अंग्रेजी बोलना कैसे सीखें

अंग्रेज़ी आज के समय में एक महत्त्वपूर्ण भाषा बन चुकी है। दुनिया में सबसे ज़्यादा बोली जाने वाली भाषाओँ में अंग्रेज़ी का तीसरा स्थान आता है। आप स्कूल, कॉलेज, दफ्तर या इंटरव्यू आदि के लिए कहीं भी जाते हैं तो आपसे अंग्रेज़ी में ही वार्तालाप की जाती है।

यदि आप कम पढ़े लिखे हैं परंतु आपको अंग्रेज़ी अच्छे से बोलनी आती है तो भी आपको सर्वश्रेष्ठ व्यक्ति माना जाता है। अंग्रेज़ी भाषा का इतना प्रचलन होने की वजह से बहुत सारे लोग अंग्रेज़ी बोलना सीखना चाहते हैं। तो उनकी सहायता के लिए इस लेख में हम बताने जा रहे हैं कि अंग्रेज़ी बोलना कैसे सीखें। इस लेख के अंत तक जुड़े रहें ताकि अंग्रेज़ी बोलना सीखने की सारी जानकारी आपको प्राप्त हो सके।

अंग्रेजी लिखना और पढ़ना कैसे सीखे

अंग्रेज़ी बोलना कैसे सीखें (इंग्लिश बोलने का तरीका)

Table of Contents

अंग्रेज़ी भाषा को सीखना कोई मुश्किल काम नहीं। यदि आप एक Proper प्लानिंग के साथ इंग्लिश सीखने की कोशिश करते हैं तो कम समय में आप बढ़िया और Fluent इंग्लिश बोलना सीख जाते हैं। इसके लिए निम्नलिखित हम आपको Step by Step अंग्रेज़ी बोलने के प्लान के बारे में बताने जा रहे हैं।

1. अंग्रेज़ी की किताब या अखबार पढ़ें

जब शुरुआत में हम अंग्रेज़ी बोलना शुरू करते हैं तो यह हमें काफी अजीब लगता है क्योंकि इसकी हमें आदत नहीं होती। इसलिए आपको सबसे पहले इसके पढ़ने और सुनने की आदत डालनी होगी। इसके लिए आप हर रोज़ एक कम से कम आधे घंटे के लिए अंग्रेज़ी की कोई किताब (जैसे नावेल, कहानी या अंग्रेजी सीखने की किताब आदि) को पढ़ सकते हैं।

इससे आपके ज्ञान में भी वृद्धि होगी और आप जल्द अंग्रेज़ी बोलना भी सीख जाएंगे। किताब या अखबार को बोलकर और धीमी गति से पढ़ें। अंग्रेज़ी आपको समझ में ना भी आए तो भी ठीक है। बस आपको अपने आप को शुरुआत में अंग्रेज़ी बोलने और सुनने की आदत डालनी है।

2. अंग्रेज़ी के बेसिक अर्थ याद करें

अंग्रेज़ी को सीखने के लिए आपको बुनियादी कुछ शब्दों को जरूर सीखना चाहिए। अपने इर्द गिर्द जैसे पशु – पक्षी, जानवर, पौधे, फल, सब्जियां और वस्तुओं आदि के नाम तो आवश्य ही सीख लेने चाहिए। हमारे रोज़ाना के कामों में हमें इन शब्दों की बहुत आव्यशकता होती है।

अंग्रेज़ी के इन कुछ Basic शब्दों को आप सीख जाते हैं तो आपको अंग्रेज़ी के वाक्य बनाने में भी कोई दिक्कत नहीं होती और अंग्रेज़ी में आप बात भी अच्छे से कर सकते हैं। इसके लिए बाज़ार में बहुत सारी किताबें भी मिलती हैं जिनमें अंग्रेज़ी भाषा में इन जीव जंतुओं के नाम लिखे होते हैं।

3. अंग्रेज़ी के निश्चित वाक्यांश याद करें

हमारी रोज़ाना की ज़िन्दगी में कुछ ऐसे Sentence होते हैं जिनका इस्तेमाल हम अक्सर करते हैं। इनमें Sentence तो लगभग समान ही होते हैं लेकिन इनमें कुछ शब्दों को बदलना होता है। इस प्रकार ऐसे बहुत सारे वाक्य होते हैं जिनमें आपको केवल शब्दों को ही बदलना होता है। आपकी सहायता के लिए निम्नलिखित हम आपको कुछ शब्दों के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे आसानी से आपको समझ आ जाएगा कि कैसे निश्चित वाक्यांश को बदलकर अंग्रेज़ी बोलना सीख सकते हैं।

  • Where is the Bank?
  • Where is the My Pen?
  • I want to buy a Phone.
  • I want to play Cricket.
  • Could you give me your Book?
  • Could you give me your Phone Number?

4. अंग्रेज़ी में सोचें

जब हम कुछ सोचते हैं तो हम अपनी मात्र भाषा में ही सोचते हैं। अंग्रेज़ी के लिए भी आप सबसे पहले मात्र भाषा में सोचते हैं और बाद में उसे अंग्रेज़ी में अनुवाद करने की कोशिश करते हैं। परंतु आपको अपनी इस आदत को जल्दी अंग्रेज़ी सीखने के लिए बदलना होगा।

आप रोज़ाना जो कुछ भी सोचते हैं उसे अंग्रेज़ी में सोचें। उदाहरण के तौर पर आप सोचते हैं कि मैं कल जल्दी दफ्तर जाऊंगा तो इसे और इससे संबंधित शब्दों को आपको अंग्रेज़ी में बनाना होगा। जैसे कि I will go to office tomorrow early शुरुआत में आपको मुश्किल आ सकती है लेकिन बाद में आपको आसानी हो जाएगी।

5. Basic Grammar स्ट्रक्चर को सीखें

काफी लोग सलाह देते हैं कि जल्दी अंग्रेज़ी को सीखने के लिए ग्रामर को अनदेखा करदें। लेकिन अच्छे से इंग्लिश सीखने के लिए आपको ग्रामर को जरूर ही सीखना चाहिए। ग्रामर की बेसिक जानकारी प्राप्त करके आप ना केवल अंग्रेज़ी को समझना सीख लेते हैं साथ ही साथ आप आपको इसके वाक्यों को बनाने में भी आसानी होती है।

ग्रामर को स्कूलों में भी पढ़ाया जाता है इसलिए यदि आपने स्कूल में पढ़ाई की है तो इसे सीखने में आपको आसानी होगी अन्यथा इसे समझना काफी आसान है।

6. Fluent इंग्लिश बोलने की कोशिश करें

अंग्रेज़ी बोलने के इस Roadmap को यदि आपने यहां तक Follow कर लिया है तो आपको अच्छे से अंग्रेज़ी बोलना आ चूका होगा। अब आपको कोशिश करनी है Fluent तरीके से अंग्रेज़ी बोलने की। आप अब अपने दोस्तों, दफ्तर या घर जैसे जगहों पर जब भी बोलें तो अंग्रेज़ी बोलने की कोशिश करें।

जैसे जैसे समय व्यतीत होता रहेगा उसी प्रकार से आपकी अंग्रेज़ी की Fluency बढ़ती जाएगी और आप तेज़ी से अंग्रेज़ी बोलना सीख जाएंगे। Fluent इंग्लिश बोलते समय आपको इस बात का ध्यान जरूर रखना होगा कि शब्दों की Pronunciation, Phrasal Verb और मुहावरों और कहावतों को बोलते समय ख़ास ख्याल रखें।

अंग्रेज़ी (इंग्लिश) बोलने के लिए क्या करना चाहिए

आप कोई भी चीज़ सीख रहे हैं तो आपको बता दें कि बिना प्रैक्टिस के आप अंग्रेज़ी सीख ही नहीं सकते। अंग्रेज़ी में एक कहावत है ‘Practice Makes Man Perfect’ जोकि काफी हद तक सत्य भी है। आपकी प्रैक्टिस को बेहतर बनाने के लिए निम्नलिखित हम आपको कुछ Tips देने जा रहे हैं। 

1. आयने के सामने अभ्यास करें

जल्दी अंग्रेज़ी बोलना सीखने के लिए यह तरीका सबसे बेहतरीन है। आपको इसमें लगेगा कि आप किसी और से अंग्रेज़ी में बात कर रहे हैं लेकिन असल में आप खुद से ही बात कर रहे होंगे। इससे होगा यह कि अंग्रेज़ी बोलते समय आप घबराएंगे भी नहीं और इंग्लिश भी जल्दी बोलना सीख जाएंगे।

अपनी दिनचर्या के कामों में जब आपको फ्री टाइम मिले आयने के सामने जाएं और अंग्रेज़ी बोलने की प्रैक्टिस शुरू करें। धीरे धीरे आपकी अंग्रेज़ी सुधार आ जाएगा। 

2. अनुवाद ना करें

अंग्रेज़ी सीखने के दौरान आप बहुत सारे ऐसे शब्द सुनते हैं जो आपके लिए नए होते हैं और उसकी समझ आपको नहीं होती। इस समय सबसे पहले हमारे मन में ख्याल आता है कि उस शब्द का अनुवाद करके उसका अर्थ समझें। परंतु आपको ऐसा नहीं करना है।

जब भी आप नया शब्द सुनें तो अपने मन में ही उसका अर्थ खोजने की कोशिश करें। अन्यथा उसका अर्थ आप खुद बनाएं। उसके बाद भी यदि आपको कुछ समझ नहीं आता है तो आप उस शब्द का अनुवाद कर सकते हैं।

3. घबराएं नहीं

कई लोग ऐसे हैं जो अंग्रेज़ी बोलना जब शुरू करते हैं तो घबराने लगते हैं। घबराहट के कारण उनके अंग्रेजी के शब्द बिगड़ने लगते हैं और अच्छे खासे उनके अंग्रेज़ी के वाक्य खराब हो जाते हैं। आप यदि जल्दी अंग्रेज़ी सीखना चाहते हैं तो सर्वपर्थम आपको घबराना बंद करना पड़ेगा।

खुद में आत्म विश्वास जगाएं और दूसरे लोग क्या कहेंगे जैसी बातों को सोचना बंद करें। घबराना अगर आप बंद कर देते हैं तो जल्दी इंग्लिश सीखने से आपको कोई नहीं रोक सकता।

4. अपना टेस्ट लें

कम समय में अंग्रेज़ी सीखने के लिए टेस्ट देना काफी जरूरी है। इसके लिए आप खुद ही अपना टेस्ट ले सकते हैं। पुरे हफ्ते आप अंग्रेज़ी सीखने में ध्यान दे सकते हैं और Sunday या आपकी छुट्टी वाले दिन आप अपना टेस्ट ले सकते हैं। इससे अंग्रेज़ी की समझ के साथ साथ इंग्लिश लिखना भी आप जल्दी सीख जाते हैं।

5. अंग्रेज़ी गाने सुनें और फिल्में देखें

अपने आप को Relax करने के लिए हर कोई मनोरंजन का सहारा लेता है। लेकिन क्या हो अगर आपके मनोरंजन में ही अंग्रेज़ी जोड़ दी जाए। इससे आपका मनोरंजन भी होगा और अंग्रेज़ी भी आप जल्दी बोलना सीख जाते हैं। आप अंग्रेज़ी के गाने और फ़िल्में देख सकते हैं। शुरुआत में तो आप समझने के लिए Subtitles देख सकते हैं लेकिन कुछ समय पश्चात आपको खुद ही इन्हें समझने की कोशिश करनी चाहिए।

6. अंग्रेज़ी Blogs को पढ़ें

बहुत बार ऐसा होता है कि हमें इंटरनेट पर कुछ जानकारी प्राप्त करनी होती है। उस समय हम कुछ भी अपनी मात्र भाषा में सर्च करते हैं। लेकिन इसके लिए आप अंग्रेज़ी Blogs का सहारा भी ले सकते हैं। आपको जो भी जानकारी चाहिए होगी उसे आप गूगल पर सर्च कर सकते हैं जिसके बाद उससे संबंधित अंग्रेज़ी के Blogs के साथ सर्च परिणाम आपके सामने आ जाते हैं। इससे आप अंग्रेज़ी समझना भी जल्दी सीख जाते हैं और आपको अंग्रेज़ी बोलनी भी आ जाती है।

7. Group Discussions करें

जब तक आप अंग्रेज़ी बोलें और आपको अंग्रेज़ी में ही जवाब ना मिले तब तक आपको अंग्रेज़ी सीखने में दिलचस्पी पैदा नहीं होती। इसके निवारण के लिए आप अपने दोस्तों के साथ Group Discussions कर सकते हैं। आपके जो भी मित्र अंग्रेज़ी सीखना चाहते हैं उनके साथ एक Group बनाएं और रोज़ाना उनके साथ Group Discussions करें। इससे आपके साथ साथ बाकी लोग भी जल्दी अंग्रेज़ी बोलना सीख जाते हैं।

8. अंग्रेज़ी मुहावरों को सीखें

अपनी बात का वजन डालने के लिए मुहावरे हर भाषा में जरूरी होते हैं। अंग्रेज़ी भाषा में भी मुहावरे उतने ही महत्त्वपूर्ण हैं जितने बाकी भाषाओँ में हैं। अपनी अंग्रेज़ी शब्दावली को बढ़ाने के लिए और अंग्रेज़ी को अच्छे से सीखने के लिए आपको अंग्रेज़ी मुहावरों को जरूर सीखना चाहिए।

9. सुनने पर ज़्यादा ध्यान दें

किसी भी चीज़ को समझने के लिए उसके बारे में सुनना बेहद जरूरी है। उसी प्रकार से अंग्रेज़ी सीखते दौरान शुरुआत में आपको सुनने पर ज़्यादा ध्यान देना चाहिए। क्योंकि सुनकर ही आप वाक्यों को समझने के योग्य हो पाते हैं और उनके जवाबों को तैयार कर पाते हैं।

10. इंटरनेट का सहारा लें

आजकल की युवा पीड़ी इंटरनेट का इस्तेमाल केवल मनोरंजन के लिए कर रही है। लेकिन उन्हें जान लेना चाहिए कि इंटरनेट ज्ञान का एक समुंदर है। इंटरनेट का इस्तेमाल करके आप अंग्रेज़ी बोलना कम समय में ही सीख सकते हैं। बहुत सारे अंग्रेज़ी सीखने के तरीके इंटरनेट पर मौजूद हैं।

इंटरनेट पर ढ़ेर सारी अंग्रेज़ी की की बहुत सारी किताबें, नोट्स, यूट्यूब चैनल, वीडियोज़ और शिक्षक उपलब्ध हैं। आपको बस सही दिशा की जरूरत है। और तो और प्रैक्टिस के लिए Quiz और Games भी इंटरनेट पर आपको उपलब्ध मिल जाते हैं।

Tense Chart in Hindi

अंग्रेज़ी बोलने के लिए नियम (Rules)

यदि आप जल्दी और बढ़िया अंग्रेज़ी सीखना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको इसके नियमों की जानकारी प्राप्त करनी होगी। इसके लिए आप Parts of Speech के बारे में जान सकते हैं। Parts of Speech को 8 भागों में बांटा जाता है जिसके बारे में जानकारी हम निम्नलिखित आपको देने जा रहे हैं।

Noun (संज्ञा)

अपनी दिनचर्या में हम जो भी कुछ देखते हैं और पहचानते हैं तो उसे कोई नाम देते हैं। बिना नाम के किसी की भी पहचान नहीं की जा सकती। इसी को Noun (संज्ञा) कहा जाता है।

उदाहरण – पिता, मौसी, कुर्सी, बिल्ली, माता, पेड़ और तेल आदि।

Pronoun (सर्वनाम)

जिस वाक्य में हम किसी नाम की जगह शब्द का उपयोग करते हैं तो उसे Pronoun (सर्वनाम) कहा जाता है। किसी वाक्य में हम बार बार नाम तो नहीं कर सकते तो इसी लिए इसके लिए सर्वनाम का इस्तेमाल किया जाता है।

उदाहरण – he, him, himself, his, she, her, herself, it, I, my, myself, you, your, yourself, we, our, ourselves etc.

Adjective (विशेषण)

कोई भी संज्ञा या सर्वनाम जो होता है उसकी कोई ना कोई ख़ास विशेषता जरूर होती है। यह विशेषताएं केवल जानवरों या वस्तुओं में ही नहीं बल्कि इंसानों में भी होती हैं। इन्हीं को विशेषण कहा जाता है।

उदाहरण – गीता बहुत अच्छा तैरती है और वह पढ़ने में भी काफी होशियार है।

Verb (क्रिया)

किसी भी वाकया को पूरा करने के लिए Verb (क्रिया) की बहुत आवश्यकता होती है इसलिए Parts of Speech में इसकी काफी महत्ता पाई जाती है। क्रिया के बिना वाक्य का पूरा होना असंभव है।

उदाहरण:-

  • हम पार्क में खेलने गए थे।
  • हिमांशु पढ़ रहा है।
  • ज़ैन खेल रहा है।

Adverb (क्रियाविशेषण)

जिस प्रकार से सर्वनाम की विशेषता को बताने के लिए क्रियाविशेषण का उपयोग किया जाता है उसी तरह से क्रिया की विशेषता को बताने के लिए क्रियापद को उपयोग में लाया जाता है।

उदाहरण:-

  • युवराज तेज़ी से दौड़ रहा है।
  • सचिन ने तेज़ी से चाकू उठाया।
  • शमी अच्छा पियानो बजा लेता है।

Preposition (सम्बंधसूचक अव्यय)

नाम और सर्वनाम के बीच में किसी भी जगह, समय या स्थान के लिए जिस शब्द को उपयोग में लाया जाता है उसे Preposition कहा जाता है। Preposition का इस्तेमाल अधिकांश किसी स्थान के साथ नाम को जोड़ते समय किया जाता है।

उदाहरण:-

  • नेहा की अंगूठी गार्डन में खो गई।
  • वह टेबल के नीचे छुपा हुआ था।
  • वह कुर्सी पर बैठ गया।

Conjunction (समुच्यबोधक)

कोई भी वाक्य जो होता है उसमे दो या दो से अधिक जो शब्दों को जोड़ने के लिए जिसका इस्तेमाल किया जाता है उसे Conjunction कहा जाता है।

उदाहरण:-

  • मैं पार्क में घूमने जाना चाहता हूँ लेकिन मुझे घूमने भी जाना है।
  • मेरे पास दो बिल्ली और एक गोल्डफिश है।

Interjection (विस्म्यादिभोदक)

जब कोई ऐसी स्थिति बन जाए जिसमें हमें भावनाओं का इस्तेमाल करना हो तो ऐसे वाक्यों के लिए Interjection का इस्तेमाल किया जाता है। इस तरह के वाक्यों में हर्ष, पीड़ा और आश्चर्य आदि जैसे भावनाएं व्यक्त की जाती हैं।

उदाहरण:-

  • ओह वाह! सामने कितना सुन्दर दृश्य है।
  • अरे नहीं! मुझे फिरसे घर तक चलके जाना पड़ेगा।

अंग्रेजी जल्दी सीखने के लिए ये गलतिया ना करे

जब लोग अंग्रेज़ी सीखते हैं तो काफी लोग कुछ कॉमन गलतियां जो हैं उन्हें बार बार दोहराते हैं जिससे उन्हें इंग्लिश सीखते समय समस्या आती है। इन गलतियों के बारे में जानकारी निम्नलिखित हम आपको देने जा रहे हैं:-

1. गलतियों पर ज़्यादा ध्यान देना

यह बात सभी को मालूम होनी चाहिए कि जब हम कोई भी भाषा को सीखते हैं तो उनमें हमारी गलतियां होना सामान्य है। लेकिन कई लोग इन गलतियों पर ज़्यादा ध्यान देने लगते हैं जिस की वजह से उनकी अंग्रेज़ी सीखने की गति कम रहती है। आपको अपनी गलतियों की तरफ ज़्यादा ध्यान ना देकर अंग्रेज़ी को सीखने में ध्यान देना चाहिए।

2. Tense सीखने की गलती करना

काफी सारे लोग ऐसे होते हैं जो मानते हैं कि इंग्लिश सीखने के लिए Tense का सीखना काफी जरूरी है। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पश्चिमी देशों में जब कोई बच्चा अंग्रेज़ी बोलना सीखता है तो वह Tense के माध्यम से नहीं बल्कि बोलकर और सुनकर सीखता है। आपको भी बिना Tense के अंग्रेज़ी भाषा को सीखने का प्रयास करना चाहिए।

3. तेज़ अंग्रेज़ी बोलने की कोशिश करना

काफी लोग शुरुआत में ही अंग्रेज़ी को Fluent तरीके से बोलना शुरू कर देते हैं। परंतु इंग्लिश की कम जानकारी होने की वजह से वह बीच में ही अटकने लगते हैं जिसकी वजह से उनके आत्म विश्वास में भी कमी आने लगती है। आपको इंग्लिश सीखने एक शुरुआती दौर में छोटे छोटे वाक्य बनाने चाहिए और कम गति में अंग्रेज़ी बोलनी चाहिए।

Parts of Speech in Hindi

Leave a Comment