सोशल डिस्टेंस (Social distancing) का क्या मतलब है

कोरोना वायरस विश्व के दिग्गज देशों, चीन, अमेरिका, इटली और भारत समेत कई देश इसकी चपेट में आ चुके है | अगर इसमें विश्व के देशों का आंकड़ा देखा जाये तो इससे लगभग 200 देश इससे प्रभावित हो चुके है | इसके अलावा पूरी दुनिया की अर्थ व्यवस्था सुस्त पड़ गई है, इसके प्रभाव से पूरी दुनिया में आर्थिक मंदी आने का खतरा मड़रा रहा है | कोरोना वायरस का संक्रमण का चैन सिस्टम (Chain System) है, यह लोगो को संक्रमित केवल चैन system  के माध्यम से ही कर सकता है, क्योंकि भारत में यह वायरस स्वयं उत्पन्न नहीं होता है | इस वायरस के चैन सिस्टम को तोड़ने के लिए भारत समेत पूरे विश्व में इसके लिए सोशल डिस्टेंस (Social distancing) बनाये रखने के लिए सावधानी बरतने के लिए एडवाइजरी जारी की गई है |

यदि कोई भी देश सोशल डिस्टेंस (Social distancing) का पालन करता है तो कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है | जिसे देखते हुए भारत समेत कई देशों में इसकी चैन तोड़ने के लिए अपने अपने देश में सोशल डिस्टेंस (Social distancing) को मेन्टेन करने के लिए लॉक डाउन (Lock Down) कर रखा है | यदि आप भी सोशल डिस्टेंस (Social distancing) का क्या मतलब है, सोशल डिस्टेंस के नियम के बारे में जानना चाहते है तो इसके विषय में जानकारी दी जा रही है |

हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वाइन क्या है

सोशल डिस्टेंस (Social distancing) का मतलब

सोशल डिस्टेंस (Social distancing) का मतलब लोगों से दूरी बनाकर रखना, यानि की समाज से दूरी बनाकर रहा जाए। इसलिए कोरोना वायरस से बचने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने भीड़-भाड़ स्थानों पर न जाने की अपील की है। सामाजिक कार्यक्रमों में आयोजनों में लोगों की भीड़ एकत्रित होती है और इसमें सभी स्क्रीनिंग टेस्ट करना मुमकिन नहीं है। इसलिए बस, मेट्रो या ट्रेन में हालात सामान्य न होने तक ना जाये, जिससे संक्रमित होने से बच पाएंगे | ऐसी स्थिति में आप सोशल डिस्टेंस यानी सामाजिक दूरी बनाकर आप अपने आपको सुरक्षित रख पाएंगे।

महामारी अधिनियम (एपिडेमिक एक्ट) क्या है

सोशल डिस्टेंस के नियम

  1. कहीं भी भीड़ नहीं लगाई जाने के लिए प्रावधान बनाया गया है |
  2. इसमें किसी भी भीड़ वाले कार्यक्रमों का आयोजन की अनुमति नहीं दी जाती है |
  3. इस नियम के तहत कोई भी व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति से 1 मीटर की दूरी बनाकर रखेगा |
  4. इसके लिए लॉक डाउन के सभी नियमों का पालन करना है |
  5. इसके नियम के तहत किसी भी धरम के तीर्थ स्थलों, मंदिर, मस्जिद, गिरिजाघरों या गुरुद्वारों पर भी इस नियम का पालन करना है |
  6. इसके अनुसार यदि कोई नियम तोड़ता पाया जाता है, तो उसपर कानूनी कार्यवाही की जाएगी |

यहाँ आपको सोशल डिस्टेंस (Social distancing) के नियमों के विषय में जानकारी प्राप्त हुई | यदि इससे सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते है | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट क्या है