हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (HSRP) क्या होता है?

भारत में यात्रा को सुरक्षित करने के लिए समय- समय पर नए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके नए- नए नियम-क़ानून का बनाये जाते  है | जिससे वाहनों से होने वाले दुर्घटनाओं पर नियंत्रण किया जा सके | परिवहन मंत्रालय इसके लिए आदेश जारी करता है, कि  इस  आदेश का अनुपालन करना है, इसके अनुपालन करवाने की जिम्मेदारी आरटीओ (RTO) विभाग को दी गई है | इसी क्रम में सरकार द्वारा हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाने का आदेश जारी किया गया है | इससे सम्बंधित जानकारी के लिए इस पेज पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (HSRP) क्या होता है? इससे लाभ तथा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बारे में बताया जा रहा है |

आरटीओ अधिकारी (RTO OFFICER) कैसे बने

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (HSRP)

यह एल्युमीनियम की बनी हुई एक हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट होती है, जिस पर एक होलोग्राम का निशान भी बना होता है| जिसमें गाड़ी का इंजन नंबर और चेसिस नंबर की जानकारी दी हुई होती है| इसमें एक यूनीक लेजर कोड भी होता है, जिसमे पूरे 7 अंक होते है | अब इसी कोड के माध्यम से आपकी पूरी जानकारी आसानी से चेक की जा सकती है| यह कोड डेटा बेस से जुड़ा हुआ होता है| जब यह कोड कम्प्यूटर में अंतरित किया जाता है तो आपकी गाड़ी और आपसे संबंधित सभी डाटा की जानकारी मात्र एक क्लिक में सामने उपलब्ध हो जाती है|

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट से लाभ

  • सुरक्षा की दृष्टि से हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट बहुत ही उपयोगी है, किसी भी स्थान पर वाहन दुर्घटना होने पर उस में लगी हुई नंबर प्लेट पर बने होलोग्राम की मदद से गाड़ी मालिक और गाड़ी के बारे में जाना जा सकता है | वाहन के नंबर प्लेट पर एक यूनिक लेज़र कोड होता है जो सात अंक होता है इसके द्वारा डिटेल जानना संभव है|
  • इस नंबर प्लेट पर आईएनडी लिखा होता है, और साथ में क्रोमियम प्लेटेड नंबर और इंबॉस लगा रहता है जिसके माध्यम से कैमरे द्वारा रात में निगरानी की जा सकती है |
  • इससे पहले जो नंबर प्लेट उपयोग किया जा रहा  था उस नंबर प्लेट को दुर्घटना होने के बाद मोटर मालिक उस नंबर प्लेट को चेंज करने की कोशिश करते थे लेकिन अब ऐसा कर पाना असंभव है |
  • हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट को लेजर डिटेक्टर कैमरा के आधार पर बनाया गया है, जिससे गाड़ी के बारे  में तुरंत पता कर लिया जाता है |
  • भारत में सभी वाहनों की इनफार्मेशन के लिए हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट के डाटा को नेशनल डाटाबेस से जोड़ा दिया गया है जिससे एक केंद्रीय रिकॉर्ड रखने में आसान हो गई है |

भारतीय पासपोर्ट का स्टेटस ऑनलाइन कैसे चेक करे

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के रजिस्ट्रेशन कैसे करे (HSRP Online Process)

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के लिए आवेदन दो तरह से होता है |

  1. ऑफ लाइन
  2. ऑनलाइन अप्लाई
ऑफलाइन (Offline)
  • ऑफलाइन फार्म भरने के लिए आपको अपने जनपद  के आरटीओ ऑफिस जाना होगा
  • आरटीओ ऑफिस से आवेदन फार्म को लेकर और फार्म को भरकर उसे आरटीओ ऑफिस में जमा कर करना होगा
  • फॉर्म को जमा करने के बाद आपको रिसीविंग दी जाती जिसमे लिखा होता है कि आपका हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट किस डेट को मिलेगा
  • आप उस डेट को अपने रिसीविंग के साथ आरटीओ ऑफिस जाकर अपनी हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट ले सकते है

बिजनेसमैन कैसे बने

ऑनलाइन (Online)
  • हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट ऑनलाइन आवेदन के लिए आपको अपने राज्य की आरटीओ ऑफिस की वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते है 
  • आप जैसे ही वेबसाइट को ओपन करेंगे आपके सामने एक विंडो ओपन होगी जिसमे आप को अपने गाड़ी का नंबर डालना होगा
  • अब आपके सामने दूसरा पेज ओपन होगा जिसमे आप को अपनी डिटेल भरनी है 
  • डिटेल भरने के बाद आप फाइनल सबमिट कर सकते है
  • अब आपको एक रजिस्ट्रेशन नंबर मिलेगा, आप इस रजिस्ट्रेशन नंबर के माध्यम से अपने हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट का स्टेटस चेक कर सकते है और आरटीओ ऑफिस में दी हुई डेट पर पहुंच कर अपनी हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट ले सकते है 

इस आर्टिकल में  हमनें आपको हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के बारे में जानकारी दी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

डेटा साइंस क्या है