14 तत्व इस श्रेणी में पाए जाते हैं और इसमें एक्टिनियम के पहला स्थान होने की वजह से इसे एक्टिनॉइड तत्व कहा जाता है। इन तत्वों की सूचि कुछ इस तरह है:-

  • Actinium (Ac)
  • Thorium (Th)
  • Protactinium (Pa)
  • Uranium (U)
  • Neptunium (Np)
  • Plutonium (Pu)
  • Americium (Am)
  • Curium (Cm)
  • Berkelium (Bk)
  • Californium (Cf)
  • Einsteinium (Es)
  • Fermium (Fm)
  • Mendelevium (Md)
  • Nobelium (No)
  • Lawrencium (Lr)

Periodic Table का आविष्कार और इतिहास (Who Invent The Periodic Table?)

अक्सर हमें स्कूलों और सामान्य ज्ञान के प्रश्नों में यह प्रश्न हमें परेशान कर देता है कि आखिर आवर्त सारणी आविष्कार किसने किया? तो चलिये इस परेशानी को ख़तम करते हुए आपको इसके अविष्कार और इतिहास के बारे में जानकारी देते हैं।

प्राचीन समय के वैज्ञानिकों को बहुत ही कम तत्वों के बारे में जानकारी थी जिसके कारण उनके लिए तत्वों के बारे में अध्ययन करना काफी सरल होता था। लेकिन जैसे जैसे समय बीतता गया उसी प्रकार से नए नए तत्वों की खोज होती रही और इन तत्वों की संख्या 118 हो गई।

इन 118 तत्वों की खोज के बाद वैज्ञानिकों को कई वैज्ञानिकों को इनका अध्ययन करते समय कठिनाई आने लगी। इस कठिनाई से बचने के लिए कई वैज्ञानियों ने अपने अपने अनुसार इन तत्वों का वर्गीकरण करने का फैसला किया।

सबसे पहले तो 18वीं शताब्दी में 18वीं लवासिए (Lavosier) नाम के रसायनशास्री ने इस सारणी के तत्वों को धातु (Metal) और अधातु (Non-Metal) तत्वों के आधार पर विभाजित कर दिया। 18वीं शाताब्दी की साधारण आवर्त सारणी इसे कहा जाता है।

लोथर मेयर (1864) में और जॉन न्यूलैंड्स (1865) ने भी अपने अनुसार तत्वों की तालिकाओं को वर्गीकृत किया। असल में श्रेय दिमि अत्री मेंडेलीव (Dmitri Mendeleev) को आधुनिक आवर्त सारणी के आविष्कार का श्रेय दिया जाता है जिन्होंने 1869 में इस आवर्त सारणी को पूर्ण रूप दिया |

हालांकि कुछ ज्ञान स्रोतों के अनुसार “अलेक्जेंड्रे-एमिल बेगुएर डी चेंकोर्टिस” नामक एक वैज्ञानिक ने दिमित्री मेंडेलीव के आविष्कार के पांच साल पहले ही परमाणु तत्वों को एक टेबल में व्यवस्थित करने की विधि को खोज चुके थे। लेकिन Father of The Periodic Table तो दिमि अत्री मेंडेलीव (Dmitri Mendeleev) को ही माना जाता है।

दरअसल मेंडेलीव (Dmitri Mendeleev) ने अपने आवर्त सारणी में कुल 8 वर्गों को ही शामिल किया था क्योंकि उस समय तक निष्क्रिय गैसों की खोज नहीं हुई थी। लेकिन निष्क्रिय गैसों की खोज होने के बाद 9 वें वर्ग को भी इस सारणी में जोड़ दिया और जितनी भी निष्क्रिय गैसें हैं उन्हें इस वर्ग में शामिल कर दिया गया।

Tense Chart in Hindi

Leave a Comment