आयुष 64 क्या है

कोरोना वायरस एक कहर के रूप में विश्व के अनेक देशो में फ़ैल चुका है, वर्ष 2019 के दिसम्बर महीने में चीन के वुहान शहर से इस वायरस का आरम्भ हुआ था | यह वायरस धीरे धीरे महामारी के रूप में देश के लगभग 190 से भी ज्यादा देशों में फ़ैल चुका है | विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार कोरोना होने पर खासी, बुखार तथा साँस लेने में परेशानी आदि इसके लक्षण हो सकते है | विश्व के अनेक देशो में इस वायरस के चलते अब तक करोंड़ों लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके है तथा लाखो लोगो की मृत्यु हो चुकी है |

केंद्र सरकार के द्वारा भी कोरोना वायरस से बचाव तथा इलाज के उद्देश्य से बेहतरीन पहल की गयी है | केंद्रीय आयुष मंत्रालय के द्वारा कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए चार प्रकार की दवाये तैयार की गयी है, जिसमे आयुष 64 शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में  मुख्य रूप से कारगर सिद्ध हुई है इस संक्रमण से बचाव के लिएआयुष 64 का वितरण आयुर्वेदिक चिकित्सालयों में किया जा रहा है| यदि आप भी “आयुष 64 क्या है,Ayush 64 Explained in Hindi – Ingrediant, Table Uses” इसके विषय में जानना चाहते है तो यहाँ पर आपको इससे सम्बन्धित जानकारी उपलब्ध कराई गयी है |

कोरोना वायरस (CORONAVIRUS) क्या है

आयुष 64 का क्या मतलब है?(Meaning of Ayush 64)

आयुष मंत्रालय के दवारा कई महीनो के शोध के परिणाम स्वरूप आयुष किट के अंतर्गत चार प्रकार की दवाये कोरोना वायरस के विरुद्ध चलरही जंग में विजय प्राप्त करने के उद्देश्य से की गयी है | जिसमे आयुष 64, अणु तेल, अगस्त्य हरितिकी तथा सशंमनी बटी इन चार आयुर्वेदिक दवाओं को तैयार किया गया है | आयुष 64 टेबलेट व संशमनी बटी दवा के प्रयोग से किसी भी प्रकार के बुखार को ख़तम किया जा सकता है, तथा नियमित रूप से सात दिनतक इन दवाओं के सेवन से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है, तथा रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के उद्देश्य से इस दवा के सेवन के लिए निर्देश केंद्रीय आयुष मंत्रालय के द्वारा जारी किये गए है|सात दिन तक इस दवा का प्रयोग करने से कोरोना से संक्रमित रोगी की रिपोर्ट सामान्य की जा सकती है |

आयुष्मान भारत योजना क्या है

आयुष 64 के लिए ऐसे कराये पंजीकरण (How to RegisterFor Ayush 64)

आयुष किट के अंतर्गत आने वाली चारो दवाओं में से किसी भी दवा के लिए आप पंजीकरण करा सकते है, इसके लिए आप को आधार कार्ड की आवश्यकता होगी | आधार कार्ड के द्वारा आप आयुष किट के लिए पंजीकरण करा सकते है | आयुर्वेदिक चिकित्सालय कोर्ट एरिया में अब तक 116 लोग पंजीकृत हो चुके है |

IVERMECTIN (इवरमेक्टिन) क्या है

आयुष किट में प्रयोग की जाने वाली सामग्री एवम खुराक (Doses & Materials used in Ayush Kit)

दवा का नाम

सामग्री

खुराक

आयुष 64 टेबलेट

(500 एमजी)

कुटकी जड़ 100 एमजी, चिरायता 100 एमजी, सप्तपर्ण 100 एमजी, कुबेराक्ष बीज 200 एमजी|

प्रतिदिन सुबह तथा शाम एक एक गोली(7 दिन तक )

संशमनी बटी

 पिपली अतीश, गिलोय (गुडुची) की मुस्ता,छाल एक भाग

प्रतिदिन सुबह तथा शाम एक एक गोली (7 दिन तक )

अगस्त्य हरीतकी चटनी

गज पीपल, खरैटी, हरड़, पिपला मूत्र, चिरचिरा, शंखपुष्पी, कर्पूर कचरी, कौंच के बीज, मारंगी, पोखर मूल, इंदुजी, दशमूत्र, चिनक

प्रतिदिन सुबह शाम (7 दिन तक )

अणु तेल

दालचीनी, पिठवन, जीवंती, देवदार, कटंकारी, अनत मूल, षृहती आदि के मिश्रण से निर्मित तेल

प्रतिदिन एक-एक बूंद सुबह शाम (7 दिन तक )

आरोग्य सेतु ऐप क्या है

आयुष किट का प्रयोग किन बीमारियों के इलाज के लिए (What diseases to treat use of Ayush Kit)

कोरोना संक्रमित के आलावा अन्य बीमारियों में भी इस आयुष किट का प्रयोग किया जा सकता है वह इस प्रकार है:-

1 – आयुष 64

कोरोना वायरस को ख़तम करने तथा तेज बुखार को समाप्त करने में इसका प्रयोग किया जाता है|

2 – संशमनी बटी

यह कोरोना वायरस तथा बुखार को समाप्त करने की सबसे कारगर दवा है |

3 – अगस्त्य हरीतकी चटनी

इस चटनी का प्रयोग बुखार, टीबी, अस्थमा,अर्श, हिक्का तथा सांस लेने में तकलीफ होने पर किया जाता है यह पूर्ण रूप से लाभकारी चटनी है |

4 – अणु तेल

इस तेल की एक-एक बूंद नाक के दोनों नथूनों में लगाने से नाक खुल जाती है तथा गले में संक्रमण व आंखों की बीमारी में भी विशेष रूप से कारगर दवा है |

कोरोना वाइरस हेल्पलाइनटोल फ्री मोबाइल नंबर

कोरोना वायरस के अन्य उपचार (Other Treatment of Corona Virus)

  • कोरोना संक्रमण के अंतर्गत संवेदनशील क्षेत्र में रहने वाले लोगो को कोरोना वायरस से बचने के लिए अश्वगंधा तथा च्यवनप्राश का प्रतिदिन सेवन करना चाहिए |
  • अश्वगंधा का प्रयोग 1से 3 ग्राम पाउडर या 500 एमजी एक्सट्रैक्ट के साथ सेवन करना चाहिए |
  • च्यवनप्राश का प्रयोग दूध या गर्म पानी के सात 10ग्राम प्रतिदिन करना चाहिए |

कोरोना टेस्टिंग किट (कोविड 19) भारत में कैसे ख़रीदे

यहाँ आपको आयुष 64 के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी गई है अब उम्मीद करता हूँ कि आपको जानकारी पसंद आयी होगी | यदि आप इससे संतुष्ट है, या फिर इससे समबन्धित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो कमेंट करे और अपना सुझाव प्रकट करे, आपकी प्रतिक्रिया का जल्द ही उत्तर देने का प्रयास किया जायेगा | अधिक जानकारी के लिए hindiraj.com पोर्टल पर विजिट करते रहे |

सांइटिज़ेर क्या होता है

Leave a Comment