अपनी राशि (Zodiac) कैसे जाने?

ज्योतिष शास्त्र में राशि (Zodiac) का बहुत ही महत्व है, हिन्दू धर्म में कोई भी शुभ कार्य करने से पहले शुभ मुहूर्त का निर्धारण किया जाता है, वह कार्य उसी समय में सम्पन्न किया जाता है | यह शुभ मुहूर्त भी राशि के अनुसार अलग- अलग होता है | इसलिए राशि जानना अत्यंत आवश्यक है, शादी के समय लड़का और लड़की की राशि को देखा जाता है और उनकी कुंडली का मिलान किया जाता है | यदि राशि और कुंडली के अनुसार दोनों के गुण मिलते है, तभी विवाह तय किया जाता है, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि राशि (Zodiac) और कुंडली (Horoscope) का मिलान नहीं किया जाता है, रिश्ते का भविष्य सही नहीं होता है |

हिंदी धर्मं में राशि को लेकर काफी मान्यता है और इसके बिना किसी भी प्रकार का शुभ कार्य संपन्न नहीं होता है| इस प्रकार से हम आज राशि के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे कि राशि का क्या मतलब होता है और आप अपनी राशि का निर्धारण कैसे कर सकते है और यदि आपको अपनी राशि के बारे में नहीं मालूम है तो आप कैसे अपनी राशि का निर्धारण स्वयं ही कर सकते है| राशि के बारे में सब कुछ जानने के लिए पूरा लेख जरूर पढ़े|

ये भी पढ़ें: हस्तरेखा का ज्ञान – हस्त रेखा देखने की विधि

राशि (Zodiac) कितनी होती है ?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राशि 12 होती है, यह इस प्रकार है-

  • मेष
  • वृषभ
  • मिथुन
  • कर्क
  • सिंह
  • कन्या
  • तुला
  • वृश्चिक
  • धनु
  • मकर
  • कुंभ
  • मीन

 ये भी पढ़ें: पंचक का क्या मतलब होता है

नाम से राशि कैसे चेक करे ?

आप नाम के द्वारा इस प्रकार से अपनी राशि चेक कर सकते है-

1.मेष (Aries)

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ से आरंभ होता है, उन सभी लोगों की मेष राशि होती है, इसका चिन्ह भेड़ होता है |

2.वृष (Taurus)

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर ई, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो होता है, उनकी राशि वृष होती है, इसका चिन्ह बैल है |

3.मिथुन (Gemini)

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह होता है उनकी राशि मिथुन होती है | इसका चिन्ह नारी व पुरुष का युग्म होता है |

4.कर्क (Cancer)

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर ही, हू, हे, हो, डा, डी, डु, डे, डो होता है उनकी राशि कर्क होती है | इसका चिन्ह केकड़े के समान होता है |

5.सिंह (Leo)

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे होता है उनकी राशि सिंह होती है, इसका चिन्ह सिंह होता है |

ये भी पढ़ें: अपनी जन्म कुंडली कैसे देखे

6.कन्या (Virgo)

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर ढो, प, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो होता है, उनकी राशि कन्या होती है, इसका चिन्ह एक लड़की नौका में बैठी हुई है |

7.तुला (Libra)

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर र, री, रू, रे, रो, ता, ति, तू, ते होता है, उनकी राशि तुला होती है, इसका चिन्ह एक पुरुष हाथ में तराजू लिए है |

8.वृश्चिक (Scorpius)

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर तो, न, नी, नू, ने, नो, या, यि, यू होता है, उनकी वृश्चिक राशि है, इसका चिन्ह बिच्छू है |

9.धनु (Sagittarius)

अगर नाम का पहला अक्षर य, यो, भा, भि, भू, ध, फा, ढ, भे है तो इन लोगों की राशि धनु होती है, इसका चिन्ह धनुष लिए एक पुरुष और साथ में घोड़ा है |

10.मकर (Capricornus)

यदि आपके नाम का पहला अक्षर भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी – है तो आपकी राशि मकर है, इसका चिन्ह मृग या हिरण है |

11.कुंभ (Aquarius)

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर गू, गे, गो, स, सी, सू, से, सो, द होता है, उनकी राशि कुंभ है | इसका चिन्ह कलश लिए एक पुरुष है |

12.मीन (Pisces)

जिन लोगों के नाम का पहला अक्षर दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, च, ची होता है, उनकी राशि मीन है, इसका चिन्ह दो मछलियां है |

ये भी पढ़ें: नाग पंचमी क्या होता है

जन्मतिथि से राशि (Zodiac) कैसे चेक करे?

जन्मतिथि से राशि इस प्रकार से चेक करे-

जन्मतिथिराशि
21 मार्च से 20 अप्रैल मेष राशि
21 अप्रैल से 21 मई वृषभ राशि
22 मई से 21 जून मिथुन राशि
22 जून 22 जुलाई कर्क राशि
23 जुलाई से 21 अगस्त सिंह राशि
22 अगस्त से 23 सितंबर कन्या राशि
24 सितंबर से 23 अक्टूबर तुला राशि
24 अक्टूबर से 22 नवंबर वृश्चिक राशि
23 नवंबर से 22 दिसंबर धनु राशि
23 दिसंबर से 20 जनवरी मकर राशी
21 जनवरी से 19 फरवरी कुंभ राशि
20 फरवरी से 20 मार्च मीन राशि

ये भी पढ़ें: चन्द्र ग्रहण (LUNAR ECLIPSE) क्या होता है

जन्म के समय से राशि कैसे चेक करे ?

जन्म के समय से राशि देखने के लिए आपको अपनी कुंडली बनवानी होगी | आज के समय पर कई वेबसाइट ऑनलाइन कुंडली बनवाने की सेवाएं देती है, जिसके लिए वह आप से कुछ जानकारी और धन की मांग की जाती है, जिसके अनुसार वह आपकी कुंडली बना कर राशि बता देते है | आप किसी ज्योतिषचार्य या पंडित जी (विद्यान) से अपनी या अपने बच्चों की कुंडली जन्म का समय बता कर बनवा सकते है, इससे आपको कुंडली समेत कई प्रमुख जानकारियां मिल जायेंगी, जिससे आप बच्चों का मानसिक और व्यवहारिक गुण समझ सकते है |

ये भी पढ़ें: HARIYALI TEEJ क्याहोतीहै

ये भी पढ़ें: बड़ा मंगल (BADA MANGAL) क्या है

ये भी पढ़ें: होलीकात्योहारक्योंमनातेहैं