हॉकी खेल के नियम

हॉकी एक ऐसा लोकप्रिय खेल है, जिसे भारत सहित दुनिया के 100 से अधिक देशों में खेला जाता है | हॉकी की शुरुआत कब और कहां से हुई इस पर मतभेद है | हॉकी को भारत का राष्ट्रीय खेल माना जाता है, परन्तु आधिकारिक रूप से यह सत्य नहीं है | सच्चाई यह है, कि अभी तक भारत का कोई राष्ट्रीय खेल घोषित नहीं किया गया है |

हालाँकि देश ने इस खेल में जो उपलब्धियां हासिल की है, उसके आधार पर हॉकी को राष्ट्रीय खेल माना जाने लगा | ओलिंपिक के के इतिहास में भारत नें हॉकी में कुल 8 स्वर्ण पदक प्राप्त किये है, जो अपने आप में रिकॉर्ड है |  किसी भी प्रकार के खेल में कुछ नियम बनाये जाते है, ठीक उसी प्रकार हॉकी खेलनें में भी कुछ नियमों का पलना करना पड़ता है |  आज हम आपको यहाँ हॉकी खेल के नियम औए इसके बारें में पूरी जानकरी दे रहे है |

फुटबॉल (Football) खेल के नियम

हॉकी का इतिहास (History Of Hockey)

हॉकी शब्द फ़्रेंच भाषा के हॉकेट (Hocket) से लिया गया है, जिसका अर्थ चरवाहे का घुमावदार डंडा होता है और जिसकी आकृति लगभग हॉकी से मिलती जुलती है | हॉकी के खेल की शुरुआत कहाँ से हुई, इसे लेकर मतभेद है | कुछ विद्वानों के अनुसार हॉकी का खेल सबसे पहले फारस में खेला जाता था और कुछ समय पश्चात परिवर्तन होकर यूनान (वर्तमान में ग्रीस) पहुंचा | वहीँ कुछ लोगो का मानना है, कि हॉकी आज से लगभग सात सौ वर्ष पूर्व आयरलैंड मे हार्लिंग नाम से खेला जाता था।

यदि हम आधुनिक हॉकी की बात करे तो हॉकी का जन्मदाता इंग्लैंड को माना जाता है | वर्ष 1871 में इंग्लॅण्ड में पहले हॉकी क्लब की स्थापना हुई, इस क्लब का नाम  रीडिंगटन क्लब रखा गया था | 24 अक्टूबर 1874 में रिचमंड क्लब के साथ पहला हॉकी मैच खेला गया था | इसके पश्चात हॉकी का पहला अंतर्राष्ट्रीय मैच 26 फ़रवरी 1895 में  राइल में वेल्स और आयरलैंड के बीच खेला गया, जिसमें आयरलैंड की जीत हुई थी |

वर्ष 1886 में पहली बार हॉकी के नियम बनाये गये थे, इसके बाद इंग्लैंड में वर्ष 1887 में महिलाओं के लिए पहले हॉकी क्लब की स्थापना की गयी, जिसका नाम ईस्ट मोलसी क्लब रखा गया था | वर्ष 1908 में हॉकी को पहली बार ओलिंपिक में शामिल किया गया था, जिसमें 6 टीमों नें भाग लिया था, जिसमें इंग्लैंड को गोल्ड मैडल प्राप्त हुआ था |  हालाँकि 1924 में आयोजित ओलंपिक खेलों में हॉकी को शामिल नहीं किया गया था, इसके पश्चात 1884 में अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ की स्थापना हुई।

भारत में हॉकी प्रतयोगिताओं की शुरुआत 1895 से हुई और भारत नें 1928 से ओलंपिक हॉकी में भाग लेना शुरू किया था और तब से हॉकी लगातार ओलिंपिक का हिस्सा बना हुआ है | भारतीय हॉकी टीम नें 1928 से लेकर 1956 तक लगातार 6 गोल्ड मेडल्स जीते, इसके बाद टीम ने 2 गोल्ड और अपने नाम कर चुकी है |

बैडमिंटन खेल के नियम

हॉकी पिच की माप (Hockey Pitch Measurement)

हॉकी खेल के लिए हॉकी पिच की लंबाई 91.4 मीटर और चौड़ाई 55 मीटर होती है और पिच के दोनों तरफ ‘D’ आकार के 7 फिट ऊँचे गोल पोस्ट बने होते हैं | इस खेल में गोल तभी वैध माना जाता है, जब प्रतिद्वंदी टीम के किसी खिलाड़ी द्वारा अपनी हॉकी स्टिक से बॉल को मारकर गोल पोस्ट के अन्दर पंहुचा देता है |

हॉकी की प्रत्येक टीम में 11 खिलाड़ी होते है, जिसमें एक खिलाड़ी गोलकीर होता है | इस खेल में 15-15 मिनट के 4 क्वार्टर औऱ 30-30 मिनट के 2 हाफ होते हैं | खेल के दौरान यदि दोनों टीमों का स्कोर बराबर होनें की स्थिति में उन्हें कुछ टाइम अलग दिया जाता है | इसके बावजूद भी यदि स्कोर बराबर होता है, तो पेनल्टी शूट आउट होता है | 

शतरंज कैसे खेला जाता है

हॉकी खेल के नियम (Rules of Hockey Game)

  • हॉकी का खेल 2 टीमों के बीच खेला जाता है और प्रत्येक टीम में 11-11 खिलाड़ी होते हैं जिसमें से एक खिलाड़ी को टीम का कप्तान बनाया जाता है | इस खेल में पुरुष व महिला दोनों वर्ग भाग ले सकते है।
  • हॉकी खेल की कुल समय अवधि 60 मिनट होती है, जिसमें 30-30 मिनट के 2 हाफ और 15-15 मिनट के 4 क्वार्टर शामिल होते है |
  • हॉकी की प्रत्येक टीम में एक गोलकीपर होता है, जो गोल पोस्ट गोल रोकने की कोशिश करता है।
  • गोलकीपर को छोड़कर किसी को भी गेंद स्टिक के आलावा शरीर के किसी भी भाग से छूने  की अनुमति नहीं होती है | 
  • खेल के दौरान गोलकीपर को दस्ताने, पैड और मास्क आदि का प्रयोग करनें की अनुमति होती है |
  • यदि गेंद किसी कारणवश किसी खिलाड़ी के कपड़े या गोलकीपर के पैड में अटक जाती है, तो |
  • यदि खेल के दौरान यदि कोई खिलाड़ी आक्रामक रवैया अपनाता है, तो रेफरी द्वारा उस खिलाड़ी को चेतावनी दी जाती है | इसके बाद भी वह अपनें में सुधर नहीं करता है तो नियमों का उल्लंघन मानकर खिलाड़ी को कुछ समय या पूरे समय के लिए खेल से बाहर कर दिया जाता है |

कबड्डी (Kabaddi) में करियर कैसे बनायें

गोल से संबंधित जानकारी (Information Related To Goal)

गोल (Goal)

जब किसी खिलाड़ी द्वारा हॉकी स्टिक की सहायता से गेंद को हिट करते हुए गोल पोस्टों के अन्दर पंहुचा देता है, तो इसे गोल माना जाता है और गोल करनें वाली टीम के स्कोर में एक गोल जोड़ दिया जाता है |  

फ्री हिट (Free Hit)

फील्ड के जिस हिस्से में फाउल होता है उसी स्थान से फ्री हिट ली जाती है परन्तु फ्री हिट लगाने वाला खिलाड़ी उस बॉल को तब तक हिट नहीं कर सकता, जब तक कोई दूसरा खिलाड़ी गेंद को हिट न कर ले। फ्री हिट मारने का अवसर फ़ाउल होनें की स्थिति में सदैव विरोधी पक्ष के खिलाड़ी को मिलता है |

लॉन्ग कॉर्नर (Long Corner)

यदि कोई खिलाड़ी 25 गज की रेखा के भीतर गोल रेखा के बाहर गेंद फेंक देता है, तो आक्रामक खिलाड़ी को कॉर्नर मिलता है। कॉर्नर में गेंद को साइड रेखा तथा गोल को मिलाने वाले कॉर्नर पर रखकर हिट किया जाता है |

आईपीएल (IPL) क्या है

पेनल्टी कॉर्नर (Penalty Corner)  

यदि कोई खिलाड़ी 25 गज के अंदर जान-बूझकर नियमों का उल्लंघन करता है, तो विरोधी टीम को पेनल्टी कॉर्नर दिया जाता है | इसमें विरोधी टीम का कोई भी खिलाड़ी गोल रेखा के सामने से 7 गज की दूरी से स्ट्रॉक कर सकता है।

पेनल्टी शूटआउट (Penalty Shootout)

पेनल्टी शूटआउट में दोनों टीमों के 5-5 खिलाड़ी शॉट लगाकर गोल करनें की कोशिश करते है और यह गोल खिलाड़ियों को 8 सेकंड के अंदर करना होता है | इसमें जिस टीम के खिलाड़ी अधिक गोल करते है, उस टीम को विजेता टीम घोषित कर दिया जाता है |  

क्रिकेट अंपायर (Cricket Umpire) कैसे बनें

यहाँ आपको हॉकी Hockey) के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि आपको इससे सम्बंधित अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप www.hindiraj.com पर विजिट कर सकते है | इसके साथ अपने विचार या सुझाव अथवा प्रश्न कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूंछ सकते है | हम आपके सुझावों का हमे इन्तजार है |

क्रिकेटर (Cricketer) कैसे बने

Leave a Comment