अपना भविष्य कैसे जाने



Apna Bhagya Kaise Jane: हर इंसान अपनी जिंदगी में सुख शांति प्राप्त करना चाहता है और वह यह चाहता है कि वर्तमान में जो सुख वह भोग रहा है वह वैसा भी आगे सुख भोगता रहे। हालांकि समय परिवर्तित होता रहता है। इसलिए व्यक्ति की जिंदगी में कभी सुख तो कभी दुख आता रहता है। इस दुख से बचने के लिए हर व्यक्ति अपने भविष्य के बारे में जानने की कोशिश करता है ताकि वह यह जान सके कि क्या भविष्य में उसके साथ कोई अनहोनी तो नहीं होने वाली है।

img-1


इसके अलावा कई लोग ऐसे भी हैं जो भविष्य इसलिए जानना चाहते हैं ताकि वह यह जान सके कि आगे चलकर के उनका जीवन कैसा रहेगा। उन्हें उनकी पसंदीदा नौकरी मिलेगी या नहीं, वह धनवान बनेंगे या नहीं अथवा उनकी शादी अच्छे घर में होगी या नहीं। अगर आप भी भविष्य जानने में रुचि रखते हैं तो इस पेज पर हम आपको अपना भविष्य कैसे जाने – नाम व जन्म तिथि से भविष्य जाने का तरीका बताने जा रहे हैं।

एस्ट्रोलॉजी क्या होता है

अपना भविष्य कैसे जाने ?

Apna Bhavishya Kaise Jane: जब बात अपना भविष्य जानने की आती है तो अधिकतर लोगों को यही पता होता है कि वह किसी जानकार पंडित के पास जाएं और उन्हें अपनी कुंडली दिखा कर या फिर अपने हाथ की रेखा दिखा कर के अपने भविष्य के बारे में पूछें।



परंतु क्या आप जानते हैं कि पंडित के पास जाने के अलावा भी कुछ ऐसी विद्या हमारे भारत देश में काफी लंबे समय से विद्यमान है जिसके द्वारा लोगों के भविष्य के बारे में आकलन किया जाता है और कई बार जो आकलन किया जाता है वह बिल्कुल सही साबित होता है। 

इसलिए आपको भविष्य जानने के अन्य तरीकों के बारे में भी पता होना चाहिए। इस आर्टिकल में आपको भविष्य जानने के सभी तरीके की जानकारी उपलब्ध करवाई जाएगी।

अपना भविष्य जानने का तरीका 

नीचे हम आपके साथ भविष्य जानने के लिए जो प्राचीन विद्या भारत देश में लंबे समय से इस्तेमाल की जा रही है उनकी जानकारी दे रहे हैं। आप इन विद्याओं के द्वारा भविष्य जानने का प्रयास कर सकते हैं। हालांकि इसके पहले आपको इन विद्याओं को सीखना पड़ेगा। बिना इसे सीखे भविष्य जानने के लिए आपको इन विद्याओं के जानकार लोगों से मिलना पड़ेगा।

1: ज्योतिष विद्या से भविष्य जानने का तरीका

ज्योतिष विद्या से लगभग सभी लोग परिचित हैं और आप भी शायद कभी न कभी अपने किसी पारलौकिक समस्या के समाधान के लिए ज्योतिष के पास अवश्य ही गए होंगे। 

हमारे भारत देश में ज्योतिष विद्या की संख्या 150 से भी ज्यादा है, जिसके अंतर्गत अंक ज्योतिष, लाल किताब की विद्या, कुंडली ज्योतिष, नंदी नाड़ी ज्योतिष, पंच पक्षी सिद्धांत, नक्षत्र ज्योतिष, हस्तरेखा ज्योतिष, अंगूठा शास्त्र, चीनी ज्योतिष, वैदिक ज्योतिष, सामुद्रिक विद्या तथा टैरो कार्ड जैसी विधाएं प्रचलन में है।

कई एस्ट्रोलॉजर के द्वारा इन्हीं सब विद्या का अध्ययन करके लोगों के भाग्य के बारे में ठीक ठाक आकलन कर लिया जाता है। यहां तक कि एस्ट्रोलॉजर खुद भी इस बात को कहते हैं कि अगर कोई व्यक्ति लाल किताब, सामुद्रिक शास्त्र, हस्तरेखा ज्योतिष, अंगूठा शास्त्र तथा नक्षत्र ज्योतिष का सही प्रकार से अध्ययन कर लेता है।

तो वह अपने भविष्य की घटनाओं के बारे में ठीक ठाक अंदाजा लगा सकता है और व्यक्ति को यह बता सकता है कि उस व्यक्ति के साथ भविष्य में कौन सी अनुकूल प्रतिकूल घटनाएं घटित होने वाली है। 

हालांकि वर्तमान के समय में इस प्रकार की विद्या के जानकार काफी कम ही दिखाई देते हैं। ग्रामीण इलाके में इस प्रकार के विद्या के जानकार ज्यादा होते हैं। ज्योतिष विद्या सीखने के लिए आप यूट्यूब पर आचार्य मंगल विंध्याचल वाले या फिर जय योगेश्वर महादेव चैनल के शास्त्री जी से मुलाकात कर सकते हैं।

अपनी जन्म कुंडली कैसे देखे

2: सम्मोहन विद्या से भविष्य कैसे जाने

सम्मोहन विद्या का इस्तेमाल काफी प्राचीन काल से ही हमारे भारत देश के विभिन्न लोगों के द्वारा किया जा रहा है। अन्य भाषा में इसे प्राण विद्या या फिर त्रिकाल विद्या के नाम से भी जाना जाता है। अंग्रेजी भाषा में सम्मोहन विद्या को हिप्नोटाइज कहते हैं। कई लोग इसे वशीकरण से जोड़ करके देखते हैं, जबकि ऐसा नहीं होता है। 

सम्मोहन विद्या में कुछ ही समय के लिए व्यक्ति ऐसी अवस्था में होता है जिसमें उसकी कई जानकारियों को प्राप्त किया जाता है। आज के समय में देश में बड़े पैमाने पर मानसिक रोगियों की चिकित्सा करने के लिए सम्मोहन विद्या का इस्तेमाल किया जा रहा है। 

सम्मोहन विद्या ना सिर्फ मानसिक रोगियों की चिकित्सा करती है बल्कि इसके साथ ही साथ उनके व्यक्तित्व को भी निखारने में काफी महत्वपूर्ण रोल अदा करती है।

इस विद्या के द्वारा दूसरे व्यक्ति का या फिर अपने आप का भविष्य ठीक-ठाक जान सकते हैं। जब दूसरा विश्व युद्ध हो रहा था तब जापानी आर्मी की पोजीशन के बारे में इसी विद्या के द्वारा जानकारी प्राप्त की गई थी। 

अमेरिका जर्मन और रसिया जैसे बड़े देशों में इस पर काफी रिसर्च पहले भी हो चुकी है और वर्तमान के समय में भी हो रही है। हमारे देश में भी सम्मोहन विद्या को जानने वाले कई एक्सपर्ट लोग आज भी मौजूद हैं।

3: विचार भी बताते हैं भविष्य

साइंटिफिक रिसर्च के अनुसार यह बात सामने आई है कि व्यक्ति जैसा विचार रखता है वैसा ही आगे चलकर के वह बनता है। इसलिए अगर आप पॉजिटिव विचार रखते हैं तो इस बात की काफी संभावना है कि आगे चलकर के आप अपनी जिंदगी में सफल बनेंगे।

वहीं अगर आपको हर काम को करने से पहले निगेटिव विचार आने लगते हैं तो इस बात का मतलब है कि आपका जो आने वाला भविष्य है वह भी कहीं ना कहीं नकारात्मकता से ही भरा हुआ होगा, क्योंकि आकर्षण के नियम के अंतर्गत व्यक्ति के द्वारा जिस चीज पर फोकस किया जाता है वह चीज सक्रिय हो जाती है।

4: टेलीपैथी से भविष्य के बारे में जाने

हिंदी भाषा में इसे दूरानुभूति कहा जाता है। भविष्य के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए टेलीपैथी विद्या का इस्तेमाल किया जाता है। दुनिया में ऐसे कई एक्सपर्ट लोग हैं जो किसी व्यक्ति की शक्ल देखने के पश्चात उस व्यक्ति के मन की बात को पता लगाने में सफल हो जाते हैं, जिसे मन शक्ति योग कहा जाता है।

जब हमारा चित्त संयम होता है तो ऐसी अवस्था में हम दूसरे व्यक्ति के चित्त का भी ज्ञान प्राप्त कर लेते हैं। हालांकि इस प्रकार से भविष्य के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए व्यक्ति को टेलीपैथी का अध्ययन करना होता है। इसके लिए व्यक्ति का ध्यान एकाग्र होना बहुत ही आवश्यक है।

5: सपना भी देता है भविष्य की जानकारी

हिंदू समुदाय के लोग सपने पर काफी यकीन करते हैं क्योंकि उनका मानना होता है कि सपने में जो चीजें दिखाई देती हैं या फिर उन्हें जो अनुभव होते हैं वह कहीं ना कहीं उनकी वास्तविक जिंदगी से जुड़े हुए होते हैं। इस प्रकार से सपना अपना भविष्य जानने के लिए एक बेहतरीन तरीका है परंतु इसके लिए आवश्यक है कि व्यक्ति सपना शास्त्र का अध्ययन करें।

बिना स्वप्न शास्त्र का अध्ययन किए हुए व्यक्ति सपने में घटित होने वाली घटनाओं का सही मतलब निकालने में समर्थ नहीं होता है। सपना शास्त्र के अनुसार अगर किसी व्यक्ति को सपने में सोने के दरमियान हाथी, बैल, घोड़ा इत्यादि के रथ दिखाई देते हैं तो इसका मतलब है कि उस व्यक्ति को जिंदगी में मान प्रतिष्ठा प्राप्त होने वाली है।

इसके अलावा सपने में अगर दिखाई देता है कि व्यक्ति फल खा रहा है या फिर प्रसनचित है तो इसका मतलब है कि व्यक्ति धनवान बनने वाला है अथवा व्यक्ति के भाग्य में धनवान बनने के योग है। वही सपने में कोई अदृश्य रोशनी दिखाई देने का मतलब है कि व्यक्ति को कोई अलौकिक शक्ति प्राप्त होने वाली है।

12 राशियों के नाम और चिन्ह

6: पारलौकिक शक्तियों से जाने भविष्य

अगर आप यूट्यूब चलाते हैं तो आपने यूट्यूब पर बागेश्वर धाम, पंडोखर सरकार या फिर अघोर मार्ग के मातंगी दरबार के वीडियो अवश्य ही देखे होंगे, जिसमें लोगों की ऐसी कई समस्याओं के बारे में बताया जाता है जिन्हें खुद लोगों को ही पता नहीं होता है। यह समस्याएं एक पीढ़ी भी पुरानी होती है या फिर 10 पीढ़ी अथवा 50 पीढ़ी भी पुरानी होती है।

अब आप खुद ही सोचे कि उन लोगों को यह कैसे पता चल जाता है कि कौन सा व्यक्ति किस चीज से परेशान है और उसे कौन सी चीज परेशान कर रही है। दरअसल यह पारलौकिक शक्तियों की वजह से संभव हो पाता है। बागेश्वर धाम वाले के पास बरम बाबा है जो कि हिंदू शुद्ध सात्विक शक्ति हैं, वही पंडोखर सरकार के पास भी बरम बाबा और प्रेतराज सरकार की शक्तियां है।

इन शक्तियों के द्वारा अपने सेवक पर कृपा की जाती है और उन्हें कानों में आकर या फिर भाव के माध्यम से सामने वाले व्यक्ति के वर्तमान और भूत की जानकारी दी जाती है, साथ ही भविष्य का सटीक आकलन भी बताया जाता है।

पारलौकिक शक्तियां देवी-देवताओं की सिद्धि से भी मिलती है। तंत्र मंत्र की सिद्धि से भी मिलती है या फिर इतर योनि अर्थात नीच योनि की शक्तियों की सिद्धि करने से भी मिलती है। जैसे कि जिन, जिन्नात, मसान, डाकिनी, शाकिनी, चुड़ैल, शोधनी।

7: पेंडुलम डाउजिंग 

यह भी एक बहुत ही शानदार विद्या है जिसका मुख्य तौर पर इस्तेमाल किसी छुपी हुई चीज को खोजने के लिए किया जाता है। इस विद्या में काम करने के लिए पेंडुलम अथवा डाउजिंग रोड का इस्तेमाल किया जाता है। 

इनमें से किसी भी एक यंत्र को हमारे हाथों में पकड़ कर के जब हमारे द्वारा कोई भी सवाल पूछा जाता है तो हमारे हाथों में मौजूद पेंडुलम अथवा डाउजिंग रोड अपने आप ही एक्टिविटी करने लगता है जिसे हम इंस्ट्रक्शन दे सकते हैं।

अगर हमारे लिए जो जवाब है वह पॉजिटिव है तो यह सीधे हाथ की ओर गति करता है और अगर जवाब पॉजिटिव नहीं है तो उल्टे हाथ की ओर गति करना शुरू करता है।

8: संकेतों से जाने अपना भविष्य

आपने कई लोगों के मुंह से सुना होगा कि वह कहते हैं कि मेरी दाहिनी आंख फड़क रही है, कुछ अशुभ होने वाला है। यह सभी चीजें समुद्र शास्त्र के अंतर्गत आती हैं, जिसमें इस बात का स्पष्ट तौर पर उल्लेख किया गया है कि बॉडी में कौन से अंग के फड़कने पर क्या घटित होने की संभावना ज्यादा होती है।

एग्जांपल के तौर पर कुछ घटना घटने से पहले ही व्यक्ति की बॉडी में मौजूद किसी स्पेशल अंग में वाइब्रेशन होना शुरू हो जाता है। इसके अलावा बॉडी के जो अंग है उनके वाइब्रेशन होने के भी अलग-अलग मतलब निकल कर के आते हैं।

9: पूर्वाभास से जाने भविष्य

दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जिन्हें आने वाले कल की घटनाओं की जानकारी पहले ही किसी न किसी माध्यम के द्वारा प्राप्त हो जाती है, जिसे पूर्वाभास कहा जाता है। ऐसा जिन भी लोगों के साथ होता है उनमें अतिंद्रीय ज्ञान काफी ज्यादा विकसित होता है। इंसानों की तुलना में पशु पक्षियों में यह काफी बड़े पैमाने पर पाया जाता है।

इसलिए आपने देखा होगा कि जब गांव में कभी दो तीन कुत्ते एक साथ रोते हैं तो लोग कहते हैं कि लगता है कोई मृत्यु को प्राप्त होने वाला है और कई बार कुछ ही घंटे में ऐसी खबर सुनाई भी देती है। हालांकि सभी व्यक्ति के अंदर यह खूबी नहीं होती है। कुछ गिने-चुने लोग ही होते हैं जिन्हें कल की घटनाओं का आभास पहले ही होता है।

डेट ऑफ बर्थ (जन्म तिथि) से भविष्य कैसे जाने?

अगर आपको भविष्य जानने के बारे में कोई भी जानकारी नहीं है तो आप खुद ही अपनी डेट ऑफ बर्थ से भविष्य नहीं जान सकते हैं। हालांकि अगर आपको अपनी डेट ऑफ बर्थ अर्थात जन्म तिथि पता है तो अपने भविष्य के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए आप किसी जानकार ज्योतिष अथवा पंडित से मिल सकते हैं या फिर ऐसे व्यक्ति से मिल सकते हैं जो पारलौकिक शक्तियों की सिद्धि करके रखा हुआ है।

उनके साथ जब आप अपनी डेट ऑफ बर्थ शेयर करते हैं तब वह अपने देवी देवता से आपके बारे में पूछते हैं या फिर आपकी कुंडली को देखते हैं और उसके बाद आपकी जिंदगी के कई मुद्दों से आपको परिचित करवाते हैं।

साथ ही भविष्य में जो घटना होने वाली है, उसका अंदाजा लगाते हैं और अशुभ घटनाओं के प्रति आपको सूचित करते हैं साथ ही आपके लिए कौन से सुख शांति के उपाय काम करेंगे, इसके बारे में भी आपको बताते हैं।

12 ज्योतिर्लिंग कहां कहां है?

अपने नाम से अपना भविष्य कैसे जाने ?

Naam se Bhavishya Kaise Jane : जब तक कि आपने कोई विद्या ना सीखी हुई हो, आप अपने नाम से अपना भविष्य नहीं जान सकते हैं। हालांकि अपने भविष्य के बारे में थोड़ी बहुत जानकारी प्राप्त करने के लिए आप राशिफल का सहारा ले सकते हैं। रोजाना टीवी पर या फिर समाचार पेपर में राशिफल के बारे में जानकारी दी जाती है।

आपके नाम का जो पहला अक्षर है उसी के हिसाब से आपको अपनी राशि का पता लगा लेना है और दैनिक तौर पर अपने राशिफल को पढ़ना है जिसमें यह बताया जाता है कि आपका आने वाला दिन कैसा होगा और आज का दिन आपके लिए शुभ रहेगा या नहीं। इसके अलावा आपको शुभ रंग, शुभ अंक, शुभ कलर इत्यादि के बारे में भी जानकारी दी जाती है।

FAQ :

भविष्य बताने वाले बाबा कौन है ?

भविष्य कोई भी बाबा नहीं बता सकता।

अपना नसीब कैसे देखें ?

आप किसी ज्योतिष अथवा पारलौकिक सिद्धि किए हुए व्यक्ति से मिलकर भविष्य का अंदाज प्राप्त कर सकते हैं।

भविष्य क्या है ?

हमारे जीवन में आने वाली अथवा घटित होने वाली घटनाएं

अपनी राशि कैसे जाने?

Leave a Comment