क्रिकेट के नियम और कानून

आप सभी लोग अपने बचपन से ही अनेक प्रकार के खेल खेलते आये है | इन्ही खेलो में से एक खेल क्रिकेट का है, जो बहुत ही लोकप्रिय खेल माना जाता है | यह एक ऐसा खेल है, जिसे हर उम्र के लोग खेलना पसंद करते है | क्रिकेट एक तरह का आउटडोर खेल होता है, जिसे खेलने के लिए बड़ी जगह की जरूरत होती है | क्रिकेट का इतिहास बहुत पुराना है, ऐसा माना जाता है, कि इसे सर्वप्रथम इंग्लैंड में 16 वी शताब्दी में खेला गया | इंग्लैंड को ही क्रिकेट खेल का जन्मदाता भी कहा जाता है, किन्तु इसकी बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए, वर्तमान समय में इसे दुनिया के लगभग 100 से अधिक देशो में खेला जा रहा है | कई देशो की टीमें दूसरे देशो का दौरा कर वहां इस खेल को खेलने भी जाती है |

यह क्रिकेट तीन प्रारूपों में खेला जाता है, T20, ODI और Test आदि | इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) द्वारा क्रिकेट की कई अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताएं भी रखी जाती है | जिनमे बेहतरीन प्रदर्शन करने वाली चुनिंदा देश की टीमों को रखा जाता है, और इस प्रतियोगिता को जीतने वाली टीम को पुरुष्कार भी दिया जाता है | इस क्रिकेट खेल के कुछ नियम और कानून भी होते है, जिसका पालन करते हुए ही इस खेल को खेला जाता है | यह क्रिकेट नियम भी विश्व की (ICC) संस्था द्वारा बनाये गए है | इस लेख में आपको क्रिकेट के नियम और कानून क्या है, तथा ICC T20, ODI and Test Match Rules in Hindi के बारे में जानकारी दी जा रही है |

क्रिकेटर (Cricketer) कैसे बने

क्रिकेट के प्रारूप (Cricket Format)

क्रिकेट खेत को मुख्य तौर पर तीन भागो में बाँटा गया है, जो इस प्रकार है-

  • ट्वेंटी-ट्वेंटी क्रिकेट (20-20/ T20 Cricket)
  • एक दिवसीय क्रिकेट (One Day Cricket)
  • टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket)

क्रिकेट क्या है (What is Cricket)

क्रिकेट एक तरह का घर के बहार (Outdoor) खेले जाने वाला खेल है | जिसे दो टीमों द्वारा खेला जाता है, तथा प्रत्येक टीम में 11 सदस्य (Player) होते है | इसके अतिरिक्त भी एक से दो सदस्य बैकअप के तौर पर रखे जाते है, जिसमे से यदि किसी खिलाड़ी को खेल खेलते समय किसी तरह की चोट लग जाती है, तो उस दौरान वह अतिरिक्त खिलाड़ी उस घायल खिलाड़ी के स्थान पर खेल सकता है | इसके अलावा क्रिकेट खेलने के लिए बाल, बल्ला और स्टंप जैसी सामग्रियों की भी आवश्यकता होती है, बिना सामग्री के यह खेल खेलना संभव नहीं है |

क्रिकेट के नियम (Cricket Rules)

  • यह खेल दो टीमों के मध्य खेला जाता है, तथा प्रत्येक टीम में 11 सदस्य होते है |
  • प्रत्येक टीम में 11 सदस्यों के अतिरिक्त दो अन्य सदस्यों को भी रखा जाता है, जो किसी खिलाड़ी के घायल हो जाने पर उसके स्थान पर खेल सकता है, किन्तु 12वा सदस्य केवल फील्डिंग कर सकेगा, उसे  बल्लेबाजी, गेंदबाजी और विकेट कीपिंग नहीं करने दी जाएगी |
  • क्रिकेट खेल के मैदान में किसी तरह के निर्णय को लेने के लिए मैदान में दो एम्पायर मौजूद होते है |
  • इसके अलावा एक 3rd एम्पायर भी होता है, जो TV स्क्रीन द्वारा पूरे खेल पर नज़र रखता है | इसी एम्पायर द्वारा विशेष परिस्थितियों में अंतिम फैसला लिया जाता है |
  • क्रिकेट खेल में दो पारिया खेली जाती है, जिसमे एक टीम बल्लेबाजी करती है, और दूसरी टीम द्वारा गेंदबाजी और क्षेत्र रक्षण किया जाता है |
  • बल्लेबाजी करने वाली टीम को दूसरी टीम के लिए अधिक से अधिक रनो का स्कोर तैयार करना होता है |
  • गेंदबाजी करने वाली टीम का उद्देश्य यह होता है, कि वह बल्लेबाज को आउट कर कम से कम रन पर रोक दे |
  • इसके बाद दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने वाली टीम को विरोधी टीम द्वारा दिए गए लक्ष्य से एक रन ज्यादा बनाकर जीत हासिल करना होता है |
  • बल्लेबाजी और गेंदबाजी का निर्णय खेल के आरंभ में टॉस जीतने वाली टीम के कप्तान द्वारा किया जाता है |

ट्वेंटी- ट्वेंटी क्रिकेट खेल के नियम (20-20 Cricket Game Rules)

  • इस 20-20 क्रिकेट के खेल में अधिकतम 20 ओवर फेंके जाते है, जिसमे प्रत्येक गेंदबाज अधिकतम 4 ओवर ही फेंक सकता है |
  • यदि गेंदबाज द्वारा पोम्पिंग क्रीज का अतिक्रमण किया जाता है, तो वह नो बॉल मानी जाती है, जिसके लिए खिलाड़ी को 1 रन अतिरिक्त प्राप्त होता है,तथा अगली बॉल फ्री हिट होती है,जिसमे बल्लेबाज़ को सिवाय रन आउट के आउट नहीं किया जा सकेगा |
  • यदि एम्पायर को ऐसा लगता है, कि किसी टीम द्वारा समय की बर्बादी की जा रही है, तो वह जुर्माने के तौर पर 5 रन काट सकता है |
  • एक पारी के अंत होने और दूसरी पारी को आरम्भ करने के लिए 20 मिनट का समय दिया जाता है, यदि किसी वजह से मैच कम ओवर का हो जाता है, तो दूसरी पारी को चालू करने के लिए 10 मिनट का समय दिया जाता है |
  • यदि दोनों टीमों द्वारा 5 ओवर का मैच खेल लिया जाता है, तो उस स्थिति में मैच को निरस्त नहीं किया जा सकता है |
  • T-20 के खेल में एक ओवर में केवल एक ही शार्ट पिच बॉल फेकने की अनुमति होती है |

भारत में कुल कितने क्रिकेट स्टेडियम है

एक दिवसीय क्रिकेट के नियम (ODI Cricket Rules)

  • यह एकदिवसीय क्रिकेट का खेल 50 ओवर का होता है |
  • इस एकदिवसीय खेल में यदि कोई खिलाड़ी आउट या रिटायर्ड हो जाता है, तो उसके लिए बल्लेबाज को क्रीज पर उतरने के लिए 3 मिनट का समय दिया जाता है, इस दौरान यदि खिलाड़ी क्रीज पर नहीं पहुंच पाता है, तो उसे आउट करार दे दिया जाता है |
  • यदि कोई खिलाड़ी LBW आउट है, फिर भी गेंदबाजी वाली टीम की तरफ से किसी तरह की अपील नहीं की जाती है, तो वह खिलाड़ी आउट नहीं माना जाता है |
  • यदि बल्लेबाजी कर रहे बैट्समैन का बैट स्टंप से टकरा जाता है, फिर भी बैल्स नहीं गिरती है, तो खिलाड़ी आउट नहीं माना जायेगा |
  • यदि गेंदबाजी करने वाली टीम का कोई खिलाड़ी घायल होकर चला जाता है | उसके बाद मैदान पर लौटने के पश्चात एम्पायर को सूचित नहीं करता है, तो गेंदबाजी वाली टीम के 5 रन काट लिए जाते है |
  • यदि बैट्समैन बॉल को बीना खेले हाथ से रोक लेता है, या पकड़ लेता है, तो उस स्थिति में खिलाड़ी को आउट मान लिया जायेगा |
  • क्रिकेट के खेल में मैनकेडिंग एक ऐसा नियम है, जिसमे गेंदबाजी की तरफ खड़ा बल्लेबाज़ यदि गेंदबाज के बॉल फेकने से पहले अपनी क्रीज छोड़ देता है, तो उस स्थिति में किया गया आउट मैंकेडिंग कहलाता है, किन्तु यह विकेट गेंदबाज के खाते में नहीं लिखा जाता है |
  • यदि बल्लेबाज को फ़ील्डिंग करने वाले खिलाड़ी द्वारा डिस्टर्ब किया जाता है, तो बैट्समैन के खाते में 5 रन अतिरिक्त जोड़ दिए जाते है |

टेस्ट क्रिकेट के नियम (Test Cricket Rules)

  • टेस्ट मैच क्रिकेट के सभी प्रारूपों में अधिक अहमियत रखता है |
  • यह टेस्ट मैच 5 दिन की अवधि का होता है | जिसमे जीत हार का निर्णय 5 दिन बाद किया जाता है | यदि इन 5 दिनों में भी मैच का परिणाम नहीं निकल पाता है, तो मैच ड्रा घोषित हो जाता है, और कोई भी टीम विजेता घोषित नहीं होती है |
  • इस मैच में प्रत्येक टीम द्वारा दो पारी खेली जाती है, जिसमे प्रत्येक खिलाड़ी को दो बार बल्लेबाजी और गेंदबाजी करने का मौका मिलता है |
  • टेस्ट मैच में एक दिन में तक़रीबन 90 ओवर फेंके जाते है, जिस हिसाब से एक टेस्ट मैच के 5 दिनों में गेंदबाजो द्वारा 450 ओवर फेंके जाते है | इसमें गेंदबाज के बॉल फेकने की कोई सीमा तय नहीं होती है, वह जितने चाहे उतने ओवर फेंक सकता है |
  • टेस्ट मैच का एक नियम यह भी है, कि यदि फेंकी गई बॉल बल्लेबाज़ के पीछे से चली जाती है, तो वह वाइड बॉल नहीं मानी जाती है |
  • टेस्ट मैच खेल रही दोनों ही टीम के पास दो-दो DRS रिव्यु उपलब्ध होते है, जिन्हे वह 90 ओवर में इस्तेमाल कर सकते है | 90 ओवर पूर्ण हो जाने के बाद उन्हें फिर से दो-दो DRS प्राप्त जाते है |
  • इस टेस्ट मैच में किसी तरह की फिल्डिंग पर पाबंदी नहीं होती है | इसमें टीम का कप्तान अपनी इच्छानुसार जितने चाहे 30 गज के दायरे में और जितने चाहे बॉउंड्री पर खिलाड़ियों को लगा सकता है |
  • टेस्ट मैच में फ्री हिट का नियम लागु नहीं होता है | यदि किसी गेंदबाज द्वारा नो बॉल फेंकी जाती है, तो वह बस नो बॉल ही होती है, उसे अगली बॉल पर किसी तरह की फ्री हिट नहीं मिलती है |

मैच ड्रा नियम (Match Draw Rules)

T-20 का मैच कभी परिणामहीन नहीं होता है | प्राकृतिक कारणों के कुछ मामलो में मैच को ड्रा किया जा सकता है | इसके अलावा यदि मैच ड्रा होता है, तो मैच के बाद एक सुपर ओवर का नियम रखा गया है | जिसमे दोनों ही टीमों को एक-एक ओवर खेलने का मौका दिया जाता है | बल्लेबाजी कर रही टीम को एक ओवर खेलने के लिए दो विकेट दिए जाते है, तथा फिल्डिंग टीम में से किसी एक बोलर को बॉल फेकने का मौका मिलता है

इसे आप मिनी मैच भी कह सकते है,इस सुपर ओवर में जिसके सबसे ज्यादा रंग होते है, उसे विजेता घोषित कर दिया जाता है | यदि यह सुपर ओवर भी ड्रा हो जाता है, तो दोनों टीमों में से जिस टीम ने सबसे ज्यादा छक्के मारे होंगे, उसे जीत हासिल होगी | यदि इसमें भी दोनों टीम बराबर है तो लगाए गए चौकों के आधार पर टीम की जीत घोषित की जाती है |

आईपीएल (IPL) क्या है

Leave a Comment